साझा करें
 
Comments
अतीत में हुए अत्याचारों और कठिनाइयों का सामना करने के बावजूद, भाजपा कार्यकर्ताओं ने आगे बढ़कर नेतृत्व किया है: प्रधानमंत्री मोदी
विकासवाद की राजनीति की जीत होगी, वंशवाद वाली राजनीति खत्म हो जाएगी: पीएम मोदी
गुजरात हमेशा उस परिवार और उनकी पार्टी के लिए आंखों का कांटा रहा है, इतिहास जानता है कि उन्होंने सरदार पटेल के साथ क्या किया: प्रधानमंत्री
प्रधानमंत्री मोदी ने विपक्ष को विकास के मुद्दे पर गुजरात चुनाव लड़ने की चुनौती दी
जीएसटी पर निर्णय लेने में कांग्रेस भी बराबर की साझेदार रही है, कांग्रेस को इसपर झूठ नहीं फैलाना चाहिए: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने आज गांधीनगर में एक जनसभा को संबोधित किया। पीएम मोदी ने भाजपा कार्यकर्ताओं की ऊर्जा और उनकी कड़ी मेहनत की सराहना करते हुए कहा कि मैं हर कार्यकर्ता की क्षमता और उनकी कड़ी मेहनत को समझता हूं।

उन्होंने आगे कहा कि अतीत में हुए अत्याचारों और कठिनाइयों का सामना करने के बावजूद, भाजपा कार्यकर्ताओं ने आगे बढ़कर नेतृत्व किया है।

 
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कैसे कांग्रेस पार्टी हमेशा गुजरात के विकास के प्रति नकारात्मक दृष्टिकोण रखती है, उन्होंने सरदार सरोवर परियोजना को भी पूरा नहीं किया। पीएम मोदी ने कांग्रेस पार्टी के लोगों से कहा कि जो लोग गुजरात के विकास पर सवाल उठा रहे हैं, उन्हें याद रखना चाहिए कि राज्य की प्रगति के प्रति उनका योगदान कैसा रहा है।
 
 
कांग्रेस ने भाजपा की छवि खराब करने की हर संभव कोशिश की, हमें हर संभव तरीके से दोषी ठहराया। जब इससे उनका काम नहीं बना तो उन्होंने विकास को गाली देना शुरू कर दिया। कांग्रेस पार्टी हमेशा भ्रष्ट और भ्रष्टाचार का समर्थन किया है।
 
प्रधानमंत्री मोदी ने जोर देकर कहा कि सरकार जीएसटी में आने वाली दिक्कतों का जल्द समाधान करने का प्रयास कर रही है और हजारों नए व्यवसायी इसके लिए पंजीकरण कर रहे हैं।
 
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि आने वाला गुजरात चुनाव विकासवाद और वंशवाद के बीच की एक लड़ाई है। जीत निश्चित रूप से विकासवाद की ही होगी।
 
प्रधानमंत्री मोदी ने आगे कहा, "कांग्रेस के लिए राजनीति और वंशवाद जरूरी है।"
 

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, गुजरात के मुख्यमंत्री  विजय रूपानी, उपमुख्यमंत्री नितिनभाई पटेल, पूर्व मुख्यमंत्री आनंदिबेन पटेल, राज्य के भाजपा नेताओं और कार्यकर्ता इस कार्यक्रम में शामिल हुए।

प्रधानमंत्री मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम के लिए भेजें अपने विचार एवं सुझाव
पीएम मोदी की वर्ष 2021 की 21 एक्सक्लूसिव तस्वीरें
Explore More
काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण भारत को एक निर्णायक दिशा देगा, एक उज्ज्वल भविष्य की तरफ ले जाएगा : पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण भारत को एक निर्णायक दिशा देगा, एक उज्ज्वल भविष्य की तरफ ले जाएगा : पीएम मोदी
Make people aware of govt schemes, ensure 100% Covid vaccination: PM

Media Coverage

Make people aware of govt schemes, ensure 100% Covid vaccination: PM
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी 20 जनवरी को ‘आजादी के अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर’ के राष्ट्रीय शुभारंभ समारोह में मुख्य भाषण देंगे
January 19, 2022
साझा करें
 
Comments
प्रधानमंत्री ब्रह्म कुमारियों की सात पहलों को भी हरी झंडी दिखाएंगे

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी 20 जनवरी, 2022 को प्रात:10:30 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ‘आजादी के अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर’ कार्यक्रम के राष्ट्रीय शुभारंभ समारोह में मुख्य भाषण देंगे। इस कार्यक्रम में ब्रह्म कुमारियों द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव को समर्पित साल भर चलने वाली पहलों का अनावरण किया जाएगा, जिसमें 30 से अधिक अभियान, 15,000 से अधिक कार्यक्रम और आयोजन शामिल हैं।

इस कार्यक्रम के दौरान, प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ब्रह्म कुमारियों की सात पहलों को हरी झंडी दिखाएंगे। इन पहलों में ‘मेरा भारत स्‍वस्‍थ भारत’ आत्‍मनिर्भर भारत : आत्मनिर्भर किसान, महिलाएं : भारत की ध्वजवाहक, शांति बस अभियान की शक्ति, अनदेखा भारत साइकिल रैली, यूनाइटेड इंडिया मोटर बाइक अभियान और स्वच्छ भारत अभियान के तहत हरित पहल शामिल हैं।

मेरा भारत स्‍वस्‍थ भारत पहल में, मेडिकल कॉलेजों और अस्पतालों में विविध आयोजन और कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, जिनमें आध्यात्मिकता, कल्‍याण और पोषण पर ध्यान केन्द्रित किया जाएगा। इन कार्यक्रमों में चिकित्सा शिविरों, कैंसर जांच, डॉक्टरों और अन्य स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों के लिए सम्मेलनों के आयोजन आदि शामिल हैं। आत्मनिर्भर भारत: आत्मनिर्भर किसानों के तहत 75 किसान सशक्तिकरण अभियान, 75 किसान सम्मेलन, 75 सतत यौगिक कृषि प्रशिक्षण कार्यक्रम और किसानों के कल्याण के लिए ऐसी ही अनेक पहलों का आयोजन किया जाएगा। महिलाएं: भारत की ध्वजवाहक के तहत, महिला सशक्तिकरण और बालिका सशक्तिकरण के माध्यम से सामाजिक बदलाव पर ध्यान केन्द्रित किया जाएगा।

शान्ति बस अभियान की शक्ति में 75 शहरों और तहसीलों को शामिल किया जाएगा और आज के युवा के सकारात्मक बदलाव के बारे में एक प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा। विरासत और पर्यावरण के बीच संबंध को रेखांकित करते हुए अनदेखा भारत साइकिल रैली का विभिन्‍न विरासत स्‍थलों पर आयोजन किया जाएगा। यूनाइटेड इंडिया मोटर बाइक अभियान माउंट आबू से दिल्ली तक आयोजित किया जाएगा और इसके तहत कई शहरों को शामिल किया जाएगा। स्वच्छ भारत अभियान के तहत पहल में मासिक स्वच्छता अभियान, सामुदायिक सफाई कार्यक्रम और जागरूकता अभियान शामिल किए जाएंगे।

इस कार्यक्रम के दौरान, ग्रैमी अवार्ड विजेता श्री रिकी केज द्वारा आजादी के अमृत महोत्‍सव को समर्पित एक गीत भी जारी किया जाएगा।

ब्रह्म कुमारी एक विश्वव्यापी आध्यात्मिक आंदोलन है, जो व्यक्तिगत बदलाव और विश्व नवीकरण के लिए समर्पित है। ब्रह्म कुमारी की स्‍थापना वर्ष 1937 में हुई थी, जिसका 130 से अधिक देशों में विस्‍तार हो गया है। यह आयोजन ब्रह्मकुमारियों के संस्थापक पिता पिताश्री प्रजापिता ब्रह्मा की 53वीं अधिरोहण वर्षगांठ के अवसर पर हो रहा है।