Share
 
Comments

भारत रत्न कलाम के साथ श्री मोदी का गहरा नाता रहा। अक्सर वो उनसे जुड़े किस्से सुनाते हैं। मोदी जी ने बताया कि एक बार किसी ने कलाम जी से पूछा था कि आपको कैसे याद रखा जाए तो उन्‍होंने जवाब में कहा था कि मुझे शिक्षक के रूप में याद रखा जाए। उनका मानना था कि आने वाली पीढ़ियों को एक शिक्षक ही तैयार कर सकता है और ये उनके सिर्फ शब्‍द नहीं थे, बल्कि यथार्थ था। उनके जीवन का अंतिम समय भी एक शिक्षक के तौर पर बीता।

श्री मोदी के मुताबिक दो प्रकार के लोग होते हैं। एक वो होते हैं जो अवसर खोजते हैं, जबकि एक वो होते हैं जो चैलेंज खोजते हैं। कलाम साहब हमेशा चैलेंज की तलाश में रहते थे।

 

Explore More
৭৬ সংখ্যক স্বাধীনতা দিৱস উপলক্ষে লালকিল্লাৰ দূৰ্গৰ পৰা ৰাষ্ট্ৰবাসীক উদ্দেশ্যি প্ৰধানমন্ত্ৰীৰ ভাষণৰ অসমীয়া অনুবাদ

Popular Speeches

৭৬ সংখ্যক স্বাধীনতা দিৱস উপলক্ষে লালকিল্লাৰ দূৰ্গৰ পৰা ৰাষ্ট্ৰবাসীক উদ্দেশ্যি প্ৰধানমন্ত্ৰীৰ ভাষণৰ অসমীয়া অনুবাদ
'Ambitious... resilient': What World Bank experts said on Indian economy

Media Coverage

'Ambitious... resilient': What World Bank experts said on Indian economy
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
চ'ছিয়েল মিডিয়া কৰ্ণাৰ 7 ডিচেম্বৰ 2022
December 07, 2022
Share
 
Comments

Citizens Rejoice as UPI Transactions see 650% rise at Semi-urban and Rural Stores Signalling a Rising, Digital India

Appreciation for Development in the New India Under PM Modi’s Visionary Leadership