ಶೇರ್
 
Comments
The relationship between India and Rwanda has stood the test of time; it is a matter of pride for us that India has been a trusted partner in Rwanda's economic as well as national development: PM Modi
India will open its first high commission in Rwanda soon: PM Modi
We want to strengthen our business and investment ties with Rwanda: Prime Minister Modi

Your Excellency President
पॉल कगामे,

Distinguished delegates,
Members of the Media,

यह पहला अवसर है जब भारत का कोई प्रधानमंत्री Rwanda आया है। और मेरा सौभाग्य है कि मेरे मित्र राष्ट्रपति कगामे जी के निमंत्रण पर यह सुअवसर मुझे मिला है।

राष्ट्रपति जी के दोस्ताना शब्दों, और मेरे तथा मेरे delegation के गर्मजोशी भरे स्वागत और सम्मान के लिए मैं ह्रदय से आभार प्रकट करता हूँ। राष्ट्रपति जी स्वयं मेरा स्वागत करने airport आए। उनका यह special gesture पूरे भारत का सम्मान है। कल सुबह, Kigali जेनोसाइड मेमोरियल पर मैं श्रद्धाजंलि अर्पित करूंगा। 1994 के जेनोसाइड के बाद Rwanda ने जो शांति-प्रक्रिया अपनाई है, वह सच्चे अर्थों में सराहनीय और अनूठी है। President Kagame का कुशल नेतृत्व ही है जिनके प्रभावी और सक्षम शासन से Rwanda आज तेज गति से आर्थिक प्रगति कर रहा है।

 Friends,

भारत और Rwanda के संबंध समय की कसौटी पर खरे उतरे हैं। हमारे लिए यह गर्व का विषय है कि Rwanda की आर्थिक विकास और राष्ट्रीय विकास यात्रा में भारत आपका विश्वस्त साझेदार रहा है। Rwanda की विकास यात्रा में हमारा योगदान आगे भी बना रहेगा। हम training, technology, infrastructure development और project assistance के क्षेत्रों में सहयोग करते रहे हैं। Finance, management, rural development और ICT जैसे क्षेत्रों में हम Rwanda के लिए अग्रणी भारतीय संस्थानों में training प्रदान करते हैं। Capacity building में इस योगदान को हम और बढ़ाना चाहेंगे। आज हमने Two hundred million dollars के lines of credit और training के विषय पर समझौते किये हैं। आज हमने नए क्षेत्रों जैसे लेदर और डेरी research सहित दोनों देशों के बीच सहयोग के विभिन्न क्षेत्रों पर भी चर्चा की है। इस संदर्भ में, मैं कल राष्ट्रपति जी के साथ रवेरू आदर्श गाँव की यात्रा के बारे में बहुत उत्सुक हूँ। भारत स्वयं एक कृषि प्रधान देश है, और हमारी अधिकांश जन-संख्या गावों में बसती है। और इसलिए, मैं ग्रामीण जीवन को सुधारने के लिए Rwanda के अनुभव से और राष्ट्रपति जी की पहलों से लाभान्वित होना चाहता हूँ। मेनीफेकचरिंग Sector, Hospitality और Tourism सहित हमने ऐसे बहुत से क्षेत्र प्रस्तावित किए हैं जहां भारत और Rwanda व्यापक विकासात्मक भागीदारी मजबूत कर सकते हैं। हम अपने व्यापारिक और निवेश संबंधों को और अधिक मजबूत करना चाहते हैं। और इसलिए, President कगामे और मैं कल दोनों देशों के प्रमुख business leaders से मिलेंगे और उनके सुझावों पर विचार करेंगे।

 Friends,

मुझे यह बताते हुए प्रसन्नता है कि हम शीघ्र ही Rwanda में High Commission खोलने वाले है। इससे न सिर्फ़ हमारी सरकारों के बीच घनिष्ठ संवाद संभव होगा,साथ ही कोनसूलर, पासपोर्ट और वीज़ा तथा अन्य सुविधाएं भी सुलभ होंगी। हम दोनों देशों के बीच संबंधों को आने वाले समय में और अधिक उच्च स्तर पर ले जाने के लिए आशान्वित हैं।

मैं एक बार फिर राष्ट्रपति जी को अपना हार्दिक आभार देता हूँ। और सवा सौ करोड़ भारतीयों की ओर से रवांडा के लोंगों को भी शुभकामनाएं देता हूँ।

धन्यवाद।

ದೇಣಿಗೆ
Explore More
ಚಾಲ್ತಾ ಹೈ' ವರ್ತನೆಯನ್ನು ಬಿಟ್ಟು  ಮತ್ತು ' ಬದಲ್ ಸಕ್ತ ಹೈ'  ಬಗ್ಗೆ ಯೋಚಿಸುವ ಸಮಯವಿದು : ಪ್ರಧಾನಿ ಮೋದಿ

ಜನಪ್ರಿಯ ಭಾಷಣಗಳು

ಚಾಲ್ತಾ ಹೈ' ವರ್ತನೆಯನ್ನು ಬಿಟ್ಟು ಮತ್ತು ' ಬದಲ್ ಸಕ್ತ ಹೈ' ಬಗ್ಗೆ ಯೋಚಿಸುವ ಸಮಯವಿದು : ಪ್ರಧಾನಿ ಮೋದಿ
Narendra-Devendra formula is super-hit in terms of development, says PM Modi

Media Coverage

Narendra-Devendra formula is super-hit in terms of development, says PM Modi
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
ಶೇರ್
 
Comments
In Maharashtra, PM Modi highlights that Rs 3.5 lakh crore will be used for water conservation and building facilities for water conservation
Prime Minister Modi urges people to come out and vote in large numbers on Oct 21

 The campaigning in Maharashtra has gained momentum as Prime Minister Narendra Modi addressed a public meeting in Parli today. Accusing Congress and the NCP, PM Modi said, “Whenever Article 370 will be discussed in history, then the people who opposed and ridiculed it, their comments will be remembered.”

 "We started the Jal Jeevan Mission as soon as we formed the government for the second time. In the coming years, Rs 3.5 lakh crore will be used for water conservation and building facilities for water conservation," the PM said.