साझा करें
 
Comments

कन्या केळवणी और शाला प्रवेश महोत्सव : 2012 .

जनअभियान के प्रारंभ पर वीडियो कॉन्फ्रेस के जरिए मुखातिब हुए श्री मोदी .

गांव के मंदिर जितना ही महत्व प्राथमिक स्कूल का है : मुख्यमंत्री

गांधीनगर, गुरुवार: मुख्यमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार से शुरू हुए तीन दिवसीय कन्या केळवणी और शाला प्रवेश महोत्सव के दसवें अभियान के अवसर पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए पालक समाज से प्रेरक अपील करते हुए कहा कि गांव के मंदिर जितना ही महत्व प्राथमिक स्कूल का है। लिहाजा हमारा दायित्व है कि हमारे बच्चों का बालपन स्कूल की चारदीवारी के भीतर जीवंत रहे।

श्री मोदी ने कहा कि यह जनअभियान 15 वर्ष बाद के सुशिक्षित गुजरात की नींव साबित होगा। राज्य के मुख्यमंत्री से लेकर समूची सरकार और जनप्रतिनिधी गांव-गांव जाकर बेटे-बेटियों को पढ़ाने की अपील कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि पूरा गांव सुशिक्षित होने पर व गांव के बेटे-बेटियों के डॉक्टर-इंजीनियर बनने पर गांव गौरवांवित होता है, यही शिक्षा के महत्व को इंगित करता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीब बालक को शिक्षित करने के लिए उनकी सरकार ने पिछले दस वर्षों में अनेक कदम उठाए हैं। बच्चे के स्कूल में दाखिले के साथ ही सरकार ने विद्यादीप योजना के तहत उसका जीवन बीमा करवाया। स्कूल के हरेक बच्चे का स्वास्थ्य परीक्षण और बीमारी के उपचार की जिम्मेदारी इस सरकार ने उठाई है। शिक्षा-संस्कार के उत्तम दायित्व का निर्वहन करने वाले राज्य सरकार के तमाम अधिकारियों के योगदान की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कई अधिकारियों ने आंगनबाड़ी दत्तक ली है। यह एक ऐसा अवसर है जब शिक्षा के लिए समूची सरकार इस हद तक संवेदनशील बनी है।

श्री मोदी ने कहा कि गुणोत्सव के जरिए दो लाख शिक्षकों में नई चेतना का संचार हुआ है। ऐसे में जरूरी है कि पूरा गांव भी संवेदना के साथ स्कूल में उत्तम शिक्षा के लिए प्रयास करे। इस सरकार की दस वर्षों की तपस्या और भूतकाल की सरकारों द्वारा प्राथमिक शिक्षा को अनदेखा किये जाने की तुलना करते हुए उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने सभी 34,000 स्कूलों में कक्षाएं, शिक्षक, सेनीटेशन यूनिट, बिजली, कंप्यूटर प्रयोगशाला, मध्याह्न भोजन, पोषक आहार, वांचे गुजरात अभियान और पुस्तक लाइब्रेरी, खेलकूद का मैदान समेत सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाई हैं।

श्री मोदी ने शिक्षकों से आह्वान किया कि वे कंप्यूटर का ज्ञान अनिवार्यत: हासिल करें। स्कूल के प्रति समाज की संवेदना जागृत करने को तिथि भोजन के लिए भी उन्होंने प्रेरक अपील की। उन्होंने कक्षा सातवीं के बाद बेटियों को माध्यमिक स्कूल में आगे की पढ़ाई करवाने का अनुरोध भी किया। आंगनबाड़ी के शिशुओं के लिए जनभागीदारी से लाखों की संख्या में खिलौनों की भेंट देने की समाज की सत्वशक्ति को उन्होंने गुजरात के उज्जवल भविष्य का संकेत बताया। गांव की स्कूल को च्एज् ग्रेड की श्रेणी में लाने का संकल्प करने का उन्होंने आह्वान किया

इस अवसर पर प्राथमिक शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव श्रीमती संगीता सिंह और प्राथमिक शिक्षा निदेशक आर.सी. रावल भी मौजूद थे।

Explore More
आज का भारत एक आकांक्षी समाज है: स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

आज का भारत एक आकांक्षी समाज है: स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी
From Ukraine to Russia to France, PM Modi's India wins global praise at UNGA

Media Coverage

From Ukraine to Russia to France, PM Modi's India wins global praise at UNGA
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
PM urges people to take part in quiz based on 25th September 2022 'Mann Ki Baat' on NaMo App
September 28, 2022
साझा करें
 
Comments

The Prime Minister, Shri Narendra Modi has urged people to take part in quiz based on 25th September 2022 'Mann Ki Baat' on NaMo App. Shri Modi also said this month's Mann Ki Baat covered topics ranging from wildlife to the environment and from culture to India’s rich history.

The Prime Minister tweeted;

"In the recent #MannKiBaat programme, we covered topics ranging from wildlife to the environment and from culture to India’s rich history. There’s an interesting quiz on the NaMo App which I urge you all to take part in."