Excellency,

मेरे प्रिय मित्र राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, 21वे भारत-रूस वार्षिक शिखर सम्मेलन में आपका ह्रदय से बहुत बहुत स्वागत करता हूँ, आपके delegation का स्वागत करता हूं। मैं जानता हूं कि पिछले 2 वर्षों में कोरोना कालखंड़ में यह आपकी दूसरी विदेश यात्रा है। जिस प्रकार से भारत के प्रति आपका लगाव है, आपकी जो निजी प्रतिबद्धता है उसका यह एक प्रकार से प्रतीक है और भारत -Russia संबंधों का कितना महत्व है, वो इससे साफ होता है और इसके लिए मैं आपका बहुत आभारी हूं।

Covid की चुनौतियों के बावजूद भारत और रूस के संबंधों की रफ्तार में कोई बदलाव नहीं आया है। हमारी Special and Privileged Strategic Partnership निरंतर मजबूत होती गई है। Covid के खिलाफ लड़ाई में भी दोनों देशों के बीच बेहतरीन सहयोग रहा है- चाहे vaccine trials और उत्पादन में हो, मानवीय सहायता के लिए हो, या एक दूसरे के नागरिकों की देश वापसी के लिए हो।

 

Excellency,

वर्ष 2021 हमारे द्विपक्षीय संबंधों के लिए कई मायनों में महत्वपूर्ण है। इस वर्ष 1971 की Treaty of Peace, Friendship and Cooperation के पांच दशक और हमारी Strategic Partnership के दो दशक पूरे हो रहे हैं। इस विशेष वर्ष में आपके साथ फिर मिल पाना मेरे लिए हर्ष की बात है क्योंकि हमारी Strategic Partnership में पिछले 20 वर्षों में जो उल्लेखनीय प्रगति हुई है, उसके मुख्य सूत्रधार आप ही रहे हैं।

पिछले कई दशकों में वैश्विक स्तर पर कई fundamental बदलाव आए हैं । कई तरह के geo-political समीकरण उभरे हैं । किन्तु इन सभी variables के बीच भारत -रूस मित्रता एक constant रही है। दोनों देशों ने न सिर्फ एक दूसरे के साथ निसंकोच सहयोग किया है, एक दूसरे की sensitivities का भी विशेष ध्यान रखा है। यह सचमुच inter-state दोस्ती का एक unique और विश्वस्त मॉडल है।

Excellency,

2021 हमारी Strategic Partnership के लिए भी विशेष है। आज हमारे विदेश एवं रक्षा मंत्रियों के बीच 2+2 डायलोग की पहली बैठक हुई। इस से हमारे व्यावहारिक सहयोग को बढ़ाने का एक नया मैकेनिज्म शुरू हुआ है।

अफ़ग़ानिस्तान और दूसरे क्षेत्रीय विषयों पर भी हम निरंतर संपर्क में रहे हैं । Eastern Economic forum और Vladivostok summit से शुरू हुई regional partnership आज Russian Far-east और भारत के राज्यों के बीच वास्तविक सहयोग में बदल रही है ।

आर्थिक क्षेत्र में भी अपने रिश्तों को और घनिष्ट बनाने के लिए हम एक long term vision अपना रहे हैं। हमने 2025 तक 30 billion dollar के trade और 50 billion dollar के निवेश का लक्ष्य रखा है। इन लक्ष्यों तक पहुंचने के लिए हमें अपनी Business communities को guide करना चाहिए।

विभिन्न सेक्टरों में आज हुए हमारे समझौतों से इसमें मदद मिलेगी। Make in India कार्यक्रम के तहत co-development और co-production से हमारा रक्षा सहयोग और मजबूत हो रहा है। Space और Civil nuclear क्षेत्रों में भी हमारा सहयोग आगे बढ़ रहा है।

NAM में आब्जर्वर और IORA में dialogue partner बनने के लिए रूस को बहुत-बहुत बधाई देता हूं। इन दोनों मंचों में रूस की उपस्थिति का समर्थन करना हमारे लिए खुशी की बात थी। हर एक क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर भारत और रूस का एक जैसा मत है। आज की बैठक में हमें इन पर चर्चा करने का अवसर मिलेगा।

Excellency,

एक बार फिर भारत में आपका स्वागत करता हूं, आपके delegation का स्वागत करता हूं। इतनी व्यस्तता के बीच भी आपने भारत आने के लिए समय निकाला, यह हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। मुझे विश्वास है कि आज की चर्चा हमारे संबंधों के लिए बहुत उल्लेखनीय होगी।

फिर एक बार आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

Explore More
अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी

Media Coverage

"India of 21st century does not think small...": PM Modi
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
PM offers prayers at Madurai Meenakshi Amman Temple
February 27, 2024

The Prime Minister, Shri Narendra Modi today offers prayers at Madurai Meenakshi Amman Temple.

PM Modi posted on X :

"Feeling blessed to pray at the Madurai Meenakshi Amman Temple."