प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने 24 अगस्त, 2023 को जोहान्सबर्ग में ब्रिक्स-अफ्रीका आउटरीच और ब्रिक्स प्लस डायलॉग में भाग लिया।

इस बैठक में ब्रिक्स देशों के नेताओं के साथ-साथ अफ्रीका, एशिया और लैटिन अमेरिका के अतिथि देशों ने भाग लिया।

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में ब्रिक्स को ग्‍लोबल साउथ की आवाज बनने का आह्वान किया। उन्होंने अफ्रीका के साथ भारत की घनिष्ठ साझेदारी को रेखांकित किया और एजेंडा 2063 के तहत अफ्रीका को उसकी विकास यात्रा में सहयोग करने संबंधी भारत की प्रतिबद्धता दोहराई।

प्रधानमंत्री ने बहुध्रुवीय विश्व को सशक्त करने के लिए सहयोग जारी रखने का आह्वान किया। साथ ही उन्‍होंने वैश्विक संस्थानों को प्रतिनिधिक और प्रासंगिक बनाए रखने के लिए उनमें सुधार की आवश्यकता पर जोर दिया। उन्होंने नेताओं से आतंकवाद के खिलाफ जंग, पर्यावरण संरक्षण, जलवायु संबंधी पहल, साइबर सुरक्षा, खाद्य एवं स्वास्थ्य सुरक्षा और मजबूत आपूर्ति श्रृंखला जैसे क्षेत्रों में सहयोग का आग्रह किया। प्रधानमंत्री ने अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन, वन सन वन वर्ल्ड वन ग्रिड, आपदा निरोधी बुनियादी ढांचे के लिए गठबंधन, वन अर्थ वन हेल्थ, बिग कैट अलायंस और पारंपरिक चिकित्‍सा के लिए वैश्विक केंद्र जैसी अंतरराष्ट्रीय पहल का हिस्सा बनने के लिए भी देशों को आमंत्रित किया। उन्होंने भारत के डिजिटल पब्लिक इंफ्रास्ट्रक्चर स्टैक को साझा करने की भी पेशकश की।

Explore More
अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी
Union Cabinet approves amendment in FDI policy on space sector, upto 100% in making components for satellites

Media Coverage

Union Cabinet approves amendment in FDI policy on space sector, upto 100% in making components for satellites
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
पिछले दस वर्षों में वाराणसी में हुआ अभूतपूर्व विकास
February 22, 2024

पिछले दस वर्षों में वाराणसी में अभूतपूर्व विकास हुआ है। पीएम मोदी के 'विकास भी, विरासत भी' के मंत्र को साकार करते हुए वाराणसी अपनी समृद्ध सांस्कृतिक विरासत को संरक्षित कर एक आधुनिक केंद्र में परिवर्तित हो रहा है। पुनर्निर्मित घाट, काशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर और हालिया विकास, यहां चल रहे विकास में महत्वपूर्ण अध्याय हैं।

बुकलेट यहां से डाउनलोड करें