Congress does not have development roadmap for Madhya Pradesh: PM Modi

Published By : Admin | November 9, 2023 | 11:26 IST
It is the miracle of people's votes that has thwarted the courage of enemies of the nation, says PM Modi in Satna
Your one vote will help BJP form government in MP, strengthen Modi in Delhi and keep Congress away from power in the state, says PM Modi
Congress does not have development roadmap for Madhya Pradesh, says PM Modi in Satna

भारत माता की...

भारत माता की...

मैहर वाली शारदा देवी की...

मैहर वाली शारदा देवी की...

विंध्य के अपना सबय जनेन का हमार राम राम।

जिस धरती पर माँ शारदा का आशीर्वाद बरसता है, जिस क्षेत्र में राजकुमार राम आए और मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम बन गए। ऋषियों-तपस्वियों की इस पावन स्थली, सतना को मेरा शत-शत नमन! और ये सतना की ही ताकत है, ये सतना का ही सामर्थ्य है कि बंदूक की नाली से संगित के सुर निकलते हैं। विश्व जब संकटों के घेरे में है, चारों तरफ बम-बंदूकों की आवाज सुनाई दे रही है। मानवता के लिए भारत जैसे देश आज पूरे विश्व में अपने विचार का प्रभाव पैदा करने का प्रयास कर रहे हैं ऐसे समय सतना की धरती से ऐसी ज्योति निकलती है जो बंदूक की नाली से संगीत के सुर निकालती है। युद्ध की मानसिकता वाले मानव समुदाय को सतना की धरती का ये बहुत ही सशक्त संदेश है। मैं इन सभी साथियों को बहुत-बहुत बधाई देता हूं, सभी कलाकारों को शुभकामनाएं देता हूं। मुझे क्षमा करना, आपलोग तो भाषण सुनने आए होंगे, लेकिन मैंने आपको संगीत में लुढ़का दिया, मेरे लिए भी अच्छा रहा, इस दौड़-धूप में कुछ पल ऐसे पवित्र वातावरण में बिताने का अवसर मिला। अभी कुछ दिनों पहले ही मुझे चित्रकूट में एक संत समागम में जाने का सौभाग्य मिला था। आज यहां सतना में जनता-जनार्दन के दर्शन हो रहे हैं। ये मेरे लिए दोहरे सौभाग्य की बात है।

मेरे परिवारजनों,
ये संतों और देश की जनता का आशीर्वाद ही है कि आज भारत का गौरव विश्व में नई बुलंदी पर पहुंचा है। आज पूरे विश्व में भारत का डंका बज रहा है। ये आपके एक वोट ने ऐसा कमाल किया है कि देश के दुश्मनों के हौसले पस्त हैं। इस बार भी एमपी के चुनाव में आपका हर वोट, त्रिशक्ति की ताकत से भरा हुआ है। त्रिविध शक्ति का सामर्थ्य आपके वोट में है। आपका एक वोट यहां फिर से भाजपा की सरकार बनाने जा रहा है। आपका वही वोट दिल्ली में मोदी को मजबूत करेगा। और, आपका वही वोट, भ्रष्टाचारी कांग्रेस को एमपी की सरकार से सौ कोस दूर ले जाएगा। यानि एक वोट, तीन कमाल।

साथियों,
मैंने अपने राजनीतिक जीवन में बहुत से चुनाव देखें हैं, और वर्षों तक तो मैं चुनाव लड़ाता रहा, मैं खुद लड़ा नहीं, बाद में लड़ने की भी नौबत आ गई। लेकिन इस बार मध्य प्रदेश का चुनाव, बड़ा ही दिलचस्प है। और मैं देख रहा हूं, इस बार मध्य प्रदेश का भविष्य मेरी माताएं और बहनें तय करने वाली हैं। मतदान में अभी इतने दिन बचे हैं लेकिन उससे पहले ही कांग्रेस का झूठ का गुब्बारा पंक्चर हो गया, फूट गया है...कांग्रेस के झूठ के गुब्बारे की हवा निकल गई है। और आपने देखा है ना जब गुब्बारे की हवा तेजी से निकलती है तो वो कैसे लड़खड़ाता है, शोर मचाता हुआ इधर-उधर जाता है।
वैसे ही हारते हुए कांग्रेस के नेता इधर-उधर भागते हुए अब सिर्फ शोर ही शोर मचा पा रहे हैं।
कांग्रेस के पास एमपी के विकास का कोई रोडमैप नहीं है और इसलिए कांग्रेस के थके हारे चेहरों में यहाँ के युवाओं को कोई भविष्य नहीं दिखता है। इसलिए एमपी को भाजपा पर भरोसा, एमपी को मोदी की गारंटी पर भरोसा है। और ये भरोसा इसलिए है कि हर देशवासी जानता है कि मोदी की गारंटी यानि हर गारंटी पूरी होने की गारंटी

मेरे परिवारजनों,
आज कल मैं जहाँ भी जाता हूं वहां अयोध्या में बन रहे प्रभु राम के भव्य मंदिर की चर्चा चल रही है। पूरे देश में खुशी की लहर है। सौभाग्य से भरे इस पावन कालखण्ड में मेरे मन में एक बात बार-बार। मैं स्वयं सोचता रहता, और जो बड़ों से सुना हुआ है, वह बात हर पल मेरे कान में गूंजती रहती है। मेरे मन को आंदोलित करती रहती है। और मुझे तेज गति से दौड़ने की प्रेरणा देती है, और वो बार बार मैं उसका स्मरण करता हूं, जहाँ कहा गया है राम काज किन्हे बीनू मोहि कहां विश्राम। अब रुकना नहीं है, थकना नहीं है और विश्राम का तो सवाल पैदा ही नहीं होता। यहां के भाजपा सरकार को 10 साल तक केंद्र की कांग्रेस सरकार ने हर काम में रोड़े अटकाए, काम करने नहीं दिया, रुकावट पैदा की। अभी 2014 में ही तो मध्य प्रदेश को डबल इंजन की डबल ताकत मिली है। एम पी को जिस अंधेरे कुएं में कांग्रेस ने धकेल दिया था, उस अंधेरे कुएं से भाजपा एमपी को बाहर निकाल पाई है। अब तेज विकास का समय आया है, सबके विकास का समय आया है। दलित, पीड़ित, शोषित, वंचित, पिछड़े, आदिवासी, गरीब, नौजवान, किसान हर किसी को अब उसका हक मिलेगा।

मेरे परिवारजनों,
गरीब की बहुत बड़ी चिंता होती है कि उसके पास अपना पक्का घर कब होगा? होता है कि नहीं होता है? ज़िंदगी में जिसके पास कोई अता पता नहीं है, उसको एक पता चाहिए। उसे अपना एक घर चाहिए। वो अपने पक्के घर के लिए पाई-पाई जोड़ने की कोशिश करता था, पैसे बचाने की कोशिश करता था। लेकिन कांग्रेस के राज़ में चारों तरफ ऐसा भ्रष्टाचार था कि गरीबों के पक्के घर का सपना चकनाचूर हो जाता था। भाजपा सरकार ने देश के गरीब के सपनों को पूरा करने के लिए दिन-रात एक कर दिया है। बीते 10 वर्षों में चार करोड़ से अधिक गरीब परिवारों को हमने पक्का घऱ दिया है। मैं ज़रा आप से पूछना चाहता हूं कि मैंने क्या कहा? कितने गरीब परिवारों को पक्के घर दिए हैं? कितने? कितने? 4 करोड़ बड़ा आंकड़ा होता है। दुनिया के लोग जब मेरे सुनते है ना? तो अचरज हो जाते हैं कि चार करोड़ घऱ.. कई देशों की तो इतनी आबादी नहीं होती है, जितने हमने घर बना दिए हैं? और साथियों, हम तो भक्ति में डूबे हुए लोग हैं। और इसलिए जब हम राम मंदिर बनाते हैं, तो उसी भक्ति से चार करोड़ गरीब के घर बनाते हैं, वो भी उसी भक्ति से बनाते है। हम लोकतंत्र का भव्य मन्दिर नया संसद भवन बनाते हैं तो हम 30,000 पंचायतों के भवन भी उसी संविधान के प्रति श्रद्धा के साथ बनाते हैं। आज मुझे खुशी है भाजपा की डबल इंजन सरकार होने के कारण एमपी उन राज्यों में से एक है जहाँ गरीबों के लिए लाखों घर बनाए गए हैं। यहां सतना में भी हजारों गरीब परिवारों को पक्का आवास मिला। एक लाख 32 हजार, देखिए हमारा गणेशजी भी कह रहा है। और गणेश जी के मुंह से जो निकलता है ना उसका बड़ा सामर्थ्य होता है। और जिनको अभी अपना घर नहीं मिला है। मैं आपको गारंटी देने आया हूं। जिनको अभी घर नहीं मिला है, ये मोदी की गारंटी है उनका घर भी बनेगा, उनको भी अपना घर मिलेगा। आप सब लोग निश्चिंत रहिएगा। मोदी ने आपके पक्के घर के लिए पहले ही पैसे का इंतजाम करके रखा है। जैसे ही 3 दिसंबर को यहाँ भाजपा सरकार लौटेगी, पीएम आवास योजना का काम और तेज कर दिया जाएगा। हर गरीब परिवार को पक्का घर मिलेगा, ये मोदी की गारंटी है। घर मतलब? सिर्फ चारदीवारी नहीं। जब मोदी घर देता है ना तो सारे सपनों को पूरा करने का आशियाना भी देता है। सिर्फ चारदीवारी नहीं बल्कि उसमें बिजली भी है, गैस कनेक्शन भी है, टॉयलेट भी है, नल भी और नल में जल भी है। साथियों, पक्के घर के साथ साथ मुफ्त राशन का भी पक्का इंतजाम। ये भी मोदी की गारंटी है। कोई घर ऐसा नहीं होगा, जहाँ कभी चूल्हा बूझेगा। कोरोना काल में मुफ्त राशन देने वाली योजना हमने शुरू की। अब मोदी ने निश्चय किया है, आपको मालूम है कितना बड़ा संकट था? मौत मंडरा रहा था। हर लोगों को लगता था कहीं घर में कोरोना घुस गया गए काम से। बाहर निकलना मुश्किल था, तब मोदी ने तय किया था। मैं देश के किसी को भूखा नहीं रहने दूंगा, गरीब के घर का चूल्हा बूझने नहीं दूंगा। कोई मेरे बेटे-बेटी रात को भूखे सो ना जाए, रात भर मां तड़पती ना रहे, तब मोदी ने पक्का किया था। और इसलिए मुफ्त राशन देना शुरू किया था। और ये मुफ्त राशन की योजना ये दिसंबर महीने में एक महीने के बाद पूरी हो रही है। लोगो ने मुझे सुझाव दिया, कि मोदी जी इस पर कुछ सोचना चाहिए। दिसंबर में इसको पूरा नहीं होने देना चाहिए। ये गरीबों के कल्याण का काम है, आगे बढ़ाना चाहिए। और मेरे लिए तो जनता-जनार्दन का आदर्श यही तो ईश्वर का आदेश होता है। और इसलिए मैंने संकल्प कर लिया है। मैंने पक्का मन बना लिया है कि 1 दिसंबर के बाद भी गरीबों की मुफ्त राशन की योजना 5 साल के लिए चलाऊंगा। 5 साल के लिए उसको बढ़ा दिया जाएगा। इससे सतना जिले के लगभग दो लाख परिवारों की राशन की चिंता कम हो जाएगी। आज ऐसे लाखों परिवार। चार लाख! देखिए, गणेश जी पक्का रखते हैं सब हिसाब-किताब। आज ऐसे लाखों परिवार, करोड़ों लोग मोदी को आशीर्वाद दे रहे हैं। लेकिन गरीब कल्याण के फैसले का कारण मोदी नहीं, बल्कि आप ही लोग हैं। क्योंकि आपलोग ने ही तो गरीब के बेटे को दिल्ली भेजा है। गरीब का बेटा गरीब के लिए तो काम करेगा, आपके लिए ही तो काम करेगा। आप ही तो मेरा परिवार है। मेरे देशवासियों, य मोदी है जिसने 4 करोड़ घर बनाए। ये मोदी है जिसने 4 करोड़ घर बनाए, लेकिन खुद के लिए घर नहीं बनाया है

मेरे परिवारजनों,
गरीबों का घर हो। मुफ्त राशन हो। मुफ्त इलाज हो। आज इन पर भाजपा सरकार लाखों करोड़ रुपये खर्च कर रही है। यानी देश का पैसा गरीबों के काम आ रहा है, लेकिन जब कांग्रेस की सरकार थी। तब ये पैसा कहाँ जाता था? तब देश का लाखों करोड़ रुपया 2जी घोटाले में जाता था। कोयला घोटाले में जाता था। कॉमनवेल्थ घोटाले में जाता था, हेलिकॉप्टर घोटाले में जाता था। और मोदी ने ये सारे घोटाले बंद कर दिए। कांग्रेस के करप्शन काल में चुप बिचौलियों की मौज थी, उसको भी मोदी ने ताला लगा दिया। भाजपा सरकार ने सरकारी योजनाओं का पैसा गरीबों के बैंक खातों में सीधे ट्रांसफर करना शुरू किया। आप कल्पना कर सकते हैं 10 साल में भाजपा सरकार ने 33 लाख करोड़ रुपये सीधे गरीबों के बैंक खातों में भेजे, और इसमें से एक रूपया भी इधर का उधर नहीं हो पाया। साथियों कांग्रेस किस तरह गरीबों का हक छिनती है उसका जीता जागता प्रमाण है फर्जी लाभार्थी घोटाला। जितनी मध्य प्रदेश की आबादी है, जितनी छत्तीसगढ़ की आबादी है, दोनों को मिला दें उतने ही फर्जी लाभार्थी कांग्रेस से देश भर में कागजों में पैदा कर दिया। जिसका जन्म नहीं हुआ वो लाभार्थी बन जाता था। यानी करीब-करीब 10 करोड़ फर्जी नाम ऐसे थे जिनका असल में जन्म भी नहीं हुआ था। लेकिन कांग्रेस सरकार उनके नाम पर तिजोरी से पैसे निकालती थी और पैसे गायब हो जाते थे। लोग कांग्रेस के चेले-चपाटों के जेब में चले जाते थे, उनके दलालों के हवाले कर दिया जाता था।

भाइयो बहनो,
इसलिए जब गरीब राशन की दुकान पर जाता था तो गरीब को पता चलता था कि उसका राशन तो कोई और ले गया। जब किसी जरूरतमंद बच्चों को स्कॉलरशिप चाहिए होती थी तो वो हक भी कोई और छीन लेता था। गैस सिलेंडर की सब्सिडी सरकार भेजती थी -लेकिन वो सीधी कांग्रेसी चेले-चपाटों की तिजोरी में जमा हो जाती। लूट का खेल ऐसे ही चल रहा था, लेकिन कांग्रेस का दुर्भाग्य। कांग्रेस का दुर्भाग्य? आपने एक चौकीदार को बिठा दिया। 14 में मोदी आ गया। और मैंने कांग्रेस के फर्जी लाभार्थी घोटाले पर ब्रेक लगा दिया। ये जो 10 करोड़ फर्जी लाभार्थी कांग्रेस ने कागजों में पैदा कर रखे थे, हमने उन्हें भी बाहर निकाल दिया। आज इस वजह से गरीबों के पौने तीन लाख करोड़ रुपये, याद करो 2,75 लाख करोड़ रुपए, कितने? पौने तीन लाख करोड़ कितने?। ज़रा बोलिए आप के पैसे मैंने बचाए हैं। कितने? पौने तीन लाख करोड़, जो सरकारी तिजोरी से चेले चपाटों के कांग्रेस के दलालों की तिजोरी में जाने थे, उसको मोदी ने बचा करके आपके हवाले कर दिया है। यह काम किया है दोस्तों। अब आप सोचिए, जब कांग्रेस को, उसके चेले चपाटों को उसके दलालों को इतना बड़ा नुकसान हो गया। भ्रष्टाचार के काली कमाई को मोदी ने रोक दिया तो मोदी का क्या करेंगे? क्या करेंगे? गाली देंगे कि नहीं देंगे? गाली देंगे कि नहीं देंगे? ये जो गालियां पड़ रही है ना, इसका कारण वही है। मोदी ने सारी दुकानें बंद करके रख दी है। और मोदी को कौन लाया? कौन लाया मोदी को ? मोदी में हिम्मत कहाँ से आई? ये देश की जनता है जो मोदी को लाई है और देश की जनता के आशीर्वाद है, जिससे मुझे ताकत मिली है। इसलिए कांग्रेस अपने सारी दुश्मनी मोदी के साथ ही देश की जनता से भी निकाल रही है। सिर्फ मुझे ही नहीं आपको भी परेशान करने पर लगी हुई है।

मेरे परिवारजनों,
मध्य प्रदेश के मेरे प्यारे भाइयों और बहनों आपको मेरी एक सीख याद जरूर रखनी है। कभी मत भूलिए। कांग्रेस आई तबाही लाई। जहाँ-जहाँ कांग्रेस आई वहाँ-वहाँ तबाही लाई। अगर गलती से भी कांग्रेस आ गई फिर तो आपको सरकार से मिलने वाली सारी मदद ये बंद कर देंगे। कांग्रेस आई तो मुफ्त राशन मिलना बंद हो जाएगा, कांग्रेस आई तो मुफ्त इलाज मिलना बंद हो जाएगा। कांग्रेस आई तो किसान सम्मान निधि के पैसे मिलने बंद हो जाएंगे। यहाँ जो शिवराज जी की सरकार ने लाली बहना, लाडली लक्ष्मी जैसी योजनाएं चलाई है, ये उनको भी नहीं छोड़ेंगे। इसलिए आपको अपना एक-एक वोट को कमल के फूल पर डालकर कांग्रेस के घोटालेवाजों को रोकना है। आप मेरे एक बात और याद रखिएगा। यहां एमपी में कांग्रेस ने आपके सामने दो ऐसे नेता खड़े किए हैं? जो कई बार दशकों से मध्य प्रदेश कांग्रेस को चलाते हैं। अब आज क्या काम कर रहे हैं? दोनों कपड़ा फाड़ नेता बन गए हैं। एक दूसरे के कपड़े फाड़ रहे है। एक अपने समर्थकों को कहते उसके कपड़े फाड़, वो अपने चेलों को कहते हैं कि तुम दूसरों के कपड़े फाड़। यही नेता एमपी को दशकों तक अपने पांव में रखने वाले एमपी को वंचित रखने के लिए जिम्मेदार हैं? ये आपके बेहतर भविष्य का भरोसा कभी नहीं दे सकते। इनका तो अभी बस एक ही एजेंडा है। 3 दिसंबर को भाजपा से हारने के बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस पर किसका बेटा कब्जा करेगा? इनकी लड़ाई ये है अपने बेटों को सेट करने में वो पूरे मध्य प्रदेश को अपसेट करने में लगे हुए हैं। जिनको सिर्फ अपने बेटों की ही चिंता है, वे एमपी के गरीब, वंचित, मध्यम वर्ग के बेटे बेटियों की चिंता ही नहीं कर सकते।

मेरे परिवारजनों,
सतना सहित पूरे विंध्य क्षेत्र के विकास हमें मिलकर तेज करना है। भाजपा सरकार इस क्षेत्र पर्यटक उद्योग को नया विस्तार देने जा रही है। केंद्र की भाजपा सरकार रामायण सर्किट के बहुत बड़े प्रोजेक्ट पर काम कर रही है। चित्रकूट सहित एमपी के अनेक स्थान इस योजना का हिस्सा है। ये क्षेत्र सीमेंट कारखानों के लिए जाना जाता है। आने वाले समय में यहाँ दूसरे उद्योगों का विस्तार किया जाएगा। उद्योगों के लिए अच्छी कनेक्टिविटी और पर्याप्त बिजली की जरूरत है। आज भाजपा डबल इंजन सरकार इस पर बहुत ज़ोर दे रही है। जबलपुर कट्टी सप्ताह सिंगरौली इन्वेस्टमेंट कॉरिडोर और एलिवेटेड कॉरिडोर के इस क्षेत्र में निवेश की नई संभावनाएं बनेंगी। लघु उद्योग, कुटीर उद्योग, खेती से जुड़े उद्योग इनके लिए आने वाला समय बहुत उज्ज्वल होने वाला। यहां एमपी में छोटे, मझोले और लघु उद्योगों के लिए भाजपा सरकार ने सैकड़ों करोड़ रुपए की मदद की। भाजपा सरकार ने एमपी में लगभग ढाई सौ औद्योगिक क्षेत्र और 50 से अधिक एमएसएमई कंस्ट्रक्शन की स्वीकृति दी है। 3 दिसंबर को भाजपा की जीत के बाद इन सभी पर काम और तेज हो जाएगा। और ये मोदी की गारंटी है।

मेरे परिवारजनों,
इन चुनावों में मेरे जो पहली बार वोट देने वाले नौजवान हैं। जो पहली बार वोट देने वाले बेटे बेटी है जो फर्स्ट टाइम वोटर हैं, मेरे युवा साथी हैं, मैं कहता हूँ इस बार नेतृत्व आप कीजिए, पूरे चुनाव को लीड आप कीजिए। पूरे देश के आशीर्वाद आपके साथ है। भाजपा अब एमपी को समृद्धि के शिखर की तरफ ले जाना चाहती है। यह सिर्फ अपना विधायक चुनने का चुनाव नहीं है। ये आपका भविष्य चुनने का चुनाव है। अपना और अपने बच्चों का भविष्य बनाने के लिए आप को कमल का फूल चुनना। मैं आज अपने भाजपा के कार्यकर्ताओं से भी एक बात कहूंगा जो भाजपा कार्यकर्ता इस रैली में है जो भाजपा कार्यकर्ता मध्य प्रदेश के कोने कोने में अपना खून पसीना एक कर रहे हैं। मेरे लिए सारे कार्यकर्ता, चाहे मैं उनको मिल पाऊं या ना मिल पाऊं, अखबार में उनकी तस्वीर छपे या ना छपे टीवी पर वे कभी नजर आए या ना आए ऐसे लाखों कार्यकर्ता चार चार पीढ़ी से जुटे हुए परिवार ये मेरे लिए वंदनीय लोग हैं। मेरा एक-एक कार्यकर्ता मेरे लिए श्रद्धा का केंद्र है। जब उनको मैं परिश्रम करते हुए देखता हूँ, जी जान से जुटे हुए देखता हूँ और सिर्फ एक ही इरादा होता है भारत माता की जय। उससे अधिक जिसे कुछ नहीं चाहिए ऐसे लाखों कार्यकर्ताओं को निर्माण करने का काम भाजपा ने किया है। ये भाजपा कार्यकर्ताओं का परिश्रम है जिसने भाजपा को आज यहाँ इतनी मजबूत स्थिति में पहुंचाया। यह भाजपा कार्यकर्ताओं की मेहनत है जिससे एमपी के कांग्रेस की हालत खराब है। हर बूथ पर कमल खिले। इस संकल्प के साथ ही हमें एकजुट होकर आगे बढ़ना है।
आप घर घर जाएंगे। इतनी बड़ी सभा के बाद ये तो नहीं कहोगे कि बहुत हो गया ऐसा नहीं करोगे ना? हर बूथ में जाओगे? कमल खिलाओगे? कांग्रेस को साफ कर दोगे? बीजेपी को शानदार जिताओगे? पक्का? गारंटी? देखिए इस चुनाव में आप ही की गारंटी है भाजपा को जिताने की गारंटी। अच्छा, मेरा एक काम करोगे? ये चुनाव वाला काम नहीं है, मेरा व्यक्तिगत काम है करोगे? आवाज़ ठंडी हो गई है आपलोगों की। ऐसा प्यार क्या आपका? यह मेरा निजी काम है, करोगे? सब करोगे? पक्का करोगे? देखिये, आप घर घर जाइए। गांव-गांव घर-घर जाइए, और जा करके बताना। मोदी जी सतना आए थे, आप सबको उन्होंने प्रणाम भेजा है। राम-राम कहा है। मेरा राम-राम पहुंचा दोगे? मेरा प्रणाम पहुंचा दोगे? आप उनको जब मेरा प्रणाम पहुँचाओगे ना? तो मन से मुझे आशीर्वाद मिलेगा, और जब हर परिवार से मुझे आशीर्वाद मिलेगा, तो मेरी अनेक गुना बढ़ जाएगी और देश के लिए काम करने के लिए मुझे एक नई शक्ति मिलेगी। मेरे साथ बोलिए भारत माता की... भारत माता की... भारत माता की... बहुत बहुत धन्यवाद।

Explore More
୭୭ତମ ସ୍ବାଧୀନତା ଦିବସ ଅବସରରେ ଲାଲକିଲ୍ଲା ପ୍ରାଚୀରରୁ ପ୍ରଧାନମନ୍ତ୍ରୀ ନରେନ୍ଦ୍ର ମୋଦୀଙ୍କ ଅଭିଭାଷଣର ମୂଳ ପାଠ

ଲୋକପ୍ରିୟ ଅଭିଭାଷଣ

୭୭ତମ ସ୍ବାଧୀନତା ଦିବସ ଅବସରରେ ଲାଲକିଲ୍ଲା ପ୍ରାଚୀରରୁ ପ୍ରଧାନମନ୍ତ୍ରୀ ନରେନ୍ଦ୍ର ମୋଦୀଙ୍କ ଅଭିଭାଷଣର ମୂଳ ପାଠ
India's Three-Dimensional Approach Slashes Left Wing Extremism Violence by Over 50%, Reveals MHA Data

Media Coverage

India's Three-Dimensional Approach Slashes Left Wing Extremism Violence by Over 50%, Reveals MHA Data
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
The Ashwamedha Yagya organized by the Gayatri Parivar has become a grand social campaign: PM Modi
February 25, 2024
"The Ashwamedha Yagya organized by the Gayatri Parivar has become a grand social campaign"
"Integration with larger national and global initiatives will keep youth clear of small problems"
“For building a substance-free India, it is imperative for families to be strong as institutions”
“A motivated youth cannot turn towards substance abuse"

गायत्री परिवार के सभी उपासक, सभी समाजसेवी

उपस्थित साधक साथियों,

देवियों और सज्जनों,

गायत्री परिवार का कोई भी आयोजन इतनी पवित्रता से जुड़ा होता है, कि उसमें शामिल होना अपने आप में सौभाग्य की बात होती है। मुझे खुशी है कि मैं आज देव संस्कृति विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित अश्वमेध यज्ञ का हिस्सा बन रहा हूँ। जब मुझे गायत्री परिवार की तरफ से इस अश्वमेध यज्ञ में शामिल होने का निमंत्रण मिला था, तो समय अभाव के साथ ही मेरे सामने एक दुविधा भी थी। वीडियो के माध्यम से भी इस कार्यक्रम से जुड़ने पर एक समस्या ये थी कि सामान्य मानवी, अश्वमेध यज्ञ को सत्ता के विस्तार से जोड़कर देखता है। आजकल चुनाव के इन दिनों में स्वाभाविक है कि अश्वमेध यज्ञ के कुछ और भी मतलब निकाले जाते। लेकिन फिर मैंने देखा कि ये अश्वमेध यज्ञ, आचार्य श्रीराम शर्मा की भावनाओं को आगे बढ़ा रहा है, अश्वमेध यज्ञ के एक नए अर्थ को प्रतिस्थापित कर रहा है, तो मेरी सारी दुविधा दूर हो गई।

आज गायत्री परिवार का अश्वमेध यज्ञ, सामाजिक संकल्प का एक महा-अभियान बन चुका है। इस अभियान से जो लाखों युवा नशे और व्यसन की कैद से बचेंगे, उनकी वो असीम ऊर्जा राष्ट्र निर्माण के काम में आएगी। युवा ही हमारे राष्ट्र का भविष्य हैं। युवाओं का निर्माण ही राष्ट्र के भविष्य का निर्माण है। उनके कंधों पर ही इस अमृतकाल में भारत को विकसित बनाने की जिम्मेदारी है। मैं इस यज्ञ के लिए गायत्री परिवार को हृदय से शुभकामनाएँ देता हूँ। मैं तो स्वयं भी गायत्री परिवार के सैकड़ों सदस्यों को व्यक्तिगत रूप से जानता हूं। आप सभी भक्ति भाव से, समाज को सशक्त करने में जुटे हैं। श्रीराम शर्मा जी के तर्क, उनके तथ्य, बुराइयों के खिलाफ लड़ने का उनका साहस, व्यक्तिगत जीवन की शुचिता, सबको प्रेरित करने वाली रही है। आप जिस तरह आचार्य श्रीराम शर्मा जी और माता भगवती जी के संकल्पों को आगे बढ़ा रहे हैं, ये वास्तव में सराहनीय है।

साथियों,

नशा एक ऐसी लत होती है जिस पर काबू नहीं पाया गया तो वो उस व्यक्ति का पूरा जीवन तबाह कर देती है। इससे समाज का, देश का बहुत बड़ा नुकसान होता है।इसलिए ही हमारी सरकार ने 3-4 साल पहले एक राष्ट्रव्यापी नशा मुक्त भारत अभियान की शुरूआत की थी। मैं अपने मन की बात कार्यक्रम में भी इस विषय को उठाता रहा हूं। अब तक भारत सरकार के इस अभियान से 11 करोड़ से ज्यादा लोग जुड़ चुके हैं। लोगों को जागरूक करने के लिए बाइक रैलियां निकाली गई हैं, शपथ कार्यक्रम हुए हैं, नुक्कड़ नाटक हुए हैं। सरकार के साथ इस अभियान से सामाजिक संगठनों और धार्मिक संस्थाओं को भी जोड़ा गया है। गायत्री परिवार तो खुद इस अभियान में सरकार के साथ सहभागी है। कोशिश यही है कि नशे के खिलाफ संदेश देश के कोने-कोने में पहुंचे। हमने देखा है,अगर कहीं सूखी घास के ढेर में आग लगी हो तो कोई उस पर पानी फेंकता है, कई मिट्टी फेंकता है। ज्यादा समझदार व्यक्ति, सूखी घास के उस ढेर में, आग से बची घास को दूर हटाने का प्रयास करता है। आज के इस समय में गायत्री परिवार का ये अश्वमेध यज्ञ, इसी भावना को समर्पित है। हमें अपने युवाओं को नशे से बचाना भी है और जिन्हें नशे की लत लग चुकी है, उन्हें नशे की गिरफ्त से छुड़ाना भी है।

साथियों,

हम अपने देश के युवा को जितना ज्यादा बड़े लक्ष्यों से जोड़ेंगे, उतना ही वो छोटी-छोटी गलतियों से बचेंगे। आज देश विकसित भारत के लक्ष्य पर काम कर रहा है, आज देश आत्मनिर्भर होने के लक्ष्य पर काम कर रहा है। आपने देखा है, भारत की अध्यक्षता में G-20 समिट का आयोजन 'One Earth, One Family, One Future' की थीम पर हुआ है। आज दुनिया 'One sun, one world, one grid' जैसे साझा प्रोजेक्ट्स पर काम करने के लिए तैयार हुई है। 'One world, one health' जैसे मिशन आज हमारी साझी मानवीय संवेदनाओं और संकल्पों के गवाह बन रहे हैं। ऐसे राष्ट्रीय और वैश्विक अभियानों में हम जितना ज्यादा देश के युवाओं को जोड़ेंगे, उतना ही युवा किसी गलत रास्ते पर चलने से बचेंगे। आज सरकार स्पोर्ट्स को इतना बढ़ावा दे रही है..आज सरकार साइंस एंड रिसर्च को इतना बढ़ावा दे रही है... आपने देखा है कि चंद्रयान की सफलता ने कैसे युवाओं में टेक्नोलॉजी के लिए नया क्रेज पैदा कर दिया है...ऐसे हर प्रयास, ऐसे हर अभियान, देश के युवाओं को अपनी ऊर्जा सही दिशा में लगाने के लिए प्रेरित करते हैं। फिट इंडिया मूवमेंट हो....खेलो इंडिया प्रतियोगिता हो....ये प्रयास, ये अभियान, देश के युवा को मोटीवेट करते हैं। और एक मोटिवेटेड युवा, नशे की तरफ नहीं मुड़ सकता। देश की युवा शक्ति का पूरा लाभ उठाने के लिए सरकार ने भी मेरा युवा भारत नाम से बहुत बड़ा संगठन बनाया है। सिर्फ 3 महीने में ही इस संगठन से करीब-करीब डेढ़ करोड़ युवा जुड़ चुके हैं। इससे विकसित भारत का सपना साकार करने में युवा शक्ति का सही उपयोग हो पाएगा।

साथियों,

देश को नशे की इस समस्या से मुक्ति दिलाने में बहुत बड़ी भूमिका...परिवार की भी है, हमारे पारिवारिक मूल्यों की भी है। हम नशा मुक्ति को टुकड़ों में नहीं देख सकते। जब एक संस्था के तौर पर परिवार कमजोर पड़ता है, जब परिवार के मूल्यों में गिरावट आती है, तो इसका प्रभाव हर तरफ नजर आता है। जब परिवार की सामूहिक भावना में कमी आती है... जब परिवार के लोग कई-कई दिनों तक एक दूसरे के साथ मिलते नहीं हैं, साथ बैठते नहीं हैं...जब वो अपना सुख-दुख नहीं बांटते... तो इस तरह के खतरे और बढ़ जाते हैं। परिवार का हर सदस्य अपने-अपने मोबाइल में ही जुटा रहेगा तो फिर उसकी अपनी दुनिया बहुत छोटी होती चली जाएगी।इसलिए देश को नशामुक्त बनाने के लिए एक संस्था के तौर पर परिवार का मजबूत होना, उतना ही आवश्यक है।

साथियों,

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह के समय मैंने कहा था कि अब भारत की एक हजार वर्षों की नई यात्रा शुरू हो रही है। आज आजादी के अमृतकाल में हम उस नए युग की आहट देख रहे हैं। मुझे विश्वास है कि, व्यक्ति निर्माण से राष्ट्र निर्माण के इस महाअभियान में हम जरूर सफल होंगे। इसी संकल्प के साथ, एक बार फिर गायत्री परिवार को बहुत-बहुत शुभकामनाएं।

आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद!