मंच पर विराजमान सभी वरिष्ठ महनुभाव, और भारत माता की सेवा के लिए अपने आप को समर्पित करने वाले सभी वीर बहादुर जवानों, 

ये बड़ा सौभाग्य है की आज मातृभूमि के लिए जीवन अर्पण करने वाले वीर शहीदों को नमन करने का मुझे अवसर मिला I मुझे विश्वास है कि भारत माँ की सेवा करने वाले इन वीर शहीदों को स्मरण करते हुए उनको नमन किया है तब, मुझे उन सभी वीर शहीद आत्माओं का आशीर्वाद मिलेगा, जो मुझे देश की सेवा करने की और अधिक ताक़त देगा I त्याग तपस्या में कोई कमी न रहे, इसके लिए उनका जीवन, हम जैसे नागरिकों के लिए भी प्रेरक है I आप लोग मातृभूमि के लिए अपना घर-बार-गाँव, यार-दोस्त-परिवार छोड़ कर के उन कठिन क्षेत्रों में काम करते हैं, जिस कठिनाई का अंदाज़ सामान्य जीवन जीने वाले नागरिकों को होना बहुत मुश्किल होता है I लेकिन आप ये जो साधना करते हैं, जो तपस्या करते हैं, उसी की बदौलत देश के कोटि कोटि नागरिक सुख-चैन की ज़िंदगी जी सकते हैं I कोटि कोटि जनों के आशीर्वाद आपके साथ हैं, और जब कोटि कोटि जनों के आशीर्वाद आपके साथ हैं, तो आपकी रक्षा जो कोटि-कोटि जनों के आशीर्वाद से बना रहता है। इस से बड़ा कोई रक्षा-कवच नहीं हो सकता है I 

मैं इस मत का हूँ कि अगर देश विकास करना चाहता है, देश अगर प्रगति करना चाहता है, तो देश में सुख, शांति, सद्भावना, भाईचारा, ये अनिवार्य होता है, और उसी की नीव पर देश विकास की नयी उँचाइयों को पाता रहता है I ये सुख शांति तब तक प्राप्त नहीं होती है, जब तक हम हमारी सीमाओं को सुरक्षित न करें, हमारे सुरक्षा बलों को समर्थ न करें, हमारे सुरक्षा बलों को आधुनिक न करें, तब तक ये संभव नहीं होगा और राष्ट्र के विकास के लिए भी सुरक्षा का क्षेत्र सबसे ज़्यादा सशक्त होना, समय की माँग है I 

मैं सैन्य-बल के आधुनिकरण के पक्ष का हूँ I ना सिर्फ़ सैन्य-बल, सब प्रकार के सुरक्षा बलों के आधुनिकरण के पक्ष का हूँ I विज्ञान बहुत आगे बढ़ चुका है I टेक्नालजी बहुत आगे बढ़ चुकी है I अब शायद आने वाले नज़दीक के भविष्य में आमने-सामने लड़ाई के कुछ अवसर ही रहने वाले हैं I बहुत बढ़ा बदलाव आने वाला है I और तब जाकर के सेना को आधुनिक बनाना, वैज्ञानिक बनाना, टेक्नालजी से सू-सज्य बनाना, यह समय की माँग है, और हमारी यह प्राथमिकता रही है I आज देखिए हमारी कठिनाई कैसी है, कि सेना के जवानों के लिए जितना खर्च करना चाहिए, सुरक्षा बलों के लिए जितना खर्च करना चाहिए, उससे काफ़ी ज़्यादा हमारा बजट, हमारे सुरक्षा के संसाधनों को import करने में जाता है I अगर हम defence offset में आत्म-निर्भर होते हैं, सेना के लिए आवश्‍यक आधुनिक से आधुनिक प्रकार के शस्त्र हम अपने यहाँ उत्पादित करते हैं तो बजट का काफ़ी हिस्सा, जो आज विदेशों में जा रहा है, वो हमारे सैन्य-बल के लोगों के कल्याण के लिए खर्च किया जा सकता है I अगर हम शस्त्र-अस्त्रों का उत्पादन अपने देश में करने पर बल दें, तो हमारे देश के नौजवानों को रोज़गार उपलब्ध होता है, और जो देश शस्त्र-अस्त्र उत्पादन करने की क्षमता रखता है, वो सेना के जवानों के साथ-साथ उस देश के नागरिकों का मनोबल भी बहुत ऊँचा होता हैI उनको विश्वास होता है कि मेरी सेना के जवानों के हाथ खाली नहीं हैं,उनकी भुजाओं में सामर्थ्यवान अस्त्र-शस्त्र भरे पड़े हैंI जो उसके दिल दिमाग़ में जुझारूपन है और दिल दिमाग के जुझारूपन के साथ अस्त्र-शस्त्र का बल अनिवार्य है, और इसलिए, भारत को आत्म-रक्षा के लिए शस्त्र-अस्त्र के उत्पादन में आत्म-निर्भर होना बहुत आवश्यक है I आत्म-निर्भर व्यक्ति ही जैसे आत्म-गौरव से जी सकता है, वैसे आत्म निर्भर देश भी आत्म-गौरव के साथ विश्व के सामने सर ऊँचा करके जी सकता हैI 

बदले हुए कालखण्ड में पूरा विश्व भारत की तरफ बड़ी आशा के साथ से देख रहा हैI विश्व भी, जो शांति की तलाश में है, उसे भी लगता है की भारत एक catalytic agent के रूप में एक बहुत बड़ी भूमिका अदा कर सकता हैI 

विश्व के सामर्थ्यवान देश आज भारत के साथ बराबरी के साथ बात करने के लिए उत्सुक हैं I ये तभी संभव हुआ है के हम सामर्थ के साथ खड़े हैं I 

मेरे नौजवान साथियो, आपकी ये तपस्या कभी बेकार नहीं जाएगी I आपका कल्याण, आपके परिवारजनों का कल्याण, आपकी संतानों का उज्ज्वल भविष्य, ये भारत की सामूहिक ज़िम्मेवारी है, और मैं आपको विश्वास दिलाना चाहता हूँ क्‍योंकि मेरी सरकार इस विषय में प्रतिबद्ध है, और सेना के जवान के परिवार की चिंता अगर देश करता है, तो जवान हंसते-हंसते देश की चिंता करता है. इस मंत्र को मैं भली भाँति समझता हूँ, और इसलिए, वन्दे-मातरम का मंत्र लेकर के, देश की आज़ादी के लिए कितने लोगों ने जीवन दे दिया I 

आज , हर दो कदम पर जय हिंद- जय हिंद- जय हिंद सुनाई देता है I एक जवान दूसरे जवान को मिलता है तो जय हिंद कह करके ग्रीट करता है I ये जय हिंद करने के लिए सीमा पर जवान, देश में किसान, 65% नौजवान – गाओं हो, खेत हो, खलिहान हो, शहर हो, सीमा हो – हर कोने पर ये “जय हिंद” का नारा, ये “भारत माँ की जय” की ललकार, हमें देश को आगे बढ़ाने की ताक़त दे I हम देश को और नयी उँचाइयों पर ले जायें I सवा सौ करोड़ देशवासियों के सपनो को पूरा करने का संकल्प लेकर के हम आगे बढ़ें I और उन संकल्पों की सुरक्षा भी आपके हाथों में है I मुझे विश्वास है, सवा सौ करोड़ देशवासियों को विश्वास है, के देश को कभी दुनिया की कोई ताक़त आपके रहते हुए ना झुका सकती है, ना कभी उसे पराजित कर सकती है I ये विजय का विश्वास लेकर के निकले हुए आप लोग कभी पराजित हो नही सकते, और जहाँ विजयश्री का मंत्र होता है, वहाँ ईश्वर का भी आशीर्वाद रहते हैं, और कभी हम अकेले नहीं होते I दूर-दूर पहाड़ी-नदी में कभी आप अकेले सेना के साथ अपनी ज़िम्मेदारी अगर निभा रहे हो, दूर-दूर चले गए हों आपके अगल-बगल में कोई दिखता नहीं होगा, लेकिन आप विश्वास करना कि आप अकेले नहीं होंगे, एक प्लस-वन आपके साथ होगा, वो ईश्वरीय शक्ति आपके साथ होती है हर पल होती है, क्यों? इसलिए की आप नि-स्वार्थ भाव से पवित्र कार्य करने के लिए चल पड़े हैं और जो नि-स्वार्थ भाव से पवित्र कार्य करता है, उसके ईश्वर हमेशा साथ रहता है I और जिसके साथ ईश्वर रहता है, वहाँ पराजय की कभी संभावना नहीं होती I वहाँ सिर्फ़ जै ही जै लिखा हुआ होता है I और वही जै अल्टिमेट्ली जय -हिंद का मंत्र बन जाता है I ये जय हिन्द का मंत्र हम सबको देश को आगे ले जाने की प्रेरणा देता है I 

मैं आज, आप सभी जवानों को मेरी तरफ से बहुत बहुत शुभकामनायें देता हूँ, और मैं आपको विश्वास देता हूँ की चाहे सरकार हो या समाज हो, पूरा देश आपके साथ खड़ा है I जैसा अभी बताया गया, देश के जवान कई सालों से प्रतीक्षा कर रहे थे, की आज़ाद हिन्दुस्तान में एक हमारा नैशनल वॉर म्यूज़ीयम बनाना चाहिए, नैशनल वॉर मेमोरियल बनाना चाहिए I मैं आपको विश्वास दिलाता हूँ, और वैसे भी, मैं जबसे शासकीय व्यवस्था में आया हूँ, जब कभी गुजरात का मुख्यमंत्री रहा, या अभी प्रधानमंत्री बना, मेरा अनुभव रहा है कि जो अच्छे-अच्छे काम हैं, वो मेरे लिए बाकि रह गये हैं I वो सारे अच्छे-अच्छे काम मुझे ही करने हैं, और मैं आपको विश्वास दिलाता हूँ की जो सौभाग्य मुझे मिला है, वो सौभाग्य मैं पूरा करके रहूँगा और सम्‍मान प्राप्‍त हों। देश की आम इंसान को गौरव हो इसके लिए आवश्यक सारे कदम उठाउँगाI मैं फिर एक बार, आप सबको बहुत बहुत शुभ-कामनायें देता हूँ और आपकी रक्षा राष्ट्र की रक्षा के लिए बहुत अनिवार्य है, इस बात को समझते हुए, आपको हर प्रकार से सज्य करना, ये शासन का दायित्व है I त्याग और तपस्या की आपकी भावना बहुत उँची होने के बावजूद भी आपकी रक्षा करने की भावना भी शासन के लिए सर्वोपरि रहनी चाहिए, इस मंत्र को लेकर के हम काम करते हैं I फिर एक बार, आपके बीच आने का मुझे अवसर मिला, आपसे मिलने का अवसर मिला – मैं आप सबका बहुत बहुत शुक्रगुज़ार हूँ, और आप सबको बहुत बहुत शुभकामनायें देता हूँ I 

जय हिंद I 

Explore More
77வது சுதந்திர தினத்தை முன்னிட்டு செங்கோட்டை கொத்தளத்தலிருந்து பிரதமர் திரு நரேந்திர மோடி நிகழ்த்திய உரையின் தமிழாக்கம்

பிரபலமான பேச்சுகள்

77வது சுதந்திர தினத்தை முன்னிட்டு செங்கோட்டை கொத்தளத்தலிருந்து பிரதமர் திரு நரேந்திர மோடி நிகழ்த்திய உரையின் தமிழாக்கம்
India among the few vibrant democracies across world, says White House

Media Coverage

India among the few vibrant democracies across world, says White House
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
SP-Congress will distribute benefits to those who are waging vote jihad for them: PM Modi in Hamirpur
May 17, 2024
SP-Congress will distribute benefits to those who are waging vote jihad for them: PM Modi in Hamirpur

भारत माता की..

भारत माता की..

भारत माता की..

पूरे गावन-गावन से जित्ती जनता आई है, सब जने का हमार राम-राम। मैं माता बड़ी चंद्रिका और जमुना माता की धरती को श्रद्धापूर्वक प्रणाम करता हूं। मैं रानी लक्ष्मीबाई की कर्मभूमि बुंदेलखंड को नमन करता हूं। बुंदेलखंड के लोग राष्ट्रहित के लिए सबसे आगे खड़े होने वाले लोग हैं। जिसको 4 जून का नतीजा जानना हो, वो बुंदेलखंड में ये दृश्य देख लें, बुंदेलखंड कह रहा है- फिर एक बार.. फिर एक बार.. फिर एक बार।

साथियों,

यहां आप सबके बीच आने से पहले मैंने स्वामी ब्रह्मानन्द जी को भी प्रणाम किया। स्वामी ब्रह्मानन्द जी जैसे महान सेनानी, महान राष्ट्रसंत अमृत महोत्सव के दौरान हम सबने उनका पुण्यस्मरण किया था। हमारी सरकार ने उनके योगदान को इतिहास में दर्ज किया। लेकिन, पिछली सरकारों ने उन्हें कभी सम्मान नहीं दिया। वो सारा श्रेय केवल एक शाही परिवार को देना चाहते थे। दलितों, पिछड़ों को सम्मान मिले ये उन्हें स्वीकार नहीं था।

साथियों,

आज मैं आपको सपा और कांग्रेस से सावधान करने के लिए आया हूं। सपा- कांग्रेस केवल आपका वोट तो ले लेते हैं लेकिन, ये लोग सरकार में आते हैं तो सौगात किसको बांटते हैं? वे सौगात उनको बांटते हैं जो उनके लिए वोट जिहाद करता है। (ये फोटो- फोटो वाले सब फोटो नीचे रख दो और अपने हाथ नीचे करके आराम से बैठो, पीछे लोग डिस्टर्ब हो रहे हैं। ये सब मातायें- बहनें भी अपनी जगह पर बैठें जरा, ये आप लोग जगह कब्जा करते हैं पीछे वाले परेशान होते हैं भाई। भारत माता की.. भारत माता की)

भाइयों- बहनों,

इस बार तो सपा-कांग्रेस ने चुनाव से पहले ही इरादे साफ कर दिये हैं। कांग्रेस कह रही है कि वो सबकी संपत्ति की जांच करायेगी। फिर आपकी संपत्ति में से एक हिस्सा अपने जो वोट जिहाद करने वाली वोट बैंक है उन लोगों को दे देंगे। आप मुझे बताइये भाइयों, आपकी संपत्ति किसी भी सरकार को आप छीनने देंगे क्या? अगर मेरी बात पहुंची है तो सब लोग जवाब देना, क्या किसी भी सरकार को आप अपनी संपत्ति छीनने देंगे क्या? किसी को लूटने देंगे क्या? आपके माता-पिता ने जो मेहनत करके कमाया है उसपर आपका अधिकार है कि नहीं है? वो आपको मिलना चाहिए कि नहीं मिलना चाहिए? लेकिन ये सपा- कांग्रेस वाले अपने चुनावी मेनिफेस्टो में कह रहे हैं कि वो एक्सरे निकालेंगे। आपके पास कितनी जमीन है? आपका घर कितना बड़ा है? आपके पास कोई गहने हैं क्या? आपका मंगलसूत्र कहां पड़ा है? और फिर आपकी जरूरत से ज्यादा जो भी है, जिसके पास नहीं है वो वोट जिहाद वालों को बांट देंगे। क्या आप अपने माता-पिता की संपत्ति को बांटने देंगे क्या? (आप फोटो निकालने में मशगूल हैं कि सुनते भी हैं, लग नहीं रहा है आप सुनते हैं। आपको फोटो में ज्यादा इंटरेस्ट है। देखिए, जगह कम है कृपा करके आगे आने की कोशिश मत कीजिए, जहां हैं वहां खड़े रहिये ना। अगर आप इजाजत दें तो मैं बोलना शुरू करूं, आप इजाजत दें तो मैं बोलना शुरू करूं)

साथियों,

बाबा साहेब अंबेडकर ने धर्म के आधार पर आरक्षण का घोर विरोध किया था और हमारी संविधान सभा ने भी तय किया था कि हमारे देश में कभी भी धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं होगा लेकिन, जहां कांग्रेस सरकार है वहां ये लोग दलितों- पिछड़ों उनका आरक्षण कम करके उसे भी मुसलमानों को देना उन्होंने शुरू कर दिया है। आपको जानकर के आश्चर्य होगा ये संविधान की कैसी अवहेलना करते हैं? बाबा साहेब अंबेडकर के सपनों को कैसे चूर- चूर करते हैं? उन्होंने कर्नाटक में क्या किया, कर्नाटक में जितने भी मुसलमान है उन सबको रातों- रात उन्होंने ओबीसी बना दिया एक ठप्पा मार के कागज निकाल दिया, इसका परिणाम ये हुआ कि जो पिछड़ों का आरक्षण था उसमें वो आ गयें तो सारा डाका डालकर के ले गये और सारे पिछड़े रह गये और अब यही मॉडल ये पूरे देश में लागू करना चाहते हैं। आप क्या हमारे एससी, एसटी, ओबीसी का हक लूटने देंगे क्या? छीनने देंगे क्या? सपा- कांग्रेस को ये पाप करने देंगे क्या? साथियों, इतना ही नहीं अब ये संविधान बदलकर एससी, एसटी, ओबीसी का पूरा का पूरा आरक्षण मुस्लिमों को देना चाहते हैं। मैंने समाजवादी पार्टी से कहा था अरे आप तो दिन- रात पिछड़ों की बातें करते हो, पिछड़ों की राजनीति करते हो, आप तो हिम्मत करके ये पिछड़ों के साथ जो अन्याय करने का षड्यंत्र चल रहा है, पिछले दरवाजे से पिछड़ों का आरक्षण लूटने का जो जाल बिछाया जा रहा है जरा उसका विरोध तो कीजिए, लेकिन ये सपा वाले मुंह पर ऐसा ताला लगा के बैठ गये, ऐसा ताला लगाकर के बैठ गये कि वो बोलने को तैयार नहीं है, क्या ये सपा वालों को भी माफ कर सकते हैं क्या? साथियों, कांग्रेस आपका आरक्षण खत्म कर रही है और सपा उसका समर्थन दे रही है और किसकी खातिर? सिर्फ और सिर्फ जो वोट जिहाद करते हैं वो वोट बैंक के खातिर करना चाहते हैं।

साथियों,

सपा वाले तुष्टीकरण के लिए किसी भी सीमा तक जा सकते हैं। हमारे कल्याण सिंह जी देश के इतने महान नेता थे। उन्होंने पिछड़ों का इतना सम्मान बढ़ाया। उनका निधन हुआ, तो सपा के मुखिया उन्हें श्रद्धांजलि देने तक नहीं गये और कारण क्या है? कारण ये ही है कि हमारे कल्याण सिंह जी बाबू जी राम भक्त थे इसलिए मृत्यु के बाद भी कल्याण सिंह जी ने राम मंदिर के लिए अपनी सरकार बलिदान कर दी थी अगर ये बाबूजी को श्रद्धांजली देने जाते तो इनका वोट बैंक नाराज हो जाता और वोट बैंक को खुश करने के लिए लोग क्या करते हैं, जब यूपी में एक माफिया की मौत होती है तो ये उसकी कब्र पर फातिहा पढ़ने पहुंच जाते हैं।

साथियों,

सपा-कांग्रेस के कुशासन में बुंदेलखंड ने कितनी पीड़ा झेली है? कितनी बदहाली यहां हुई थी? ये लोग भूले नहीं हैं। एक जमाना था, जब सूखा, बुंदेलखंड की पहचान बन गया था। बूंद-बूंद पानी के लिये हमारा बुंदेलखंड तरसता था और सपा- कांग्रेस की सरकारें क्या करती थीं? योजनाएं निकालती थी, फीते काटती थी, दिये जलाती थी, अखबारों में एडवरटाइजमेंट देती थी और फिर पैसा खा जाती थी। गर्मी में पानी की ट्रेनें चलाने की नौबत आ जाती थी। इतना ही नहीं दुर्भाग्य तो वो था कि लोग स्टेशन पर जब ट्रेनें चलती थीं वहां पहुंचकर के शौचालय में जो पानी आता है ट्रेन में उसमें से भी पानी भरकर के घर लाने ले जाने के लिए एक- दूसरे के साथ धक्का- मुक्की करने की नौबत आती थी। आज जो नई पीढ़ी के लोग है, जो फर्स्ट टाइम वोटर हैं, शायद ना उन्होंने ये देखा होगा ना सुना होगा। मैंने बहुत सालों तक यहां संगठन का काम किया है। मैं आपके दर्द को जानता था और मेरे गुजरात में इस क्षेत्र के बहुत लोग रहते हैं, उनसे मेरा बड़ा निकट नाता है वे जब यहां का वर्णन करते थे आंख में से आंसू आ जाते थे लेकिन सपा- कांग्रेस ने यही हाल बना रखा था बुंदेलखंड का। साथियों, इन लोगों ने सूखे को ये तो बुंदेलखंड की किस्मत है हम क्या करें, हाथ ऊपर कर दिए थे। लेकिन साथियों, चुनौती को चुनौती देना उसका दूसरा नाम है मोदी और जो चुनौती से जो टकराता है वो ही तो मोदी कहलाता है। लेकिन, आपने अपने इस सेवक मोदी पर भरोसा किया। मोदी ने इस संकट से लड़ने के लिए खुद को खपा दिया। हमने जलजीवन मिशन शुरू किया। सिर्फ 5 साल में हमने 12 करोड़ से ज्यादा घरों तक नल से जल पहुंचाया है। हमने इस क्षेत्र में सैकड़ों की संख्या में पानी की टंकियां बनवायी हैं। आज इस क्षेत्र में 400 से ज्यादा गांवों में पानी पहुंच चुका है। करीब पौने दो लाख घरों में शुद्ध पानी के कनेक्शन दिये जा चुके हैं। मैं बुंदेलखंड में काम की रिपोर्ट लगातार लेता रहता रहता हूं। जो समस्याएं बची हैं, उन पर भी काम चल रहा है। हमारी सरकार ने केन-बेतवा लिंक परियोजना पर भी काम शुरू कर दिया है और केन-बेतवा लिंक परियोजना के लिये हमारी सरकार आपको पानी मिले, आपकी पानी की समस्या दूर हों इसलिए मोदी, ये सरकार 40 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च कर रही है। जब ये योजना पूरी होगी तो बुंदेलखंड के इतिहास में एक नया अध्याय शुरू होगा। विकास को नए पंख लग जायेंगे और याद रखियेगा ये योजना सिर्फ और सिर्फ भाजपा ही पूरा कर सकती है और इसलिए बुंदेलखंड के तेज विकास के लिए मैं आपके पास, भाजपा को आशीर्वाद देने के लिए मांग करने के लिये आया हूं।

साथियों,

पिछली सरकारों ने बुंदेलखंड के किसानों को आत्महत्या के लिए मजबूर किया था। आज मोदी ने हमीरपुर, झांसी और जालौन में किसान सम्मान निधि के 1800 करोड़ रुपये किसानों के खातों में जमा किये हैं। हमने जालौन और हमीरपुर में स्टोरेज फैसिलिटी बनाई है। यूरिया की जो बोरी दूसरे देशों में 3 हजार की है वो भाजपा सरकार आपको 300 रुपये से भी कम कीमत पर दे रही है। हम गरीबों को मुफ्त राशन, मुफ्त इलाज और पक्के मकान दे रहे हैं और मोदी सिर्फ इतने पर ही नहीं रुका है, अगले 5 वर्षों में ये सुविधाएं हर गरीब तक पहुंचेगी। आप लोग मेरा एक काम करेंगे अगर आप सबके सब हाथ ऊपर करके बताते हैं तो फिर मैं बोलूंगा। क्या आप मेरा एक काम करेंगे? आप मेरा एक काम करेंगे? आप मेरा एक काम करेंगे? आप गांव- गांव जाते होंगे, अलग-अलग बस्तियों में जाते होंगे, अगर कहीं पर भी आपको इक्का- दुक्का ऐसे परिवार मिल जायें, जिनके पास पक्का घर नहीं है वो झोपड़ी में रहते हैं, कच्चे घर में रहते हैं, कोई ऐसे परिवार जिनको गैस का कनेक्शन नहीं मिला है तो मेरी तरफ से मैं आपको कहता हूं आप उनका नाम- पता लिखकर के मुझे भेज दीजिए और उनको कहना, उनको कहना कि मोदी जी हमीरपुर आए थे और मोदी जी ने गारंटी दी है कि 4 जून के बाद जब नई सरकार बनेगी तो आपका मकान भी बनेगा। आप मेरी तरफ से उनको गारंटी दे देंगे? गारंटी दे देंगे? मेरे लिए तो आप ही मोदी है और इस काम के लिए हम तीन करोड़ नए पीएम आवास बनायेंगे, ये मैं आपको गारंटी देता हूं।

साथियों,

हर परिवार में आजकल बुजुर्ग होते हैं, माता- पिता, दादा- दादी, चाचा- चाची, नाना- नानी और जो बेटे- बेटी कमाते हैं उनके पास दो जिम्मेवारी होती है, एक तो अपने बुजुर्गों की सेवा करना, उनकी चिंता करना, खुद का ख्याल रखना और अपने बच्चों की परवरिश करना और 70 साल की आयु के बाद कोई ना कोई छोटी- मोटी बीमारी तो आ ही जाती है तो स्वाभाविक जो बेटा- बेटी कमाते हैं उन पर एक नया खर्च आ जाता है हजार- दो हजार रुपया, कभी बड़ी बीमारी आ जाये तो सब कुछ गिरवी रख देना पड़ता है और इसलिए जो बेटे- बेटी कमाते हैं उनपर आर्थिक बोझ ना पड़े इसलिए मोदी ने तय किया है कि आपके परिवार में कोई भी व्यक्ति हो, आपके परिवार के 70 साल से ऊपर के जो भी लोग होंगे अगर उनको बीमारी हुई, इलाज की जरूरत हुई तो खर्चा आपका बेटा मोदी करेगा। अब वो इलाज का खर्चा आपको नहीं करना पड़ेगा।

भाइयों- बहनों,

मेरा एक और संकल्प है जो हमारी बहनें जिनके अंदर महारत है उनको मैं ऐसी नई- नई चीजें सिखाना चाहता हूं, काम के अवसर देना चाहता हूं और मैंने तय किया है कि मैं तीन करोड़, तीन करोड़ लखपति दीदी बनाना है मुझे, ये तीन करोड़ लखपति दीदी ये बहुत बड़ा काम है लेकिन मोदी को बड़े काम करने की आदत है और ये मोदी की गारंटी है और इसके लिए मुझे आपका आशीर्वाद चाहिए।

साथियों,

पिछली सरकारें कहती थीं बुंदेलखंड तो बीहड़ है, बीहड़। वहां कौन जाएगा? मैं कहता हूं, बुंदेलखंड वीरता और विकास की धरती है। वो कहते थे कौन जायेगा, मैं कहता हूं कौन नहीं आयेगा? आज बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे यहां विकास को रफ्तार दे रहा है। एक्सप्रेस-वे के किनारे उद्योग-धंधे लग रहे हैं। हमीरपुर में बड़ी- बड़ी कंपनियां आ रही हैं। सुमेरपुर में सीमेंट फैक्ट्री भी लगी है। भाजपा सरकार, देश में दो डिफेंस कॉरिडोर बना रही है। मोदी ने तय किया, एक डिफेंस कॉरिडोर वीरों की धरती बुंदेलखंड में बनेगा। हमारा प्रयास है कि युवाओं को बुंदेलखंड छोड़कर के जाना ना पड़े, हमारा संकल्प है- बुंदेलखंड उद्योग और रोजगार का केंद्र बने।

साथियों,

आज आल्हा-ऊदल की धरती से मैं एक और प्रश्न पूछना चाहता हूं। आप मुझे बताइये, राष्ट्र का स्वाभिमान, इस मिट्टी का सम्मान, कुछ इससे भी ऊपर हो सकता है क्या? हो सकता है क्या? मोदी ने कश्मीर से 370 हटाई, मोदी ने पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया। देश के स्वाभिमान के लिए मोदी दुनिया की बड़ी-बड़ी ताकतों से भिड़ा, क्या ये सब इसलिए था कि कांग्रेस इस पर पानी फेरने की बात करे? आप देख रहे होंगे कांग्रेस पार्टी कह रही है कि वो कश्मीर में फिर से आर्टिकल-370 वापिस लायेंगे और लगा देंगे। कांग्रेस आजकल हमें धमकी दे रही है कि पाकिस्तान से डरो, पाकिस्तान के पास एटम बम हैं। मैं तो कहता हूं कांग्रेस के लोगों को बुंदेलखंड की इस धरती पर आकर समझना चाहिए कि वीरता क्या होती है? आप मुझे बताइये, हम पाकिस्तान को घर में घुसकर मारकर आये थे या नहीं आये थे? पाकिस्तान ने फिर कभी मुंह उठाने की हिम्मत की क्या? पाकिस्तान के पास परमाणु बम है इसकी धमकी देने वालों को पता नहीं है, उनको उसके रख- रखाव का खर्चा नहीं है उनके पास, संभालने का खर्चा नहीं है उनके पास। साथियों, वो कहते हैं मिसाइलें हैं, हम बुंदेलखंड में जो डिफेंस कॉरिडोर बना रहे हैं ना वो पटाखे बनाने के लिए नहीं है, मिसाइल बनाने के लिए है। पाकिस्तान का डर दिखाकर वोट मांगने वालों को आप वोट देंगे क्या? जो पाकिस्तान का डर दिखाते हैं वो वोट देने लायक हैं क्या? हैं क्या?

साथियों,

20 मई को आपका वोट सशक्त भारत, विकसित भारत इसकी गारंटी होगा। हमीरपुर में कुंवर पुष्पेंद्र सिंह चंदेल जी, जालौन में भानु प्रताप सिंह वर्मा जी और झांसी से श्री अनुराग शर्मा जी आप इनके पक्ष में ज्यादा से ज्यादा मतदान करवाइये, कमल पर बटन दबायेंगे और जब आप कमल पर बटन दबायेंगे ना, तो वोट सीधा-सीधा मोदी के खाते में जायेगा, तो ज्यादा से ज्यादा मतदान करवायेंगे, पोलिंग बूथ जीतेंगे। 10 बजे से पहले मतदान हो जाये ऐसा करेंगे, पहले मतदान- फिर जलपान मेरी बात मानेंगे। अच्छा मेरा एक और काम करेंगे, कमाल है यार मैंने मेरा काम कहा तो ठंडे पड़ गए, मेरा एक काम करेंगे, सबके सब जरा हाथ ऊपर करके बताओ तो मैं बताऊं, करने वाले हैं तो वो ही हाथ ऊंचे करें, फालतू में हाथ ऊपर मत कीजिए, करेंगे अच्छा एक काम करना इन दिनों ज्यादा से ज्यादा लोगों को मिलना, ज्यादा से ज्यादा घरों में जाना, ज्यादा से ज्यादा परिवारों में जाना और परिवार में बैठकर के कहना सभी उस परिवार के मुखिया को कि बोले मोदी जी हमीरपुर आये थे और हमीरपुर में आये थे तो मोदी जी ने खास आपको जय श्रीराम कहा है। मेरा जय श्री राम पहुंचा देंगे, पक्का पहुंचा देंगे।

बोलिए, भारत माता की..

भारत माता की..

बहुत-बहुत धन्यवाद।