शेअर करा
 
Comments

भारत रत्न कलाम के साथ श्री मोदी का गहरा नाता रहा। अक्सर वो उनसे जुड़े किस्से सुनाते हैं। मोदी जी ने बताया कि एक बार किसी ने कलाम जी से पूछा था कि आपको कैसे याद रखा जाए तो उन्‍होंने जवाब में कहा था कि मुझे शिक्षक के रूप में याद रखा जाए। उनका मानना था कि आने वाली पीढ़ियों को एक शिक्षक ही तैयार कर सकता है और ये उनके सिर्फ शब्‍द नहीं थे, बल्कि यथार्थ था। उनके जीवन का अंतिम समय भी एक शिक्षक के तौर पर बीता।

श्री मोदी के मुताबिक दो प्रकार के लोग होते हैं। एक वो होते हैं जो अवसर खोजते हैं, जबकि एक वो होते हैं जो चैलेंज खोजते हैं। कलाम साहब हमेशा चैलेंज की तलाश में रहते थे।

 

Explore More
76 व्या स्वातंत्र्य दिनानिमित्त पंतप्रधान नरेंद्र मोदी यांनी लाल किल्यावरुन देशवासियांना केलेले संबोधन

लोकप्रिय भाषण

76 व्या स्वातंत्र्य दिनानिमित्त पंतप्रधान नरेंद्र मोदी यांनी लाल किल्यावरुन देशवासियांना केलेले संबोधन
India a shining star of global economy: S&P Chief Economist

Media Coverage

India a shining star of global economy: S&P Chief Economist
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
सोशल मीडिया कॉर्नर 25 सप्टेंबर 2022
September 25, 2022
शेअर करा
 
Comments

Nation tunes in to PM Modi’s Mann Ki Baat.