साझा करें
 
Comments
प्रधानमंत्री मोदी ने वाराणसी के नरउर में स्कूल के बच्चों के साथ बातचीत की और स्कूल में करीब 9 मिनट बिताए।
नरउर गांव के एक प्राथमिक विद्यालय में पीएम मोदी का स्कूल के बच्चों ने उत्साहपूर्वक स्वागत किया। उन्होंने भी विश्वकर्मा जयंती पर बच्चों को बधाई दी और कहा कि विभिन्न कौशल सीखना महत्वपूर्ण है।

प्रधानमंत्री ने छात्रों से कहा कि वो प्रश्न पूछने में कभी संकोच ना करें। यह सीखने का एक प्रमुख पहलू है। प्रधानमंत्री मोदी ने ‘रूम टू रीड’ एनजीओ द्वारा सहायता प्राप्त स्कूल के बच्चों के साथ समय बिताया।

बाद में वाराणसी के डीएलडब्ल्यू में पीएम मोदी ने गरीब और वंचित वर्गों के बच्चों से बातचीत की, जिन्हें काशी विद्यापीठ के छात्रों द्वारा सहायता दी जा रही है। प्रधानमंत्री ने बच्चों से कड़ी मेहनत करने और खेल में भी गहरी रूचि विकसित करने के लिए उन्हें प्रोत्साहित किया।

 

देर शाम प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी की सड़कों पर घूमें और शहर के विकास की समीक्षा की। पीएम मोदी ने काशी विश्वनाथ मंदिर में विशेष पूजा-अर्चना की। यहां से गेस्ट हाउस लौटते वक्त प्रधानमंत्री मंडुआडीह रेलवे स्टेशन पहुंच गए जहां रेलवे स्टेशन में उन्होंने प्लेटफॉर्म का निरीक्षण किया। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कई लोगों से मुलाकात की।
प्रधानमंत्री मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम के लिए भेजें अपने विचार एवं सुझाव
पीएम मोदी की वर्ष 2021 की 21 एक्सक्लूसिव तस्वीरें
Explore More
काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण भारत को एक निर्णायक दिशा देगा, एक उज्ज्वल भविष्य की तरफ ले जाएगा : पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण भारत को एक निर्णायक दिशा देगा, एक उज्ज्वल भविष्य की तरफ ले जाएगा : पीएम मोदी
Budget Expectations | 75% businesses positive on economic growth, expansion, finds Deloitte survey

Media Coverage

Budget Expectations | 75% businesses positive on economic growth, expansion, finds Deloitte survey
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री ने महान कत्थक नृत्य कलाकार पंडित बिरजू महाराज के निधन पर शोक व्यक्त किया
January 17, 2022
साझा करें
 
Comments

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने महान कत्थक नृत्य कलाकार पंडित बिरजू महाराज के निधन पर शोक व्यक्त किया है। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा है कि उनका निधन पूरे विश्व के लिये अपूरणीय क्षति है।

एक ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा हैः

"भारतीय नृत्य कला को विश्वभर में विशिष्ट पहचान दिलाने वाले पंडित बिरजू महाराज जी के निधन से अत्यंत दुख हुआ है। उनका जाना संपूर्ण कला जगत के लिए एक अपूरणीय क्षति है। शोक की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों और प्रशंसकों के साथ हैं। ओम शांति!"