शेअर करा
 
Comments
Why were Congress-JD(S) leaders shedding tears for Pakistan when we attacked its terrorist camps while the entire world was standing besides us: PM Modi in Karnataka
The upcoming elections are about electing a strong government that puts the welfare of its people first: PM Modi
Nobody knows who is running the government in Karnataka because both Congress and JD(S) are busy in out-maneuvering each other: Prime Minister Modi
While the Opposition parties are busy pitting communities against each other, we are striving towards building a ‘New India’: PM Modi

 भारत माता की जय... भारत माता की जय...

इस धरती पर आने का अपना ही एक सौभाग्य होता है। इस धरती की सभी महान विभूतियों को मैं आदर पूर्वक नमन करता हूं। सिद्धगंगा मठ के डॉक्टर शिव कुमार स्वामी जी को भी मैं सर झुका कर के प्रणाम करता हूं। बंधु भगिनी, कर्नाटक देश के उन राज्यों में है जो हमेशा बीजेपी के साथ पूरी मजबूती के साथ खड़ा रहा है। यहीं मजबूती आपने बीते पांच वर्षों में इस चौकीदार को दी है। आपके ही भरोसे और विश्वास के कारण हर चुनौतियों को चुनौतियां देने की हिम्मत ये चौकीदार कर पाया है। दुनिया भर में भारत की जय- जयकार हो रही है, तो उसका कारण, दुनिया में भारत की जय-जयकार क्यों हो रही है? किसके कराण? किसके कारण? किसके कारण? मोदी के कारण नहीं उसका कारण आप है। 2014 में आपके एक-एक वोट ने हिंदुस्तान के सभी नागरिकों के एक-एक वोट ने जो ताकत दी। उसके कारण आज दुनिया में हिंदुस्तान का डंका बज रहा है। साथियो, आज भारत का हर व्यक्ति आत्मविश्वास से भरा है। क्योंकि देश एक महाशक्ति बनने के रास्ते पर निकल पड़ा है।

पांच वर्ष पहले का एक दौर वो था जब पाकिस्तान के आतंकी हम पर हमला करते थे और फिर पाकिस्तान से ही धमकियां भी मिलती थी। हमारे जांबाज एक्शन के लिए इजाजत मांगते थे लेकिन तब की सरकार डर कर के बैठ जाती थी। इस चौकीदार ने उस स्थिति को बदल दिया है। अब अगर डर है तो डर सीमा के उस पार है। वहां सत्ता में बैठे लोगों को तरह-तरह के डरावने सपने आते हैं। आज धमकी देने वाले दुबक गए हैं, और बालाकोट के प्रहार से आतंकी खौफ में हैं। भाइयो और बहनो, आपने देखा कि जब हमने पाकिस्तान के आतंकियों पर प्रहार किया। आपको अच्छा लगा कि नहीं लगा, आप खुश है क्या? मैंने सही किया? जब हमने आतंकियों पर प्रहार किया तो दर्द पाकिस्तान को हुआ लेकिन आंसू हमारे यहां कांग्रेस और जेडीएस उनके साथियों के निकले। पूरी दुनिया भारत के पक्ष में खड़ी हो गई। लेकिन हमारे यहां के महामिलावटी दल पाकिस्तान के बजाए मोदी के खिलाफ निंदा प्रस्ताव पारित कर रहे थे। यहां के मुख्यमंत्री तो एक कदम और आगे बढ़ गए। कहते हैं कि भारत के वीरों के पराक्रम की बात नहीं करनी चाहिए। क्योंकि उनके वोट बैंक को नुकसान होता है। मैं जरा यहां के मुख्यमंत्री को पूछना चाहता हूं कि आपका वोट बैंक भारत में हैं कि पाकिस्तान में। जरा मुख्यमंत्री जी, इस बात को जरा साफ कीजिए स्पष्ट कीजिए। साथियो, एयर स्ट्राइक की तरह ही इन्होंने अंतरिक्ष में स्ट्राइक का भी मजाक उड़ाया। पूरी दुनिया ने माना की स्पेस में भारत ने बहुत बड़ी उपलब्धि हासिल की है। लेकिन मोदी विरोध के चक्कर में ये लोग फिर भारत का विरोध करने पर उतारू हैं।

भारत का विरोध कर रहे हैं। भाइयो और बहनो ये लोग जब खुद सरकार में थे तब वैज्ञानिकों को मिसाइल टेस्ट करने की मंजूरी देने की हिम्मत भी इनके अंदर नहीं थी। लेकिन अब जब भारत ने स्पेस में स्ट्राइक की तो सवाल उठाने वाले सबसे पहले यहीं लोग चले आए। चित्रदुर्ग के मेरे भाइयो-बहनो, ये न तो जवान का सम्मान करते हैं और न ही विज्ञान का...। जिनको भारत के मान-सम्मान की परवाह नहीं उनको सबक सिखाना जरूरी है। भाइयो-बहनो, इस चुनाव में आपको सिर्फ सांसद नहीं चुनना है, सिर्फ प्रधानमंत्री नहीं चुनना है। बल्कि एक मजबूत भारत के लिए मजबूत सरकार चुननी है। मजबूत सरकार ही देश हित में बड़े फैसले ले सकती है। साथियो, मजबूत सरकार कैसी होती है ये आप यहां पर देख रहे हैं। कर्नाटक की सरकार कौन चला रहा हैं? ये किसी को अंदाजा नहीं है। क्योंकि दोनों हारे हुए दल सिर्फ सत्ता के लिए, स्वार्थ के लिए उन्होंने जोड़ी बनाई है। इसलिए वो दिन–रात इधर वाला भाग जाएगा कि उधर वाला भाग जाएगा। ये कुछ मांगेगा कि वो कुछ मांगेगा। इसको टुकड़ा फेंकू कि उसको टुकड़ा फेंकू...बस इसी में लगे हैं। जनता को क्या चाहिए ये इनको इसकी परवाह नहीं है। इनकी पूरी कोशिश है कि ऐसी ही महामिलावटी सरकार दिल्ली में बैठे और जिसका रिमोर्ट कंट्रोल एक दर्जन लोगों के हाथ में हो। क्या आप ऐसी सरकार चाहते हैं? मजबूत सरकार चाहते हैं कि नहीं चाहते हैं? देश में ऐसा प्रधानमंत्री होना चाहिए जिसका हाई कमान, जिसका हाई कमान सिर्फ और सिर्फ एक सौ तीस करोड़ हिंदुस्तानी होने चाहिए।

साथियो, वोट के लिए कांग्रेस जाति और संप्रदाय को बांटने का काम करती रही है। यहीं कोशिश विधानसभा चुनाव के दौरान उसने की थी। कभी ये लिंगायत समाज को बांटने की कोशिश करते हैं। कभी वोका लिंगा के खिलाफ लोगों को भड़काते हैं। कांग्रेस के अपने नेताओं ने ये स्वीकार किया है कि बैंगलुरू से लेकर दिल्ली तक विभाजन का कैसा खेल खेला जाए। भाइयो-बहनो, कांग्रेस की ये स्पष्ट सोच रही है कि जहां मौका मिले वहां समाज को बांट दो। आजादी के समय से ही इनकी रणनीति, इनकी रणनीति तुष्टिकरण की रही है, और आज भी साफ साफ दिख रही है। इनको न तो देश की चिंता है और न ही हमारे संविधान की। बंधु भगिनी, जिस तरह वीर मदाकारी नायका, और वीर ओनके ओपवा ने आक्रमणकारियों और अत्याचारियों से चित्रदुर्ग की रक्षा की थी। वैसा काम आज पूरे हिंदुस्तान के लिए हम सब चौकीदारों को मिलकर के करना है। करेंगे..? मिलकर के करेंगे? पूरी ताकत से करेंगे? जी जान से करेंगे.? आप इस चौकीदार के साथ खड़े रहेंगे।

साथियो, एक तरफ कांग्रेस जेडीएस का तुष्टिकरण है। दूसरी तरफ जाति, वर्ग, पंथ से ऊपर बीजेपी का सबका साथ सबका विकास ये हमारा मंत्र है। आपका प्यार मेरी सर आंखों पर...इतना प्यार अगर मुझे मिलता है तो जीवन में इससे बड़ा सौभाग्य क्या हो सकता है। मैं इस प्यार के लिए इस जोश इस उत्साह के लिए आप सबको नमन करता हूं। सबका साथ सबका विकास इसी मंत्र पर चलते हुए हम नए भारत के निर्माण के लिए पूरी ईमानदारी से काम कर रहे हैं। हमारा संकल्प हर गरीब को पक्का घर देने का है। हमारा संकल्प हर घर को बिजली और हर घर तक एलपीजी गैस कनेक्शन पहुंचाने का है। हमारा संकल्प देश की हर बड़ी पंचायत में टेलीमेडिसिन और बेसिक लेबोरेटरी सुविधा से युक्त हेल्थ एंड वेलनेंस सेंटर खोलने का है। हमारा संकल्प किसानों की आय डबल करने का है। साथियो, किसानों की आय बढ़ाने के लिए हम बीज से लेकर बाजार तक नई व्यवस्थाएं बना रहे हैं। एक तरफ मेघा फूड पार्क, फर्टिलाइजर, और इथेनॉल के प्लांट लगाने का काम किया जा रहा है, तो दूसरी तरफ किसानों को सीधी मदद दी जा रही है। साथियो, पीएम किसान योजना के तहत कर्नाटक में करीब-करीब 75 लाख छोटे किसान परिवारों को सीधी मदद मिलनी तय हुई है। अब हमने संकल्प लिया है। कल हमने हमारे संकल्प पत्र में घोषित किया है कि दोबारा जब हमारी सरकार बनेगी 23 मई के रिजल्ट के बाद जब हम फिर से शपथ लेंगे तो उसके बाद अभी जो हमने नियम बनाया है, उसमें बदलकर के अभी नियम बना है छोटे किसानों का उसमें बदलकर के सभी किसान परिवारों का इसका लाभ देने का हमने निर्णय किया है। भाइयो बहनो, चौकीदार जो कहता है वो पूरा भी करता है। पीएम किसान सम्मान योजना को शुरू हुए अभी मुश्किल से सवा महीना हुआ है। लेकिन अब तक तीन करोड़ किसानों के खाते में पहली किस्त के पैसे जमा हो चुके हैं। डेढ़ करोड़ किसानों को दूसरी किस्त भी मिल चुकी है।

साथियो, एक तरफ किसानों के लिए हमारी सरकार के ये प्रयास है, वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस और जेडीएस के खोखले वादे हैं। इन लोगों ने कर्ज माफी का वादा किया था। एक साल हो गया लेकिन वो वादा अब तक अधूरा है। क्या इन्होंने किसानों का वादा पूरा किया। कर्ज माफी हुई। किसानों के खाते में पैसा आया। अरे वारंट निकलता है। वारंट, भाइयो—बहनो, किसान हो या उद्यमी हो कांग्रेस जेडीएस किसी का भी भला नहीं करना चाहती। उनकी नीयत में ही खोट है। कांग्रेस जेडीएस की नीयत किसान हित की होती तो कर्नाटक का मैनचेस्टर दावणगेरे कभी बेहाल हीं होता। इनकी नीयत काम करने की होती तो अपर बदरा प्रोजेक्ट सहित अनेक सिंचाई परियोजनाएं समय पर पूरी हो जाती। साथियो, चित्रदुर्ग हो, दावणगेरे हो, इस पूरे क्षेत्र में कनेक्टिविटी और सौलर पावर के इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करने का ईमानदार प्रयास भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने किया है। दावणगेरे को स्मार्ट बनाने के लिए यहां पर्यटन के अवसर पैदा करने के लिए और युवा साथियों को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए हम पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं। साथियो, कांग्रेस के राज में दशको तक इस देश के साथ जो अन्याय हुआ। वो हर भारतीय को हर पल याद रखना चाहिए। देश के सामार्थ्य के साथ अन्याय, देश के संसाधनों के साथ अन्याय, और देश के सपनों के साथ भी अन्याय।

 साथियो, हम भारत के लोग क्या हम ऐसी ही सरकारें ही डिजर्व करते थे। जैसा कांग्रेस ने हमें दिया। नहीं बिल्कुल नहीं। कांग्रेस ने इस देश की चार-चार पीढ़ियों के साथ अन्याय किया है। एक के बाद एक भ्रष्ट सरकारें देकर, समाज को तोड़कर, लोगों को आपस में लड़ाकर, हमारी शिक्षा व्यवस्था को भारतीयता से दूर करके, हमारी विदेश नीति को कमजोर करके। हमारी सेनाओं को कमजोर करके। कांग्रेस ने दशकों तक देश के साथ अन्याय किया है। साथियो, बीते पांच वर्षों में भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए सरकार ने कांग्रेस के इस अन्याय को कम करने का भरपूर प्रयास किया। तमाम छिपाई हुई फाइलें निकालने के बाद तमाम भगाए गए लोगों को देश में वापस लाने के बाद, तमाम राजदारों के सामने आने के बाद अब समय आ रहा है, जब कांग्रेस से पीड़ित देश को न्याय दिलाया जाए। देश को न्याय मिलना चाहिए कि नहीं मिलना चाहिए? न्याय मिलना चाहिए कि नहीं मिलना चाहिए? ये अन्याय की परंपरा का जवाब मांगना चाहिए कि नहीं मांगना चाहिए? 60 साल तक अन्याय करने वालों को सजा देनी चाहिए कि नहीं चाहिए? भाइयो- बहनो अब बोफोर्स घोटाला करने वालों के साथ न्याय होना पक्का है। नेशनल हेराल्ड हाउस घोटाला करने वालों के साथ अब न्याय पक्का है। दिल्ली में सिख दंगा कराने वालों के साथ अब न्याय पक्का है।

कॉमनवेल्थ घोटाले कर के देश की साख दांव पर लगाने वालों के साथ न्याय पक्का है। 2जी घोटाला, पनडुब्बी घोटाला, कोयला घोटाला, कर्जमाफी घोटाला। इन घोटालों से अपने परिवार के लिए अरबों रुपये का भ्रष्टाचार करने वालों के साथ अब न्याय पक्का है और हां अब हेलीकॉप्टर घोटाला करने वालों के साथ भी न्याय पक्का है। जेल के दरवाजे इतंजार कर रहे हैं। साथियो, इस चुनाव में आपका आशीर्वाद मुझे कांग्रेस के अन्याय को सामप्त करने में भी मदद करने वाला है। भाइयो-बहनो, 20वीं सदी में जिस कांगेस ने अपना भ्रष्ट कल्चर, भाइयो और बहनो 20वीं सदी में जिस कांग्रेस ने अपना भ्रष्ट कल्चर देश पर थोपा। अब उसी कांग्रेस को 21वीं सदी के नौजवान सजा देने वाले हैं। 20वीं सदी के पापों की सजा 21वीं सदी का नौजवान देने वाला है। जिन नौजवानों ने 21वीं शताब्दी में जन्म लिया है। जो इस साल के चुनाव में लोकसभा के चुनाव में पहली बार वोट डालने जा रहे हैं। सबसे पहले तो ऐसे 21वीं सदी में जन्मे हुए लोकसभा में पहली बार वोट देने वाले ये सभी युवा मतदाताओं को हृदय पूर्वक अभिनंदन करता हूं उनका अभिवादन करता हूं। लेकिन मेरे युवा साथियो, मेरे फर्स्ट टाइमर वोटर और सिर्फ चित्रदुर्ग और दावणगेरे की नहीं पूरे देश के फर्स्ट टाइमर से मै प्राथना कता हूं। आप पहली बार वोट देने जा रहे हैं। उन्हें बहुत सोच समझकर वोट देना है। आपका ये वोट देश को मजबूत बनाने के लिए, देश में मजबूत सरकार बनाने के लिए होना चाहिए। होना चाहिए कि नहीं होना चाहिए? होना चाहे कि नहीं होना चाहिए? आप अपना वोट देश के लिए शहीद होने वाले वीर जाबांजों को समर्पित कर सकते हैं। आप ये अपना पहला वोट किसी गरीब को उसका घर मिले इसके लिए आपका वोट समर्पित हो सकता है।

आपका ये पहला वोट किसी गरीब को मुफ्त में अस्पताल में इलाज मिले, इसके लिए समर्पित होना चाहिए। आपका पहला वोट किसी किसान के खेत को पानी मिल जाए इसके लिए आपका वोट समर्पित हो सकता है। आपके ही दोस्त कोई, आपका कोई साथी हो उसको मुद्रा योजना से लोन मिल जाए किसी बैंक गारंटी के बिना लोन मिल जाए इस काम के लिए आपका पहला वोट जाना चहिए। साथियो, जो 18 साल के हो गए हैं। जो इस बार वोट डालने जा रहे हैं। अपने जीवन में पहली बार ईवीएम देखने जा रहे हैं। उन्हें बहुत सोच समझकर बिना किसी गलती के वोट डालना है। आपका एक एक वोट बहुत अनमोल है। इसे संभल कर इस्तेमाल करिएगा। हां आपको मैं विश्वास दिलाता हूं कि आप जब वोट देने जाएंगे कमल के बटन को दबाएंगे तो आपका वोट सीधे सीधा मोदी के खाते में जमा होगा। आप मुझे बताइए ये सभी नौजवानों का वोट मिले तो मेरी ताकत बढ़ेगी की नहीं बढेगी। मेरी ऊर्जा बढ़ेगी की नहीं बढ़ेगी? काम करने का मेरा हौसला बढ़ेगा कि नहीं बढ़ेगा? आज जितना दौड़ता हूं उससे ज्यादा दौडूंगा कि नहीं दौडूंगा? आज जितने काम करता हूं उससे ज्यादा काम करूंगा कि नहीं करूंगा? तो आपका वोट सीधे सीधा मोदी को जाने वाला है। बंधु भगिनी देश में मजबूत सरकार किस तरह काम करती है। देश में पूर्ण बहुमत वाली सरकार किस तरह काम करती है। देश में कांगेस कल्चर से मुक्त सरकार कैसे काम करती है। ये आपने पिछले पांच साल में देखा है। देश को कर्नाटक को सुरक्षित रखने विकसित बनाने के लिए हम सभी चौकीदारों को एक साथ आगे बढ़ना है और हर पोलिंग बूथ को कमल से खिलाना है। कमल खिलाएंगे, कमल खिलाएंगे, चौकीदार का साथ देंगे। मैं बोलूंगा मेरे सा बोलिए... मैं भी.. आप बोलेंगे चौकीदार... मैं भी... चौकीदार.... बहुत बहुत धन्यवाद...

Explore More
चलता है' ही मनोवृत्ती सोडायची वेळ आता आली आहे. आता आपण 'बदल सकता है' असा विचार करायला हवा : पंतप्रधान मोदी

लोकप्रिय भाषण

चलता है' ही मनोवृत्ती सोडायची वेळ आता आली आहे. आता आपण 'बदल सकता है' असा विचार करायला हवा : पंतप्रधान मोदी
Forex kitty continues to swells, scales past $451-billion mark

Media Coverage

Forex kitty continues to swells, scales past $451-billion mark
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
Prime Minister inteacts with scientists at IISER, Pune
December 07, 2019
शेअर करा
 
Comments

Prime Minister, Shri Narendra Modi today interacted with scientists from Indian Institute of Science  Education and Research (IISER) in Pune, Maharashtra . 

IISER scientists made presentations to the Prime Minister on varied topics ranging from  New Materials and devices for Clean Energy application to Agricultural Biotechnology to Natural Resource mapping. The presentations also showcased cutting edge technologies in the field of Molecular Biology, Antimicrobial resistance, Climate studies and Mathematical Finance research.

Prime Minister appreciated the scientists for their informative presentations. He urged them to develop low cost technologies that would cater to India's specific requirements and help in fast-tracking India's growth. 

Earlier, Prime Minister visited the IISER, Pune campus and interacted with the students and researchers. He also visited the state of the art super computer PARAM BRAHMA, deployed by C-DAC in IISER, which has a peak computing power of 797 Teraflops.

The Indian Institute of Science Education and Research (IISERs) are a group of premier science education and research institutes in India. 

Prime Minister is on a two day visit to attend the DGP's Conference in Pune.