“৩০ এবং ৩১ অক্টোবর প্রত্যেকের জন্য অনু্প্রেরণার উৎস কারণ প্রথম দিনটি গোবিন্দ গুরুজির মৃত্যু দিবস এবং দ্বিতীয়টি সর্দার প্যাটেলজির জন্মবার্ষিকী”
“ভারতের উন্নয়নের কাহিনী এখন সারা বিশ্বে আলোচনার বিষয়বস্তু হয়ে উঠেছে”
“মোদী যে সিদ্ধান্ত নিয়ে থাকেন, তিনি তা পূরণও করেন”
“বিভিন্ন সেচ প্রকল্পের কারণে উত্তর গুজরাটে গত ২০-২২ বছরে সেচসেবিত জমির পরিমাণ বহুগুণে বৃদ্ধি পেয়েছে”
“গুজরাটে জল সংরক্ষণের যে প্রকল্পের সূচনা হয়েছিল, আজ তা দেশের জন্য জল জীবন মিশন-এর মাধ্যমে গৃহীত হয়েছে”
“উত্তর গুজরাটে ৮০০-রও বেশি গ্রামে নতুনভাবে দুগ্ধ সমবায় সমিতি গড়ে তোলা হয়েছে ”
“বর্তমান সময়কালে দেশে আমাদের ঐতিহ্যের সঙ্গে যুক্ত স্থানগুলিতে উন্নয়নমূলক যে প্রকল্প বাস্তবায়িত হচ্ছে তা অভূতপূর্ব”

প্রধানমন্ত্রী শ্রী নরেন্দ্র মোদী আজ গুজরাটের মেহসনায় প্রায় ৫৮০০ কোটি টাকার একগুচ্ছ উন্নয়নমূলক প্রকল্পের উদ্বোধন ও শিলান্যাস করেছেন। এই প্রকল্পগুলির মধ্যে রয়েছে রেল, সড়ক, পানীয় জল এবং সেচ প্রকল্প।

এই উপলক্ষে আয়োজিত অনুষ্ঠানে বক্তব্য রাখার সময় প্রধানমন্ত্রী বলেন, ৩০ এবং ৩১ অক্টোবর প্রত্যেকের জন্য অনুপ্রেরণার উৎস কারণ প্রথম দিনটি গোবিন্দ গুরুজির মৃত্যু দিবস এবং দ্বিতীয়টি সর্দার প্যাটেলজির জন্মবার্ষিকী। “বিশ্বের উচ্চতম মূর্তি - ‘স্ট্যাচু অফ ইউনিটি’ নির্মাণের মধ্য দিয়ে আমাদের প্রজন্ম সর্দার সাহেবের প্রতি শ্রদ্ধা প্রদর্শন করছে।” গোবিন্দ গুরুজির জীবন স্বাধীন ভারতে আদিবাসী গোষ্ঠীর জন্য উৎসর্গীকৃত হওয়ার প্রতীক। মানগড় ধাম-এর গুরুত্বকে জাতীয় স্তরে প্রচার করায় তিনি সন্তোষ ব্যক্ত করেন।

 

প্রধানমন্ত্রী আজ দিনের শুরুতে অম্বাজি মন্দির দর্শন করেন এবং পুজো দেন। মাতা অম্বাজির আশীর্বাদ চাওয়ার সুযোগ পাওয়ার কারণে তিনি কৃতজ্ঞতা প্রকাশ করেন। গব্বর পর্বত গড়ে তোলার কাজ শুরু হওয়ায় তিনি সন্তোষ প্রকাশ করেন। আজ যে প্রকল্পগুলির উদ্বোধন ও শিলান্যাস হয়েছে, সেগুলির প্রসঙ্গ উল্লেখ করে শ্রী মোদী বলেন, মা অম্বার আশীর্বাদে এখানে ৬ হাজার কোটি টাকারও বেশি প্রকল্পের সূচনা হয়েছে। এই প্রকল্পগুলি সংশ্লিষ্ট অঞ্চলের যোগাযোগ ব্যবস্থার উন্নতি ঘটাবে এবং কৃষকরা এর ফলে উপকৃত হবেন। “এই প্রকল্পগুলি থেকে মেহসনা, পাটন, বনস্কান্থা, সবরকান্থা, মাহিসাগর, আমেদাবাদ এবং গান্ধীনগর জেলার মানুষ উপকৃত হবেন।” সংশ্লিষ্ট প্রকল্পগুলির জন্য তিনি গুজরাটবাসীকে অভিনন্দন জানিয়েছেন। 

প্রধানমন্ত্রী বলেন, “ভারতের উন্নয়নের কাহিনী এখন সারা বিশ্বে আলোচনার বিষয়বস্তু হয়ে উঠেছে।” চন্দ্রযান সফলভাবে চাঁদের দক্ষিণ মেরুতে অবতরণ করেছে। ভারত সাফল্যের সঙ্গে জি-২০ গোষ্ঠীর সভাপতির দায়িত্ব পালন করেছে। জনসাধারণের সঙ্কল্প গ্রহণ এবং সেই সঙ্কল্পকে বাস্তবায়নের ক্ষমতা দেশকে আজ এই উচ্চতায় পৌঁছে দিয়েছে। তাঁর ভাষণে দেশে সর্বাঙ্গীণ উন্নয়নের প্রসঙ্গ উল্লেখ করে শ্রী মোদী বলেন, জল সংরক্ষণ, সেচ এবং পানীয় জল প্রকল্প আজ বাস্তবায়িত হচ্ছে। সড়ক, রেল অথবা বিমানবন্দর – প্রতিটি ক্ষেত্রে অভূতপূর্ব বিনিয়োগের কারণে দেশে আধুনিক পরিকাঠামো গড়ে তোলা সম্ভব হচ্ছে। 

প্রধানমন্ত্রী বলেন, গুজরাটের জনসাধারণ যে উন্নয়নমূলক কাজের সাক্ষী তা আজ দেশের অন্যান্য অঞ্চল প্রত্যক্ষ করছে। “মোদী যে সিদ্ধান্ত নিয়ে থাকেন, তিনি তা পূরণও করেন।” স্থায়ী সরকারের কারণেই দ্রুত হারে উন্নয়ন হচ্ছে। এই সরকারকে গুজরাটের মানুষ নির্বাচিত করেছেন। এর সুফল উত্তর গুজরাট সহ সারা রাজ্যে অনুভূত হচ্ছে। 

 

উত্তর গুজরাট অঞ্চলে জল সঙ্কটের কারণে পানীয় জল এবং সেচ প্রকল্প অতীতে সমস্যার সম্মুখীন হত। এই অঞ্চলে দুগ্ধ শিল্প নানা সঙ্কটে পড়ত। কৃষকরা প্রতি বছর মাত্র একটি শস্য চাষ করতে পারতেন এবং ফলন কিরকম হবে, তারও নিশ্চয়তা ছিল না। প্রধানমন্ত্রী বলেন, বর্তমানে এই অঞ্চলকে পুনরুজ্জীবিত করতে বিভিন্ন উদ্যোগ নেওয়া হয়েছে। জল সরবরাহ এবং সেচ প্রকল্পের কাজ চলছে। “আমরা উত্তর গুজরাটে কৃষিক্ষেত্রের উন্নতি এবং শিল্পায়নের জন্য কাজ করে চলেছি।” এই অঞ্চলের মানুষদের অর্থ উপার্জনের জন্য নতুন নতুন পথ খুলে দিতে সরকার উদ্যোগী। ‘সুজলম-সুফলম’ প্রকল্পের মাধ্যমে নর্মদা এবং মাহি নদীর জল গুজরাটের উন্নয়নে ব্যবহৃত হচ্ছে। সবরমতী নদীতে ছ’টি জলাধার নির্মাণ করা হচ্ছে। এর ফলে, এই অঞ্চলের মানুষ উপকৃত হবেন। “এর মধ্যে একটি জলাধার আজ উদ্বোধন করা হল। এর ফলে বহু গ্রামের কৃষক সহ মানুষ প্রভূত উপকৃত হবেন।”

শ্রী মোদী বলেন, এইসব সেচ প্রকল্পের কারণে উত্তর গুজরাটে গত ২০-২২ বছরে সেচসেবিত জমির পরিমাণ বহুগুণে বৃদ্ধি পেয়েছে। সরকার অতিক্ষুদ্র সেচ প্রকল্পের জন্য নতুন প্রযুক্তিকে কাজে লাগাতে উত্তর গুজরাটের কৃষকদের উৎসাহিত করছে। বর্তমানে বনস্কান্থার ৭০ শতাংশ অঞ্চল এই প্রযুক্তি ব্যবহার করায় তিনি সন্তোষ প্রকাশ করেন। “কৃষকরা বর্তমানে গম, রেড়ি, চিনেবাদাম এবং ছোলার পাশাপাশি মৌরি, জিরে সহ বিভিন্ন মশলার চাষ করতে পারছেন।” দেশের ইসবগুলের মোট চাহিদার ৯০ শতাংশই গুজরাট থেকে আসে। বর্তমানে গুজরাটে আরও বেশি কৃষিপণ্য উৎপাদিত হচ্ছে। এই রাজ্যে এখন আলু, গাজর, আম, আমলকি, ডালিম, পেয়ারা এবং লেবু প্রচুর পরিমাণে চাষ হয়। দিশা-কে জৈব পদ্ধতিতে আলু চাষের কেন্দ্র হিসেবে গড়ে তোলার উদ্যোগ নেওয়া হয়েছে। বনস্কান্থায় আলুর প্রক্রিয়াকরণ শিল্পের বড় কারখানা গড়ে তোলা হচ্ছে। মেহসনায় কৃষি খাদ্য পার্ক তৈরি করা হয়েছে। এ ধরনের আরও একটি পার্ক বনস্কান্থায়ও গড়ে তোলা হচ্ছে।

 

প্রধানমন্ত্রী বলেন, দেশের প্রত্যেক বাড়িতে জল পৌঁছে দেওয়ার উদ্যোগ নেওয়া হয়েছে। গুজরাটে জল সংরক্ষণের যে প্রকল্পের সূচনা হয়েছিল, আজ তা দেশের জন্য জল জীবন মিশন-এর মাধ্যমে গৃহীত হয়েছে। “গুজরাটের মতো ‘হর ঘর জল অভিযান’ দেশের কোটি কোটি মানুষের জীবনে পরিবর্তন নিয়ে আসছে।”

পশুপালন এবং দুগ্ধজাত শিল্পের (দোহ) উন্নয়নের সবথেকে বড় সুফলভোগী মহিলারা। শ্রী মোদী জানান, উত্তর গুজরাটে শত শত পশু চিকিৎসালয় গড়ে উঠেছে। এর ফলে, এই অঞ্চলের পশুপাখিদের সুস্বাস্থ্য নিশ্চিত করা গেছে। ফলস্বরূপ, দুধের উৎপাদন বেড়েছে। গত দুই দশকে উত্তর গুজরাটে ৮০০-রও বেশি গ্রামে নতুনভাবে দুগ্ধ সমবায় সমিতি গড়ে তোলা হয়েছে। “বনস ডেয়ারি, দুধ সাগর অথবা সবর ডেয়ারি - প্রত্যেকটির অভূতপূর্ব উন্নতি হচ্ছে। দুধ ছাড়াও কৃষকদের অন্যান্য উৎপাদিত সামগ্রীর জন্য বড় বড় খাদ্য প্রক্রিয়াকরণ কেন্দ্র গড়ে তোলা হচ্ছে।” কেন্দ্রীয় সরকার গৃহপালিত পশুদের টিকাকরণের জন্য একটি বৃহৎ প্রকল্প গ্রহণ করছে। ইতোমধ্যেই এই প্রকল্পে ১৫ হাজার কোটি টাকা ব্যয় হয়েছে। এই অঞ্চলের পশুপালকদের  উদ্দেশে প্রধানমন্ত্রী আবেদন করেন, তাঁরা যেন- তাঁদের পশুগুলির টিকাকরণ নিশ্চিত করেন। জৈব গ্যাসের জন্য ‘গোবর্ধন যোজনা’র আওতায় প্রচুর উৎপাদন কেন্দ্র গড়ে তোলা হচ্ছে। গোবর থেকে জৈব সিএনজি উৎপাদনের উদ্যোগ নেওয়া হয়েছে। 

উত্তর গুজরাটের গাড়ি শিল্পের প্রসারের প্রসঙ্গ উল্লেখ করে প্রধানমন্ত্রী বলেন, মণ্ডল-বেচার্জি অটোমোবাইল হাব এই অঞ্চলের মানুষদের কর্মসংস্থানের সুযোগ এবং আয়ের সুযোগ বৃদ্ধি করছে। “শিল্প সংস্থার আয় মাত্র ১০ বছরে দ্বিগুণ হয়েছে। মেহসনায় খাদ্য প্রক্রিয়াকরণ শিল্প ছাড়াও ওষুধ শিল্প এবং ইঞ্জিনিয়ারিং শিল্প গড়ে তোলা হয়েছে। বনস্কান্থা এবং সবরকান্থা জেলায় সেরামিক শিল্পের প্রসার ঘটছে।”

 

শ্রী মোদী জানান, আজ এই অঞ্চলে ৫ হাজার কোটি টাকার রেল প্রকল্পের সূচনা হয়েছে। মেহসনা এবং আমেদাবাদের মধ্যে পণ্য করিডর গড়ে তোলা হয়েছে। এর ফলে, পিপাভাভ, পোরবন্দর এবং জামনগরের মতো বড় বড় বন্দরগুলির সঙ্গে উত্তর গুজরাটের যোগাযোগ ব্যবস্থার উন্নতি হবে। এই অঞ্চলের সঙ্গে পণ্য পরিবহণের সুবিধা হবে।

প্রধানমন্ত্রী পরিবেশ-বান্ধব হাইড্রোজেন জ্বালানি এবং সৌরশক্তি উৎপাদনের প্রসঙ্গ উল্লেখ করে বলেন, পাটন এবং বনস্কান্থায় সৌর পার্ক গড়ে তোলা হচ্ছে। মধেরায় বিদ্যুতের চাহিদা ২৪ ঘন্টা ধরেই সৌরশক্তির মাধ্যমে পূরণ করা হচ্ছে। “আজ আপনাদের বাড়ির ছাদে সৌরশক্তি উৎপাদনের জন্য সরকার সবথেকে বেশি আর্থিক সহায়তার ব্যবস্থা করেছে। প্রত্যেক পরিবারের বিদ্যুতের বিল যাতে হ্রাস পায়, তার জন্য আমরা উদ্যোগী হয়েছি।” গত ন’বছর ধরে পূর্ব এবং পশ্চিমে ডেডিকেটেড ফ্রেট করিডরের প্রায় ২,৫০০ কিলোমিটার পথের কাজ শেষ হয়েছে। এর ফলে যাত্রীবাহী এবং পণ্যবাহী ট্রেন আরও তাড়াতাড়ি গন্তব্যে পৌঁছবে। পালানপুর থেকে হরিয়ানার রেওয়ারিতে এখন রেলপথে দুধ সরবরাহ করা হচ্ছে। “কাটোসান রোড-বেচার্জি রেলপথের দ্বিতীয় লাইন এবং বিরামগাম-সমখায়ালি রেলপথের কাজ শেষ হয়েছে। এর ফলে, এই অঞ্চলের যোগাযোগ ব্যবস্থার উন্নতি ঘটবে।”

 

গুজরাটে পর্যটন শিল্পের সম্ভাবনার প্রসঙ্গ উল্লেখ করে শ্রী মোদী বলেন, সারা বিশ্বে কচ্ছ-এর রন উৎসব এখন জনপ্রিয় হয়ে উঠেছে। কচ্ছ-এর ধরদো গ্রাম বিশ্বের শ্রেষ্ঠ পর্যটক গ্রাম হিসেবে  পরিচিতি লাভ করেছে। উত্তর গুজরাট দেশের প্রথম সারির পর্যটন কেন্দ্র হয়ে উঠবে বলে তিনি দৃঢ় প্রত্যয় ব্যক্ত করেন। এই প্রসঙ্গে তিনি নাদাবেট-এর উদাহরণ তুলে ধরেন যা বর্তমানে একটি গুরুত্বপূর্ণ পর্যটন কেন্দ্র হয়ে উঠেছে। ধারোই-কে বৃহৎ পর্যটন কেন্দ্র হিসেবে গড়ে তোলা হচ্ছে। মেহসনায় মোধেরা সূর্য মন্দির, অখণ্ড জ্যোতি, বড়নগরে কীর্তি তোরণ এবং বিভিন্ন আধ্যাত্মিক স্থানের প্রসঙ্গ উল্লেখ করে প্রধানমন্ত্রী বলেন, সারা বিশ্বের কাছে বড়নগর আকর্ষণের কেন্দ্রবিন্দু হয়ে উঠেছে। এখানে পুরাতাত্ত্বিক খননের ফলে প্রাচীন যুগের সভ্যতার নিদর্শন পাওয়া গেছে। “কেন্দ্রীয় সরকার হেরিটেজ সার্কিটের আওতায় এক হাজার কোটি টাকা ব্যয়ে বিভিন্ন স্থানের উন্নয়ন ঘটাচ্ছে।” রানি কি বাভ-এ প্রতি বছর গড়ে ৩ লক্ষ পর্যটক ভ্রমণ করছেন। তাঁর ভাষণের শেষে প্রধানমন্ত্রী বলেন, “বর্তমান সময়কালে দেশে আমাদের ঐতিহ্যের সঙ্গে যুক্ত স্থানগুলিতে যে উন্নয়নের কাজ বাস্তবায়িত হচ্ছে তা অভূতপূর্ব। এর ফলে উন্নত ভারত গড়ে তোলার যে সঙ্কল্প আমরা নিয়েছি তা আরও শক্তিশালী হবে।”

 

অনুষ্ঠানে গুজরাটের মুখ্যমন্ত্রী শ্রী ভূপেন্দ্র প্যাটেল, সাংসদ শ্রী সি আর পাটিল এবং কেন্দ্রীয় প্রতিমন্ত্রী শ্রীমতী দর্শনা জারদৌস সহ বিশিষ্টজনেরা উপস্থিত ছিলেন।

 

Click here to read full text speech

Explore More
ভারতের ৭৭তম স্বাধীনতা দিবস উপলক্ষে লালকেল্লার প্রাকার থেকে দেশবাসীর উদ্দেশে প্রধানমন্ত্রীর ভাষণ

জনপ্রিয় ভাষণ

ভারতের ৭৭তম স্বাধীনতা দিবস উপলক্ষে লালকেল্লার প্রাকার থেকে দেশবাসীর উদ্দেশে প্রধানমন্ত্রীর ভাষণ
How India's digital public infrastructure can push inclusive global growth

Media Coverage

How India's digital public infrastructure can push inclusive global growth
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
Our government is dedicated to tribal welfare in Chhattisgarh: PM Modi in Surguja
April 24, 2024
Our government is dedicated to tribal welfare in Chhattisgarh: PM Modi
Congress, in its greed for power, has destroyed India through consistent misgovernance and negligence: PM Modi
Congress' anti-Constitutional tendencies aim to provide religious reservations for vote-bank politics: PM Modi
Congress simply aims to loot the 'hard-earned money' of the 'common people' to fill their coffers: PM Modi
Congress will set a dangerous precedent by implementing an 'Inheritance Tax': PM Modi

मां महामाया माई की जय!

मां महामाया माई की जय!

हमर बहिनी, भाई, दद्दा अउ जम्मो संगवारी मन ला, मोर जय जोहार। 

भाजपा ने जब मुझे पीएम पद का उम्मीदवार बनाया था, तब अंबिकापुर में ही आपने लाल किला बनाया था। और जो कांग्रेस का इकोसिस्टम है आए दिन मोदी पर हमला करने के लिए जगह ढ़ूंढते रहते हैं। उस पूरी टोली ने उस समय मुझपर बहुत हमला बोल दिया था। ये लाल किला कैसे बनाया जा सकता है, अभी तो प्रधानमंत्री का चुनाव बाकि है, अभी ये लाल किले का दृश्य बना के वहां से सभा कर रहे हैं, कैसे कर रहे हैं। यानि तूफान मचा दिया था और बात का बवंडर बना दिया था। लेकिन आप की सोच थी वही  मोदी लाल किले में पहुंचा और राष्ट्र के नाम संदेश दिया। आज अंबिकापुर, ये क्षेत्र फिर वही आशीर्वाद दे रहा है- फिर एक बार...मोदी सरकार ! फिर एक बार...मोदी सरकार ! फिर एक बार...मोदी सरकार !

साथियों, 

कुछ महीने पहले मैंने आपसे छत्तीसगढ़ से कांग्रेस का भ्रष्टाचारी पंजा हटाने के लिए आशीर्वाद मांगा था। आपने मेरी बात का मान रखा। और इस भ्रष्टाचारी पंजे को साफ कर दिया। आज देखिए, आप सबके आशीर्वाद से सरगुजा की संतान, आदिवासी समाज की संतान, आज छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री के रूप में छत्तीसगढ़ के सपनों को साकार कर रहा है। और मेरा अनन्य साथी भाई विष्णु जी, विकास के लिए बहुत तेजी से काम कर रहे हैं। आप देखिए, अभी समय ही कितना हुआ है। लेकिन इन्होंने इतने कम समय में रॉकेट की गति से सरकार चलाई है। इन्होंने धान किसानों को दी गारंटी पूरी कर दी। अब तेंदु पत्ता संग्राहकों को भी ज्यादा पैसा मिल रहा है, तेंदू पत्ता की खरीद भी तेज़ी से हो रही है। यहां की माताओं-बहनों को महतारी वंदन योजना से भी लाभ हुआ है। छत्तीसगढ़ में जिस तरह कांग्रेस के घोटालेबाज़ों पर एक्शन हो रहा है, वो पूरा देश देख रहा है।

साथियों, 

मैं आज आपसे विकसित भारत-विकसित छत्तीसगढ़ के लिए आशीर्वाद मांगने के लिए आया हूं। जब मैं विकसित भारत कहता हूं, तो कांग्रेस वालों का और दुनिया में बैठी कुछ ताकतों का माथा गरम हो जाता है। अगर भारत शक्तिशाली हो गया, तो कुछ ताकतों का खेल बिगड़ जाएगा। आज अगर भारत आत्मनिर्भर बन गया, तो कुछ ताकतों की दुकान बंद हो जाएगी। इसलिए वो भारत में कांग्रेस और इंडी-गठबंधन की कमज़ोर सरकार चाहते हैं। ऐसी कांग्रेस सरकार जो आपस में लड़ती रहे, जो घोटाले करती रहे। 

साथियों,

कांग्रेस का इतिहास सत्ता के लालच में देश को तबाह करने का रहा है। देश में आतंकवाद फैला किसके कारण फैला? किसके कारण फैला? किसके कारण फैला? कांग्रेस की नीतियों के कारण फैला। देश में नक्सलवाद कैसे बढ़ा? किसके कारण बढ़ा? किसके कारण बढ़ा? कांग्रेस का कुशासन और लापरवाही यही कारण है कि देश बर्बाद होता गया। आज भाजपा सरकार, आतंकवाद और नक्सलवाद के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई कर रही है। लेकिन कांग्रेस क्या कर रही है? कांग्रेस, हिंसा फैलाने वालों का समर्थन कर रही है, जो निर्दोषों को मारते हैं, जीना हराम कर देते हैं, पुलिस पर हमला करते हैं, सुरक्षा बलों पर हमला करते हैं। अगर वे मारे जाएं, तो कांग्रेस वाले उन्हें शहीद कहते हैं। अगर आप उन्हें शहीद कहते हो तो शहीदों का अपमान करते हो। इसी कांग्रेस की सबसे बड़ी नेता, आतंकवादियों के मारे जाने पर आंसू बहाती हैं। ऐसी ही करतूतों के कारण कांग्रेस देश का भरोसा खो चुकी है।

भाइयों और बहनों, 

आज जब मैं सरगुजा आया हूं, तो कांग्रेस की मुस्लिम लीगी सोच को देश के सामने रखना चाहता हूं। जब उनका मेनिफेस्टो आया उसी दिन मैंने कह दिया था। उसी दिन मैंने कहा था कि कांग्रेस के मोनिफेस्टो पर मुस्लिम लीग की छाप है। 

साथियों, 

जब संविधान बन रहा था, काफी चर्चा विचार के बाद, देश के बुद्धिमान लोगों के चिंतन मनन के बाद, बाबासाहेब अम्बेडकर के नेतृत्व में तय किया गया था कि भारत में धर्म के आधार पर आरक्षण नहीं होगा। आरक्षण होगा तो मेरे दलित और आदिवासी भाई-बहनों के नाम पर होगा। लेकिन धर्म के नाम पर आरक्षण नहीं होगा। लेकिन वोट बैंक की भूखी कांग्रेस ने कभी इन महापुरुषों की परवाह नहीं की। संविधान की पवित्रता की परवाह नहीं की, बाबासाहेब अम्बेडकर के शब्दों की परवाह नहीं की। कांग्रेस ने बरसों पहले आंध्र प्रदेश में धर्म के आधार पर आरक्षण देने का प्रयास किया था। फिर कांग्रेस ने इसको पूरे देश में लागू करने की योजना बनाई। इन लोग ने धर्म के आधार पर 15 प्रतिशत आरक्षण की बात कही। ये भी कहा कि SC/ST/OBC का जो कोटा है उसी में से कम करके, उसी में से चोरी करके, धर्म के आधार पर कुछ लोगों को आरक्षण दिया जाए। 2009 के अपने घोषणापत्र में कांग्रेस ने यही इरादा जताया। 2014 के घोषणापत्र में भी इन्होंने साफ-साफ कहा था कि वो इस मामले को कभी भी छोड़ेंगे नहीं। मतलब धर्म के आधार पर आरक्षण देंगे, दलितों का, आदिवासियों का आरक्षण कट करना पड़े तो करेंगे। कई साल पहले कांग्रेस ने कर्नाटका में धर्म के आधार पर आरक्षण लागू भी कर दिया था। जब वहां बीजेपी सरकार आई तो हमने संविधान के विरुद्ध, बाबासाहेब अम्बेडर की भावना के विरुद्ध कांग्रेस ने जो निर्णय किया था, उसको उखाड़ करके फेंक दिया और दलितों, आदिवासियों और पिछड़ों को उनका अधिकार वापस दिया। लेकिन कर्नाटक की कांग्रेस सरकार उसने एक और पाप किया मुस्लिम समुदाय की सभी जातियों को ओबीसी कोटा में शामिल कर दिया है। और ओबीसी बना दिया। यानि हमारे ओबीसी समाज को जो लाभ मिलता था, उसका बड़ा हिस्सा कट गया और वो भी वहां चला गया, यानि कांग्रेस ने समाजिक न्याय का अपमान किया, समाजिक न्याय की हत्या की। कांग्रेस ने भारत के सेक्युलरिज्म की हत्या की। कर्नाटक अपना यही मॉडल पूरे देश में लागू करना चाहती है। कांग्रेस संविधान बदलकर, SC/ST/OBC का हक अपने वोट बैंक को देना चाहती है।

भाइयों और बहनों,

ये सिर्फ आपके आरक्षण को ही लूटना नहीं चाहते, उनके तो और बहुत कारनामे हैं इसलिए हमारे दलित, आदिवासी और ओबीसी भाई-बहनों  को कहना चाहता हूं कि कांग्रेस के इरादे नेक नहीं है, संविधान और सामाजिक न्याय के अनुरूप नहीं है , भारत की बिन सांप्रदायिकता के अनुरूप नहीं है। अगर आपके आरक्षण की कोई रक्षा कर सकता है, तो सिर्फ और सिर्फ भारतीय जनता पार्टी कर सकती है। इसलिए आप भारतीय जनता पार्टी को भारी समर्थन दीजिए। ताकि कांग्रेस की एक न चले, किसी राज्य में भी वह कोई हरकत ना कर सके। इतनी ताकत आप मुझे दीजिए। ताकि मैं आपकी रक्षा कर सकूं। 

साथियों!

कांग्रेस की नजर! सिर्फ आपके आरक्षण पर ही है ऐसा नहीं है। बल्कि कांग्रेस की नज़र आपकी कमाई पर, आपके मकान-दुकान, खेत-खलिहान पर भी है। कांग्रेस के शहज़ादे का कहना है कि ये देश के हर घर, हर अलमारी, हर परिवार की संपत्ति का एक्स-रे करेंगे। हमारी माताओं-बहनों के पास जो थोड़े बहुत गहने-ज़ेवर होते हैं, कांग्रेस उनकी भी जांच कराएगी। यहां सरगुजा में तो हमारी आदिवासी बहनें, चंदवा पहनती हैं, हंसुली पहनती हैं, हमारी बहनें मंगलसूत्र पहनती हैं। कांग्रेस ये सब आपसे छीनकर, वे कहते हैं कि बराबर-बराबर डिस्ट्रिब्यूट कर देंगे। वो आपको मालूम हैं ना कि वे किसको देंगे। आपसे लूटकर के किसको देंगे मालूम है ना, मुझे कहने की जरूरत है क्या। क्या ये पाप करने देंगे आप और कहती है कांग्रेस सत्ता में आने के बाद वे ऐसे क्रांतिकारी कदम उठाएगी। अरे ये सपने मन देखो देश की जनता आपको ये मौका नहीं देगी। 

साथियों, 

कांग्रेस पार्टी के खतरनाक इरादे एक के बाद एक खुलकर सामने आ रहे हैं। शाही परिवार के शहजादे के सलाहकार, शाही परिवार के शहजादे के पिताजी के भी सलाहकार, उन्होंने  ने कुछ समय पहले कहा था और ये परिवार उन्हीं की बात मानता है कि उन्होंने कहा था कि हमारे देश का मिडिल क्लास यानि मध्यम वर्गीय लोग जो हैं, जो मेहनत करके कमाते हैं। उन्होंने कहा कि उनपर ज्यादा टैक्स लगाना चाहिए। इन्होंने पब्लिकली कहा है। अब ये लोग इससे भी एक कदम और आगे बढ़ गए हैं। अब कांग्रेस का कहना है कि वो Inheritance Tax लगाएगी, माता-पिता से मिलने वाली विरासत पर भी टैक्स लगाएगी। आप जो अपनी मेहनत से संपत्ति जुटाते हैं, वो आपके बच्चों को नहीं मिलेगी, बल्कि कांग्रेस सरकार का पंजा उसे भी आपसे छीन लेगा। यानि कांग्रेस का मंत्र है- कांग्रेस की लूट जिंदगी के साथ भी और जिंदगी के बाद भी। जब तक आप जीवित रहेंगे, कांग्रेस आपको ज्यादा टैक्स से मारेगी। और जब आप जीवित नहीं रहेंगे, तो वो आप पर Inheritance Tax का बोझ लाद देगी। जिन लोगों ने पूरी कांग्रेस पार्टी को पैतृक संपत्ति मानकर अपने बच्चों को दे दी, वो लोग नहीं चाहते कि एक सामान्य भारतीय अपने बच्चों को अपनी संपत्ति दे। 

भाईयों-बहनों, 

हमारा देश संस्कारों से संस्कृति से उपभोक्तावादी देश नहीं है। हम संचय करने में विश्वास करते हैं। संवर्धन करने में विश्वास करते हैं। संरक्षित करने में विश्वास करते हैं। आज अगर हमारी प्रकृति बची है, पर्यावरण बचा है। तो हमारे इन संस्कारों के कारण बचा है। हमारे घर में बूढ़े मां बाप होंगे, दादा-दादी होंगे। उनके पास से छोटा सा भी गहना होगा ना? अच्छी एक चीज होगी। तो संभाल करके रखेगी खुद भी पहनेगी नहीं, वो सोचती है कि जब मेरी पोती की शादी होगी तो मैं उसको यह दूंगी। मेरी नाती की शादी होगी, तो मैं उसको दूंगी। यानि तीन पीढ़ी का सोच करके वह खुद अपना हक भी नहीं भोगती,  बचा के रखती है, ताकि अपने नाती, नातिन को भी दे सके। यह मेरे देश का स्वभाव है। मेरे देश के लोग कर्ज कर करके जिंदगी जीने के शौकीन लोग नहीं हैं। मेहनत करके जरूरत के हिसाब से खर्च करते हैं। और बचाने के स्वभाव के हैं। भारत के मूलभूत चिंतन पर, भारत के मूलभूत संस्कार पर कांग्रेस पार्टी कड़ा प्रहार करने जा रही है। और उन्होंने कल यह बयान क्यों दिया है उसका एक कारण है। यह उनकी सोच बहुत पुरानी है। और जब आप पुरानी चीज खोजोगे ना? और ये जो फैक्ट चेक करने वाले हैं ना मोदी की बाल की खाल उधेड़ने में लगे रहते हैं, कांग्रेस की हर चीज देखिए। आपको हर चीज में ये बू आएगी। मोदी की बाल की खाल उधेड़ने में टाइम मत खराब करो। लेकिन मैं कहना चाहता हूं। यह कल तूफान उनके यहां क्यों मच गया,  जब मैंने कहा कि अर्बन नक्सल शहरी माओवादियों ने कांग्रेस पर कब्जा कर लिया तो उनको लगा कि कुछ अमेरिका को भी खुश करने के लिए करना चाहिए कि मोदी ने इतना बड़ा आरोप लगाया, तो बैलेंस करने के लिए वह उधर की तरफ बढ़ने का नाटक कर रहे हैं। लेकिन वह आपकी संपत्ति को लूटना चाहते हैं। आपके संतानों का हक आज ही लूट लेना चाहते हैं। क्या आपको यह मंजूर है कि आपको मंजूर है जरा पूरी ताकत से बताइए उनके कान में भी सुनाई दे। यह मंजूर है। देश ये चलने देगा। आपको लूटने देगा। आपके बच्चों की संपत्ति लूटने देगा।

साथियों,

जितने साल देश में कांग्रेस की सरकार रही, आपके हक का पैसा लूटा जाता रहा। लेकिन भाजपा सरकार आने के बाद अब आपके हक का पैसा आप लोगों पर खर्च हो रहा है। इस पैसे से छत्तीसगढ़ के करीब 13 लाख परिवारों को पक्के घर मिले। इसी पैसे से, यहां लाखों परिवारों को मुफ्त राशन मिल रहा है। इसी पैसे से 5 लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज मिल रहा है। मोदी ने ये भी गारंटी दी है कि 4 जून के बाद छत्तीसगढ़ के हर परिवार में जो बुजुर्ग माता-पिता हैं, जिनकी आयु 70 साल हो गई है। आज आप बीमार होते हैं तो आपकी बेटे और बेटी को खर्च करना पड़ता है। अगर 70 साल की उम्र हो गई है और आप किसी पर बोझ नहीं बनना चाहते तो ये मोदी आपका बेटा है। आपका इलाज मोदी करेगा। आपके इलाज का खर्च मोदी करेगा। सरगुजा के ही करीब 1 लाख किसानों के बैंक खाते में किसान निधि के सवा 2 सौ करोड़ रुपए जमा हो चुके हैं और ये आगे भी होते रहेंगे।

साथियों, 

सरगुजा में करीब 400 बसाहटें ऐसी हैं जहां पहाड़ी कोरवा परिवार रहते हैं। पण्डो, माझी-मझवार जैसी अनेक अति पिछड़ी जनजातियां यहां रहती हैं, छत्तीसगढ़ और दूसरे राज्यों में रहती हैं। हमने पहली बार ऐसी सभी जनजातियों के लिए, 24 हज़ार करोड़ रुपए की पीएम-जनमन योजना भी बनाई है। इस योजना के तहत पक्के घर, बिजली, पानी, शिक्षा, स्वास्थ्य, कौशल विकास, ऐसी सभी सुविधाएं पिछड़ी जनजातियों के गांव पहुंचेंगी। 

साथियों, 

10 वर्षों में भांति-भांति की चुनौतियों के बावजूद, यहां रेल, सड़क, अस्तपताल, मोबाइल टावर, ऐसे अनेक काम हुए हैं। यहां एयरपोर्ट की बरसों पुरानी मांग पूरी की गई है। आपने देखा है, अंबिकापुर से दिल्ली के ट्रेन चली तो कितनी सुविधा हुई है।

साथियों,

10 साल में हमने गरीब कल्याण, आदिवासी कल्याण के लिए इतना कुछ किया। लेकिन ये तो सिर्फ ट्रेलर है। आने वाले 5 साल में बहुत कुछ करना है। सरगुजा तो ही स्वर्गजा यानि स्वर्ग की बेटी है। यहां प्राकृतिक सौंदर्य भी है, कला-संस्कृति भी है, बड़े मंदिर भी हैं। हमें इस क्षेत्र को बहुत आगे लेकर जाना है। इसलिए, आपको हर बूथ पर कमल खिलाना है। 24 के इस चुनाव में आप का ये सेवक नरेन्द्र मोदी को आपका आशीर्वाद चाहिए, मैं आपसे आशीर्वाद मांगने आया हूं। आपको केवल एक सांसद ही नहीं चुनना, बल्कि देश का उज्ज्वल भविष्य भी चुनना है। अपनी आने वाली पीढ़ियों का भविष्य चुनना है। इसलिए राष्ट्र निर्माण का मौका बिल्कुल ना गंवाएं। सर्दी हो शादी ब्याह का मौसम हो, खेत में कोई काम निकला हो। रिश्तेदार के यहां जाने की जरूरत पड़ गई हो, इन सबके बावजूद भी कुछ समय आपके सेवक मोदी के लिए निकालिए। भारत के लोकतंत्र और उज्ज्वल भविष्य के लिए निकालिए। आपके बच्चों की गारंटी के लिए निकालिए और मतदान अवश्य करें। अपने बूथ में सारे रिकॉर्ड तोड़नेवाला मतदान हो। इसके लिए मैं आपसे प्रार्थना करता हूं। और आग्राह है पहले जलपान फिर मतदान। हर बूथ में मतदान का उत्सव होना चाहिए, लोकतंत्र का उत्सव होना चाहिए। गाजे-बाजे के साथ लोकतंत्र जिंदाबाद, लोकतंत्र जिंदाबाद करते करते मतदान करना चाहिए। और मैं आप को वादा करता हूं। 

भाइयों-बहनों  

मेरे लिए आपका एक-एक वोट, वोट नहीं है, ईश्वर रूपी जनता जनार्दन का आर्शीवाद है। ये आशीर्वाद परमात्मा से कम नहीं है। ये आशीर्वाद ईश्वर से कम नहीं है। इसलिए भारतीय जनता पार्टी को दिया गया एक-एक वोट, कमल के फूल को दिया गया एक-एक वोट, विकसित भारत बनाएगा ये मोदी की गारंटी है। कमल के निशान पर आप बटन दबाएंगे, कमल के फूल पर आप वोट देंगे तो वो सीधा मोदी के खाते में जाएगा। वो सीधा मोदी को मिलेगा।      

भाइयों और बहनों, 

7 मई को चिंतामणि महाराज जी को भारी मतों से जिताना है। मेरा एक और आग्रह है। आप घर-घर जाइएगा और कहिएगा मोदी जी ने जोहार कहा है, कहेंगे। मेरे साथ बोलिए...  भारत माता की जय! 

भारत माता की जय! 

भारत माता की जय!