Share
 
Comments

भारत रत्न कलाम के साथ श्री मोदी का गहरा नाता रहा। अक्सर वो उनसे जुड़े किस्से सुनाते हैं। मोदी जी ने बताया कि एक बार किसी ने कलाम जी से पूछा था कि आपको कैसे याद रखा जाए तो उन्‍होंने जवाब में कहा था कि मुझे शिक्षक के रूप में याद रखा जाए। उनका मानना था कि आने वाली पीढ़ियों को एक शिक्षक ही तैयार कर सकता है और ये उनके सिर्फ शब्‍द नहीं थे, बल्कि यथार्थ था। उनके जीवन का अंतिम समय भी एक शिक्षक के तौर पर बीता।

श्री मोदी के मुताबिक दो प्रकार के लोग होते हैं। एक वो होते हैं जो अवसर खोजते हैं, जबकि एक वो होते हैं जो चैलेंज खोजते हैं। कलाम साहब हमेशा चैलेंज की तलाश में रहते थे।

 

Explore More
৭৬ সংখ্যক স্বাধীনতা দিৱস উপলক্ষে লালকিল্লাৰ দূৰ্গৰ পৰা ৰাষ্ট্ৰবাসীক উদ্দেশ্যি প্ৰধানমন্ত্ৰীৰ ভাষণৰ অসমীয়া অনুবাদ

Popular Speeches

৭৬ সংখ্যক স্বাধীনতা দিৱস উপলক্ষে লালকিল্লাৰ দূৰ্গৰ পৰা ৰাষ্ট্ৰবাসীক উদ্দেশ্যি প্ৰধানমন্ত্ৰীৰ ভাষণৰ অসমীয়া অনুবাদ
The Largest Vaccination Drive: Victory of People, Process and Technology

Media Coverage

The Largest Vaccination Drive: Victory of People, Process and Technology
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
PM seeks blessings of Maa Katyayani
October 01, 2022
Share
 
Comments

The Prime Minister, Shri Narendra Modi has sought blessings of Maa Katyayani for all her devotees during Navratri. Shri Modi also wished blessings of willpower and self confidence to all. He has also shared recital of prayers (stuti) of the Goddess.

In a tweet, the Prime Minister said;

"चन्द्रहासोज्ज्वलकरा शार्दूलवरवाहना।

कात्यायनी च शुभदा देवी दानवघातिनी॥

मां दुर्गा का कात्यायनी स्वरूप अत्यंत अद्भुत और अलौकिक है। आज उनकी आराधना से हर किसी को नए आत्मबल और आत्मविश्वास का आशीर्वाद मिले, यही कामना है।"