"There should be recognition by the State to Literature, Music and Art : Shri Modi "
"CM hands over Gujarat Government Indian classical music awards at Swarnim Sankool"
"Taba-Riri Sangit Sanman awards go to Kishori Amonkar(2012) and to Begum Parveen Sultana (2013)"
"Pandit Omkarnath Sangit Sanman awards go to Pandit Jasraj(2012) and to Pandit Rajan and Sajan Mishra (2013)"
"Gujarat Government is committed to award veteran artistes, musicians and litterateurs: Narendra Modi"

Gandhinagar, Monday: Gujarat Chief Minister Narendra Modi today honoured prominent singers of Indian Classical Music with the prestigious Tana-Riri Music Award and Pt. Omkarnath Music Award, institute by the Government of Gujar, at a glittering ceremony at Girnar Hall of Swarnim Sankul-1 in the Sachivalaya here.

The Tana-Riri Award of the year 2012 was awarded to Smt. Kishori Amonkar and for the year 2013 and Begum Parveen Sultana. The Pundit Omkarnath Music Award of the year 2012 was given to Pundit Jasraj and for the year 2013 to Pundit Rajan and Sajan Mishra.

On the eve of this award ceremony, all of the five singers were honoured by the Chief Minister with copper plaque, shawls and Rs. 5 Lakh.

 Tana Riri and Pandit Omkarnath Sangeet Awards

Praising all the honoured singers, the Chief Minister said that Government of Gujarat is forever committed to honour artists, musicians and litterateurs in their lifelong journey.

He said that the Indian classical music has incredible and unique heritage the whole world, but we could not make the world recognize such magnificence. The western music could shake the body but it is Indian music which can impress the mind. There is a unique co-ordination of each hourly rage (tune) and tala (beats) and rhythm in Indian music.

Mr. Modi said that music, art and literature should never be dependent to states. It is even not barred by any time limitations. The heritage of Indian music has been strengthened for over centuries and many “Gharanas” did accomplish its culture.

 Tana Riri and Pandit Omkarnath Sangeet Awards

He heartily mentioned that the prestigious work and origin of Tana-Riri Music festival at Vadnagar where they were born.

In the beginning of this ceremony, the Minister of Youth and Culture, Mr. Ramanlal Vora gave outline about both of such prestigious awards, greeted the invitees and honoured singers.

On this occasion, Ministers Mr. Nitinbhai Patel, Mr. Bhupendrasinhji Chudasama, Minister of State Mr. Nanubhai Vanani and officials to the music sector of Gujarat were also present.

 Tana Riri and Pandit Omkarnath Sangeet Awards

 Tana Riri and Pandit Omkarnath Sangeet Awards

 Tana Riri and Pandit Omkarnath Sangeet Awards

 Tana Riri and Pandit Omkarnath Sangeet Awards

 Tana Riri and Pandit Omkarnath Sangeet Awards

 Tana Riri and Pandit Omkarnath Sangeet Awards

Explore More
77வது சுதந்திர தினத்தை முன்னிட்டு செங்கோட்டை கொத்தளத்தலிருந்து பிரதமர் திரு நரேந்திர மோடி நிகழ்த்திய உரையின் தமிழாக்கம்

பிரபலமான பேச்சுகள்

77வது சுதந்திர தினத்தை முன்னிட்டு செங்கோட்டை கொத்தளத்தலிருந்து பிரதமர் திரு நரேந்திர மோடி நிகழ்த்திய உரையின் தமிழாக்கம்
Apple’s India output: $10 billion in 10 months

Media Coverage

Apple’s India output: $10 billion in 10 months
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
The Government is supporting in every way to fulfill the development dreams of people of Telangana: PM Modi
March 04, 2024
Dedicates to nation and lays foundation stone for multiple power projects across the country
Inaugurates 7 projects and also lays foundation stone for 1 project of Power Grid Corporation of India
Dedicates to nation and lays foundation stone for multiple renewable energy projects
Dedicates to nation and lays foundation stone for various rail and road projects
“Central Government is supporting in every way to fulfill the development dreams of people of Telangana”
“We are moving with the mantra of ‘Nation’s development through development of States”
“There is a global buzz around the high growth rate of the Indian economy”
“For us development means the development of the poorest of the poor, development of dalit, tribals, backwards and deprived”

तेलंगाना की गवर्नर तमिलिसाई सौंदर्यराजन जी, मुख्यमंत्री श्रीमान रेवंत रेड्डी जी, मंत्रिमंडल में मेरे सहयोगी जी. किशन रेड्डी जी, सोयम बापू राव जी, पी. शंकर जी, अन्य महानुभाव, देवियों और सज्जनों!

आज आदिलाबाद की धरती तेलंगाना ही नहीं, पूरे देश के लिए कई विकास धाराओं की गवाह बन रही है। आज मैं आप सबके बीच 30 से ज्यादा विकास कार्यों के लोकार्पण और शिलान्यास इसका मुझे आज यहां अवसर मिला है। 56 हजार करोड़- Fifty Six Thousand Crore Rupees उससे भी ज्यादा, ये प्रोजेक्ट्स, तेलंगाना समेत देश के अनेक राज्यों में विकास का नया अध्याय लिखेंगे। इनमें ऊर्जा से जुड़े कई बड़े प्रोजेक्ट्स हैं, पर्यावरण की रक्षा के लिए किए जा रहे कार्य हैं, और तेलंगाना में आधुनिक रोड नेटवर्क विकसित करने वाले हाइवेज भी हैं। मैं तेलंगाना के मेरे भाइयों-बहनों को, और साथ ही सभी देशवासियों को इन परियोजनाओं के लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूँ।

साथियों,

केंद्र की हमारी सरकार को और तेलंगाना राज्य के निर्माण को करीब-करीब 10 साल हो रहे हैं। जिस विकास का सपना तेलंगाना के लोगों ने देखा था, उसे पूरा करने में केंद्र सरकार हर तरह से सहयोग कर रही है। आज भी तेलंगाना में 800 मेगावाट बिजली उत्पादन की क्षमता वाली NTPC की दूसरी यूनिट का लोकार्पण हुआ है। इससे तेलंगाना की बिजली उत्पादन क्षमता और ज्यादा बढ़ेगी, राज्य की जरूरतें पूरी होंगी। अंबारी-आदिलाबाद-पिंपलकुट्टी इस रेल लाइन के इलेक्ट्रिफिकेशन का काम भी पूरा हो गया है। आज आदिलाबाद-बेला और मुलुगु में दो नए नेशनल हाइवेज का भी शिलान्यास हुआ है। रेल और रोड की इन आधुनिक सुविधाओं से इस पूरे क्षेत्र के और तेलंगाना के विकास को और रफ्तार मिलेगी। इससे यात्रा का समय कम होगा, उद्योग और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा, और रोजगार के अनगिनत नए अवसर पैदा होंगे।

साथियों,

केंद्र की हमारी सरकार राज्यों के विकास से देश के विकास के मंत्र पर चलती है। इसी तरह जब देश की अर्थव्यवस्था मजबूत होती है, तो देश के प्रति विश्वास बढ़ता है, तो राज्यों को भी इसका लाभ मिलता है, राज्यों में भी निवेश बढ़ता है। आप लोगों ने देखा है कि पिछले 3-4 दिनों से पूरी दुनिया में भारत की तेज विकास दर इसकी चर्चा हो रही है। दुनिया में भारत ऐसी इकलौती, बड़ी अर्थव्यवस्था बनकर उभरा है, जिसने पिछले क्वार्टर में 8.4 की दर से विकास किया है। इसी तेजी से हमारा देश दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनेगा। और इसका मतलब होगा, तेलंगाना की अर्थव्यवस्था का भी तेजी से विकास।

साथियों,

इन 10 वर्षों में देश के काम करने का तरीका कैसे बदला है, आज ये तेलंगाना के लोग भी देख रहे हैं। पहले के दौर में सबसे ज्यादा उपेक्षा का शिकार तेलंगाना जैसे इलाकों को ही इसकी मुसीबतें झेलनी पड़ती थी। लेकिन पिछले 10 वर्षों में हमारी सरकार ने तेलंगाना के विकास के लिए कहीं ज्यादा राशि खर्च की है। हमारे लिए विकास का मतलब है- गरीब से गरीब का विकास, दलित, वंचित, आदिवासियों का विकास! हमारे इन प्रयासों का परिणाम है कि आज 25 करोड़ लोग गरीबी से बाहर आ चुके हैं। ये हमारी गरीब कल्याण योजनाओं की वजह से मुमकिन हुआ है। विकास के इस अभियान को अगले 5 वर्षों में और तेजी से आगे बढ़ाया जाएगा। इसी संकल्प के साथ मैं आप सबको बहुत-बहुत धन्यवाद देता हूं। अभी 10 मिनट के बाद मैं पब्लिक कार्यक्रम में जा रहा हूं। बहुत सारे अन्य विषय उस मंच के लिए ज्यादा उपयुक्त है। इसलिए मैं यहां इस मंच पर इतनी ही बात कहकर के मेरी वाणी को विराम दूंगा। 10 मिनट के बाद उस खुले मैदान में, खुले मन से बहुत कुछ बातें करने का अवसर मिलेगा। मैं फिर एक बार मुख्यमंत्री जी समय निकालकर यहां तक आए, मैं उनका भी आभार व्यक्त करता हूं। और हम मिलकर के विकास की यात्रा को आगे बढ़ाए, इस संकल्प को लेकर के चले।

बहुत-बहुत धन्यवाद।