साझा करें
 
Comments
"आप नवप्रवर्तनकर्ता 'जय अनुसंधान' के उद्घोष के ध्वजवाहक हैं"
"आपकी अभिनव सोच अगले 25 वर्षों में भारत को शीर्ष पर ले जाएगी"
"भारत का आकांक्षी समाज आगामी 25 वर्षों में नवाचार के लिए प्रेरक शक्ति के रूप में कार्य करेगा"
"आज भारत में प्रतिभा क्रांति हो रही है"
"अनुसंधान और नवाचार को कार्य करने के तरीके से जीवन जीने के तरीके में बदलना होगा"
"भारतीय नवाचार हमेशा सबसे अधिक प्रतिस्पर्धी, किफायती, दीर्घकालिक, सुरक्षित और व्यापक स्तर पर समाधान प्रदान करते हैं"
“21वीं सदी का भारत अपने युवाओं पर भरपूर भरोसे के साथ आगे बढ़ रहा है”

युवा साथियों,

वाकई, आप सभी इनोवेटर्स से मिलकर, बात करके मुझे बहुत अच्छा लगा। ऐसे नए-नए विषयों को आप छू रहे हैं, आप जैसे युवा अपने कार्यों में जो नवीनता लाते हैं, जिस आत्मविश्वास से आप अपना काम करते हैं, ये मेरे जैसे अनेक लोगों के लिए कुछ न कुछ नया करने की प्रेरणा बन जाते हैं। एक प्रकार से आप source of inspiration बन जाते हैं, तो मैं आपको बहुत बधाई देता हूं।

स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन, public participation का बहुत बेहतरीन उदाहरण बन चुका है। और साथियों, इस बार का स्मार्ट इंडिया हैकाथॉन कई मायनों में बहुत महत्वपूर्ण है। अब से कुछ दिन पहले ही हमने आजादी के 75 वर्ष पूरे किए हैं। आजादी के 100 वर्ष होने पर हमारा देश कैसा होगा, इसे लेकर देश बड़े संकल्पों पर काम कर रहा है। इन संकल्पों की पूर्ति के लिए 'जय अनुसंधान' इसके उद्घोष के ध्वजावाहक आप innovators हैं।

अमृतकाल का ये 25 वर्ष का Time Period आपके लिए अभूतपूर्व संभावनाएं लेकर आया है। ये संभावनाएं और ये संकल्प सीधे-सीधे आपके करियर ग्रोथ से भी जुड़े हैं। अगले 25 वर्ष में आप युवाओं की सफलता, भारत की सफलता को तय करेगी। इसलिए मैं आप सभी को लेकर बहुत विश्वास से भरा हुआ हूं। हिन्‍दुस्‍तान गर्व करता है आप पर। आप सभी का इनोवेटिव माइंडसेट आने वाले 25 वर्षों में भारत को टॉप पर पहुंचाएगा। आप सभी पर मेरे इस विश्वास की ठोस वजहें भी हैं।

साथियों,

इस बार 15 अगस्त को मैंने लाल किले से कहा है कि भारत में कितनी बड़ी Aspirational Society आज विकसित हो रही है, विस्तार हो रहा है। इस अमृतकाल में ये Aspirational Society, एक ड्राइविंग फोर्स की तरह काम करेगी। इसकी अपेक्षाएं, इसकी उम्मीदें, इससे जुड़े हुए Challenges, आपके लिए बहुत सारे नए अवसर लेकर आएंगी।

साथियों,

आप सभी ने अपनी शिक्षा के शुरुआती दौर में पढ़ा होगा कि 60-70 के दशक में Green Revolution हुआ था। भारत के किसानों ने अपना सामर्थ्य दिखाया और हमें अन्न के मामले में आत्मनिर्भर बना दिया। लेकिन आप ये देख रहे हैं कि पिछले 7-8 वर्षों में देश एक के बाद एक Revolution करते हुए तेजी से आगे बढ़ रहा है।

भारत में आज Infrastructure Revolution रहा है। भारत में आज Health Sector Revolution हो रहा है। भारत में आज Digital Revolution हो रहा है। भारत में आज Technology Revolution हो रहा है। भारत में आज Talent Revolution हो रहा है। Agriculture सेक्टर हो, Education सेक्टर हो, डिफेंस सेक्टर हो, आज देश का जोर, हर सेक्टर को आधुनिक बनाने पर है। हर सेक्‍टर को आत्‍मनिर्भर बनाने पर है। और इसलिए ही आप सभी युवाओं के लिए भारत में हर रोज नई Opportunities बन रही हैं।

ड्रोन टेक्नॉलॉजी, टेली-कंसल्टेशन, डिजिटल इंस्टीट्यूशन्स, वर्चुअल सोल्यूशन्स, इन सभी में सर्विस से लेकर मैन्युफैक्चरिंग तक आपके लिए बहुत संभावनाएं हैं। आप जैसे युवा खेती और हेल्थ सेक्टर में ड्रोन टेक्नोलॉजी के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए नए-नए सोल्यूशन्स पर काम कर सकते हैं। अपने सिंचाई के उपकरणों को, सिंचाई के नेटवर्क को हम स्मार्ट कैसे बना सकते हैं, इसमें भी बहुत संभावनाएं हैं।

साथियों,

आज देश के गांव-गांव में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने का काम तेज गति से चल रहा है। आपने ये भी देखा है कि अब भारत में 5G लॉन्च हो रहा है। इस दशक के अंत तक हम 6G लॉन्च करने की तैयारी कर रहे हैं। गेमिंग और एंटरटेनमेंट में भी भारतीय सोल्यूशन्स को सरकार बहुत प्रोत्साहित कर रही है। इन सारे नए सेक्टर्स पर सरकार जिस प्रकार निवेश कर रही है, जैसे इन्हें प्रोत्साहन दे रही है, उसका लाभ आप सभी नौजवानों को ज़रूर उठाना चाहिए।

और साथियों, आपको एक बात और याद रखनी है। दुनिया में एक बहुत बड़ी आबादी है जिनकी समस्याएं भारत जैसी ही हैं। लेकिन वहां उन समस्याओं को डील करने के लिए इनोवेशन और स्टार्ट अप्स की संभावनाएं सीमित हैं। भारत के इनोवेशन दुनिया में सबसे competitive, affordable, sustainable, secure और बड़े scale पर लागू होने वाले समाधान देते हैं। इसलिए दुनिया की उम्मीदें भारत से हैं, आप जैसे युवाओं से हैं।

साथियों,

आज के इस कार्यक्रम में हमारे साथ शिक्षा जगत के दिग्गज, पॉलिसी मेकर्स भी जुड़े हुए हैं। भारत में इनोवेशन का कल्चर बढ़ाने के लिए हमें दो बातों पर निरंतर ध्यान देना होगा। Social support और institutional support. आज हम देख रहे हैं कि Innovation और Enterprise को लेकर समाज में बदलाव दिखने लगा है। हम करियर बनाने के पारंपरिक विकल्पों के अलावा नए क्षेत्रों में भी हाथ आजमाने लगे हैं। यानी समाज में innovation as a profession, इसकी स्वीकृति बढ़ रही है। ऐसे में हमें नए आइडियाज और original thinking को भी स्वीकृति देनी होगी, सम्मान देना होगा। रिसर्च और इनोवेशन को way of working से way of living (लिविंग) बनाना होगा।

साथियों,

रिसर्च और इनोवेशन की दिशा में institutional support को बढ़ाने के लिए सरकार लगातार काम कर रही है। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति में इनोवेशन के लिए एक मजबूत फाउंडेशन तैयार करने का रोडमैप है। अटल इन्क्यूबेशन मिशन के तहत स्थापित हो रही अटल टिंकरिंग लैब्स स्कूलों में इनोवेटर्स की एक नई पीढ़ी को तैयार कर रही है। देश में i-Create जैसी संस्थाएं भी सफलता के साथ काम कर ही हैं, जो अब तक 500 से ज्यादा स्टार्टअप्स को सपोर्ट कर चुकी हैं।

साथियों,

21वीं सदी का आज का भारत, अपने युवाओं पर भरपूर भरोसा करते हुए आगे बढ़ रहा है। इसी का नतीजा है कि आज innovation index में भारत की रैंकिंग बढ़ गई है। पिछले 8 वर्षों में पेटेंट की संख्या 7 गुना बढ़ गई है। यूनिकॉर्न की गिनती भी 100 के पार चली गई है। हम इसमें यकीन नहीं रखते हैं सिर्फ सरकार के पास ही समस्याओं का समाधान है। आप देखिए, मैं तो सरकार को आपके पास लेकर आया हूं। सरकार की इन समस्याओं का मेरे नौजवान सॉल्‍यूशन दें, और आप दे रहे हैं। आपके सामर्थ्य को मैं भली भांति समझता हूं। आज की यंग जेनरेशन ज्यादा तेज और स्मार्ट solution के साथ आगे आ रही है।

इस Hackathon के आयोजन के पीछे एक मकसद ये भी है कि सरकार जिन समस्याओं का समाधान चाहती है, उसे यहां देशभर से आए मेरे नौजवान साथी समस्‍या को समझें, समस्‍या के कारणों को समझें और समस्‍या से मुक्ति का रास्‍ता भी ढूढें, युवा इसे solve करें। Students, Government और Private Organisations के बीच collaboration की ऐसी ही स्पिरिट, सबका प्रयास की ये भावना, विकसित भारत के निर्माण के लिए आवश्यक है।

साथियों,

मुझे पूरा विश्वास है कि आप सभी इन बातों को ध्यान में रखेंगे और इनोवेशन के इस दीये को ऐसे ही प्रज्वलित करते रहेंगे। मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि आपके परिश्रम को, आपके प्रयासों को सरकार का निरंतर साथ मिलेगा। सरकार हर कदम पर आपके साथ खड़ी है।

मैं फिर एक बार आप सभी नौजवानों को...वैसे आपके पास इतना सारा कहने को है। आप लोगों ने घंटों अपना दिमाग खपाया है। आपको सुनना, ये भी मेरे लिए अपने-आप में बहुत कुछ सीखने का कारण बनता है। आप में से बहुतों के पास बहुत कुछ है। मैं सबको नहीं सुन पाया। कुछ ही प्रतिनिधित्‍व तौर पर कुछ नौजवानों से बात हुई। जिनसे बात नहीं हुई है, उनका भी काम कम नहीं है, उनका प्रयास कम नहीं है। और मैं आपको विश्‍वास दिलाता हूं, मैं डिपार्टमेंट के द्वारा उसका briefing लूंगा। और आप लोगों ने जो काम किया है, उसको मैं समझने का प्रयास करूंगा। अच्‍छा होता समय ज्‍यादा होता, तो मैं आपसे भी बात करता। लेकिन जिनसे बात नहीं हुई है, उनका काम भी उतना ही महत्‍वपूर्ण है।

मैं फिर एक बार आप सभी नौजवानों को हृदय से बहुत-बहुत बधाई देता हूं। और सरकार के काम में सरकार के साथ खड़े हो करके जनता की भलाई के इस अभियान में हम निरंतर आगे बढ़ते रहें, यही मेरी कामना है, आपको शुभकामना है।

बहुत-बहुत धन्यवाद !

 

Explore More
आज का भारत एक आकांक्षी समाज है: स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

आज का भारत एक आकांक्षी समाज है: स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी
Core sector growth at three-month high of 7.4% in December: Govt data

Media Coverage

Core sector growth at three-month high of 7.4% in December: Govt data
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
PM to participate in the Krishnaguru Eknaam Akhanda Kirtan for World Peace on 3rd February
February 01, 2023
साझा करें
 
Comments

Prime Minister Shri Narendra Modi will participate in the Krishnaguru Eknaam Akhanda Kirtan for World Peace, being held at Krishnaguru Sevashram at Barpeta, Assam, on 3rd February 2023 at 4:30 PM via video conferencing. Prime Minister will also address the devotees of Krishnaguru Sevashram.

Paramguru Krishnaguru Ishwar established the Krishnaguru Sevashram in the year 1974, at village Nasatra, Barpeta Assam. He is the ninth descendant of Mahavaishnab Manohardeva, who was the follower of the great Vaishnavite saint Shri Shankardeva. Krishnaguru Eknaam Akhanda Kirtan for World Peace is a month-long kirtan being held from 6th January at Krishnaguru Sevashram.