At an impressive inauguration ceremony of “Kankariya Carnival”, Chief Minister Shri Narendrabhai Modi dedicated a Mini-Train to the Children. He had made an announced,” Today is the birthday of our former Prime Minister Shri Atal Bihari Vajpayee, to mark his birth day, we would identify the Mini-Train as Atal-Express.”

Chief Minister flagged off the train, which also carried a group of mentally challenged children.

Chief Minister Inaugurates Kankariya Carnival

Kankariya Carnival to be held every year on 25th December

Adds soul to the Cultural Identity of Ahmedabad: Kankariya to become a Benchmark of Clean Ahmedabad

Dedication of Kankariya Lake Front Project marks the 1st Anniversary of present Government

Enthusiasm is palpable, jubilation is justified. Chief Minister inaugurated the Kankariya Carnival today. He said,” Kankariya Carnival would be celebrated every year on 25th December. It would infuse soul in to the cultural identity of Ahmedabad city.” The Kankariya Lake Front Project worth Rs.36 Crores, which was dedicated by the Chief Minister today.

In the history of last 550 years, during the 19th century, Kankariya was decorated twice only. Chief Minister stated that Kankariya is not only an ornament to Ahmedabad city but it is a jewel studded ornament for entire Gujarat. But, nobody ever spared a thought about its development.

Inspite of its innovative nature and the ever changing currents, Gujarat was ailing of stagnation. Visionary and welfare project remained oblivion. Ahmedabad was known world over for its textile industries. The textile industry lost its sheen, and gradually its glory was diminished. No one bothered about the devastating economy of Ahmedabad. “By implementing ambitious and public welfare oriented projects, we have made a history,” said the C.M.

Today is the birthday of our former Prime Minister Shri Atal Bihari Vajpayee, on the day the Carnival is organised and a Mini Train has been dedicated, naming it “Atal-Express.” On the one hand, we witness the narrow mindsets of Pradeshvad; against that, Gujarat has invited artists from all the states reflecting their cultures. Chief Minister described it as a “Unite India Festival.”

The vibrancy and throbbing culture of Gujarat is being experienced through the carnival. He expressed his confidence that, the carnival would definitely infuse new soul in the cultural life of Ahmedabad.

Mayor of Ahmedabad, Shri Kanaji Thakor said,” The vision of providing world class infrastructure facilities to the city is powered by Shri Narendrabhai's conviction and commitment. Under Kankariya Lake Front Development project, various amenities and facilities are created, which adds the glittering glory to the metro city. Special thrust is given to add recreational facilities. “He outlined the details of the project, which is immense and unique in its kind, the Kankariya Lake Front Development Project, which has been completed at the project cost of Rs.36 Crores.

Children and citizens greeted the Chief Minister when he arrived to flag off the decorated Mini-Train-“Atal-Express.” The Rushi-Kumars recited Taruvar-Stuti.

Speaker of the Assembly, Shri Ashokbhai Bhatt, BJP State Unit President Shri Purushottam Rupala, Revenue Minister Smt Anandiben Patel, State Ministers, M.P.s Shri Harin Pathak, Shri Ratilal Verma, MLAs, eminent leaders, Municipal Commissioner I.P Gautam were among the others who attended the function.

Information Bureau, Government of Gujarat, Date: 25/12/2008

 

Explore More
৭৭সংখ্যক স্বাধীনতা দিৱস উপলক্ষে লালকিল্লাৰ প্ৰাচীৰৰ পৰা দেশবাসীক উদ্দেশ্যি প্ৰধানমন্ত্ৰী শ্ৰী নৰেন্দ্ৰ মোদীয়ে আগবঢ়োৱা ভাষণৰ অসমীয়া অনুবাদ

Popular Speeches

৭৭সংখ্যক স্বাধীনতা দিৱস উপলক্ষে লালকিল্লাৰ প্ৰাচীৰৰ পৰা দেশবাসীক উদ্দেশ্যি প্ৰধানমন্ত্ৰী শ্ৰী নৰেন্দ্ৰ মোদীয়ে আগবঢ়োৱা ভাষণৰ অসমীয়া অনুবাদ
GST collection rises 12.5% YoY to ₹1.68 lakh crore in February, gross FY24 sum at ₹18.4 lakh crore

Media Coverage

GST collection rises 12.5% YoY to ₹1.68 lakh crore in February, gross FY24 sum at ₹18.4 lakh crore
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
BJP is committed to improving healthcare facilities in West Bengal for the future of youth: PM Modi
March 02, 2024
PM Modi, addressing a massive gathering in Krishnanagar, West Bengal, honours the legacy of Chaitanya Mahaprabhu, and extends his greetings to the revered mothers, sisters, and daughters present
Highlighting the developmental projects worth over Rs. 22,000 crores inaugurated in West Bengal, PM Modi emphasized their role in enhancing connectivity, electricity, and job opportunities for the youth
PM Modi criticizes TMC's oppression, autocracy, corruption, and nepotism, alleging betrayal of trust and reluctance to uplift the state's populace in West Bengal
PM Modi underscores BJP government's commitment to healthcare improvement, citing the doubling of government medical colleges in West Bengal in the past decade
PM Modi criticizes TMC's failure to implement central schemes for women's safety and empowerment, urges the youth for support in the upcoming Lok Sabha elections

हरे कृष्णा! हरे कृष्णा !
जय गौरांग महाप्रभु ! जय गौरांग महाप्रभु !
येखाने उपस्थित शबाई के नमोष्कार जानाई

सबसे पहले तो मैं भारतीय जनता पार्टी के हमारे सभी टीम का आभार व्यक्त करता हूं। क्योंकि बीच में से आपके बीच से निकल करके आपके दर्शन करने का मुझे सौभाग्य मिला। इतनी बड़ी तादाद में आप हमें आशीर्वाद देने आए हैं, मैं आप सबका आभार व्यक्त करता हूं। मैं यहां सबसे पहले तो आप सब भाई-बहनों से क्षमा चाहता हूं क्योंकि मैदान बहुत छोटा पड़ गया। और उसके कारण आपलोगों को बहुत दिक्कत हो रही है। लेकिन मेरी आपको प्रार्थना है अब मैदान में जरा भी जगह नहीं है, कृपा करके आप आगे आने की कोशिश मत करिए। आप जहां है वहां रुकिए। अब आगे जगह नहीं बची है जी। आप वहीं रुकिए, आप आगे नहीं आ पाएंगे। आप इतनी बड़ी तादाद में आए। पूरा मैदान छोटा पड़ गया। ये आपका प्यार, आपके आशीर्वाद के लिए मैं आप सबको बहुत-बहुत धन्यवाद करता हूं।

ये धरती, भगवान श्री कृष्ण भक्ति के परम प्रचारक चैतन्य महाप्रभु की जन्म स्थली है। मैं चैतन्य महाप्रभु के चरणों में नमन करता हूं। और ये मेरा सौभाग्य है कि भगवान श्रीकृष्ण ने जो द्वारका नगरी बसाई थी जो समुद्र के अंदर डूब चुकी थी, मुझे अभी कुछ दिनों पहले समंदर की गहराई में जा करके उस पुरातन श्रीकृष्ण की भूमि को नमन करने का सौभाग्य मिला।

साथियों,
आप सभी ईश्वर-तुल्य जनता जनार्दन, हमारी माताओं-बहनों-बेटियों को भी मेरा प्रणाम। आपका यहां इतनी बड़ी संख्या में यहां आना ये साफ-साफ संदेश दे रहा है -ऐई बार...चार शो पार, ऐई बार...चार शो पार, ऐई बार...चार शो पार, NDA शोरकर, चार शो पार !

साथियों,
पश्चिम बंगाल में भी आज मेरा ये दूसरा दिन है। इन दो दिनों में पश्चिम बंगाल के विकास से जुड़े 22 हज़ार करोड़ रुपए- Twenty Two Thousand Crore Rupees से ज्यादा के प्रोजेक्टस आपको सौंपने का अवसर मुझे मिला है। ये सारे प्रोजेक्ट, पश्चिम बंगाल की कनेक्टिविटी, बिजली और पेट्रोलियम के इंफ्रास्ट्रक्चर को, पोर्ट के इंफ्रास्ट्रक्चर को मजबूत करेंगे। इससे यहां ज्यादा से ज्यादा निवेश आएगा, नौजवानों के लिए अधिक नौकरियां बनेंगी। स्वरोजगार के भी अवसर बढ़ेंगे, क्षेत्र का भी विकास होगा। लेकिन, यहां जिस तरह TMC की राज्य सरकार चल रही है, उसने बंगाल को निराश कर दिया है। पश्चिम बंगाल की जनता ने बहुत उम्मीदों के साथ TMC को बार-बार इतना बड़ा जनादेश दिया है। लेकिन TMC अत्याचार और विश्वासघात का दूसरा नाम बन गई है। TMC के लिए बंगाल का विकास नहीं, बल्कि भ्रष्टाचार और परिवारवाद ही प्राथमिकता है। TMC माने विश्वाशघात, औत्ताचार, TMC माने भ्रष्टाचार, पोरिवारवाद। TMC बंगाल के लोगों को गरीब बनाए रखना चाहती है, ताकि उसकी राजनीति चलती रहे, उसका खेल चलता रहे।

साथियों,
यहां की राज्य सरकार क्या काम कर रही है, इसका उदाहरण, पश्चिम बंगाल का पहला एम्स है। मोदी ने पश्चिम बंगाल को पहला एम्स देने की गारंटी दी थी। और मोदी की गारंटी मतलब गारंटी पूरा होने की गारंटी। आमार बांग्लार मानुष बुझलेन- मोदीर गारंटी माने गारंटी पूर्ण होवार गारंटी। नाडिया जिले के कल्याणी में बने इस एम्स का कुछ दिन पहले ही वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से मैंने लोकार्पण किया है। लगभग 1 हज़ार बेड्स का ये आधुनिक अस्पताल बहुत सारी सुविधाएं लेकर आया है, रोजगार के अवसर लेकर आया है। लेकिन पश्चिम बंगाल सरकार को कल्याणी एम्स के बन जाने से दिक्कत है। उसको परेशानी है। वो कह रही है कि इसकी परमीशन क्यों नहीं ली? पूरे पश्चिम बंगाल में TMC के तोलाबाज़ों को, भू-माफिया को, लूट की, गुंडागर्दी की खुली परमीशन है। लेकिन इतने बड़े अस्पताल को लेकर TMC सरकार पर्यावरण से जुड़ी परमीशन का अड़ंगा लगा रही है। कमीशन ना मिले तो TMC सरकार हर तरह की परमीशन रोक देती है। पहले कमीशन फिर परमीशन। मैं आपको एक और उदाहरण देता हूं। भाजपा सरकार, आयुष्मान योजना के तहत गरीबों को 5 लाख रुपए तक के मुफ्त इलाज की सुविधा देती है। लेकिन TMC की सरकार, गरीबों की इस योजना को भी यहां लागू नहीं होने दे रही। भाजपा, पश्चिम बंगाल में स्वास्थ्य सुविधा के लिए, नौजवानों के भविष्य के लिए प्रतिबद्ध है। इसलिए यहां स्वास्थ्य सेवाएं सुधारने के लिए हम निरंतर काम कर रहे हैं। देश में जबसे मेडिकल कॉलेज बनने शुरु हुए हैं, तबसे लेकर 2014 तक पश्चिम बंगाल में सिर्फ 14 सरकारी मेडिकल कॉलेज थे। बीते 10 वर्षों में सरकारी मेडिकल कॉलेज की संख्या 26 यानि लगभग दोगुनी हो गई है। (थैंक्यू बेटा, आप नीचे बैठो बेटा…थैंक्यू, थैंक्यू)।

साथियों,
ये क्षेत्र जूट किसानों, जूट उद्योगों के लिए मशहूर रहा है। लेकिन (मुझे मिल जाएगा बेटा…तुम बैठो…बैठो बेटा, ऐसा नहीं करते…शाबाश।) लेकिन टीएमसी, लेफ्ट और कांग्रेस की गलत नीतियों के चलते, जूट की खेती और उद्योग दोनों बर्बाद हो गए।भाजपा की केंद्र सरकार ने जूट की खेती और उद्योग दोनों के लिए लगातार बड़े निर्णय लिए हैं। ये भाजपा सरकार है जिसने गेहूं, चावल और चीनी की पैकिंग को…पहले जो बड़े-बड़े प्लास्टिक बैग होते थे, वो बंद करा दिए… जूट के बोरों में ही पैक करने का हमने कंपलसरी किया, अनिवार्य कर दिया। इससे यहां की जूट मिलों को हर साल कई हज़ार करोड़ रुपए के ऑर्डर मिलने लगे हैं। भाजपा सरकार जूट के MSP में भी लगातार वृद्धि कर रही है। पश्चिम बंगाल के 100 से अधिक ब्लॉक्स में 3 लाख-Three Lakhs से अधिक किसानों को जूट के सर्टिफाइड बीज दिए गए हैं। जूट किसान हो या फिर फूल की खेती से जुड़े किसान, सभी को पीएम किसान सम्मान निधि का भी बहुत लाभ मिल रहा है।

साथियों,
पश्चिम बंगाल में TMC ने मां, माटी और मानुष का नारा लगाकर, यहां की माताओं-बहनों का वोट लिया। उनको गुमराह किया। लेकिन आज मां-माटी और मानुष, सभी TMC के कुशासन में रो रहे हैं। संदेशखाली की बहनें इंसाफ की गुहार लगाती रहीं, लेकिन TMC सरकार ने उनकी एक नहीं सुनी। बंगाल में स्थिति ये है कि यहां पुलिस नहीं बल्कि अपराधी तय करते हैं कि उन्हें कब सरेंडर करना है, कब गिरफ्तार होना है। राज्य सरकार तो चाहती ही नहीं थीं कि संदेशखाली का गुनहगार कभी गिरफ्तार हो। लेकिन ये तो बंगाल की नारीशक्ति, दुर्गा बनकर खड़ी हो गई। भाजपा का एक-एक कार्यकर्ता उनके साथ खड़ा हो गया, तब मजबूरन इस राज्य सरकार को झुकना पड़ा।

साथियों,
महिला सुरक्षा और सशक्तिकरण के लिए जो भी योजना भारत सरकार लाती है, उसको भी TMC सरकार यहां ठीक से लागू नहीं होने देती। पूरे देश में…(भारत माता की…भारत माता की…नौजवानों आपका जोश मेरे सर आंखों पर…आपका प्यार मेरे सर आंखों पर…लेकिन दोस्तों मैं आपके दर्शन करके यहां आया हूं।अब आप आगे आने की कोशिश मत कीजिए, आपका प्यार मुझे मंजूर है। मैं इस प्यार को कभी भूलूंगा नहीं।लेकिन दोस्तों आप जहां हैं वहीं खड़े रहिए।ऐसा प्यार हर किसी को नसीब नहीं होता है, जो मुझे हो रहा है लेकिन मेरी आपसे प्रार्थना है खासकर नौजवान साथियों से कृपा करके जगह नहीं है, आगे आने की कोशिश मत करो दोस्तों। बोलिए भारत माता की…मेरी बात मानोगे न, पक्का मानोगे…इतने अच्छे लोग हैं बंगाल के…मैं उनको शत-शत प्रणाम करता हूं दोस्तों।) पूरे देश में बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान चला। लेकिन पश्चिम बंगाल की सरकार ने इसे यहां लागू नहीं होने दिया। महिला सुरक्षा को सशक्त करने के लिए पूरे देश में महिला हेल्पलाइन स्थापित की गई है। लेकिन TMC सरकार इसे लेकर भी गंभीर नहीं है। बहनों को धुएं से मुक्ति दिलाने के लिए पूरे देश में 10 करोड़ मुफ्त उज्जवला गैस कनेक्शन दिए जा चुके हैं। गरीब परिवार की बहनों को केंद्र सरकार सस्ता सिलेंडर दे रही है। यहां पश्चिम बंगाल में भी इसके लिए 13 लाख एप्लीकेशन आई हैं। लेकिन इसके लिए हर जिले में जो उज्जवला कमेटी बनानी होती है, वो तक TMC सरकार नहीं बना रही है। ये चाहते हैं कि केंद्र की योजनाओं का लाभ किसे मिले, ये भी TMC के तोलाबाज़ ही तय करेंगे। गरीब के घर की योजना को भी ये लोग तोलाबाज़ों के अधीन देना चाहते हैं। हर घर नल की योजना में भी ये लोग तोलाबाज़ों का दखल चाहते हैं। आप सपने में भी नहीं सोच सकते, लेकिन यहां 25 लाख…ये मेरे बंगाल के नौजवान ये आंकड़ा याद रखिए और घर-घर जाके बताइए…बताएंगे? घर-घर जाके बताएंगे? मनरेगा में 25 लाख फर्ज़ी मनरेगा जॉब कार्ड बनवाए गए। जो पैदा नहीं हुआ था उसका कार्ड बना दिया। जो पैसा गांव में गरीब मजदूर को मिलना चाहिए था, उसको TMC के तोलाबाज़ों ने लूट लिया।

साथियों,
TMC की लगातार कोशिश है कि केंद्र सरकार की योजना पर अपना स्टीकर लगाए और हर स्कीम. को…जरा देशवासी भी सुन लें, ये बंगाल की क्या पहचान बन गई है…यहां की TMC ने कैसे बंगाल को बदनाम किया है। TMC में किस प्रकार के कारनामे चल रहे हैं।आप जानकर चौंक जाएंगे। ये TMC सरकार हर स्कीम को हर स्कीम को स्कैम में बदल देती है। स्कीम को स्कैम में बदलने में TMC की मास्टरी है। भाजपा की केंद्र सरकार, पश्चिम बंगाल के 6 करोड़ मेरे भाई-बहनों को मुफ्त राशन दे रही है। आने वाले 5 वर्ष तक ये योजना चलती रहेगी- ये मोदी की गारंटी है... एटा मोदीर गारंटी। लेकिन इस योजना पर भी TMC के लोग अपना स्टीकर लगाते हैं। ये लोग तो गरीबों का राशन लूटने से भी पीछे नहीं रह रहे हैं।

साथियों,
आने वाले 5 वर्षों में भाजपा सरकार, पूरे देश में निवेश और नौकरी के अनगिनत नए अवसर बनाने वाली है। ये समय पश्चिम बंगाल के लिए भी अभूतपूर्व बदलाव का है। लेकिन इसके लिए आपको शुरुआत इसी लोकसभा चुनाव से करनी होगी। करेंगे…करेंगे…करेंगे। बांग्लार विकाश होबे, तबेई देशेर विकाश होबे। इसलिए, इस बार 42 की 42 सीटों पर कमल खिलना चाहिए। और देश में, अबकी बार...400 पार, ज़रूर होगा। ऐई बार...चार शो पार, ऐई बार...चार शो पार, NDA शोरकर, चार शो पार ! भाइयों-बहनों, अब TMC का मतलब ही बदल गया है। TMC का मतलब है तू, मैं करप्शन ही करप्शन।

साथियों,
आप सब मेरा एक काम करेंगे। मेरा एक काम करेंगे। पक्का करेंगे। सभी नौजवान करेंगे। पक्का, वादा…करने वाले हैं। देखिए गांव-गांव जाना होगा। अगले 100 दिन तक एक-एक घर जाएंगे? 100 दिन तक लोगों को मिलते रहेंगे। मिलकर ये बताएंगे मैं जो कहूंगा वो। उनको बताना मोदी जी आए थे मोदी जी ने आपको प्रणाम भेजा है। कह देंगे? मेरा प्रणाम पहुंचा देंगे। पक्का पहुंचा देंगे।
मेरे साथ बोलिए…भारत माता की…भारत माता की…भारत माता की…
मैं फिर एक बार जगह कम पड़ने के कारण आपको जो दिक्कत हुई है, संख्या बहुत बड़ी आई है, आप आगे आने की कोशिश भी कर रहे हैं लेकिन बहुत ही मुश्किल हो गया आपलोगों को इसलिए जो आपको दिक्कत हुई है मैं आपका सेवक हूं, सेवक नाते मैं फिर एक बार क्षमा मांगता हूं
मेरे साथ बोलिए…भारत माता की…भारत माता की…भारत माता की…
बहुत-बहुत धन्यवाद!