Share
 
Comments
Development in UP was previously linked to favouritism and family links: PM Modi in Kasganj
The dynasts are now aware that their boat has sunk, so they are now blaming EVMs and EC: PM Modi in UP’s rally
The region's development was halted under the previous regime due to the mafia and extortionists: PM Modi in UP's Kasganj

भारत माता की, भारत माता की

यहां अनेक जिलों से आप डबल इंजन की सरकार को आशीर्वाद देने के लिए आए हैं। मेरी नजर जहां पहुंचती है उससे भी आगे मुझे लोग ही लोग नजर आते हैं। मैं सबसे पहले तो आपकी क्षमा चाहता हूं कि मुझे आने में विलंब हो गया। आज उत्तराखंड में मेरा सुबह कार्यक्रम था, और इतनी जबरदस्त भीड़ थी इतना बड़ा उत्साह का वातावरण था कि मैं बोलता ही गया और मुझे समय का ध्यान ही नहीं रहा और उसके कारण मैं लेट हो गया, तो मैं आप सब की क्षमा चाहता हूं। लेकिन इसके बावजूद भी आप जिस प्यार के साथ आशीर्वाद देने के लिए आए हैं मेरे लिए बहुत बड़ा सौभाग्य है, मैं फिर से एक बार आभार व्यक्त करना चाहता हूं। मैं श्रीमान योगी जी को भी अभिनंदन देता हूं कि अभी जो उन्होंने की वो वाकई, आप कल्पना कर सकते हैं कि भारत की एकता क्या है? लता मंगेशकर जी गोवा की बेटी, उनका पैतृक विस्तार गोवा, राम की भक्त, राम से जुड़े भजनों को अमर कर दिया, वो लता मंगेशकर जी अयोध्या में एक चौराहे का नाम उनपर करना मैं समझता हूं, जो भी राम मंदिर के दर्शन के लिए आएगा वो यहीं से निकलेगा तो लता मंगेशकर जी के भजन भी याद आएंगे और भारत रत्न लता मंगेशकर जी के लिए गर्व भी होगा। और दूसरा योगी जी का फिल्म सिटी बनाने का सपना है, युवाओं को फिल्म जगत में अवसर मिले इसके लिए लता मंगेशकर एकेडमी बनाकर के फरफॉरमेंस के लिए गीत संगीत के लिए नई पीढ़ी को तैयार करने का काम जो किया है उसके लिए योगी जी आपको, आपकी सरकार को और उत्तर प्रदेश की भारतीय जनता पार्टी को मैं बहुत-बहुत धन्यवाद देता हूं। आपके इस निर्णय के लिए। एटा, फर्रुखाबाद, हाथरस, फिरोज़ाबाद और बरेली के अनेक स्थानों से भी तकनीक के माध्यम से वर्चुअली जुड़े हमारे सभी भाइयों बहनों को भी आज मैं यहां से प्रणाम करता नमस्कार करता हूं। यहां मेरे नवजवानों से भी विनती है, मैं आपकी तरफ देखकर के बोलूंगा आप चिंता मत कीजिए, लेकिन आगे आने की कोशिश मत कीजिए, जगह ही नहीं है, बिना कारण किसी को नुकसान हो जाएगा भइया। प्लीज, आपलोग खड़े रहिए मेरा भरपूर प्यार आपकी तरफ है, चिंता मत कीजिए। बहुत-बहुत इतना प्यार, इतना आशीर्वाद, कासगंज के आप सभी भाइयों और बहनों का भी मैं आदरपूर्वक अभिनंदन करता हूं। मैं तुलसीदास जी को भी नमन करता हूं।

साथियों,

आज पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी की पुण्य तिथि है। इसी उत्तर प्रदेश की धरती का रत्न, आज हम उनका पुण्य स्मरण कर रहे हैं। पंडित जी ने जीवन अंत्योदय के लिए समर्पित किया, दीनहीन के जीवन को बेहतर बनाने का प्रयास किया। मैं उन्हें आदरपूर्वक श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं। कासगंज का, और मुझे जब कासगंज आया हूं तो बाबू जी की याद आना बहुत स्वाभाविक है। कल्याण सिंह जी मेरे जीवन में उनका बहुत बड़ा संबंध रहा, मुझे उनकी उंगली पकड़ कर चलने का सौभाग्य मिला और जब कासगंज में आया हूं तो बाबू जी के प्रति कासगंज का प्यार कितना रहा है वो आप भी जानते हैं और मैं भी जानता हूं। उनकी प्रेरणा से भाजपा, निरंतर गरीबों की, दलितों की, पिछड़ों की, जनता जनार्दन की सेवा में दिन रात जुटी हुई है।

साथियों,

कल यूपी में पहले चरण का मतदान पूरा हुआ है। लोगों ने भारी संख्या में घरों से निकलकर यूपी को सुरक्षित रखने के लिए, यूपी के विकास के लिए काफी मात्रा में कमल को वोट दिया है। विशेष रूप से हमारी बहन-बेटियों ने जमकर के मतदान किया है। भाइयों-बहनों जो रुझान आए हैं, वो ये बता रहे हैं कि पहले चरण में भाजपा का परचम लहरा रहा है। और कल से कल दोपहर के बाद उन नेताओं के जितने इंटरव्यू आए हैं उनका चेहरा ऐसा लटका हुआ है। अब वे खुलकर के परिवार की बात करने लगे हैं। योगी जी आपने क्या हाल कर दिया इन लोगों का। और आप देखिए ये बात, जो घोर परिवारवादी लोग हैं, उन्हें भी पता चल गई है कि नइय्या डूब चुकी है। इसलिए उन्होंने अभी से ही EVM पर, चुनाव आयोग पर सवाल उठाना शुरू कर दिया है। आपको मालूम है न जैसे क्रिकेट में क्या होता है, जब बॉलर बॉल फेंकता है, जब विकेट मिलती नहीं है तो बॉल वहां पहुंचने से पहले ही चिल्लाता है अंपायर के सामने देख के ऑउट ऑउट ऑउट और फिर नहीं होता है तो अंपायर पर गुस्सा करता है और अंपायर के सामने पैर पटकता है देखा है न आपने। इस चुनाव के पहले चरण के बाद ये लोग उसी प्रकार की भाषा, वातावरण, अभी ईवीएम को दोष दो, अरे जनता जनार्दन आपको स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं है अब उत्तर प्रदेश को गुंडाराज नहीं चाहिए। लेकिन मैं इन परिवारवादियों से कहना चाहता हूं। कि भाई आपका डूबना तय है, अगर ईवीएम को ही गाली देना है, तो 10 मार्च के बहुत दिन है देते रहना।

साथियों,

मोदी और योगी जी को जो आशीर्वाद और प्यार आप दे रहे हैं, उसने परिवारवादियों की नींद उड़ा दी है। कितनी कोशिश की, इन लोगों ने आपको बांटने की, जाति के नाम पर अलग-अलग करने की, लेकिन ये लोग पूरी तरह फेल हो गए। आपने एकता के दर्शन करा दिए, आपने नव जवानों के उज्ज्वल भविष्य की चिंता की। भाइयों बहनों ये परिवारवादी, महलों में जिंदगी गुजारने वालों को जमीनी सच्चाई का पता ही नहीं है। यूपी के लोगों के हित, यूपी के लोगों के लिए, हम जानते हैं देश का हित सर्वोपरि है, यूपी का हित सर्वोपरि है, यूपी का विकास सर्वोपरि है, इसलिए वो कमल के निशान पर वोट कर रहे हैं, भारतीय जनता पार्टी को इतना भारी समर्थन दे रहे हैं।

भाइयों और बहनों,

आपने पांच साल तक डबल इंजन की सरकार का काम देखा है, आपने हमें परखा है। गरीब का विकास हो, गरीब को मूलभूत सुविधाएं मिलें, इसे हमने सर्वोच्च प्राथमिकता दी है। लेकिन इन परिवारवादियों ने अपना घर, अपनी तिजोरी तो भरी लेकिन कभी गरीब की चिंता नहीं की। गरीब का जीवन आसान बने, ये लोग ना पहले चाहते थे और ना आज चाहते हैं। ये अफवाह फैलाने वाले प्रवृत्ति वाले परिवारवादी पूरी कोशिश कर रहे थे कि कोरोना का मुफ्त टीका गरीब परिवार को ना लगे। लेकिन गरीबों की सरकार ने गरीबों की जिंदगी सुधारने के लिए, उनके जीवन में विश्वास पैदा करने के लिए, पल-पल गरीबों की चिंता करने वाली इस डबल इंजन की सरकार ने उनके इस इरादों को सफल नहीं होने दिया। ये लोग गरीबों के अस्पतालों के नाम पर, स्वास्थ्य सेवा के नाम पर घोटाले करते थे। इनका लंबा इतिहास आप जानते हैं, लेकिन योगी जी की सरकार ने अस्पताल और मेडिकल कॉलेज का जाल बिछा दिया है। मेरा सौभाग्य था एक साथ 9 मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन करने का मुझे मौका मिला था, ये हिंदुस्तान में कभी नहीं हुआ है, जो योगी जी की सरकार में हो रहा है। इनको ये भी लगता था कि 100 साल का इतना बड़ा संकट आया है, वैश्विक महामारी कोरोना आई है, यूपी में भुखमरी फैलेगी, उस पर ये अपनी राजनीतिक रोटियां सेकेंगे। लेकिन इन लोगों को ऐहसास ही नहीं था, कि मोदी-योगी ने इनके राशन माफिया, मालूम है न राशन माफिया को किनारे लगा दिया है। महामारी के इस समय में हमारी सरकार हर गरीब को पिछले कई महीनों से मुफ्त राशन दे रही है। और हमारा संकल्प रहा, कि ऐसी बड़ी वैश्विक 100 साल की भयंकर बीमारी आई है, जीवन बचाना बड़े-बड़े समृद्ध देशों के लिए मुश्किल हो गया था। हमने जीवन बचाने के लिए जी जान से मेहनत की और हमने कोशिश की कि गरीब के घर का चूल्हा जलता रहना चाहिए। आज गरीब माताएं-बहनें मोदी को आशीर्वाद दे रहे हैं योगी को आशीर्वाद दे रहे हैं क्योंकि उनको पता है कि उनके घर में बच्चों को कभी भूखा सोना नहीं पड़ा है, घर का चूल्हा कभी बंद नहीं हुआ है। भाइयों बहनों, अब दिल्ली से गरीब, दलित, पिछड़ों के लिए निकला राशन, राशन का हर दाना, उसके जो हकदार है उनके पास जाता है, राशन माफिया नहीं है इसलिए राशन गरीब के घर पहुंच जाता है। डबल इंजन की सरकार ने एक देश, एक राशनकार्ड One Nation, One Ration Card की भी व्यवस्था की है। और उसके कारण यूपी का जो भी परिवार अगर दूसरे राज्य में गया है, उसको अब वहां भी यहां के राशन कार्ड से उसको वहां भी राशन मिलेगा। उत्तर प्रदेश क व्यक्ति कहीं बाहर रोजी-रोटी के लिए गया है तो उसकी रोजी-रोटी की चिंता मोदी करता है भाइयों-बहनों।

साथियों,
ये आपके एक वोट की ताकत है जो गरीब का भला करती है। लेकिन मैं यूपी के लोगों को सावधान भी करना चाहता हूं।ये परिवारवादी लोग इस समय इतने बौखलाए हुए हैं कि ठान कर बैठे हैं कि गरीब के लिए चल रही सारी योजनाओं को सबसे पहले ताले लगा देंगे इसको बंद करा देंगे। क्योंकि उनको लगेगा कि यदि ये योजनाएं चालू रही तो योगी और मोदी के ही ये लोग गीत गाते रहेंगे और इसलिए पहला काम उसको ताला लगाने का करेंगे। इसलिए, भाइयों बहनों क्या आप चाहते हैं कि लोक कल्याण की ये योजनाएं चालू रहे, आप चाहते हैं ये योजनाएं चालू रहे, आप चाहते हैं कि गरीब को घर मिलना चाहिए, आप चाहते है गरीब का चूल्हा जलता रहना चाहिए.. आप चाहते है गरीब के बच्चों को पढ़ने की सुविधाएं मिलनी चाहिए… आप चाहते हैं गरीब को बीमारी में दवाई के लिए व्यवस्था मिलनी चाहिए… इनके लिए ये काम ही नहीं है… इसलिए ऐसे लोगों को कभी मौका मत देना।

साथियों,

इस क्षेत्र के जिन गांवों को इन लोगों ने बेसहारा छोड़ दिया था उनको डबल इंजन की सरकार ने अच्छी सड़कें दी हैं, नदी पर अच्छे पुल दिए हैं। एटा में 11 हज़ार करोड़ रुपए का बिजली प्रोजेक्ट लगा है। गन्ना, आलू, अमरूद, आम, केला जैसी अनेक फसलें उगाने वाले छोटे किसान, फूड प्रोसेसिंग क्षेत्र में हमारे ईमानदार प्रयासों में एक आशा का अनुभव कर रहा है, नया विश्वास पैदा हो रहा है। हजारों करोड़ रुपए का बजट कोल्ड स्टोरेज और गोदाम बनाने के लिए तय किया गया है। किसान उत्पादक संघों यानि FPO’s में छोटे किसानों को संगठित कर उनको एक्सपोर्ट के लिए, फूड प्रोसेसिंग उद्योग लगाने के लिए मदद दी जा रही है। हमारी सरकार किसान क्रेडिट कार्ड के दायरे में पशुपालकों को, मछली पालकों को भी किसान क्रडिट कार्ड की सुविधा दी है, जिसके कारण कम ब्याज पर बैंक से लोन मिल सकता है वो अपने काम को विस्तार कर सकता है और ये भी सुविधा हमने दी है। यूपी में जो बायोगैस प्लांट का नेटवर्क तैयार हो रहा है, वो किसानों को आय का एक और जरिया बनेगा।

भाइयों और बहनों,

आपने 2017 में जिनको सबक सिखाया, उनको अचानक, पहले तो उनको लगता था कि जो खेल खेलते हैं खेलते रहेंगे, लेकिन अब उनको लगा है कि विकास की किए बिना कोई चारा नहीं है, इसलिए उनको विकास याद आने लगा है। ऐसे ही घोर परिवारवादियों के लिए काका हथरसी कह गए थे- काका हथरसी ने क्या कहा था मन मैला, तन ऊजरा, भाषण लच्छेदार, ऊपर सत्याचार है, भीतर भ्रष्टाचार। विकास करने के लिए दिन रात मेहनत करनी पड़ती है, खुद को खपाना पड़ता है। ऐसा नहीं होता कि चार-साढ़े चार साल दुनिया भर में घूमते रहो, फिरते रहो, मौज-मस्ती करते रहो, गायब हो जाओ, जनता के सुख-दुख से कोई लेना-देना नहीं। और चुनाव के छह महीने पहले आकर के टपक जाओ और लोगों को भड़काने की कोशिश करो। लेकिन देश समझ चुका है पहले का जमाना नहीं रहा है। भाइयों-बहनों, जिनका जनता से सरोकार ही नहीं हो, जिसके मन में जनता की सेवा की भावना ही नहीं हो, जो सिर्फ और सिर्फ अपने परिवार से बाहर देख ही नहीं सकते हो वो यूपी का विकास कैसे करेगा? और ये बात उनको पूछनी चाहिए। आज किस यूपी वाले को गर्व नहीं होगा कि उनके मुख्यमंत्री पर कोई भी उत्तर प्रदेश का नागरिक इस बात का गर्व करेगा कि पिछले कई दशकों से चारों तरफ से भ्रष्टाचार की बू आ रही है, सरकारों पर आरोप लगते रहे हैं, मुख्यमंत्रियों पर आरोप लगते रहे हैं, लेकिन आपके पास एक ऐसा मुख्यमंत्री है जिनपर विरोधियों ने भी भ्रष्टाचार का आरोप लगाने की हिम्मत नहीं की है। यहां जो पहले मुख्यमंत्री रहे उन पर कैसे-कैसे आरोप हैं, ये यूपी के लोग अच्छी तरह जानते हैं।

साथियों,

जहां डर होता है, जहां अपराध होता है, जहां माफियाराज होता है, फिरौती-छीना झपटी होती है, वहां विकास संभव नहीं होता है। और कानून व्यवस्था स्थापित करना ये कोई छोटी बात नहीं है, दोस्तो। मैं लंबे अरसे तक मुख्यमंत्री रहकर आया हूं। कानून व्यवस्था के लिए कितनी मेहनत पड़ती है सारे तंत्र को कितना सजग रहना पड़ता है। मैंने उस दुनिया से समय निकालकर के मैं आया हूं। भाइयों- बहनों मैं आज आपको कहना चाहता हूं, मान लीजिए आपके पास बांग्ला है, घर है, गाड़ी है, खेत है खलिहाल है। सब कुछ है। पांचों उंगली घी में है। कोई दुख नहीं है। लेकिन अगर माफियाओं की चलती है। गुंडों की चलती है और जवान बेटा सुबह घर से गया है उत्साह के साथ और शाम को उसकी लाश घर पर लौट आये कोई उसकी हत्या कर दे तो उस घर का क्या उपयोग है ? उस बंग्ले का क्या उपयोग है? उस व्यापार का गाड़ी का खेत खलिहान का कोई उपयोग है क्या? कोई उपयोग है क्या? जान प्यारी है कि नहीं ? तो गुंडागर्दी जानी चाहिए कि नहीं जानी चाहिए? माफिया शाही बंद होनी चाहिए कि नहीं होनी चाहिए ? ये काम योगी जी ने किया है भाइयों। आप सोचिए आपके पास पैसे है बच्चे को अच्छे स्कूल भेज रहे हैं लेकिन चूंकि बच्चा अच्छे स्कूल में पढ़ता है। इसलिए फिरौती लेने वाला बच्चों को उठाकर कर के ले जाये और फिर टेलिफोन कर के पैसे मांगे। मां-बाप भी सोचें कि अगर पैसे नहीं देंगे और बच्चों को कही मार देगा तो इसलिए पुलिस में भी कंपलेन ना करे। भाइयों- बहनों क्या बच्चों की सलामति होनी चाहिए कि नहीं होनी चाहिए ? ये गुंडागर्दी बंद होनी चाहिए कि नहीं होनी चाहिए ? अगर ये काम योगी जी ने किया तो अच्छा किया है कि नहीं किया है ? ये होना चाहिए था कि नहीं होना चाहिए था? ये उत्तर प्रदेश की सेवा है कि नहीं है ? ये आपकी सेवा है कि नहीं है ? ये आपकी सुरक्षा है कि नहीं है ? भाइयो-बहनों सुरक्षा जीवन में बहुत जरूरी होती है।

भाइयों- बहनों

हमारी बेटियां, स्कूल कॉलेज आते-जाते समय नजर नीची किए रहें, हर कदम पर घबराहट हो, चुपचाप भागने की कोशिश करती हो। और आपने देखा होगा ऐसे लोग रोड़ के किनारे पर खड़े रहकर के बेचारी को फब्तियां सुनती रहने पड़े, बहुत कुछ हमारी बेटियां सहन करती रहें, उनके मन की बेबसी और उनका आक्रोश, भाइयों-बहनों आप कल्पना कर सकते हैं हमारे घर में जवान बहन-बेटियों के साथ ऐसा हो वो बेटी बेचारी मुर्झा जाएगी कि नहीं मुर्झा जाएगी। उन बेटियों को सम्मान मिलना चाहिए कि नहीं मिलना चाहिए। उन बेटियों की रक्षा होनी चाहिए कि नहीं होनी चाहिए? कोई दुकानदार दिन-रात मेहनत करके अपनी दुकान का काम फैलाए, छोटी सी दुकान बेचारा कर्ज लेकर आया हो, मेहनत करता हो, कमाना शुरू करे। और कोई दबंग आकर के कह दे कि देखो हर दिन शाम को 50 रुपया मुझे पहुंचाना पड़ेगा। एक छोटा दुकानदार बेचारा कैसे घर चलाएगा कैसे जो कर्ज लिया है चूकता करेगा। ये रंगदारी वाले लोग मुनाफे में से हिस्सा ले जाये। अगर मुनाफे में से हिस्सा नहीं मिलता है तो पूंजी में से भी हिस्सा उठाकर ले जाये। और अगर वो ना दे पाये तो एक दिन आकर दुकान को ही उठाकर ले जाये। ऐसे लोग जब बैठे हैं तब प्रगति नहीं होती है। उसको रोकने का काम हमारे योगी जी ने किया है। भाइयों-बहनों, सूरज ढलने के बाद आप घर से निकलने से घबराएं, बहुत जरूरी होने पर ही बाहर जाएं, अपने काम टालें, ये स्थिति ठीक नहीं है। अगर ट्रेन रात को किसी स्टेशन पर पहुंचे। और लोग सुबह तक इंतजार करे प्लेटफॉर्म पर बैठे रहें ताकि सलामत घर पहुंच सके। ये स्थिति उत्तर प्रदेश ने देखी थी। उत्तर प्रदेश को उससे बाहर लाने का काम योगी जी की सरकार ने किया है भाइयों। यूपी में पांच साल पहले जो इन घोर परिवारवादियों-माफियावादियों ने जो माहौल बना दिया था, उसके खिलाफ योगी जी ने बहुत बड़ी लड़ाई लड़ी है।

भाइयों- बहनों,

जीवन में सुरक्षा कोई छोटी चीज नहीं है। जहां हालात बिगड़े हुए हों, वहां दशकों-दशक निकल जाते हैं कानून का राज स्थापित नहीं होता है बहुत मेहनत पड़ती है, योगी जी ने ऐसी कठिन स्थिति में से उत्तर प्रदेश को बाहर लाकर के 5 साल के भीतर भीतर कानून का राज स्थापित करने में सफलता पाई है। बहुत बड़ा बदलाव लाये हैं और आगे भी इसको और पक्का करेंगे ये मुझे पूरा विश्वास है भाइयों। योगी जी ने यूपी में सुरक्षा का जो माहौल दिया है, उसने समृद्धि का नया द्वार खोल दिया है। समाज का हर वर्ग मेहनत करे, उन्नति करे, इसके लिए जो माहौल जरूरी है, वो माहौल योगी जी की सरकार ने दिया है। कासगंज, एटा, फर्रुखाबाद, हाथरस, फिरोजाबाद, एटा, कन्नौज, सहित इस पूरे क्षेत्र के लिए भी ये सबसे बड़ा संकट था। इन क्षेत्रों के छोटे, लघु, कुटीर उद्योग, हमारे व्यापारी, उद्यमी साथी भी इन अपराधियों के कारण माफियाओं के कारण परेशान रहते थे। इसलिए योगी जी की सरकार ने कानून के राज को सबसे बड़ी प्राथमिकता बनाया और उन्होंने कर के दिखाया है। गुंडे-माफिया को उन्होंने खोज-खोज कर के जेल भेजा, उन पर कार्रवाई की। कभी कभी लोग पूछते हैं कि योगी जी जुल्म कर रहे हैं योगी जी जुल्म कर रहे हैं। आप मुझे बताइए भइया क्या ये माफियाओं को जेल में भेजना चाहिए कि महल में भेजना चाहिए ? ये गुंडों को जेल भेजना चाहिए कि महल में भेजना चाहिए? योगी जी ने सही किया कि नहीं किया ? सही किया कि नहीं किया? यही करना चाहिए ना ? तभी तो सज्जन व्यक्ति भी जिंदगी जी सकता है भाई। ईमानदार आदमी जो मेहनत करता है वो तभी जी सकता है। बरेली के लोग भी आज हमारे साथ जुड़े हैं। वर्चुअली वो भी हमारे साथ बात कर रहे हैं। बरेली को कैसे बार-बार दंगों की आग में झोंका गया, ये भी हमने देखा है,भाइयों। पहले ये हालत थी कि लोग अपने पर्व-त्योहार तक शांति से नहीं मना सकते थे। दबंग, दंगा और माफियाराज को अब हमें यूपी से हमेशा के लिए बाहर कर देना है। पूरी तरह आप लोग इस बात का भी ध्यान रखिए कि इस बार भी इन घोर परिवारवादियों ने ऐसे अपराधी चुनाव के मैदान में उतारे हैं, जो आप लोगों से खार खाए बैठे हैं। ऐसे लोगों को वो नेता बना रहे हैं, माफियाओं को गुंडागर्दी करने वालों को ऐसे लोगों को वो नेता बनाने के लिए निकले हैं। इन अपराधियों और गुंडों को हराने के लिए आपको एकजुट होकर भाजपा उम्मीदवारों के पक्ष में मतदान करो। ये मैं प्रार्थना करने आया हूं भाइयो-बहनों। ये बदले के मौके की तलाश में है। इनको कभी बदला लेने का मौका मत देना भाइयो-बहनों। मैं इस क्षेत्र के नौजवानों से, जो पहली बार वोट डालने जा रहे युवाओं से खास तौर से कहूंगा कि यूपी के बेहतर भविष्य से आपका भी भविष्य जुड़ा हुआ है। बहुत महत्वपूर्ण है भाइयों, आपके पहले लोगों को गांव घर छोड़कर जाना पड़ा। शहरों में जाकर झुग्गी-झोपड़ी में जीना पड़ा। अब मैं उत्तर प्रदेश से किसी को जाना पड़े ये स्थिति नहीं चाहता हूं। उत्तर प्रदेश ऐसा बनाना है देश भर के लोगों को उत्तर प्रदेश आने का मन कर जाये ऐसा उत्तर प्रदेश बनाना है। भाजपा को दिया आपका एक-एक वोट, यूपी की तस्वीर बदल देगा।

भाइयों और बहनों,

खेती और छोटे उद्योग आत्मनिर्भर भारत की सबसे बड़ी ताकत है। कोरोना के इस संकटकाल में डबल इंजन की सरकार ने खेती और छोटे उद्योगों के लिए ईमानदार प्रयास किए हैं, हमने नई-नई योजनाएं लाए कोशिशें की है। दुनियाभर में हाहाकार मचाने की वजह से भाइयों बहनों खाद की ये जो कोरोना के कारण जो सप्लाइ चेन सब खत्म हो गई, डिस्टर्ब हो गई, इसके कारण खाद की कीटनाशकों की सप्लाई भी बहुत प्रभावित हुई। कीमत भी कल्पना नहीं कर सकते कि कितनी बढ़ गई, अनेक गुना कीमत बढ़ गई है दुनिया के मार्केट में। लेकिन ये संवेदनशील सरकार है, छोटे किसानों पर बोझ न आए इसकी चिंता करने वाली सरकार है, इसलिए पूरी दुनिया में इतना बड़ा दाम बढ़ गया, हमें महंगी चीजें बाहर से लानी पड़ी, हमने किसानों के लिए चीजें लाए, फर्टिलाइजर लाए, खाद लाए, दवाइयां लाए और किसान को बोझ नहीं पड़ने दिया। सारा बोझ सरकार ने झेला किसानों को कम पैसों में वो दिया हमने। सब्सिडी बढ़ा दी, हमने हजारों करोड़ की सब्सिडी ज्यादा कर दी। इस बजट में भी एक लाख करोड़ रुपया, मेरे छोटे किसान भाइयों बहनों सुनिए एक लाख करोड़ से ज्यादा खाद सब्सिडी के लिए रखा है कि ताकि आगे अगर कोई आफत आ जाए तो भी मेरे किसानों को कोई मूसीबत न आ जाए इसका प्रबंध आज हमने अभी से किया है। छोटे किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि से जो हजारों रुपये इस दौरान मिले हैं उससे भी उनकी बहुत बड़ी मदद हुई है। छोटे किसान के लिए हर समय जब भी उसको खेती की जरूरत है तुरंत उनके खाते में 2 हजार रुपये जमा हो जाते हैं। और साल में बार-बार ये काम होता रहता है। इसी का परिणाम है कि उत्तर प्रदेश के किसानों ने रिकार्ड उत्पादन करके दिखाया है भाइयों-बहनों। और सरकार ने भी किसानों से एमएसपी पर रिकॉर्ड खरीद की है। भाइयो-बहनों खेती की तरह ही डबल इंजन की सरकार ने लघु उद्योगों को एमएसएमई को बचाने के लिए भी निरंतर प्रयास किया है कोशिश की है। कोरोना काल में करीब-करीब ढाई लाख करोड़ रुपये छोटे उद्योग को दिए गए हैं, छोटे-छोटे स्थानों पर काम करने वाले लोगों को उसके काम में बहुत बड़ी मदद मिली है और उसके कारण हर कारखाने में दो, पांच, सात, दस, पंद्रह लोगों को जो रोजी-रोटी कमाते हैं उनकी रोजी-रोटी को सुरक्षित किया है। एक रिपोर्ट में यह बात बहुत उभरकर के आई है कि सरकार के इस प्रयास की वजह से लघु उद्योगों में काम करने वाले कम से कम डेढ़ करोड़ लोगों का रोजगार जाने से बच गया। डेढ़ करोड़ लोग यानि डेढ़ करोड़ परिवार यानि करीब छह-आठ करोड़ नागरिकों को मदद मिली है। 13 लाख से ज्यादा लघु उद्योगों को हमारी सरकार ने बंद होने से बचाया है। इस संकट के काल में इतना बड़ा काम हुआ है। केंद्र सरकार की योजना की वजह से यूपी के लघु उद्योमियों को भी करीब 19 हजार करोड़ रुपया मिला है ताकि हमारे गरीब की रोजी रोटी चालू रहे, हमारे देश में उत्पादन का काम चलता रहे।

साथियों,

आज यूपी के लोगों के पास डबल इंजन की ऐसी सरकार है जो लोकल के लिए वोकल है। योगी जी ने जो वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट योजना शुरू की है आज चारों तरफ उसकी वाहवाही हो रही है। इससे हींग, चूड़ियां, कपड़े, फर्निचर, ऐसे उत्पादों को भी बहुत बढ़ावा दिया जा रहा है। इसलिए कासगंज, ऐटा फर्रुखाबाद, हाथरस और फिरोजाबाद के लोग डबल इंजन की सरकार चाहते हैं क्योंकि वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट ने एक ग्लोबल लेवल के मार्केट की संभावना पैदा की है।

भाइयों बहनों,

भाजपा सरकार ने गरीब, किसान, मदजूर, दलित, पिछड़ों के लिए जो सुरक्षा कवच दिया है वो पहले कभी नहीं था। हमारी सरकार ने देश के करोड़ों गरीबों को चार लाख रुपये तक के जीवन और दुर्घटना बीमा की सुविधा भी दी है। चार लाख, भाइयों-बहनों 60 वर्ष होने के बाद गरीब को पेंशन का सहारा मिले इसके लिए भी हमारी सरकार ने बहुत बड़ी पेंशन योजना भी लागू की है। भाइयों-बहनों इस योजना के तहत गरीबों को तीन हजार रुपये मासिक पेंशन की सुविधा है। बुढ़ापे में रजी-रोटी की तकलीफ न हो इसकी व्यवस्था है। आज करोड़ों किसान, हमारे खेत मजदूर, घर में काम करने वाले, हमारे खेत में काम करने वाले साथी, रिक्शा चलाने वाले हमारे गरीब भाई-बहन, टैक्सी के ड्राइवर के रूप में काम करने वाले हमारे भाई-बहन, रेड़ी-पटरी-ठेले चलाने वाले हमारे छोटे भाई बहन, ये सारे लोग इस योजना से जुड़े हैं और हमारा गरीब और सशक्त होगा तो वो भी गरीबी को परास्त कर के रहेगा। ये मेरा पक्का विश्वास है। पहली बार देश के असंगठित क्षेत्र के करोड़ों श्रमिकों को हमने श्रम कार्ड दिया है, पहली बार देश में रेड़ी-पटरी-ठेले वाले साथी को भी बैंकिंग सिस्टम से जोड़ा गया है स्वनिधि योजना के माध्यम से उन्हें मदद दी जा रही है। इसका बहुत बड़ा लाभ कोरोना के इस समय में यूपी के गरीबों, दलितों, पिछड़ों को भी मिला है। भाइयों-बहनों गरीबों की सरकार जब होती है तो वो इसी प्रकार सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास, सबका प्रयास इसी मंत्र को काम करते हुए इसी रास्ते पर काम करती है लेकिन जब घोर परिवारवादी घोर परिवारवादी, जब घोर परिवारवादी सरकार में रहते हैं, तो वो अपने परिवार से बाहर सोचते भी नहीं हैं, उनको कोई लेना-देना ही नहीं होता। जब घोर परिवारवादी सत्ता में थे तो सड़क वहीं बनती थी, जहां एक परिवार का हित होता था। बिजली वहीं आती थी जहां एक परिवार के लोगों का चुनावी हित सधता था, नौकरियां उनको ही मिलती थी जो घोर परिवारवादियों के गुणगान करते थे। लेकिन योगी जी सरकार के लिए पूरा उत्तर प्रदेश अपना परिवार है, पूरा उत्तर प्रदेश। इसलिए बीते 5 साल में जो काम हुआ, जो विकास हुआ पूरे यूपी में समानभाव से हुआ, सामाजिक न्याय की प्रतिबद्धता से हुआ। भाइयों -बहनों घोर परिवारवादी देश के संविधान के लिए, देश के लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा हैं, सबसे बड़ा संकट है। देश को संविधान देने वाले बाबा साहेब भी अगर चाहते, उनका तो कद भी बहुत ऊंचा था नाम भी बड़ा था और समाज में उनके प्रति भक्तिभाव भी आद्भुत था, वे अगर चाहते तो वे भी अपने परिवार की एक पार्टी बना सकते थे और अपना राजनीतिक खेल खेल सकते थे। लेकिन बाबा साहेब आंबेडकर ने अपना अपने परिवार का नहीं हमारे देश के कोटि-कोटि दलित, पीड़ित शोषित, वंचितों को ही अपना परिवार माना और उनके लिए ही पूरा जीवन समर्पित कर दिया। वो जानते थे कि जब कोई पार्टी, किसी परिवार के हाथों बंधक बन जाती है, तो सबसे ज्यादा नुकसान, युवाओं का होता है, देश के टैलेंट का होता है। यूपी के लोगों ने तो देखा है कि कैसे पार्टी पर, उसके साधनों, संसाधनों पर कब्ज़ा करने के लिए क्या-क्या किया गया। परिवारवादी कभी नहीं चाहते कि ज्यादा प्रतिभाशाली लोग खड़े हों और उन्हीं के लिए चुनौती बन जाएं। और इसलिए भाइयों-बहनों इस चुनाव में आपको तय करना है कि परिवारवादी चाहिए की प्रतिभाशील चाहिए। हमें परिवारवादी नहीं हमें प्रतिभाशील लोगों को आगे लाना है और हमारे देश में हर घर में प्रतिभाशाली लोगों की कमी नहीं है। जब ये लोग अपनी पार्टी में युवाओं को आगे नहीं आने देते तो फिर अन्य क्षेत्रों में युवाओं को कैसे आगे बढ़ा पाएंगे? इसलिए मैं कहता हूं, परिवारवादी लोग, हमारे युवाओं के उज्ज्वल भविष्य के सबसे बड़े दुश्मन हैं। घोर परिवारवाद की जो ये मानसिकता आज़ादी के बाद देश और उत्तर प्रदेश में पनपी, उसने यूपी के युवाओं की ताकत को रोक दिया बढ़ने नहीं दिया, अरे बर्बाद कर दिया। इसलिए यूपी का विकास सीमित रहा, विकास धीमा रहा। भाजपा सरकार युवाओं की इसी ताकत को आज देश की ताकत बना रही है।

साथियों,

विकास का ये सिलसिला है विकास के इस सिलसिले को हमें मज़बूत बनाना है मजबूत करना है। यूपी को दंगों और दबंगों से हमें दूर रखना है। दंगे भी नहीं चाहिए दबंग भी नहीं चाहिए इसके लिए कमल के फूल पर भारी संख्या में मतदान करना भी है, आपको तो करना है मतदान करवाना भी है। हर यूथ को बूथ की ज़िम्मेदारी लेनी है। और इसलिए भाइयों-बहनों आप भारी संख्या में मतदान करवाएंगे। और मैं आज प्रथम चरण में अद्भुत भाजपा को समर्थन दिया है, उन सभी मतदाताओं का अभिनंदन करते हुए आपको यही कहूंगा पहले मतदान, फिर जलपान। ये उत्साह बना रहे, इसी विश्वास के साथ मेरे साथ दोनों हाथ ऊपर करके पूरी ताकत से बोलिए..
भारत माता की जय !

Explore More
Do things that you enjoy and that is when you will get the maximum outcome: PM Modi at Pariksha Pe Charcha

Popular Speeches

Do things that you enjoy and that is when you will get the maximum outcome: PM Modi at Pariksha Pe Charcha
Hiring intent for July-Sept quarter rises to 61 pc: Report

Media Coverage

Hiring intent for July-Sept quarter rises to 61 pc: Report
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
PM inaugurates and lays the foundation stone of multiple development initiatives worth over Rs. 1800 crores
July 07, 2022
Share
 
Comments
“Kashi today presents a picture of development with heritage”
“My Kashi is a great example of Sabka Saath, Sabka Vikas, Sabka Vishwas aur Sabka Prayas”
“The citizens of Kashi have given a message to the entire country that short-cuts cannot benefit the country”
“ The government has always tried to solve the problems of the poor, tried to support them in their happiness and sorrow”
“For us, development isn’t just glitter. For us, development means empowerment of the poor, downtrodden, deprived, backward, tribal, mothers and sisters”

The Prime Minister, Shri Narendra Modi today inaugurated and laid the foundation stones of multiple projects worth over Rs. 1800 crores at an event at Dr Sampurnanand Sports Stadium, Sigra, Varanasi. Governor of Uttar Pradesh Smt Anandiben Patel, and Chief Minister of Uttar Pradesh Yogi Adityanath were among those present on the occasion.

At the outset, the Prime Minister thanked the people of Uttar Pradesh and Kashi for the massive support that they gave in the recent elections.

The Prime Minister said that Kashi has always been alive and in constant flux. Now Kashi has shown a picture of the whole country which has a heritage as well as development. The Prime Minister said that schemes and projects of thousands of crores rupees have been completed and many are going on. He said the soul of Kashi is internal, however, relentless improvement in the body of Kashi is going on. He remarked that the development is making Kashi more mobile, progressive and sensitive. “My Kashi is a great example of Sabka Saath, Sabka Vikas, Sabka Vishwas aur Sabka Prayas”, he said.

The Prime Minister, who is MP from Kashi, commented “I am happy to see the way the aware citizens of Kashi have done the work to give direction to the country. The citizens of Kashi have given a message to the entire country that short-cuts cannot benefit the country.” He praised the local people for preferring long-lasting solutions and projects over temporary and short-cut solutions. He said improvements in infrastructure and other spheres have brought tourism to the city and created new opportunities for business and ease of living.

Talking about the upcoming Sawan month, the Prime Minister said devotees of Baba Vishwanath from all over the country and the world are going to come to Kashi in large numbers. This, he remarked, will be the first Sawan festival after the completion of the Vishwanath Dham project. He said people have experienced in the past months how much enthusiasm there is in the whole world about Vishwanath Dham. He said the government is moving ahead with a goal to make the experience of devotees as rich and easy as possible. Various Yatras of faith are being made easy and convenient.

“For us, development doesn't just mean glitter. For us, development means empowerment of the poor, downtrodden, deprived, backward, tribal, mothers and sisters”, the Prime Minister said. He said the government is working continuously on providing pucca houses and piped water to every household.

The Prime Minister said our government has always tried to solve the problems of the poor, tried to support them in their happiness and sorrow. From the free corona vaccine to the provision of free rations to the poor, the government has not left any opportunity to serve the people. Digital India, Ayushman Bharat, increasing medical infrastructure is creating new opportunities for the people. The Prime Minister remarked that on one hand, we are expanding the facilities for CNG-run vehicles to make the cities of the country smoke-free. On the other hand, we are also giving the option of connecting diesel and petrol-powered boats of our sailors with CNG and taking care of Ganga ji.

The Prime Minister also noted the enthusiasm of sportspersons for getting a new sports centre. The Prime Minister said that the government is working on making all facilities for Olympics sports available in Kashi. He said international facilities are being created in the redeveloped stadium at Sigra. This six decades-old stadium will be equipped with the facilities of the 21st century.

The Prime Minister asked the people of Kashi to keep Ganga and Varanasi clean and expressed the confidence that with the support of the people and blessings of Baba Vishwanath, all pledges for the city will be fulfilled.

Inauguration and foundation stone of multiple development initiatives

In the last eight years, the Prime Minister has put a lot of focus on infrastructure development in Varanasi. This has resulted in the transformation of the landscape of the city. The primary focus of this endeavour has been enhancing the ease of living for the people. Taking another step in this direction, during the programme, the Prime Minister inaugurated projects worth over Rs 590 crores. Among these are multiple initiatives under Varanasi Smart City and Urban Projects, including the re-development of Namo Ghat in Phase-I along with the construction of bathing jetty; conversion of diesel and petrol engines of 500 boats into CNG; redevelopment of Kameshwar Mahadev ward of Old Kashi and over 600 EWS flats constructed in village Harhua, Dasepur; new Vending Zone and urban place prepared under Lahartara-Chowka Ghat Flyover; tourist facility and market complex at Dashashwamedh Ghat; and 33/11 KV Substation at Nagwa under IPDS Work Phase-3.

The Prime Minister also inaugurated various road projects including the construction of Four Lane Road over Bridge (ROB) on Babatpur-Kapsethi-Bhadohi Road; Bridge on Varuna River on Central Jail road; widening of Pindra-Kathiraon Road; widening of Phoolpur-Sindhaura Link Road; strengthening and construction of 8 rural roads; construction of 7 PMGSY roads and widening of Dharsauna-Sindhaura road.

The Prime Minister also inaugurated various projects related to the improvement of sewerage and water supply in the district. These include rehabilitation of Old Trunk Sewer Line in Varanasi City through trenchless technology; laying of sewer lines; over 25000 sewer house connections in Trans Varuna area; leakage repair works in Sis Varuna area of the city; rural drinking water scheme at Taatepur village, etc. Various social and education sector-related projects to be inaugurated include ITI at Village Mahgaon, Phase-II of Vedic Vigyan Kendra in BHU, Govt. Girls Home at Ramnagar, Theme Park in Govt. Old Age Women Home at Durgakund.

The Prime Minister inaugurated a synthetic athletic track and synthetic basketball court in Dr Bhim Rao Ambedkar Sports Complex, Bada Lalpur and various police and safety fire projects including non-residential Police Station building at Sindhaura, construction of hostel rooms, barracks in Mirzamurad, Cholapur, Jansa and Kapsethi police stations and building of Fire Extinguisher Centre in Pindra.

During the programme, the Prime Minister also laid the foundation stone for projects worth more than Rs 1200 crores. Among these are multiple road infrastructure projects including a six-lane widening of road from Lahartara - BHU to Vijaya Cinema; four-lane widening of road from Pandeypur Flyover to Ring Road; Four lanes of road from Kuchaheri to Sandaha; widening and strengthening of Varanasi Bhadohi Rural Road; construction of five new Roads and four CC roads in Varanasi rural area; construction of ROB near Babatpur railway station on Babatpur-Chaubeypur road. These projects will significantly help in reducing the traffic load on city and rural roads.

To give a fillip to tourism in the region, Prime Minister laid the foundation stone of multiple projects including the development work of the Sarnath Buddhist Circuit under the World Bank-aided UP Pro-Poor tourism development project, construction of Paavan Path for Asht Vinakaya, Dwadash Jyotirling Yatra, Asht Bhairaw, Nav Gauri Yatra, Tourism Development work of five stoppages in Panchkosi Parikrama Yatra Marg and Tourism development various wards in Old Kashi.

The Prime Minister also laid the foundation of Phase 1 of redevelopment works of Sports Stadium at Sigra.