Congress can play whatever games it wants to, but no one can stop Modi from taking Chhattisgarh ahead. Modi is son of poor, understand their pain: PM Modi
Modi is guarantee of action against corruption. One who has done wrong, won't be spared: PM Modi in Raipur
Congress cannot breathe without corruption. Corruption is Congress ideology. It is a guarantee of commission: PM Modi
Chhattisgarh is like an ATM for Congress: PM Modi in Raipur

छत्तीसगढ़ महतारी,
माता बमलेश्वरी, माता दंतेश्वरी, माता महामाया,
बाबा भोरमदेव अऊ बाबा गुरु घासीदास जी के, ए पावन भुइयां ले,
आप जम्मो दाई-बहिनी, संगी-साथी मन ला, मोर जय जोहार !
आप यहां इतनी बड़ी संख्या में आए हैं। और लगातार बारिश के बावजूद भी आप सब का ये जोश, ये उत्साह, ये उमंग मैं हृदय से आपका अभिनंदन करता हूं और आभार भी व्यक्त करता हूं। मुझे पता चला कि आज सुबह रैली मे आ रहे छत्तीसगढ़ के तीन संतानों की, एक बस हादसे में उनकी दुखद मृत्यु हो गई। इस हादसे में कुछ लोग जख्मी भी हुए हैं। जिन लोगों का निधन हुआ है, मैं उन्हें अपनी श्रद्धांजलि देता हूं और जो लोग जख्मी हुए उनके इलाज में भी हरसंभव मदद की जा रही है। और इस कार्यक्रम के बाद पार्टी के हमारे सभी वरिष्ठ साथी भी इनके परिजनों के आवश्यक चिंता जरूर करेंगे। जो लोग अस्पताल में हैं उनकी जल्द स्वस्थ होने की मैं कामना करता हूं।

साथियो,
छत्तीसगढ़ वो राज्य है जिसके निर्माण में भाजपा की प्रमुख भूमिका रही है। भाजपा ही छत्तीसगढ़ के लोगों को समझती है, उनकी जरूरतों को जानती है। इसलिए आज दिल्ली से भाजपा सरकार, छत्तीसगढ़ के तेज विकास के लिए पूरी ताकत लगा रही है। आज भी यहां के विकास के लिए 7 हज़ार करोड़ रुपए से अधिक इस काम का लोकार्पण या शिलान्यास हुआ है। इनमें रायपुर-विशाखापट्टनम इकोनॉमिक कॉरिडोर भी शामिल है। ये सारी परियोजनाएं आपके जीवन से मुश्किलें कम करेंगी, यहां रोजगार के हजारों नए मौके बनाएगी।

भाइयो और बहनो,
दो साल बाद छत्तीसगढ़ के निर्माण के 25 साल होने जा रहे हैं। छत्तीसगढ़, युवा ऊर्जा से भरा हुआ है। और कहते भी हैं- छत्तीसगढ़िया....सबले बढ़िया ! साथियों, अगले 25 साल, छत्तीसगढ़ के विकास के लिए बहुत ही अहम है। लेकिन छत्तीसगढ़ के विकास के सामने एक बहुत बड़ा पंजा, दीवार बनकर खड़ा हो गया है। ये कांग्रेस का पंजा है। ये पंजा आपसे आपका हक छीन रहा है। कांग्रेस के इस पंजे ने ठान लिया है कि वो छत्तीसगढ़ को लूट-लूट कर बर्बाद कर देगा। साथियों, गंगा जी की झूठी कसम खाने का पाप कांग्रेस ही कर सकती है। याद कीजिए, गंगा जी को साक्षी मानकर इन्होंने एक घोषणापत्र जारी किया था। दावा किया था कि 10 दिन के भीतर ये कर देंगे, वो कर देंगे। तब कांग्रेस ने बड़ी-बड़ी बातें की थीं। लेकिन आज उस घोषणापत्र की याद दिलाते ही कांग्रेस की याद्दाश्त ही चली जाती है। साथियों, कांग्रेस के झूठ, इनके फरेब की पोल खोलने के लिए इनके एक वादे की याद मैं आपको ज़रूर दिलाना चाहूंगा। मैं चाहूंगा कि छत्तीसगढ़ की माताएं-बहनें-बेटियां इस बात को जरा गौर से सुनें। तब छत्तीसगढ़ से जो छत्तीस वादे कांग्रेस ने किए थे, उन छत्तीस वादो में से एक था कि राज्य में शराबबंदी लागू की जाएगी। कहा ये भी था कि जो अनुसूचित क्षेत्र हैं, वहां ग्रामसभाओं को शराबबंदी का अधिकार दिया जाएगा। अब 5 साल होने को है। और सच्चाई ये है कि कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ में हजारों करोड़ रुपए का शराब घोटाला ज़रूर कर दिया है। इसकी पूरी जानकारी अखबारों में भरी-पड़ी है। यानि कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ की माताओं-बहनों से धोखा किया, छत्तीसगढ़ से धोखा किया।

साथियो,
आरोप ये है कि ये जो कमीशन के पैसे उगाहे जाते थे, ये कांग्रेस पार्टी के खाते में गए हैं। इसलिए भांति-भांति की चर्चाएं यहां हो रही हैं। अब कहने वाले कहते हैं कि शराब घोटाले के पैसे की इसी मारामारी में यहां ढाई-ढाई साल मुख्यमंत्री पद वाला फॉर्मूला लागू नहीं हो पाया। छत्तीसगढ़ के मेरे भाइयों-बहनों, आपको एक बात जरूर याद रखनी होगी। कांग्रेस पार्टी के लिए छत्तीसगढ़ एक एटीएम की तरह है। अब आप समझ पाएंगे कि आखिरकार बीते 3-4 वर्षों में जो चुनाव देश में हुए, उसमें कांग्रेस, अपने छत्तीसगढ़ के नेताओं को क्यों जिम्मेदारी देती थी। और घोटाले घपले के ये आरोप सिर्फ शराब तक सीमित नहीं हैं। यहां ऐसा कोई विभाग नहीं है, ऐसा कोई काम नहीं है, जो संदेह के घेरे से बाहर है। कोल माफिया, सैंड माफिया, लैंड माफिया, ना जाने कैसे-कैसे माफिया यहां फल-फूल रहे हैं। हर घर तक शुद्ध पेयजल पहुंचाने के अभियान जल जीवन मिशन तक को इन्होंने नहीं छोड़ा। यहां सूबे के मुखिया से लेकर, तमाम मंत्रियों और अधिकारियों तक, पता नहीं कौन कितने लोग हैं, जिनपर घोटाले के गंभीर से गंभीर आरोप लगते रहे हैं। आज छत्तीसगढ़ सरकार, कांग्रेस के करप्शन और कुशासन का मॉडल बन चुकी है। इसलिए ही आज छत्तीसगढ़ से चारों तरफ, हर कोने से, हर जुबां से एक ही आवाज़ उठ रही है, एक ही आवाज सुनाई दे रही है, एक ही आवाज गूंज रही है - बदलबो, बदलबो...ए दारी कांग्रेस के सरकार ल बदलबो।

साथियो,
छत्तीसगढ़ में बीते 4 साल में जो कुछ हुआ, इससे फिर सिद्ध हुआ है कि कांग्रेस के कोर-कोर में करप्शन है। करप्शन के बिना कांग्रेस सांस भी नहीं ले सकती। करप्शन कांग्रेस की सबसे बड़ी विचारधारा है। जब मैं कहता हूं कि कांग्रेस, करप्शन की, कमीशनखोरी की गारंटी है, तो कुछ लोग नाराज़ हो जाते हैं। वे मोदी को भला-बुरा कहना शुरू कर देते हैं। इनकी नाराज़गी इस बात का प्रमाण है कि हमारी सरकार सही दिशा में आगे बढ़ रही है। क्योंकि देश ने यही दायित्व मुझे दिया है। और इसलिए जिनके दामन दागदार हैं, वे आज एक साथ आने की कोशिश कर रहे हैं। जो एक दूसरे को पानी पी-पीकर कोसते थे, वे आज साथ आने के बहाने खोजने लगे हैं। उनको लगता है कि ऐसा करने से वे मोदी को डरा पाएंगे, मोदी को डिगा पाएंगे। देश के हर भ्रष्टाचारी को एक बात कान खोलकर सुन लेनी चाहिए। वो.. वो अगर भ्रष्टाचार की गारंटी हैं, तो मोदी भ्रष्टाचार पर कार्रवाई की गारंटी है। जिसने गलत किया है, वो बचेगा नहीं। औऱ ये कहने की हिम्मत मैं इसलिए कर रहा हूं क्योंकि मेरे पास जो कुछ भी है, वो आपका दिया हुआ है और देश का दिया हुआ है। ये लोग मेरे पीछे पड़ेंगे, मेरी कब्र खोदने की धमकी देंगे, मेरे खिलाफ साजिशें रचेंगे, लेकिन उन्हें पता नहीं है, जो डर जाए- वो मोदी नहीं हो सकता।

साथियो,
कांग्रेस जितनी चाल चल लें, लेकिन छत्तीसगढ़ के लोगों को आगे ले जाने के संकल्प से मोदी पीछे नहीं हटेगा। मोदी गरीब का बेटा है, गरीब का दुख-दर्द समझता है। मैं जानता हूं कि गांवों को सड़क से जोड़ने पर गरीब का कितना भला होता है। इसलिए हमने कांग्रेस सरकार से दोगुने पैसे, गांव की सड़कों को जोड़ने के लिए दिए हैं। जब गांव-गांव तक सड़क पहुंचेगी तो विकास भी तेजी से पहुंचेगा, रोजगार भी तेजी से पहुंचेगा। भाजपा सरकार आज कांग्रेस सरकार के मुकाबले, नेशनल हाईवे पर, रेलवे पर, कई गुना ज्यादा खर्च कर रही है। जब कनेक्टिविटी बढ़ती है, आना-जाना आसान होता है, तो गरीब का जीवन भी तो आसान होता है। आपकी हर मुश्किल को कम करने के लिए भाजपा दिन-रात मेहनत कर रही है। बीते 9 वर्षों में नक्सलवाद की समस्या से बाहर निकालने के हमारे प्रयासों का नतीजा भी आज देश देख रहा है। कुछ साल पहले तक देश में नक्सल प्रभावित जिलों की संख्या 126 के आसपास थी। अब इनकी संख्या घटकर 70 के आसपास ही रह गई है।

भाइयो और बहनो,
अपने कुशासन और भ्रष्टाचार के दाग को कांग्रेस अब झूठी गारंटियों से छिपाने की कोशिश कर रही है। आपको ऐसी झूठी गारंटियों से बहुत सतर्क और सावधान रहने की ज़रूरत है। ये भाजपा है जो असली गारंटी देती है, जो वायदा करती है, उसे पूरा करके भी दिखाती है। आयुष्मान भारत योजना के तहत छत्तीसगढ़ में 40 लाख गरीबों का मुफ्त इलाज हुआ है। ये है भाजपा की असली गारंटी। कोरोना के संकटकाल में हमने छत्तीसगढ़ के लाखों परिवारों को मुफ्त राशन दिया, गरीब का चूल्हा बुझने नहीं दिया और आज भी मुफ्त राशन दिया जा रहा है। ये भाजपा की असली गारंटी है। पीएम फसल बीमा योजना से छत्तीसगढ़ के किसानों को साढ़े 6 हजार करोड़ रुपए मिल चुके हैं। उनके खाते में जमा हो चुके हैं। ये है भाजपा की असली गारंटी। पीएम किसान सम्मान निधि के 6 हजार 600 करोड़ रुपए से अधिक यहां के करीब 40 लाख किसानों को मिले हैं। ये है भाजपा की असली गारंटी।

साथियो,
भाजपा गरीब की चिंता करने वाली पार्टी है, गरीब का कल्याण करने वाली पार्टी है। लेकिन कांग्रेस, गरीब की सबसे बड़ी दुश्मन है। भाजपा सरकार दिल्ली से जो योजनाएं यहां शुरू करवाईं, उसमें भी यहां की कांग्रेस सरकार अड़ंगा लगा देती है। प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना इसका उदाहरण है। केंद्र सरकार ने छत्तीसगढ़ में गरीबों के लिए 12 लाख घर बनाने की तैयारी की थी। जब तक यहां भाजपा सरकार रही तब तक तेजी से गरीबों के घर बने। लेकिन जैसे ही कांग्रेस सरकार आई, घर बनाने की रफ्तार पर रोक लग गई। जब यहां भाजपा सरकार थी, उसने हर साल यहां गरीबों के लिए 2 लाख से ज्यादा घर बनवाए। अब कांग्रेस सरकार, यहां एक साल में एक लाख घर भी नहीं बनवा रही है। और पैसे दिल्ली से भेजते हैं। आज यहां पीएम आवास योजना के लाखों घर वेटलिस्ट में हैं। इंतजार की सूची में पड़े हैं। आपके पड़ोसी राज्यों मध्य प्रदेश में गरीबों के लिए घर बन रहे हैं, महाराष्ट्र में गरीबों के लिए घर बन रहे हैं, लेकिन छत्तीसगढ़ के गरीबों के लाखों घरों को यहां कांग्रेस ने रोक कर के रखा है। भाजपा ने यहां गरीबों को पक्की छत के लिए मोर आवास-मोर अधिकार का आंदोलन किया है। यहां जैसे ही भाजपा की सरकार बनेगी, गरीब को घर देने का काम तेज किया जाएगा। और मैं उन सभी गरीब परिवारों को कहना चाहता हूं। जो लोग, जिनका पंजा आपके भाग्य को कुचल रहा है, ये पंजा हटते ही जिन गरीबों के घर नहीं बने हैं, ये मोदी गारंटी देता है कि उन गरीबों का घर भी बन जाएगा।

साथियो,
यहां धान की खरीदी को लेकर भी जो खेल कांग्रेस सरकार खेल रही है, वो आपके लिए जानना बहुत जरूरी है। यहां की सरकार धान किसानों को गुमराह करने में जुटी है। जबकि केंद्र की भाजपा सरकार का प्रयास छत्तीसगढ़ के धान किसानों से ज्यादा से ज्यादा धान खरीदने का है। यहां धान की जितनी सरकारी खरीद होती है, उसका 80 प्रतिशत से ज्यादा भारत सरकार के हिस्से का होता है। हमने ना सिर्फ धान पर MSP बढ़ाई है बल्कि लाभार्थी किसानों की संख्या भी बढ़ाई है। भाजपा सरकार के प्रयासों की वजह से आज छत्तीसगढ़, धान की खरीद मामले में बहुत आगे निकल चुका है। पिछले 9 साल में भाजपा की केंद्र सरकार ने छत्तीसगढ़ के धान किसानों को एक लाख करोड़ रुपए से भी ज्यादा दिए हैं। एक लाख करोड़ से भी ज्यादा... इस साल भी यहां के धान किसानों को 22 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा दिए गए हैं। ये भाजपा ही है जो यहां के किसानों की मेहनत को समझती है, उनके लिए काम कर रही है। जबकि कांग्रेस, सिर्फ और सिर्फ किसानों को धोखा दे रही है, उनसे झूठ बोल रही है।

साथियो,
कांग्रेस ने जनजातीय समाज को हमेशा वोटबैंक के रूप में उपयोग किया है। कांग्रेस ने जनजातीय समाज को हमेशा साधन और सुविधाओं से वंचित रखा है। छत्तीसगढ़ में हमारे आदिवासी समाज के अनेक समुदाय अपने अधिकारों से वंचित थे। भाजपा सरकार ने ही उन्हें जनजातियों की सूची में शामिल कर उनका अधिकार दिलवाया है। ये भाजपा सरकार है, जिसने अलग आदिवासी कल्याण मंत्रालय बनाया था। ये भाजपा सरकार है जिसने आदिवासी बच्चों के लिए सैकड़ों नए एकलव्य म़ॉडल स्कूल खोले हैं। ये भाजपा सरकार है जिसने आदिवासी किसानों के लिए हजारों वनधन केंद्र खोले हैं। साथियों, ऐसे जिले जहां जाना मुश्किल है, उन्हें दुर्गम बताकर, पिछड़ा बताकर कांग्रेस हाथ पर हाथ धरकर बैठ जाती है। यहां छत्तीसगढ़ में भी ऐसे कितने ही जिले हैं। भाजपा सरकार ने ऐसे जिलों के विकास को अपनी प्राथमिकता में रखा है। हमने इन्हें आकांक्षी जिला Aspirational District घोषित किया है। आज इन जिलों में विकास की एक नई गाथा लिखी जा रही है। बीजापुर हो, सुकमा हो, दंतेवाड़ा हो, सभी आकांक्षी जिले विकास के पैरामीटर्स में अच्छा काम कर सके इसके लिए भारत सरकार भरपूर मदद कर रही है।

भाइयो और बहनो,
अभी कुछ दिन पहले ही सिकल सेल एनीमिया को लेकर एक बहुत बड़े अभियान की शुरुआत की गई है। इसके तहत देश को सिकल सेल बीमारी से मुक्त करने का लक्ष्य रखा गया है। ये बीमारी सबसे अधिक हमारे जनजातीय समुदाय को प्रभावित करती रही है। लेकिन कांग्रेस को कभी आदिवासी समाज की समस्या की याद नहीं आई। अब जाकर इससे आदिवासी समाज को मुक्त करने के लिए राष्ट्रीय मिशन की शुरुआत हुई है। अब सिकल सेल एनीमिया के मरीजों के लिए ब्लड बैंक खोले जा रहे हैं, बोन मैरो ट्रांसप्लांट की सुविधा बढ़ाई जा रही है। हम देशभर में इसकी स्क्रीनिंग की सुविधा बढ़ा रहे हैं ताकि पीढ़ी दर पीढ़ी इसे फैलने से रोका जा सके।

भाइयो और बहनो,
कांग्रेस की सरकारों ने आदिवासी सेनानियों का भी हमेशा अपमान किया, उपेक्षा की। भाजपा सरकार ने पहली बार भगवान बिरसा मुंडा के जन्मदिवस को जनजातीय गौरव दिवस घोषित किया है। हम दूसरे आदिवासी सेनानियों के नाम देशभर में स्मारक बनवा रहे हैं।रानी दुर्गावती के शौर्य को नमन करते हुए, अनेक महत्वपूर्ण स्थानों को उनका नाम दिया गया है। भाजपा सरकार, इस साल 5 अक्टूबर से एक साल पूरा रानी दुर्गावती की 500वीं जयंती पर बहुत बड़ा आयोजन भी करने जा रही है। ऐसे सेवाकार्यों के कारण ही आज भाजपा आदिवासियों की, पिछड़ों की, दलितों की, गरीबों की पहली पसंद है। ऐसे काम के कारण ही आज छत्तीसगढ़ में भाजपा के पक्ष में माहौल बना हुआ है। जनता ठान चुकी है कि इस बार के चुनाव में कांग्रेस की भ्रष्ट सरकार को बाहर का रास्ता दिखाया जाएगा।
बदलबो, बदलबो...ए दारी कांग्रेस के सरकार ल बदलबो। एक बार फिर आप सभी का इतनी बड़ी संख्या में यहां आने के लिए मैं आपका आभार व्यक्त करता हूं।
मेरे साथ पूरे जोर से बोलिए...
भारत माता की... भारत माता की... भारत माता की...
बहुत-बहुत धन्यवाद।

Explore More
لال قلعہ کی فصیل سے 77ویں یوم آزادی کے موقع پر وزیراعظم جناب نریندر مودی کے خطاب کا متن

Popular Speeches

لال قلعہ کی فصیل سے 77ویں یوم آزادی کے موقع پر وزیراعظم جناب نریندر مودی کے خطاب کا متن
Funskool seeks to transform India into global hub for toy manufacturing

Media Coverage

Funskool seeks to transform India into global hub for toy manufacturing
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
PM Modi's interview to Dainik Jagran
April 18, 2024

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि विकसित भारत के संकल्प में विकसित उत्तराखंड की महत्वपूर्ण भागीदारी रहेगी। इसी के दृष्टिगत वहां के युवाओं के लिए अधिक से अधिक अवसरों का निर्माण किया जाएगा। साथ ही उद्योग, निवेश और इन्फ्रास्ट्रक्चर का विस्तार किया जाएगा। उत्तराखंड को पर्यटन व तीर्थाटन का हब बनाने की दिशा में प्रयासों को और अधिक गति दी जाएगी। उन्होंने कहा कि देवभूमि उत्तराखंड के लिए ये मोदी की गारंटी है।

देवभूमि उत्तराखंड से विशेष लगाव रखने वाले प्रधानमंत्री मोदी ने उत्तराखंड से जुड़े विषयों पर दैनिक जागरण से विशेष बातचीत में उक्त बातें कहीं। प्रधानमंत्री ने देवभूमि से अपने लगाव को रेखांकित करते हुए कहा कि उन्होंने अपने जीवन का महत्वपूर्ण समय वहां बिताया है। इस दौरान उन्होंने राज्यवासियों की आकांक्षाओं को करीब से जाना और समझा। हमारा प्रयास यही है कि देवभूमिवासियों की जो भी अपेक्षाएं हैं, उनसे एक कदम आगे बढ़कर दिखाएं। पिछले 10 वर्ष में इस दृष्टि से किए गए कार्यों से वहां के निवासियों के जीवन में परिवर्तन आया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस दशक को उत्तराखंड का दशक बनाने के विजन को धरातल पर उतारने के लिए राज्य के प्रत्येक व्यक्ति का सामथ्र्य बढ़ाने में हम जुटे हुए हैं। उत्तराखंड में ढांचागत विकास की योजनाओं के दृष्टिगत आर्थिकी व पारिस्थितिकी में समन्वय के साथ काम किया जा रहा है। राज्य में संवेदनशील और संतुलित विकास का मार्ग अपनाया गया है। पहाड़ के कठिन क्षेत्र में रहने वाले लोगों के जीवन में बदलाव जरूरी है, साथ ही पर्यावरण का संरक्षण भी।

समान नागरिक संहिता की उत्तराखंड की पहल पर उन्होंने कहा कि इस विषय पर हमारा दृष्टिकोण स्पष्ट है। आज पूरे देश में समान नागरिक संहिता की आवश्यकता महसूस हो रही है। खुशी की बात है कि उत्तराखंड ने इसकी पहल की। प्रधानमंत्री ने कहा कि उत्तराखंड सैन्य बहुल प्रदेश है। यहां के प्रत्येक परिवार से कोई न कोई सदस्य सेना का हिस्सा है। देवभूमि में सेना के प्रति श्रद्धा, त्याग व समर्पण है और ये बात पूरा देश जानता है। इसी धरती के सपूत देश के प्रथम सीडीएस जनरल बिपिन रावत के प्रति कांग्रेस की भद्दी टिप्पणी को देवभूमि के लोग हमेशा याद रखेंगे।

हमने अपने संकल्प पत्र में जल, जंगल, वायु और पर्यावरण को बचाने की गारंटी दी है। उत्तराखंड के विकास में हम अपनी इस गारंटी को लागू करेंगे। मुझे बहुत खुशी है कि उत्तराखंड ने पहल की और यूसीसी को लागू कर दिया। मुझे आशा है कि राष्ट्रीय स्तर पर भी विपक्ष समान नागरिक संहिता का विरोध नहीं करेगा।

उत्तराखंड की गरिमा को चोट पहुंचाने वाली कांग्रेस की भद्दी टिप्पणी को देवभूमि के लोग हमेशा याद रखेंगे। लोगों को ये भी याद है कि ये वही कांग्रेस है जो बार-बार सेना के मनोबल पर सवाल उठाती है।

लगातार तीसरी बार केंद्र की सत्ता में आने के लिए भाजपा ने इस बार राजग के लिए 400 पार का नारा दिया है। पांच संसदीय सीट वाले उत्तराखंड की भूमिका इसलिए अहम है क्योंकि इस लक्ष्य को साधने की असली शुरूआत यहीं से होनी है। यहां भाजपा लगातार दो बार से पांच की पांच सीट जीत रही है और यहां पहले चरण में ही मतदान खत्म हो रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उत्तराखंड से बड़ी आस लगाए बैठे हैं। उन्होंने उत्तराखंड से संबंधित विषयों पर दैनिक जागरण के सवालों का जवाब दिया।

 

Following is the transcript of PM's interview:

 

प्रश्न - प्रधानमंत्री महोदय, उत्तराखंड में पांचों सीटों पर लगातार तीसरी बार विजय के दावे का क्या आधार है?

उत्तर - देवभूमि उत्तराखंड से मेरा आत्मीय लगाव है, मैंने अपने जीवन का एक महत्वपूर्ण समय यहां पर बिताया है। यहां रहने के दौरान मुझे उत्तराखंड निवासियों की आकांक्षाओं को जानने-समझने का अवसर मिला। पिछले 10 वर्षों में, हमने उत्तराखंड में जो काम किए हैं, उससे यहां के लोगों के जीवन में ऐसे बदलाव हुए हैं, जिनकी प्रतीक्षा वो पिछले कई वर्षों से कर रहे थे। जो लोग आज यहां विकास को जमीन पर उतरते हुए देख रहे हैं, या जिन्हें हमारी योजनाओं का लाभ मिला है, वही उत्तरांखड में भाजपा की जीत का दावा कर रहे हैं। पूरा उत्तराखंड फिर एक बार, मोदी सरकार के नारे लगा रहा है। पिछले 10 वर्षों में हमारा यही प्रयास रहा है कि देवभूमि के लोगों की हमसे जो भी अपेक्षाएं हैं, हम उससे एक कदम आगे बढ़कर दिखाएं। उत्तराखंड गंगा यमुना जैसी अनेक नदियों का उद्गम स्थल है, इसलिए हमने इन नदियों को स्वच्छ रखने पर बल दिया है। हमारी सरकार ने नमामि गंगे योजना के तहत घाट निर्माण, एसटीपी निर्माण और नदी की सफाई से जुड़े दूसरे महत्वपूर्ण कार्यों को गति दी। यहां के तीर्थस्थलों के विकास को हमने अपनी प्राथमिकता बनाई है। आल वेदर चार धाम रोड प्रोजेक्ट, सड़कों के चौड़ीकरण, ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन और हेलीकाप्टर सुविधाओं के माध्यम से हमने लोगों के लिए उत्तराखंड पहुंचना सुविधाजनक बनाया। केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण और बद्रीनाथ धाम के विकास प्रोजेक्ट से श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ी है। हेमकुंड साहिब, यमुनोत्री, पूर्णागिरी मंदिर के लिए रोप वे की सुविधा पर तेजी से काम हो रहा है। यात्रियों की बढ़ती हुई संख्या ने पर्यटन के क्षेत्र में नए अवसर तैयार किए हैं। हल्द्वानी और नैनीताल के लिए सिटी डेवलपमेंट योजना, जमरानी बांध, सौंग बांध, ऊधम सिंह नगर में एम्स के सैटेलाइट सेंटर की स्थापना, जैसे विकास के कई प्रोजेक्ट चल रहे हैं। मैंने कई अवसरों पर कहा है कि ये दशक उत्तराखंड का दशक है। इस विजन को जमीन पर उतारने के लिए हम उत्तराखंड के हर व्यक्ति का सामर्थ्य बढ़ाने में जुटे हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना के अंदर यहां लगभग 85 लाख घर बनकर तैयार हुए हैं। जल जीवन मिशन का कवरेज नौ फीसद से बढ़कर 92 फीसद पहुंच चुका है। उत्तराखंड के सभी गांव और शहर खुले में शौच से मुक्त हो चुके हैं। उज्ज्वला योजना के अंतर्गत पांच लाख से अधिक एलपीजी गैस कनेक्शन दिए गए हैं। सौभाग्य योजना के तहत उत्तराखंड के 21 लाख घरों को बिजली कनेक्शन दिया गया है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत उत्तराखंड के साढ़े 9 लाख किसानों को 2000 करोड़ रुपये से अधिक की सहायता दी गई है। यहां की 3 लाख से ज्यादा बहनों को पीएम मातृ वंदना योजना का लाभ मिला है। विकास की इस गति ने उत्तराखंड के लोगों को एक नए विश्वास से भर दिया है। इसी विश्वास की वजह से हमने विधानसभा चुनाव में लगातार दूसरी बार जीतने का रिकार्ड बनाया था, और 2024 में हम तीसरी बार सभी सीटें जीतने का रिकार्ड बनाएंगे।

प्रश्न- आपने राज्य में कई ढांचागत विकास की बड़ी योजनाएं शुरू की हैं, इससे मतदाता प्रभावित भी दिख रहा है, लेकिन एक वर्ग में इसे पर्यावरण विरोधी कार्य भी करार दिया जा रहा है और इसे चुनावी मुद्दा बनाने की कोशिश भी हो रही है। इस पर आपकी सरकार की क्या सोच है?

उत्तर- हम इकोनामी और इकोलाजी को साथ लेकर काम करते हैं। उत्तराखंड में हमने संवेदनशील और संतुलित विकास का रास्ता पकड़ा है। पिछली सरकारों के समय यहां निर्माण कार्यों में पर्यावरण से जुड़ी सावधानियां नहीं रखी गईं। जिसके घातक परिणाम हम सबने देखे हैं। देखिए, भारत सरकार के किसी भी प्रोजेक्ट को शुरू करने से पहले वन एवं पर्यावरण संबंधी सारी अनुमति ली जाती है। विभिन्न स्तरों पर प्रोजेक्ट का मूल्यांकन होता है, और वो किस प्रकार पर्यावरण को प्रभावित करेगा इसका विस्तृत अध्ययन किया जाता है। इन प्रोजेक्ट्स में स्थानीय लोगों की भी भागीदारी सुनिश्चित की जाती है और उनके द्वारा उठाए गए मुद्दों को भी सुलझाया जाता है। पहाड़ी क्षेत्रों में हमारी सरकार का हमेशा से ये प्रयास रहा है कि जो भी विकास कार्य हो वो पर्यावरण को ध्यान में रखकर किए जाएं। पहाड़ के मुश्किल क्षेत्र में रहने वाले लोगों के जीवन में बदलाव जरूरी है, साथ ही पर्यावरण का संरक्षण भी जरूरी हैI उत्तराखंड की भाजपा सरकार यहां की प्राकृतिक सुंदरता और संवेदनशीलता से छेड़छाड़ किए बगैर इज आफ लिविंग को बढ़ावा दे रही है। देवभूमि में लोगों के लिए सड़कें और अस्पताल बनें, शिक्षा के लिए अच्छे कालेज हों, युवाओं के लिए नए अवसर हों, ये सब बहुत जरूरी है। एक समय में इन सुविधाओं की कमी उत्तराखंड से पलायन की बड़ी वजह रही है। अब हमारी सरकार का इन सब पर निरंतर फोकस है, जिससे बहुत हद तक पलायन रुका है।

प्रश्न- यूसीसी देने के बावजूद उत्तराखंड में यह चुनावी मुद्दा नहीं बना, विपक्ष भी कहीं इसे मुद्दा नहीं बनाता नहीं दिख रहा। क्या माना जाए की आम जन ने इसे स्वीकार कर लिया है और इसलिए विपक्ष भी मजबूर है?

उत्तर - हम बहुत पहले से यूनिफार्म सिविल कोड के बारे में बात करते आए हैं। चुनाव हों या ना हों, यूसीसी को लेकर हमारा दृष्टिकोण स्पष्ट है। समान नागरिक संहिता की आवश्यकता आज पूरे देश में महसूस की जा रही है। मुझे बहुत खुशी है कि उत्तराखंड ने पहल की और यूसीसी को लागू कर दिया। इस मुद्दे पर आजादी के पहले से विचार विमर्श चल रहा है। देश की आजादी के बाद हमारे पास ये अवसर था कि हम समान नागरिक संहिता की तरफ कदम बढ़ाते, लेकिन उस वक्त की कुछ राजनीतिक ताकतों ने अपने स्वार्थ के लिए अलग-अलग वर्गों के लिए अलग-अलग कानून की पैरवी की। मैं पूरे देश को एक परिवार मानता हूं और मैं समझता हूं कि एक परिवार में सभी लोगों पर एक जैसा कानून लागू होना चाहिए। आप ही बताइए परिवार के अलग-अलग सदस्यों के लिए अलग-अलग कानून कहां तक उचित है? बाबा साहेब आंबेडकर ने कहा था कि हमें स्वतंत्रता इसलिए मिली है ताकि हमारी सामाजिक व्यवस्था में जहां हमारे मौलिक अधिकारों के साथ विरोध है, वहां सुधार कर सकें। हमने अपने संकल्प पत्र में भी कहा है कि भाजपा देशभर में यूसीसी लागू करने के लिए प्रतिबद्ध है। आम जनता हमेशा से ही ये चाहती थी कि देश में प्रत्येक व्यक्ति के लिए एक समान कानून बने। कानूनी प्रावधानों के आधार पर लोगों में भेदभाव ना हो। आज विपक्ष के नेता भी ये जानते हैं कि उत्तराखंड समेत पूरे भारत में लोग यूसीसी का समर्थन कर रहे हैं, इसलिए विपक्ष इसका विरोध नहीं कर पा रहा। मुझे आशा है कि राष्ट्रीय स्तर पर भी विपक्ष समान नागरिक संहिता का विरोध नहीं करेगा।

प्रश्न- काफी पहले कांग्रेस के एक नेता ने तत्कालीन सीडीएस जनरल विपिन रावत के बारे में अपशब्द कहे थे। उसे आज भी मुद्दा बनाना उचित है क्या?

उत्तर- देखिए, ये सिर्फ एक घटना या एक बयान नहीं था। इसमें कांग्रेस की सोच और नीयत दिखती है। देश के पहले चीफ आफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत के लिए कांग्रेस द्वारा जिन अपशब्दों का प्रयोग किया गया, उसे एक छोटा मुद्दा मान लेना ठीक नहीं है। जनरल बिपिन रावत ने पूरे उत्तराखंड का प्रतिनिधित्व करते हुए देश के पहले सीडीएस का कार्यभार ग्रहण किया था। उन्होंने देश की सशस्त्र सेनाओं में काफी रिफार्म्स किए और उनकी सोच डिफेंस सेक्टर को आत्मनिर्भर बनाने की थी। उत्तराखंड जैसा राज्य जहां के प्रत्येक परिवार से कोई न कोई बच्चा सशस्त्र सेना का हिस्सा है, उस राज्य के सपूत जनरल बिपिन रावत के बारे में ऐसी बातें करना हमारी तो सोच से परे है। उत्तराखंड राज्य में हमारी सेनाओं के लिए कितनी श्रद्धा है, कितना त्याग और समर्पण है, ये बात पूरा देश जानता है। उनके बारे में जो अपशब्द कांग्रेस ने इस्तेमाल किये हैं, वो पूरे उत्तराखंड की भावनाओं के साथ खिलवाड़ है। उत्तराखंड की गरिमा को चोट पहुंचाने वाली कांग्रेस की भद्दी टिप्पणी को देवभूमि के लोग हमेशा याद रखेंगे। लोगों को ये भी याद है कि ये वही कांग्रेस है जो बार-बार सेना के मनोबल पर सवाल उठाती है। सेना की कार्रवाई का सबूत मांगती है। कांग्रेस ने अपने समय में हमारी सेनाओं को आवश्यक उपकरण, हथियार, सैनिकों के लिए यूनिफार्म, ठंडे क्षेत्रों में ड्यूटी करने के लिए आवश्यक कपड़े भी उपलब्ध नहीं कराए थे, और उसका खामियाजा पूरे देश को भुगतना पड़ा। आज भारत डिफेंस सेक्टर में आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ रहा है। हम अपनी सेना को हर प्रकार की सुविधा मुहैया करवा रहे हैं। जनरल बिपिन रावत भी इसी सोच के पक्षधर थे। जनरल बिपिन रावत के बारे में जो टिप्पणी कांग्रेस ने की है, उसके लिए उत्तराखंड कभी भी ऐसी पार्टी को माफ नहीं करेगा।

प्रश्न- आपका मेनिफेस्टो हाल में आया है। इसमें उत्तराखंड के लिए क्या है?

उत्तर- भाजपा के संकल्प-पत्र से उत्तराखंड के भविष्य के रोडमैप को लेकर बहुत कुछ स्पष्ट हो जाता है। हमने ऐसे सभी उपायों पर फोकस किया है, जिससे पहाड़ का पानी और जवानी दोनों पहाड़ के काम आए। हमने अपने संकल्प पत्र में गरीब, किसान, नारीशक्ति और युवाशक्ति को प्राथमिकता दी है। हमने अगले 5 वर्षों तक जरूरतमंदों को मुफ्त राशन जारी रखने की गारंटी दी है। आयुष्मान कार्ड धारकों को 5 लाख रुपये तक मुफ्त इलाज मिलता रहेगा। उत्तराखंड में 55 लाख लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड बने हैं और यहां के 270 अस्पताल पैनल में शामिल हैं। सोचिए, ये उत्तराखंड के लोगों के लिए कितनी बड़ी राहत की बात है। भाजपा ने अपने संकल्प पत्र में एक और बड़ी घोषणा की है। हमने 70 वर्ष से ऊपर के हर बुजुर्ग को आयुष्मान भारत योजना का लाभ पहुंचाने का संकल्प लिया है। इसका फायदा पहाड़ी क्षेत्रों में रहने वाले उन सभी बुजुर्गों को होगा, जो अस्वस्थ रहते हैं। भाजपा का संकल्प है कि गरीबों के लिए और 3 करोड़ पक्के मकान बनाए जाएंगे। पानी, बिजली, गैस कनेक्शन जैसी सुविधाएं देश के हर गरीब तक पहुंचाई जाएंगी। उत्तराखंड में महिलाओं को आर्थिक मजबूती देने वाली मुद्रा योजना का विस्तार किया जा रहा है। भाजपा ने इस योजना के तहत लोन की सीमा को 10 लाख रुपये से बढ़ाकर 20 लाख रुपये करने का संकल्प लिया है। मैंने 3 करोड़ बहनों को लखपति दीदी बनाने की गारंटी दी है। स्वनिधि योजना का विस्तार छोटे कस्बों और गांव-देहात तक करने की तैयारी है। इन योजनाओं का लाभ बड़ी संख्या में उत्तराखंड के लोगों को भी मिलेगा। हम अपने धार्मिक और सांस्कृतिक केंद्रों को संवारने का अभियान और तेज करेंगे। हमने अपने संकल्प पत्र में सीमावर्ती गांवों से जुड़े थीम आधारित सर्किट के विकास का लक्ष्य रखा है। इसी तरह नदियों से जुड़े पर्यटन को विकसित करने की योजना बनाई गई है। दवा निर्माण के क्षेत्र में हम भारत को ‘विश्व की फार्मेसी’ के रूप में विकसित करने की योजना बना रहे हैं। इसमें बड़ा योगदान उत्तराखंड का होगा। यहां मैं ये भी बता दूं कि हमने संकल्प पत्र में जो बातें रखी हैं, उनके मुताबिक पहाड़ी क्षेत्रों के संतुलित विकास के लिए हम एक विशेष मास्टर प्लान तैयार करने वाले हैं। इस कदम का भी उत्तराखंड को विशेष लाभ मिलने वाला है।

प्रश्न- आपकी उत्तराखंड के लिए क्या गारंटी है?

उत्तर- हमने भाजपा के संकल्प पत्र को मोदी की गारंटी के रूप में देश के समक्ष रखा है। पिछले 10 वर्षों में सरकार ने कई बड़े फैसले करके करोड़ों लोगों के जीवन को बेहतर बनाया है। हमने उन मुद्दों का भी समाधान किया है, जिन्हें दशकों से लटकाया जा रहा था। अयोध्या में राम मंदिर, आर्टिकल 370, तीन तलाक जैसे विषयों पर हमने देशहित को महत्व दिया और कड़े फैसले लिए। यही वजह है कि आज भाजपा के हर संकल्प को लोग गारंटी के रूप में देखते हैं। देवभूमि के लिए मोदी की गारंटी है कि यहां के युवाओं के लिए अधिक से अधिक अवसरों का निर्माण होगा, ताकि विकसित भारत के संकल्प में विकसित उत्तराखंड की महत्वपूर्ण भागीदारी सुनिश्चित हो। हमने अपने संकल्प पत्र में भंडारण के लिए नए कलस्टर बनाने का एलान किया है। हमने किसानों के हित के लिए कृषि इंफ्रास्ट्रक्चर मिशन शुरू करने की गारंटी दी है। इसमें सिंचाई, स्टोरेज से लेकर फूड प्रोसेसिंग तक की सुविधाएं विकसित की जाएंगी। इसका बहुत बड़ा फायदा उत्तराखंड के किसानों को मिलेगा। हमारी गारंटी है कि राज्य में उद्योग, निवेश और इंफ्रास्ट्रक्चर का और विस्तार होगा। हम हर उस योजना को प्राथमिकता देंगे, जिससे यहां के लोगों को पलायन कर कहीं और ना जाना पड़े। उत्तराखंड को पर्यटन और तीर्थाटन का हब बनाने की दिशा में हम अपने प्रयासों को और गति देंगे। हमने अपने संकल्प पत्र में जल, जंगल, वायु और पर्यावरण को बचाने की गारंटी दी है। उत्तराखंड के विकास में हम अपनी इस गारंटी को लागू करेंगे।