शेअर करा
 
Comments
“Central Government has implemented the new National Education Policy keeping in view the requirements of modern and developed India”
“Government lays special emphasis on skill development to promote employment and self-employment”
“Madhya Pradesh has taken a big leap in the quality of education in the National Achievement Survey”
“You should always keep in mind that your education will not only shape the present but also the future of the country”
The Prime Minister, Shri Narendra Modi addressed the programme for newly inducted teachers in Madhya Pradesh via video message today.

नमस्कार।

मध्य प्रदेश में युवाओं को सरकारी नौकरी देने का अभियान तेज गति से चल रहा है। अलग-अलग जिलों में रोजगार मेलों का आयोजन कर, विभिन्न पदों पर हजारों युवाओं की भर्ती की गई हैं। इनमें से 22 हजार 400 से ज्यादा युवाओं की शिक्षक के पद पर भर्ती हुई है। आज अनेकों युवाओं को नियुक्ति पत्र भी मिले हैं। मैं सभी युवाओं को शिक्षण जैसे महत्वपूर्ण कार्य से जुड़ने के लिए बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनाएं देता हूं।

साथियों,

केंद्र सरकार ने आधुनिक और विकसित भारत की आवश्यकताओं को देखते हुए नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू की है। ये नीति बच्चों के सर्वांगीण विकास, सम्पूर्ण विकास, ज्ञान, कौशल, संस्कार और भारतीय मूल्यों के संवर्धन पर जोर देती है। इस नीति को प्रभावी रूप से लागू करने में शिक्षकों की सबसे महत्वपूर्ण भूमिका है। मध्य प्रदेश में व्यापक तौर पर शिक्षक नियुक्ति का अभियान इस दिशा में एक बड़ा कदम है। मुझे बताया गया है कि कुल नई भर्तियों में से लगभग आधे शिक्षक, आदिवासी इलाकों के विद्यालयों में नियुक्त होंगे। इतनी बड़ी संख्‍या में शिक्षकों की नियुक्ति से, सबसे अधिक लाभ ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों को होगा, हमारी भावी पीढ़ी को होगा। मुझे खुशी है कि MP सरकार ने इस वर्ष 1 लाख से अधिक सरकारी पदों पर भर्ती का लक्ष्य रखा है। इस साल के अंत तक 60 हजार से ज्यादा शिक्षकों की नियुक्ति का भी लक्ष्य है। इन्हीं प्रयासों का परिणाम है कि National Achievement Survey में MP ने शिक्षा की गुणवत्ता में बड़ी छलांग लगाई है। इस रैकिंग में MP का स्थान 17वें नंबर से 5वें नंबर पर पहुंच गया है, यानी 12 नंबर की छलांग और वो भी बिना हो-हल्ला किए, बिना शोर मचाए, बिना विज्ञापनों पर पैसे लुटाए, चुपचाप, इस तरह का कार्य करने के लिए समर्पण चाहिए, समर्पण के बिना ये संभव नहीं होता है। एक प्रकार से साधना भाव चाहिए, शिक्षा के प्रति भक्ति-भाव चाहिए। मैं मध्य प्रदेश के विद्यार्थियों को, मध्य प्रदेश के सभी शिक्षकों को, एमपी सरकार को शिक्षा के क्षेत्र में इस महत्वपूर्ण सिद्धि के लिए और इस मौन साधना के लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूं।

साथियों,

आजादी के अमृतकाल में देश, बड़े लक्ष्यों और नए संकल्पों के साथ आगे बढ़ रहा है। इन लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए विकास के जो कार्य हो रहे हैं, वो आज हर सेक्टर में रोजगार के नए अवसर बना रहे हैं। अलग-अलग क्षेत्रों में आज जिस तेज गति से इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण की रफ्तार बढ़ी है, उससे भी रोजगार की नई संभावनाएं बन रही हैं। जैसे, कुछ ही दिन पहले भोपाल से दिल्ली के बीच वंदे भारत ट्रेन की शुरुआत हुई है। इस ट्रेन से प्रोफेशनल्स, कारोबारियों को तो सुविधा मिलेगी ही, साथ ही पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा। One station One product और One district One product ऐसी अनेक योजनाओं से भी स्थानीय उत्पाद, दूर-दूर तक पहुंच रहे हैं। ये सभी योजनाएं, रोजगार बढ़ाने और आय बढ़ाने में मदद कर रही हैं। इसके साथ ही, मुद्रा योजना से उन लोगों को बड़ी मदद मिली है, जो आर्थिक रूप से बहुत कमजोर थे, लेकिन स्वरोजगार करना चाहते थे। सरकार ने पॉलिसी लेवल पर जो बदलाव किए हैं, उसने भारत के स्टार्टअप्स इकोसिस्टम में भी रोजगार के अनेकों नए अवसर बनाए हैं।

साथियों,

रोजगार और स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए सरकार का स्किल डवलपमेंट पर भी विशेष जोर है। प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत युवाओं को ट्रेनिंग देने के लिए देशभर में कौशल विकास केंद्र खोले गए हैं। इस वर्ष के बजट में 30 स्किल इंडिया इंटरनेशनल सेंटर खोलने का ऐलान किया गया है। इनमें युवाओं को New Age Technology के द्वारा ट्रेनिंग दी जाएगी। इस साल के बजट में, पीएम विश्वकर्मा योजना के जरिए छोटे कारीगरों को ट्रेनिंग देने के साथ उन्हें MSME से भी जोड़ने की पहल की गई है।

साथियों,

MP में जिन हजारों शिक्षकों की नियुक्ति हुई है, उन्हें मैं एक और बात कहना चाहता हूं। आप अपने पिछले 10-15 वर्ष के जीवन को देखिए। आप पाएंगे कि जिन लोगों ने आपके जीवन में सबसे ज्यादा प्रभाव डाला, उनमें आपकी माता जी और आपके शिक्षक जरूर हैं। जिस तरह से ये आपके हृदय में हैं, आपके शिक्षक आपके हृदय में हैं, वैसे ही आपको अपने विद्यार्थियों के दिल में जगह बनानी है। आपको इस बात का हमेशा ध्यान रखना है कि आपकी शिक्षा, देश का सिर्फ वर्तमान ही नहीं बल्कि भविष्य भी संवारेगी। आपकी दी गई शिक्षा सिर्फ एक विद्यार्थी में ही नहीं बल्कि समाज में भी परिवर्तन लाएगी। आप जिन मूल्यों को आगे बढ़ाएंगे वो सिर्फ आज की पीढ़ी की ही नहीं बल्कि आने वाली कई पीढ़ियों पर सकारात्मक प्रभाव पैदा करेगी। मुझे पूरा विश्वास है कि बच्चों की शिक्षा और उनके संपूर्ण विकास के लिए आप हमेशा समर्पित रहिएगा। और एक बात मैं हमेशा मेरे लिए कहता हूं, मैं हमेशा कहता हूं कि मैं मेरे भीतर के विद्यार्थी को कभी मरने नहीं देता। आप शिक्षक भले है लेकिन आपके भीतर के विद्यार्थी को हमेशा जागृत रखिए, हमेशा चेतनवंत रखिए। आपके भीतर का विद्यार्थी ही आपको जीवन की अनेक नई ऊचाईयों पर पहुचाएगा। एक बार फिर आप सबको मेरी बहुत-बहुत बधाई है, बहुत-बहुत शुभकामनाएं हैं।

धन्यवाद।

Explore More
77 व्या स्वातंत्र्य दिनानिमित्त लाल किल्ल्याच्या तटबंदीवरून पंतप्रधान नरेंद्र मोदी यांनी केलेले भाषण

लोकप्रिय भाषण

77 व्या स्वातंत्र्य दिनानिमित्त लाल किल्ल्याच्या तटबंदीवरून पंतप्रधान नरेंद्र मोदी यांनी केलेले भाषण
View: How PM Modi successfully turned Indian presidency into the people’s G20

Media Coverage

View: How PM Modi successfully turned Indian presidency into the people’s G20
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
Passage of Nari Shakti Vandan Adhiniyam is a Golden Moment in the Parliamentary journey of the nation: PM Modi
September 21, 2023
शेअर करा
 
Comments
“It is a golden moment in the Parliamentary journey of the nation”
“It will change the mood of Matrushakti and the confidence that it will create will emerge as an unimaginable force for taking the country to new heights”

आदरणीय अध्यक्ष जी,

आपने मुझे बोलने के लिए अनुमति दी, समय दिया इसके लिए मैं आपका बहुत आभारी हूं।

आदरणीय अध्यक्ष जी,

मैं सिर्फ 2-4 मिनट लेना चाहता हूं। कल भारत की संसदीय यात्रा का एक स्वर्णिम पल था। और उस स्वर्णिम पल के हकदार इस सदन के सभी सदस्य हैं, सभी दल के सदस्य हैं, सभी दल के नेता भी हैं। सदन में हो या सदन के बाहर हो वे भी उतने ही हकदार हैं। और इसलिए मैं आज आपके माध्यम से इस बहुत महत्वपूर्ण निर्णय में और देश की मातृशक्ति में एक नई ऊर्जा भरने में, ये कल का निर्णय और आज राज्‍य सभा के बाद जब हम अंतिम पड़ाव भी पूरा कर लेंगे, देश की मातृशक्ति का जो मिजाज बदलेगा, जो विश्वास पैदा होगा वो देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाने वाली एक अकल्पनीय, अप्रतीम शक्ति के रूप में उभरेगा ये मैं अनुभव करता हूं। और इस पवित्र कार्य को करने के लिए आप सब ने जो योगदान दिया है, समर्थन दिया है, सार्थक चर्चा की है, सदन के नेता के रूप में, मैं आज आप सबका पूरे दिल से, सच्चे दिल से आदरपूर्वक अभिनंदन करने के लिए खड़ा हुआ हूं, धन्यवाद करने के लिए खड़ा हूं।

नमस्कार।