Share
 
Comments
The entire nation has witnessed the extent to which the TMC of Mamata Didi is willing to go to repress democratic voices: PM Modi
The election results of 23rd May will provide a reality check to the arrogant and repressive regime of Mamata Didi: PM Modi
With renewed supprt from the people, the BJP will make reviving Bengali culture a priority: Prime Minister Modi

भारत माता की…जय

भारत माता की…जय

भारत माता की…जय

गंगा के तट पर बसे आप सभी साथियो को गंगा मां के इस बेटे का प्रणाम।

भाइयो और बहनो, 2019 के इस चुनाव अभियान में पूरे देश ने अपने इस सेवक को भरपूर समर्थन दिया है, लेकिन पश्चिम बंगाल के लोग एक विशिष्ट दायित्व निभाने जा रहे हैं। उनका ये सेवक एक मजबूत सरकार बना पाए, बुलंद हौसले वाली सरकार बना पाए, इसीलिए पश्चिम बंगाल कि जनता ने ठान लिया है की वो बीजेपी को 300 सीटें पार कराएगी। भाइयो-बहनो, अभी मैं हेलीपैड से उतरा, मुझे वहां गाड़ी से बाहर निकल कर रोड शो करना पड़ा। जितने लोग मैं यहां देख रहा हूं, इससे 3 गुना ज्यादा वहां हेलीपैड के पास दोनों तरफ खड़े थे। ये आपका अद्भुत प्यार मैं आपका हृदय से आभार व्यक्त करता हूं। ये जो मंच पर चढ़ गए उनको नीचे उतारिए, ये पूरा मंच नीचे गिरेगा। वो लाल शर्ट वाले सज्जन, आप नीचे आइए भैया, जो ऊपर हैं सब नीचे आ जाइए। देखिए आपका कोई भी नुकसान वो मेरा नुकसान है। कृपा करके नीचे आ जाइए। देखिए कभी चोट लग जाएगी तो मुझे बहुत दुख होगा भैया। शाबाश, बहुत समझदार लोग हैं।

बहनो और भाइयो, बीजेपी पर इस विशेष आशीर्वाद के साथ ही बंगाल की जनता, दीदी को लोकतंत्र का मतलब भी समझाने जा रही है। जिस प्रकार दीदी, पश्चिम बंगाल को अपनी और अपने भतीजे की जागीर समझ बैठी है, जिस तरह की हरकतें कर रही है, उसे देश भली-भांति जान गया है।

साथियो, चुनाव प्रचार के दौरान और खासकर बीते 3-4 दिन से यहां जो हो रहा है, वो आप सभी देख रहे हैं। टीएमसी के गुंडों ने जो नर्क यहां बना रखा है, जिस प्रकार की हिंसा यहां फैला रखी है, उसके कारण गणतंत्र बदनाम हुआ है। टीएमसी के इन गुंडों ने जिस प्रकार का तूफान मचा दिया और एक कमरे में बंद जहां ताला लगा हुआ है, वहां पर रात को महान शिक्षाविद्, समाज सुधारक ईश्वर चन्द्र विद्यासागर जी की मूर्ति को तोड़ दिया गया। उस कॉलेज में CCTV कैमरा लगे हुए हैं। क्या कारण है सरकार जैसे नारदा-शारदा के सबूत मिटाए, वैसे इसके सबूत भी मिटाने में लगी है। ये साफ दिखाता है कि वोटबैंक की राजनीति के लिए दीदी किस स्तर पर जा सकती है।  

साथियो, ईश्वर चन्द्र विद्यासागर जी सिर्फ बंगाल के ही नहीं पूरे देश के सपूत थे। उनकी मूर्ति को नुकसान पहुंचाकर, जिन लोगों ने काम किया है, ये पाप किया है मूर्ति को नुकसान पहुंचाने वालों को कड़ी कार्रवाई की जानी, कड़ी से कड़ी सजा होनी चाहिए, ये मेरी मांग है। भाइयो और बहनो, स्वामी विवेकानंद से लेकर श्यामा प्रसाद मुखर्जी तक भारतीय जनता पार्टी के चिंतन को गढ़ने में बंगाल की संस्कृति का बहुत बड़ा योगदान रहा है। बंगाल के गौरव की रक्षा करना, ये भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिकता है। आज ईश्वर चन्द्र विद्यासागर जी जहां भी होंगे, वो देख रहे होंगे की कौन सा दल बंगाल के गौरव की रक्षा के लिए लड़ रहा है और कौन घुसपैठियों की रक्षा लिए काम कर रहा है।   

साथियो, ये भाजपा ही है जिसने बंगाल में हो रहे अत्याचार के खिलाफ सबसे पहले आवाज उठाई। यहां दुर्गा पूजा को लेकर दिक्कत है, सरस्वती पूजा को लेकर दिक्कत है, जय श्री राम बोलना भी यहां गुनाह हो गया है। बंगाल की जनता कुछ वर्षों से इन बातों से बहुत ज्यादा परेशान थी। इन विषयों को राष्ट्रीय पटल पर कौन लेकर के आया, कौन सी पार्टी आज बंगाल की आवाज बनी है? इसका जवाब एक ही है और वो है भारतीय जनता पार्टी।

भाइयो और बहनो, हार की हताशा दीदी को इस तरह से डरा रही है कि वो सरेआम धमकियों पर उतर आई है। आज सुबह-सुबह ही मुझे जेल भेजने की धमकी दी गई है। कल मीडिया में मैंने देखा कि दीदी ने बीजेपी के दफ्तर पर, बीजेपी के ऑफिस पर कब्जा करने की भी धमकी दी है। दीदी, बीजेपी के कार्यकर्ताओं के घर पर कब्जा करने की भी धमकी दे रही है। दीदी, जनता के बीच आपकी जो पहचान बनी है, उसका कारण जमीन और प्रॉपर्टी के लिए आपकी अंधी दौड़ है। इसी मानसिकता से अब आपको बीजेपी के कार्यालयों को भी हड़पना है, इसी मानसिकता से पश्चिम बंगाल आपसे परेशान है और आपका बोरिया-बिस्तर पैक करने की ठान चुका है। ममता दीदी, चुनाव में जय और पराजय तो आता जाता रहता है। ये लोकतंत्र का हिस्सा है। कभी इसी बंगाल की जनता ने आपको इतना स्नेह दिया था, आज वही जनता आज खुले आम आपको हटाना चाहती है। भयभीत मत होइए दीदी, ये बंगाल की सच्चाई को स्वीकार कीजिए।

भाइयो और बहनो, दीदी को पश्चिम बंगाल के सामान्य मानवी की जरा भी चिंता नहीं है, सिर्फ और सिर्फ सत्ता का अहंकार है। वो भारत के प्रधानमंत्री को, अपना प्रधानमंत्री नहीं मानती, लेकिन पाकिस्तानी प्रधानमंत्री की प्रशंसा करते वो थकती नहीं हैं। वो बंगाल के बच्चों को, बंगाल की बेटियों को बात-बात पर जेल में ठूंस देती है, लेकिन घुसपैठियों और तस्करों को उन्होंने खुली छूट दी है। दीदी के गुंडे बीजेपी के कार्यकर्ताओं पर हमले करते हैं, उन्हें फांसी पर लटका देते हैं, लेकिन दीदी ऐसा करने वालों को और आगे बढ़ाती है। आखिर किस दिशा में बंगाल को वो ले जाना चाह रही है।

भाइयो और बहनो, अपने भतीजे के साथ मिलकर इन्होंने टोलाबाजों और तस्करों का एक सिंडिकेट चला रखा है। जिसने बंगाली मानुष को परेशान कर के रखा है और पश्चिम बंगाल के विकास पर स्पीड ब्रेकर लगा रखा है।

भाइयो और बहनो, पूरे देश में किसानों के बैंक के खाते में मोदी सरकार सीधे पैसे जमा कर रही है, लेकिन दीदी की सरकार सोई हुई है। पूरे देश में गरीब परिवारों को हर वर्ष पांच लाख रुपए तक के मुफ्त इलाज की सुविधा मिली है, लेकिन दीदी ने उसमें भी यहां के गरीबों को वंचित कर दिया है।  

भाइयो और बहनो, गरीबों की जिंदगी आसान बनाने वाले हर काम में दीदी लूट का रास्ता निकाल रही है। दिल्ली से आपका ये सेवक, जो आपके लिए मदद भेजता है उसमें वो अपना स्टीकर लगाती है ताकि आसानी से टोलाबाजी की जा सके। भाइयो बहनो, ये जगह बहुत छोटी है, आप आगे आने की कोशिश मत कीजिए, आपके प्यार के लिए मैं आपका आभारी हूं। आप एक दूसरे को धक्का मत लगाइये। देखिए कुछ माताएं छोटे बच्चे भी लेकर आयी हैं, उनको परेशानी नहीं होनी चाहिए। आप इतना प्यार दे रहे हो, इतना आशीर्वाद दे रहे हो, बस थोड़ी धीरज रखो।  

भाइयो बहनो, सस्ते राशन की योजना हो, घर बनाने की योजना, सड़क बनाने की योजना और सभी केंद्रीय योजनाओं पर दीदी ने अपना स्टीकर लगा दिया है। अरे! स्टीकर दीदी, अपना स्टीकर लगाएं इसे मुझे कोई परेशानी नहीं है, लेकिन जरा काम तो ढंग से करिए, काम तो जरा देश के लिए करिए। ये देश का काम है, गरीबों का है इतना तो ईमानदारी रखिए, अरे आपको भी पुण्य मिलेगा।

भाइयो और बहनो, पूरे देश में गांव की सड़कें तेज गति से बन रही है लेकिन पश्चिम बंगाल में हालत खराब है। गंगा जी पर पुल तक यहां की सरकार नहीं बना पा रही है, जबकि हमारा प्रयास की है देश के समुद्री किनारों की कनेक्टिविटी सशक्त हो। इसके लिए देश भर में सागरमाला के तहत बंदरगाहों को सड़कों से जोड़ा जा रहा है। गंगा जी पर जैसे हल्दिया से वाराणसी तक जल मार्ग को विकसित किया गया है, वैसे ही दूसरी नदियों के जल मार्ग पर भी काम चल रहा है। इससे समुद्री किनारे पर बसे क्षेत्रों को लाभ मिलेगा, यहां रोजगार के अवसर पैदा होंगे।

भाइयो और बहनो, हमारे मछुआरे साथियो की सुविधा के लिए हम व्यापक काम कर रहे हैं। हमने घोषणा की है कि मछुआरों के लिए एक अलग मंत्रालय विभाग बनाया जाएगा। अभी तक पशुपालन विभाग के तहत ही मछली के कारोबार का संचालन होता था। अब अलग विभाग ये सारे काम करेगा। इतना ही नहीं अब मछुआरों के लिए भी किसानों की तरह किसान क्रेडिट कार्ड की सुविधा दी गई है।   

साथियो, एक तरफ हम लोगों का जीवन आसान बनाने में जुटे हैं, वही तृणमूल अपनी गुंडागर्दी के दम पर आपका जीवन मुश्किल बना रही है, इस गोरख धंधे को बंद करना जरूरी है। आपको एक ही बात याद रखनी है, चुप चाप-कमल छाप

 

मेरे साथ एक नारा बोलेंगे, आप सब मेरे साथ एक नारा बोलेंगे, सब के सब बोलेंगे, सब के सब बोलेंगे? मैं कहूंगा चुप चाप आप कहेंगे कमल छाप। चुप चाप...कमल छाप, चुप चाप...कमल छाप, चुप चाप...कमल छाप, चुप चाप...कमल छाप, चुप चाप...कमल छाप और दूसरा नारा बुलवाता हूं, बूथ-बूथ से टीएमसी साफ, बूथ-बूथ से टीएमसी साफ। बूथ=-बूथ से...टीएमसी साफ, बूथ-बूथ से...टीएमसी साफ, बूथ-बूथ से...टीएमसी साफ, बूथ-बूथ से...टीएमसी साफ। चुप चाप...कमल छाप, चुप चाप...कमल छाप, चुप चाप...कमल छाप।   

भाइयो-बहनो, कमल छाप पर पड़ा हर वोट मोदी के खाते में जाएगा। भाइयो-बहनो, इनकी सरकार, उनके गुंडे, उनका जुल्म, आपको कुछ नहीं कर सकता। बूथ में जाइए और किसी और को बटन मत दबाने देना, आप खुद अपनी उंगली से कमल के निशान पर बटन दबाना। मतदान करने जाएंगे, सब के सब जाएंगे, भारी मतदान करेंगे, भाजपा को जिताएंगे?

मैं आपका बहुत-बहुत आभारी हूं। आप इतनी बड़ी मात्रा में आशीर्वाद देने आए, अब दोनों हाथ ऊपर कर के मुट्ठी बंद कर के मेरे साथ बोलिए

भारत माता की...जय

भारत माता की...जय

भारत माता की...जय

बहुत बहुत धन्यवाद।



Explore More
لال قلعہ کی فصیل سے، 76ویں یوم آزادی کے موقع پر، وزیراعظم کے خطاب کا متن

Popular Speeches

لال قلعہ کی فصیل سے، 76ویں یوم آزادی کے موقع پر، وزیراعظم کے خطاب کا متن
Budget 2023 needs to viewed from lens of Amrit Kaal and long term aspirations set by PM Modi

Media Coverage

Budget 2023 needs to viewed from lens of Amrit Kaal and long term aspirations set by PM Modi
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
سوشل میڈیا کارنر،7 فروری 2023
February 07, 2023
Share
 
Comments

New India Appreciates The Country’s Massive Strides Towards Achieving PM Modi’s Vision of Aatmanirbhar Bharat

India’s Foreign Policy Under PM Modi's Visionary Leadership Strengthening International Relations