साझा करें
 
Comments
वाराणसी के साथ पूरा देश अब इस बात का गवाह है कि अगली पीढ़ी के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर के माध्यम से परिवहन के साधनों में कैसे बदलाव लाया जा सकता है: प्रधानमंत्री मोदी
अंतर्देशीय जलमार्ग समय और धन बचाएगा, सड़कों पर भीड़ को कम करेगा, ईंधन की लागत को कम करेगा और वाहन प्रदूषण को कम करेगा: पीएम मोदी
पिछले 4 सालों में आधुनिक बुनियादी ढांचे का तेजी से विकास हुआ है: प्रधानमंत्री
दूरदराज के इलाकों में हवाई अड्डे, पूर्वोत्तर के हिस्सों में रेल कनेक्टिविटी, गांव में सड़के और राजमार्ग केंद्र सरकार की पहचान बन गए हैं: प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज वाराणसी का दौरा किया। उन्होंने 2400 करोड़ रूपए लागत वाली विभिन्न परियोजनाएं राष्ट्र को समर्पित कीं, कुछ का उद्घाटन किया अथवा आधारशिला रखी।
श्री मोदी ने गंगा नदी पर मल्टीमॉडल टर्मिनल राष्ट्र को समर्पित किया, और प्रथम कंटेनर कार्गों ग्रहण किया। उन्होंने वाराणसी रिंग रोड फेज-1 और राष्ट्रीय राजमार्ग-56 के विकास और इसके बाबतपुर-वाराणसी खंड को चार लेन का बनाने के निर्माण कार्य का उद्घाटन किया। उन्होंने वाराणसी शहर में विभिन्न विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया और आधारशिला भी रखी।
इस अवसर पर विशाल जन-समूह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि आज का दिन काशी, पूर्वांचल, पूर्वी भारत और समूचे देश के लिए ऐतिहासिक है। उन्होंने कहा कि आज जो विकास कार्य हुए हैं, वे दशकों पहले पूरे हो जाने चाहिए थे। उन्होंने कहा कि वाराणसी के साथ पूरा देश आज ये देख रहा है की अगली पीढ़ी के ढांचे का विजन किस तरह देश के यातायात साधनों का कायाकल्प कर रहा हैं।
वाराणसी में प्रथम अंतर-देशीय कन्टेनर पोत पहुंचने के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश अब जल मार्ग से बंगाल की खाड़ी से जुड़ गया हैं।
 

 उन्होंने कई अन्य परियोजनाओं की भी चर्चा की जिनमें सड़कों और नमामि गंगे से सम्बद्ध परियोजनाएं शामिल थी, जिनका आज उद्घाटन किया गया अथवा आधारशिला रखी गई।प्रधानमंत्री ने कहा कि अंतर्देशीय जल मार्ग से समय और धन की बचत होगी, सड़को पर जाम लगने से निजात मिलेगी, ईधन की लागत में कमी आयेगी और वाहनों से होने वाला प्रदूषण कम होगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले चार वर्षों में आधुनिक ढांचे का तेजी से निर्माण हुआ है। उन्होंने कहा कि दूर-दराज के क्षेत्रों में हवाई अड्डों का निर्माण, देश के पूर्वोत्‍तर क्षेत्र में रेलवे नेटवर्क का विस्‍तार और ग्रामीण क्षेत्रों सहित देशभर में सड़कों का सुदृढ़ नेटवर्क कायम किया है। उन्‍होंने कहा कि ये उपलब्धियां सरकार की पहचान बन गई हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि नामामि गंगे के अंतर्गत अभी तक 23000 करोड़ रूपए की परियोजनाएं मंजूर की जा चुकी हैं। उन्होंने कहा कि गंगा नदी के किनारे स्थित सभी गांव खुले में शौच जाने से मुक्त हो गये हैं। उन्होंने कहा कि ये परियोजनाएं गंगा नदी को स्वच्छ बनाने के प्रति केंद्र सरकार की वचनबद्धता का हिस्सा हैं।

 पूरा भाषण पढ़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए

प्रधानमंत्री मोदी के साथ परीक्षा पे चर्चा
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
April retail inflation eases to 4.29%; March IIP grows 22.4%: Govt data

Media Coverage

April retail inflation eases to 4.29%; March IIP grows 22.4%: Govt data
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री 14 मई को पीएम-किसान योजना के तहत वित्तीय लाभ की आठवीं किश्त जारी करेंगे
May 13, 2021
साझा करें
 
Comments

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी 14 मई को सुबह 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) योजना के तहत वित्तीय लाभ की आठवीं किश्त जारी करेंगे। इससे 9.5 करोड़ से अधिक लाभार्थी किसान परिवारों को 19,000 करोड़ रुपए से ज्यादा की राशि हस्तांतरित करने में मदद मिलेगी। प्रधानमंत्री इस दौरान किसान लाभार्थियों से बातचीत भी करेंगे। केंद्रीय कृषि मंत्री भी इस अवसर पर उपस्थित रहेंगे।

पीएम-किसान योजना के बारे में जानकारी

पीएम-किसान योजना के तहत पात्र लाभार्थी किसान परिवारों को 6,000 रुपए प्रति वर्ष का वित्तीय लाभ प्रदान किया जाता है, जो चार-चार महीने की अवधि में 2,000 रुपए की तीन समान किश्तों में दिया जाता है। पैसे सीधे लाभार्थियों के बैंक खातों में डाले जाते हैं। इस योजना के तहत अब तक किसान परिवारों को 1.15 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा की सम्मान राशि हस्तांतरित की जा चुकी है।