साझा करें
 
Comments

I am visiting Bishkek (Kyrgyz Republic) on 13-14 June 2019 to attend the meeting of the Council of Heads of State of the Shanghai Cooperation Organization (SCO).

We attach special importance to SCO in promoting multilateral, political, security, economic and people-to-people interaction in the region.

India has actively participated in various SCO dialogue mechanisms since its full membership of SCO two years ago. We have extended full cooperation to the Chairmanship of the Kyrgyz Republic over the past year.

The Summit is expected to discuss the global security situation, multilateral economic cooperation, people-to-people exchanges and topical issues of international and regional importance. On the sidelines of the Summit, I also plan to meet several leaders bilaterally.

On the invitation of the President of  the Kyrgyz Republic, I will also be on an official bilateral visit to the Kyrgyz Republic on 14 June 2019, after conclusion of the SCO Summit.

India and the Kyrgyz Republic, bound by historical and civilizational links, share traditionally warm and friendly relations. In recent times, our relations have expanded in several areas of bilateral engagement, including defence, security, trade and investment.

Apart from our discussions on the entire range of bilateral cooperation, President Jeenbekov and I will jointly address the first meeting of India-Kyrgyz Business Forum.

I am confident that my visit tothe Kyrgyz Republic will further strengthen and consolidate our cooperation with the SCO member countries and with the Kyrgyz Republic.

प्रधानमंत्री मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम के लिए भेजें अपने विचार एवं सुझाव
20 Pictures Defining 20 Years of Seva Aur Samarpan
Explore More
हमारे जवान मां भारती के सुरक्षा कवच हैं : नौशेरा में पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

हमारे जवान मां भारती के सुरक्षा कवच हैं : नौशेरा में पीएम मोदी
Cabinet extends PMAY-Rural plan till March 2024, nod to Ken-Betwa river inter-linking

Media Coverage

Cabinet extends PMAY-Rural plan till March 2024, nod to Ken-Betwa river inter-linking
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री ने संविधान सभा की पहली ऐतिहासिक बैठक के 75 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में संविधान सभा की महान हस्तियों को नमन किया
December 09, 2021
साझा करें
 
Comments

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने संविधान सभा की पहली ऐतिहासिक बैठक के 75 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य में संविधान सभा की महान हस्तियों को नमन किया है।

अपने श्रृंखलाबद्ध ट्वीटों में प्रधानमंत्री ने कहा हैः

“75 वर्ष पहले आज ही के दिन संविधान सभा की पहली बैठक हुई थी। भारत के विभिन्न भागों से, विभिन्न पृष्ठभूमि और यहां तक कि विभिन्न विचारधाराओं वाले महान लोग एकजुट हुये थे, जिनका एक ही उद्देश्य था कि भारतवासियों को एक शानदार संविधान प्रदान किया जाये। इन महान लोगों को नमन है।

संविधान सभा की पहली बैठक की अध्यक्षता डॉ. सच्चिदानन्द सिन्हा ने की थी, जो सभा के सबसे वरिष्ठ सदस्य थे।

उनके नाम का प्रस्ताव आचार्य कृपलानी ने किया था और उन्हें अध्यक्ष पद पर आसीन किया था।

आज, जब हम संविधान सभा की पहली ऐतिहासिक बैठक के 75 वर्ष पूरे होने को याद कर रहे हैं, मैं अपने युवा मित्रों से आग्रह करता हूं कि वे इस गरिमामयी सभा की कार्यवाही और इसमें शरीक होने वाली महान हस्तियों के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानें। ऐसा करने से बौद्धिक रूप से उनका अनुभव समृद्ध होगा।”