"कौशल दीक्षांत समारोह आज के भारत की प्राथमिकताएं दर्शाता है"
"मजबूत युवाशक्ति के साथ देश अधिक विकसित होता है, जिससे देश के संसाधनों से न्याय होता है"
"आज पूरे विश्व को विश्वास है कि ये सदी भारत की सदी होने वाली है"
"हमारी सरकार ने कौशल के महत्व को समझा और इसके लिए अलग मंत्रालय बनाया, अलग बजट आवंटित किया"
"उद्योग, अनुसंधान और कौशल विकास संस्थानों के लिए वर्तमान समय के अनुरूप सामंजस्य महत्वपूर्ण"
“भारत में कौशल विकास का दायरा लगातार बढ़ रहा है, हम केवल मैकेनिकों, इंजीनियरों, प्रौद्योगिकी या किसी अन्य सेवा तक ही सीमित नहीं हैं
"भारत में बेरोजगारी दर 6 साल में सबसे निचले स्तर पर"
"आईएमएफ को भारत के अगले 3-4 वर्षों में दुनिया की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में आने का भरोसा"

नमस्कार!

स्किल डवलपमेंट का ये उत्सव अपने आप में अनूठा है। पूरे देश में स्किल डवलपमेंट से जुड़े संस्थानों का ऐसा साझा कौशल दीक्षांत समारोह, एक बहुत ही सराहनीय पहल है। ये आज के भारत की प्राथमिकताओं को भी दर्शाता है। इस आयोजन में देश के हजारों युवा, टेक्नोलॉजी के माध्यम से जुड़े हुए हैं। मैं सभी युवाओं को बेहतर भविष्य के लिए बहुत-बहुत शुभकामनाएं देता हूं।

मेरे युवा साथियों,

हर देश के पास अलग-अलग तरह का सामर्थ्य होता है, जैसे प्राकृतिक संसाधन, खनिज संसाधन या लंबे समुद्र तट। लेकिन इस सामर्थ्य को उपयोग में लाने के लिए जिस एक महत्वपूर्ण शक्ति की जरूरत होती है, वो है युवा शक्ति। और ये युवाशक्ति जितनी सशक्त होती है, उतना ही देश का विकास होता है, देश के संसाधनों के साथ न्याय होता है। आज भारत इसी सोच के साथ अपनी युवाशक्ति को Empower कर रहा है, पूरे इकोसिस्टम में अभूतपूर्व सुधार कर रहा है। और इसमें भी देश की अप्रोच दोतरफा है। हम अपने युवाओं को skilling और education के द्वारा नए अवसरों का लाभ उठाने के लिए तैयार कर रहे हैं। करीब 4 दशक बाद हम नई national education policy लेकर आए हैं। बड़ी संख्या में हमने नए मेडिकल कॉलेज, IIT, IIM या ITI जैसे कौशल विकास संस्थान खोले हैं। करोड़ों युवाओं को प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत ट्रेनिंग दी गई है। वहीं दूसरी तरफ, हम नौकरी देने वाले traditional sectors को भी मजबूत कर रहे हैं। हम रोजगार और entreprneurship को बढ़ावा देने वाले नए सेक्टर को भी बढ़ावा दे रहे हैं। आज भारत, goods exports, मोबाइल एक्सपोर्ट्स, इलेक्ट्रॉनिक एक्सपोर्ट्स, services exports, defence exports और manufacturing में नए रिकॉर्ड बना रहा है। और साथ ही, भारत, स्पेस, स्टार्टअप्स, ड्रोन, एनिमेशन, इलेक्ट्रिक व्हीकल्स, सेमीकंडक्टर, जैसे कई सेक्टर्स में आप जैसे युवाओं के लिए बड़ी संख्या में नए अवसर भी तैयार कर रहा है।

साथियों,

आज पूरी दुनिया मान रही है कि ये सदी भारत की सदी होने वाली है। और इसके पीछे भी बहुत बड़ी वजह भारत की युवा आबादी ही है। जब दुनिया के अनेक देशों में बुजुर्ग आबादी बढ़ रही है, तब भारत दिनों-दिन युवा हो रहा है। भारत के पास ये बहुत बड़ा एडवांटेज है। पूरी दुनिया स्किल्ड युवाओं के लिए भारत की तरफ देख रही है। हाल में G20 समिट में ग्लोबल स्किल मैपिंग को लेकर भारत के प्रस्ताव को स्वीकार किया गया है। इससे आप जैसे युवाओं के लिए आने वाले समय में और बेहतर अवसर बनेंगे। देश और दुनिया में बन रहे किसी भी मौके को हमें गंवाना नहीं है। भारत सरकार आपके साथ, आपकी हर जरूरत में आपके साथ है। हमारे यहां पहले की सरकारों में स्किल पर उतना ध्यान नहीं दिया गया था। हमारी सरकार ने स्किल का महत्व समझा और इसके लिए अलग से मंत्रालय बनाया, अलग से बजट दिया। भारत, आज अपने युवाओं की स्किल्स पर जितना Invest कर रहा है, उतना पहले कभी नहीं किया गया। प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना ने ग्राउंड लेवल पर युवा साथियों को बहुत शक्ति दी है। इस योजना के तहत अभी तक करीब डेढ़ करोड़ युवाओं की ट्रेनिंग हो चुकी है। अब तो इंडस्ट्रियल क्लस्टर्स के आस-पास ही नए कौशल केंद्र भी स्थापित किए जा रहे हैं। इससे इंडस्ट्री, अपनी ज़रूरतें स्किल डेवलपमेंट संस्थानों के साथ शेयर कर पाएंगी। और उनके अनुसार ही, ज़रूरी स्किल सेट, युवाओं में डेवलप करके, उन्हें रोज़गार से जोड़ा जाएगा।

साथियों,

आप भी जानते हैं कि अब वो ज़माना नहीं है कि एक काम सीख गए तो, बस जीवन भर उससे काम चल जाएगा। अब skilling, Upskilling और re-skilling का एक पैटर्न है, जिसे हम सभी को फॉलो करना होगा। डिमांड तेज़ी से बदल रही हैं, Nature of Job बदल रहा है। उसके हिसाब से हमारी स्किल्स को भी हमें अपग्रेड करते रहना होगा। इसलिए इंडस्ट्री, रिसर्च और स्किल डेवलपमेंट संस्थानों का समय के अनुरूप होना बहुत आवश्यक है। किस स्किल में नयापन आ गया है, किसकी कितनी ज़रूरत है, पहले इस पर भी फोकस कम ही था। अब ये स्थिति भी बदली जा रही है। बीते 9 वर्षों में करीब 5 हज़ार नई ITI देश में बनाई गई हैं। इससे देश में ITI की 4 लाख से अधिक नई सीटें जुड़ी हैं। इन संस्थानों को मॉडल ITI के रूप में अपग्रेड किया जा रहा है। मकसद ये है कि best practices के साथ ही इनमें efficient और high quality training दी जा सके।

साथियों,

भारत में स्किल डवलपमेंट का दायरा लगातार बढ़ रहा है। हम सिर्फ मैकेनिक, इंजीनियर, टेक्नॉलॉजी, या कोई दूसरी सर्विस, इतने तक ही सीमित नहीं है। अब जैसे महिलाओं से जुड़े सेल्फ हेल्प ग्रुप्स हैं। अब ड्रोन टेक्नॉलॉजी के लिए महिला सेल्फ हेल्प ग्रुप्स को तैयार किया जा रहा है। इसी प्रकार हमारे विश्वकर्मा साथी हैं। ये हमारे जीवन के महत्वपूर्ण हिस्सा रहे हैं। इनके बिना कोई भी काम नहीं चलता। लेकिन परंपरागत रूप से, अपने बड़ों से जो काम ये सीखते हैं, वही आगे बढ़ाते हैं। अब पीएम विश्वकर्मा योजना से इनके इस परंपरागत कौशल को आधुनिक टेक्नॉलॉजी और टूल्स से जोड़ा जा रहा है।

मेरे युवा साथियों,

जैसे-जैसे भारत की अर्थव्यवस्था का विस्तार हो रहा है, आप जैसे युवाओं के लिए नई संभावनाएं बनती जा रही हैं। अभी हाल ही में हुए एक सर्वे में सामने आया है कि भारत में रोजगार निर्माण एक नई ऊंचाई पर पहुंचा है। भारत में बेरोजगारी दर अपने 6 साल के सबसे निचले स्तर पर है। ये मैं बेरोज़गारी की बात कर रहा हूँ । भारत के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों, दोनों में ही बेरोजगारी तेजी से कम हो रही है। इसका अर्थ ये कि विकास का लाभ गांव और शहर, दोनों ही जगहों पर बराबर पहुंच रहा है। इससे ये भी पता चलता है कि गांव और शहर, दोनों ही जगहों पर नए अवसर भी समान रूप से बढ़ रहे हैं। इस सर्वे की एक और बहुत प्रमुख बात है। सर्वे में सामने आया है कि भारत की work force में महिलाओं की भागीदारी में अभूतपूर्व वृद्धि हुई है। नारी सशक्तिकरण को लेकर भारत में बीते वर्षों में जो योजनाएं बनीं हैं, जो अभियान चलाए गए हैं, ये उनका प्रभाव है।

साथियों,

अंतरराष्ट्रीय संस्था- IMF ने भी जो आंकड़े जारी किए हैं, वो भी आप सभी युवाओं का उत्साह बढ़ाने वाले हैं। IMF ने कहा है कि भारत आने वाले वर्षों में भी fastest growing major economy बना रहेगा। आपको याद होगा, मैंने भारत को दुनिया की टॉप तीन इकॉनॉमी में लाने की गारंटी दी है। IMF, को भी इस बात का पूरा विश्वास है कि भारत अगले 3-4 साल में दुनिया की टॉप तीन अर्थव्यवस्थाओं में शामिल हो जाएगा। यानि आपके लिए नए अवसर बनेंगे, आपको रोजगार-स्वरोजगार के और ज्यादा मौके मिलेंगे।

साथियों,

आपके सामने अवसर ही अवसर हैं। हमें भारत को दुनिया में स्किल्ड मैनपावर का भी सबसे बड़ा पावर सेंटर बनाना है। हमें दुनिया को Smart और Skilled Man-power Solutions देने हैं। सीखने, सिखाने और आगे बढ़ने का ये सिलसिला चलता रहे। आपको जीवन में हर कदम पर सफलता मिले।यही मेरी शुभकामना है। आप सब को अनेक अनेक शुभकामनाएं देते हुए मैं आपका ह्रदय से धन्यवाद करता हूँ !

Explore More
अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी
How Kibithoo, India’s first village, shows a shift in geostrategic perception of border space

Media Coverage

How Kibithoo, India’s first village, shows a shift in geostrategic perception of border space
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
PM announces ex-gratia for the victims of Kasganj accident
February 24, 2024

The Prime Minister, Shri Narendra Modi has announced ex-gratia for the victims of Kasganj accident. An ex-gratia of Rs. 2 lakh from PMNRF would be given to the next of kin of each deceased and the injured would be given Rs. 50,000.

The Prime Minister Office posted on X :

"An ex-gratia of Rs. 2 lakh from PMNRF would be given to the next of kin of each deceased in the mishap in Kasganj. The injured would be given Rs. 50,000"