"मेघालय ने प्रकृति और प्रगति का, संरक्षण और पर्यावरण-स्थायित्व का संदेश दुनिया को दिया है"
"मेघालय प्रतिभाशाली कलाकारों से भरा हुआ है और शिलांग चैंबर क्वायर इसे नई ऊंचाइयों पर ले गया है"
"मेघालय की समृद्ध खेल संस्कृति से देश को बहुत उम्मीदें हैं"
"मेघालय की बहनों ने बांस-बुनाई की कला को पुनर्जीवित किया है और राज्य के मेहनती किसान जैविक राज्य के रूप में मेघालय की पहचान को मजबूत कर रहे हैं"

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने मेघालय के 50वें स्थापना दिवस पर मेघालय के लोगों को बधाई दी है। उन्होंने उन सभी को श्रद्धांजलि दी, जिन्होंने राज्य की स्थापना और विकास में योगदान दिया है। इस अवसर पर उन्होंने प्रधानमंत्री बनने के बाद उत्तर-पूर्व परिषद की बैठक में भाग लेने के लिए शिलांग की अपनी यात्रा को याद किया। 3-4 दशकों के अंतराल के बाद किसी भी प्रधानमंत्री द्वारा राज्य की यह पहली यात्रा थी। उन्होंने प्रकृति से जुड़े लोगों के रूप में अपनी पहचान को और मजबूत करने के लिए राज्य के लोगों की सराहना की। श्री मोदी ने कहा, "मेघालय ने प्रकृति, प्रगति, संरक्षण और पर्यावरण-स्थायित्व का संदेश दुनिया को दिया है।"

'सीटी बजाते गांव' और हर गांव में गायन की परंपराओं का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कला और संगीत के क्षेत्र में राज्य के योगदान की सराहना की। उन्होंने कहा कि यह भूमि प्रतिभाशाली कलाकारों से भरी हुई है और शिलांग चैंबर क्वायरइसे नई ऊंचाइयों पर ले गया है। उन्होंने कहा कि मेघालय की समृद्ध खेल संस्कृति से देश को बहुत उम्मीदें हैं।

प्रधानमंत्री ने जैविक खेती के क्षेत्र में राज्य की बढ़ती प्रसिद्धि को भी रेखांकित किया। उन्होंने कहा, "मेघालय की बहनों ने बांस-बुनाई की कला को पुनर्जीवित किया है और राज्य के मेहनती किसान जैविक राज्य के रूप में मेघालय की पहचान को मजबूत कर रहे हैं।"

प्रधानमंत्री ने बेहतर सड़क, रेल और हवाई कनेक्टिविटी के लिए सरकार की प्रतिबद्धता दोहराई। उन्होंने कहा कि राज्य के जैविक उत्पादों के लिए नया घरेलू और वैश्विक बाजार सुनिश्चित करने के उपाय किए गए हैं। केंद्र की योजनाओं को लोगों तक पहुंचाने के लिए राज्य सरकार हर संभव प्रयास कर रही है। पीएम ग्रामीण सड़क योजना और राष्ट्रीय आजीविका मिशन जैसी योजनाओं से मेघालय को लाभ हुआ है। जल जीवन मिशन द्वारा 2019 के सिर्फ 1 प्रतिशत घरों से आज 33 प्रतिशत घरों में पाइप से पानी पहुँचाया गया है। प्रधानमंत्री ने कहा कि मेघालय, वैक्सीन वितरण के लिए ड्रोन का उपयोग करने वाले पहले राज्यों में से एक है।

अंत में, प्रधानमंत्री ने मेघालय के लोगों को पर्यटन और जैविक उत्पादों के अलावा नए क्षेत्रों को विकसित करने के लिए अपने निरंतर समर्थन और दृढ़ संकल्प का आश्वासन दिया।

 

पूरा भाषण पढ़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए

Explore More
अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी
India saves Rs 82k crore forex outgo on coal imports

Media Coverage

India saves Rs 82k crore forex outgo on coal imports
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री ने श्री अय्या वैकुंड स्वामीकल को उनकी जयंती पर नमन किया
March 03, 2024

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने श्री अय्या वैकुंड स्वामीकल की जयंती पर उन्‍हें श्रद्धांजलि अर्पित की।

प्रधानमंत्री ने एक्स पर पोस्ट किया;

“मैं श्री अय्या वैकुंड स्वामीकल को उनकी जयंती पर नमन करता हूं। हम सभी को करुणामय और सामंजस्यपूर्ण समाज बनाने के उनके अनगिनत प्रयासों पर गर्व है, जहां सबसे गरीब लोग भी सशक्त हैं। हम मानवता के प्रति उनके दृष्टिकोण को साकार करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हैं।”