S.No.

Agreement/MoU

Remarks

1

Agreement between the Government of the Republic of India and the Government of the Republic of Korea for the Avoidance of Double Taxation and the Prevention of Fiscal Evasion with Respect to Taxes on Income

India-Republic of Korea  Double Taxation Avoidance Convention (signed 1985) has been revised with a view to avoiding the burden of double taxation on taxpayers in the two countries.

2

India-Republic of Korea Agreement on Cooperation in Audio-Visual Co-Production

The Agreement is being signed under the provisions of India-ROK CEPA; it would enable co-production of films, animation and broadcasting programmes. The Agreement would enable opportunities for collaboration between Indian and Korean film industries, and facilitate collaboration and exchange.

3

MOU for Cooperation between the National Security Council Secretariat of the Republic of India and the Office of National Security of the Republic of Korea

The MoU would formalize consultations between National Security Council structures of the two countries in a number of areas.

4

MOU between the Ministry of Power of the Republic of India and the Ministry of Trade, Industry and Energy of the Republic of Korea concerning Cooperation in the field of Electric Power Development and New Energy Industries

The MoU envisages cooperation in areas of electric power development and new energy industries such as renewable energy, smart grids and power information and technology, transmission and distribution of electric power, energy efficiency and storage system.

5

MOU between the Ministry of Youth Affairs and Sports of the Republic of India and the Ministry of Gender Equality and Family of the Republic of Korea on Cooperation in Youth Matters

The MoU will strengthen and encourage cooperation on youth matters through participation in events and activities through exchanges, international conferences, seminars, youth camps, festivals etc.

6

 Framework of Cooperation in the Field of Road Transport and Highways between the Ministry of Road Transport and Highways of the Republic of India and the Ministry of Land, Infrastructure and Transport of the Republic of Korea

To be signed under the provisions of India-ROK CEPA, the FOC envisages cooperation in areas  including  road policies, design and construction, road operation, road management and safety, intelligent transport systems and electronic toll collection systems

7

MOU between the Ministry of Shipping of the Republic of India and the Ministry of Oceans and Fisheries of the Republic of Korea on Cooperation in the Fields of Maritime Transport and Logistics

The MoU envisages cooperation between the two countries in the fields of maritime transport and logistics including through  sharing of technologies, information and experiences, the training of seafarers, exchange of experts and port operations etc

 

 

 

Explore More
لال قلعہ کی فصیل سے 77ویں یوم آزادی کے موقع پر وزیراعظم جناب نریندر مودی کے خطاب کا متن

Popular Speeches

لال قلعہ کی فصیل سے 77ویں یوم آزادی کے موقع پر وزیراعظم جناب نریندر مودی کے خطاب کا متن
India saves Rs 82k crore forex outgo on coal imports

Media Coverage

India saves Rs 82k crore forex outgo on coal imports
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
Text of PM’s address at the launch of various projects at Adilabad, Telangana
March 04, 2024
Dedicates to nation and lays foundation stone for multiple power projects across the country
Inaugurates 7 projects and also lays foundation stone for 1 project of Power Grid Corporation of India
Dedicates to nation and lays foundation stone for multiple renewable energy projects
Dedicates to nation and lays foundation stone for various rail and road projects
“Central Government is supporting in every way to fulfill the development dreams of people of Telangana”
“We are moving with the mantra of ‘Nation’s development through development of States”
“There is a global buzz around the high growth rate of the Indian economy”
“For us development means the development of the poorest of the poor, development of dalit, tribals, backwards and deprived”

तेलंगाना की गवर्नर तमिलिसाई सौंदर्यराजन जी, मुख्यमंत्री श्रीमान रेवंत रेड्डी जी, मंत्रिमंडल में मेरे सहयोगी जी. किशन रेड्डी जी, सोयम बापू राव जी, पी. शंकर जी, अन्य महानुभाव, देवियों और सज्जनों!

आज आदिलाबाद की धरती तेलंगाना ही नहीं, पूरे देश के लिए कई विकास धाराओं की गवाह बन रही है। आज मैं आप सबके बीच 30 से ज्यादा विकास कार्यों के लोकार्पण और शिलान्यास इसका मुझे आज यहां अवसर मिला है। 56 हजार करोड़- Fifty Six Thousand Crore Rupees उससे भी ज्यादा, ये प्रोजेक्ट्स, तेलंगाना समेत देश के अनेक राज्यों में विकास का नया अध्याय लिखेंगे। इनमें ऊर्जा से जुड़े कई बड़े प्रोजेक्ट्स हैं, पर्यावरण की रक्षा के लिए किए जा रहे कार्य हैं, और तेलंगाना में आधुनिक रोड नेटवर्क विकसित करने वाले हाइवेज भी हैं। मैं तेलंगाना के मेरे भाइयों-बहनों को, और साथ ही सभी देशवासियों को इन परियोजनाओं के लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूँ।

साथियों,

केंद्र की हमारी सरकार को और तेलंगाना राज्य के निर्माण को करीब-करीब 10 साल हो रहे हैं। जिस विकास का सपना तेलंगाना के लोगों ने देखा था, उसे पूरा करने में केंद्र सरकार हर तरह से सहयोग कर रही है। आज भी तेलंगाना में 800 मेगावाट बिजली उत्पादन की क्षमता वाली NTPC की दूसरी यूनिट का लोकार्पण हुआ है। इससे तेलंगाना की बिजली उत्पादन क्षमता और ज्यादा बढ़ेगी, राज्य की जरूरतें पूरी होंगी। अंबारी-आदिलाबाद-पिंपलकुट्टी इस रेल लाइन के इलेक्ट्रिफिकेशन का काम भी पूरा हो गया है। आज आदिलाबाद-बेला और मुलुगु में दो नए नेशनल हाइवेज का भी शिलान्यास हुआ है। रेल और रोड की इन आधुनिक सुविधाओं से इस पूरे क्षेत्र के और तेलंगाना के विकास को और रफ्तार मिलेगी। इससे यात्रा का समय कम होगा, उद्योग और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा, और रोजगार के अनगिनत नए अवसर पैदा होंगे।

साथियों,

केंद्र की हमारी सरकार राज्यों के विकास से देश के विकास के मंत्र पर चलती है। इसी तरह जब देश की अर्थव्यवस्था मजबूत होती है, तो देश के प्रति विश्वास बढ़ता है, तो राज्यों को भी इसका लाभ मिलता है, राज्यों में भी निवेश बढ़ता है। आप लोगों ने देखा है कि पिछले 3-4 दिनों से पूरी दुनिया में भारत की तेज विकास दर इसकी चर्चा हो रही है। दुनिया में भारत ऐसी इकलौती, बड़ी अर्थव्यवस्था बनकर उभरा है, जिसने पिछले क्वार्टर में 8.4 की दर से विकास किया है। इसी तेजी से हमारा देश दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनेगा। और इसका मतलब होगा, तेलंगाना की अर्थव्यवस्था का भी तेजी से विकास।

साथियों,

इन 10 वर्षों में देश के काम करने का तरीका कैसे बदला है, आज ये तेलंगाना के लोग भी देख रहे हैं। पहले के दौर में सबसे ज्यादा उपेक्षा का शिकार तेलंगाना जैसे इलाकों को ही इसकी मुसीबतें झेलनी पड़ती थी। लेकिन पिछले 10 वर्षों में हमारी सरकार ने तेलंगाना के विकास के लिए कहीं ज्यादा राशि खर्च की है। हमारे लिए विकास का मतलब है- गरीब से गरीब का विकास, दलित, वंचित, आदिवासियों का विकास! हमारे इन प्रयासों का परिणाम है कि आज 25 करोड़ लोग गरीबी से बाहर आ चुके हैं। ये हमारी गरीब कल्याण योजनाओं की वजह से मुमकिन हुआ है। विकास के इस अभियान को अगले 5 वर्षों में और तेजी से आगे बढ़ाया जाएगा। इसी संकल्प के साथ मैं आप सबको बहुत-बहुत धन्यवाद देता हूं। अभी 10 मिनट के बाद मैं पब्लिक कार्यक्रम में जा रहा हूं। बहुत सारे अन्य विषय उस मंच के लिए ज्यादा उपयुक्त है। इसलिए मैं यहां इस मंच पर इतनी ही बात कहकर के मेरी वाणी को विराम दूंगा। 10 मिनट के बाद उस खुले मैदान में, खुले मन से बहुत कुछ बातें करने का अवसर मिलेगा। मैं फिर एक बार मुख्यमंत्री जी समय निकालकर यहां तक आए, मैं उनका भी आभार व्यक्त करता हूं। और हम मिलकर के विकास की यात्रा को आगे बढ़ाए, इस संकल्प को लेकर के चले।

बहुत-बहुत धन्यवाद।