साझा करें
 
Comments
वैश्विक परिपेक्ष्य में यूएई हमारा एक महत्वपूर्ण भागीदार और करीबी मित्र है: प्रधानमंत्री
हम संयुक्त अरब अमीरात को भारत की विकास गाथा में एक महत्वपूर्ण भागीदार मानते हैं: प्रधानमंत्री
हमारे मैन्यूफैक्चरिंग और सेवा क्षेत्र में हो रहे विकास का यूएई को लाभ मिल सकता है: प्रधानमंत्री 
अबु धाबी के क्राउन प्रिंस के साथ संयुक्त प्रेस वक्तव्य में प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे संबंधों में ऊर्जा भागीदारी की महत्वपूर्ण भूमिका है
सुरक्षा और रक्षा सहयोग ने भारत-यूएई संबंधों को नया आयाम देने का काम किया है: प्रधानमंत्री मोदी
भारत-यूएई की आर्थिक साझेदारी क्षेत्रीय और वैश्विक समृद्धि के लिए महत्वपूर्ण स्रोत हो सकता है: प्रधानमंत्री

अबू धाबी के राजकुमार,

महामहिम शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान,

मीडिया के मित्रों,

मुझे भारत के प्रिय मित्र महामहिम शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान का स्वागत करते हुए अत्यंतहर्ष हो रहा है। हमें इस बात की प्रसन्नता है कि महामहिम अपनी दूसरी राजकीय यात्रा पर भारत आए हैं।और, कल गणतंत्र दिवस समारोह में हमारे सम्मानित मुख्य अतिथि के रूप में सहभागिता के चलतेउनकी यह यात्रा अत्यंत खास है। महामहिम, मैं गर्मजोशी से हमारी अगस्त 2015 और गत वर्ष फरवरी मेंहुई मुलाकात को याद कर रहा हूं। हमारी चर्चा का दायरा विस्तृत था जिसमें हमारे द्विपक्षीय संबंधों केसभी क्षेत्र शामिल थे। निजी तौर पर, हमारी भागीदारी पर आपके नजरिए,  हमारे क्षेत्र को लेकर आपकीसमझ और आपके वैश्विक दृष्टिकोण से मुझे अत्यंत लाभ हुआ है। महामहिम, आपके नेतृत्व में हम  अपने संबंधों में नई सहक्रिया (सिनर्जी) का निर्माण करने में सफल रहे हैं। अपनी विस्तृत रणनीतिकसाझेदारी को उद्देश्यपूर्ण और कार्य उन्मुख बनाने के लिए हमने एक महत्वकांक्षी रोडमैप को आकार दियाहै। अभी जिस समझौते का आदान-प्रदान किया गया है वह इस समझ को संस्थापित करेगा।

मित्रों,

संयुक्त अरब अमीरात दुनिया के एक महत्वपूर्ण हिस्से में हमारे सबसे मूल्यवान सहयोगियों में एक,  और करीबी मित्र है। मैंने अभी महामहिम के साथ बहुत ही उपयोगी और फलदायी विचार-विमर्श समाप्तकिया है। हमारी पिछली दो मुलाकातों के दौरान लिए गए विभिन्न निर्णयों को लागू करने पर ही हमाराविशेष जोर रहा। हम ऊर्जा और निवेश समेत सभी प्रमुख क्षेत्रों में हमारे संबंधों की गति को बनाए रखनेपर सहमत हैं। 

 

मित्रों,

हम भारत की विकास गाथा में एक महत्वपूर्ण भागीदार के रूप में संयुक्त अरब अमीरात का सम्मानकरते हैं। मैं विशेषरूप से भारत के बुनियादी ढांचा क्षेत्र में निवेश के लिए यूएई द्वारा दिखाई गईदिलचस्पी का स्वागत करता हूं। हम यूएई में संस्थागत निवेशकों को हमारे राष्ट्रीय निवेश एवं बुनियादीढांचा कोष के साथ जोड़ने के लिए काम कर रहे हैं। मैंने महामहिम से दुबई में वर्ल्ड एक्सपो 2020 कीइंफ्रास्ट्रक्चर परियोजनाओं में साझीदारी के लिए भारतीय कंपनियो की दिलचस्पी की बात भी साझा कीहै। यूएई हमारे विनिर्माण और सेवा क्षेत्र के विकास से जुड़कर लाभान्वित हो सकता है। हम डिजिटलअर्थव्यवस्था के निर्माण, मानव पूंजी और भारत में स्मार्ट शहरीकरण को लेकर हमारी पहलों में मौजूदप्रचुर अवसरों का संयुक्त रूप से दोहन कर सकते हैं। हम द्विपक्षीय व्यापार की गुणवत्ता और मात्राबढ़ाने के लिए दोनों देशों के व्यापार एवं उद्योगों को प्रोत्साहित भी करेंगे तथा उनकी सुविधाएं भीबढ़ाएंगे। व्यापार उपायों के समझौते पर आज हुए हस्ताक्षर हमारी व्यापारिक साझेदारी को आगे औरमजबूत करेगा। ऊर्जा के क्षेत्र में हमारी साझेदारी हमारे जुड़ाव का एक महत्वपूर्ण सेतु है। यह हमारी ऊर्जासुरक्षा में योगदान करता है। महामहिम और मैंने विशिष्ट परियोजनाओं एवं प्रस्तावों के माध्यम से हमारेऊर्जा संबंधों को एक रणनीतिक दिशा में बदलने के तरीकों पर चर्चा की है। इसके लिए, दीर्घ अवधि केआपूर्ति समझौते और ऊर्जा के क्षेत्र में संयुक्त उपक्रमों की स्थापना लाभकारी मार्ग साबित हो सकती है।

मित्रों,

सुरक्षा एवं रक्षा सहयोग ने हमारे संबंधों को उभरता हुआ नया आयाम दिया है। हम नए रक्षा क्षेत्रों मेंअपने उपयोगी संबंधों को विस्तार देने पर सहमत हुए हैं। इसमें समुद्री क्षेत्र भी शामिल है। रक्षा के क्षेत्र मेंसहयोग के लिए आज एक एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए हैं। यह हमारी रक्षा गतिविधियों को सही दिशादेने में मददगार होगा। हम यह भी महसूस करते हैं कि हमारे समाज की सुरक्षा के लिए हिंसा और उग्रवादसे निपटने हेतु हमारे मेलमिलाप का बढ़ना जरूरी है।

मित्रों,

महामहिम और मेरा मानना है कि हमारे करीबी संबंधों का महत्व सिर्फ हम दोनों देशों के लिए नहीं है, बल्कि यह समूचे पड़ोस के लिए भी महत्वपूर्ण है। हमारा संमिलन इस क्षेत्र की स्थिरता में मदद करसकता है। और,  हमारी आर्थिक साझेदारी क्षेत्रीय और वैश्विक समृद्धि का एक स्रोत हो सकती है।

हमने मध्य एशिया और खाड़ी क्षेत्र के विकास पर अपने विचारों का आदान-प्रदान किया, जहां शांति एवंस्थिरता में दोनों देशों के साझा हित हैं। हमने अफगानिस्तान समेत हमारे क्षेत्र के विकास पर भी चर्चाकी। कट्टरपंथ और आतंकवाद के बढ़ते खतरे से अपने लोगों की रक्षा एवं सुरक्षा को लेकर हमारी साझाचिंताएं हैं और इस क्षेत्र में भी हमारे संबंध आकार ले रहे हैं।

मित्रों,

संयुक्त अरब अमीरात 26 लाख भारतीयों का घर है। उनके योगदान को भारत और संयुक्त अरबअमीरात में काफी महत्व दिया जाता है। मैं संयुक्त अरब अमीरात में भारतीय नागरिकों के कल्याण काध्यान रखने के लिए महामहिम का आभार व्यक्त करता हूं। मैं अबू धाबी में भारतीय मूल के लोगों कोएक मंदिर के लिए भूमि आवंटित करने पर महामहिम को धन्यवाद भी करता हूं।

मित्रों,

हमारी भागीदारी की सफलता में महामहिम शेख खलीफा बिन जायद अल नाहयान, संयुक्त अरबअमीरात के राष्ट्रपति और महामहिम शेख मोहम्मद द्वारा दिखाई गई निजी दिलचस्पी की बहुत बड़ीभूमिका है।आगे,  हमारा सहयोग एक ऊंची उड़ान के लिए तैयार है। महामहिम,  मुझे पूर्ण विश्वास है किआपकी यात्रा हमारी पूर्व में हुई मुलाकात के दौरान बनी समझ और मजबूत बढ़त पर आधारित होगी।और, इसकी भविष्य की रूपरेखा का आकार गहराई, गतिशीलता और हमारी साझेदारी की विविधताद्वारा चिन्हित होगा। अंत में, मैं महामहिम को भारत आने का मेरा निमंत्रण स्वीकार करने के लिएधन्यवाद देता हूं। मैं उन्हें और उनके प्रतिनिधिमंडल के सभी सदस्यों को भारत में अत्यंत सुखद प्रवास केलिए शुभकामनाएं देता हूं।

धन्यवाद, बहुत-बहुत धन्यवाद।

प्रधानमंत्री मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम के लिए भेजें अपने विचार एवं सुझाव
प्रधानमंत्री ने ‘परीक्षा पे चर्चा 2022’ में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया
Explore More
काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण भारत को एक निर्णायक दिशा देगा, एक उज्ज्वल भविष्य की तरफ ले जाएगा : पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण भारत को एक निर्णायक दिशा देगा, एक उज्ज्वल भविष्य की तरफ ले जाएगा : पीएम मोदी
Corporate tax cuts do boost investments

Media Coverage

Corporate tax cuts do boost investments
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री ने महाराष्ट्र की दुर्घटना के मृतकों के प्रति शोक व्यक्त किया
January 25, 2022
साझा करें
 
Comments

प्रधानमंत्री राष्ट्रीय आपदा कोष से प्रभावितों के लिये अनुग्रह राशि की घोषणा

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने महाराष्ट्र के सेलसुरा के निकट एक दुर्घटना में हुये जानी नुकसान पर गहरा दुख व्यक्त किया है। प्रधानमंत्री ने प्रभावितों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय आपदा कोष से अनुग्रह राशि देने की भी घोषणा की है।

श्रृंखलाबद्ध ट्वीट में प्रधानमंत्री कार्यालय ने कहा हैः

“महाराष्ट्र में सेलसुरा के निकट हुई दुर्घटना में होने वाले जानी नुकसान पर दुख है। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनायें उन लोगों के साथ हैं, जिन्होंने अपने प्रियजनों को खो दिया है। मैं प्रार्थना करता हूं कि जो लोग घायल हुये हैं, वे शीघ्र स्वस्थ हों: प्रधानमंत्री।

प्रधानमंत्री ने सेलसुरा के निकट हुई दुर्घटना के प्रत्येक मृतक के निकटस्थ सम्बंधियों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय आपदा कोष से दो-दो लाख रुपये दिये जाने की घोषणा की है। जो घायल हुये हैं, उन्हें 50-50 हजार रुपये दिये जायेंगे।”