साझा करें
 
Comments
वो ‘रॉयल पैलेस’ 125 करोड़ हिन्दुउस्‍तानियों के संकल्प् का परिणाम है, रेल की पटरी वाला मोदी, ये नरेन्द्रे मोदी है: प्रधानमंत्री मोदी
धीमे बदलाव के दिन गुजर चुके हैं और अब भारत तेजी से बदल रहा है: पीएम मोदी
अगर आपके पास नीति स्परष्ट हो, नीयत साफ हो, इरादे नेक हों और ‘सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय’ करने का इरादा हो तो इसी व्योवस्थाय के तहत आप इच्छित परिणाम ले सकते हैं: प्रधानमंत्री
महात्मा गांधी ने आजादी को जन-आंदोलन में परिवर्तित कर दिया, इसी तरह विकास को आज जन आंदोलन में बदलने की जरूरत है: प्रधानमंत्री मोदी
लोकतंत्र, ये कोई contract agreement नहीं है, लोकतंत्र में जनता पर जितना भरोसा करेंगे, जनता को जितना ज्याोदा जोड़ेंगे, परिणाम मिलेगा: पीएम मोदी
सर्जिकल स्ट्राइक हमारे देश के वीरों का पराक्रम: प्रधानमंत्री
हम शांति में यकीन रखते हैं, लेकिन हम आतंक का निर्यात करने वालों को बर्दाश्त नहीं करेंगे: प्रधानमंत्री मोदी
मैं भी आपके जैसा ही एक सामान्यग नागरिक हूं। मुझमें वो सारी कमियां हैं जो एक सामान्य मानविकी में होती हैं: पीएम मोदी
मेरे पास पूंजी है मेरे 125 करोड़ देशवासियों का प्याबर और इसलिए मुझे ज्यायदा से ज्या,दा मेहनत करनी चाहिए: प्रधानमंत्री
मेरे देश में अगर लाखों समस्या्एं हैं तो 125 करोड़ समाधान भी हैं: प्रधानमंत्री मोदी
भगवान बसवेश्वर के आदर्श दुनिया भर के लोगों को प्रेरित करते हैं: पीएम मोदी
हमने देश में सकारात्मक बदलाव लाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी है: प्रधानमंत्री
हम किसानों का कल्याण सुनिश्चित कर रहे हैं, 2022 तक उनकी आय दोगुनी करना हमारा लक्ष्य: प्रधानमंत्री मोदी
125 करोड़ भारतीय मेरा परिवार: पीएम मोदी
आज हम प्रौद्योगिकी संचालित समाज में जी रहे हैं, आर्टिफिशियल इंटेलिजंस के दौर में हम खुद को प्रौद्योगिकी से अलग नहीं कर सकते: प्रधानमंत्री
हमारी विदेश नीति का एक ही मंत्र है कि हम न आंख उठाकर बात करेंगे, न आंख झुकाकर बात करेंगे बल्कि हम आंख से आंख मिला कर बात करेंगे: प्रधानमंत्री मोदी
रचनात्मक आलोचना लोकतंत्र को मजबूत करती है: पीएम मोदी
इतिहास में नाम अंकित करना मेरा लक्ष्य नहीं, मैं उसी तरह जैसे मेरे सवा सौ करोड़ देशवासी: प्रधानमंत्री

Prime Minister Shri Narendra Modi interacted with participants across the globe in Bharat Ki Baat Sabke Saath programme held at London, U.K.

He also took questions from the participants of the programme.

Following are the higlights from his interaction with the participants:  

रेलवे स्टेशन मेरे जीवन का स्वर्णिम पृष्ठ जिसने मुझे जीना और जूझना सिखाया |

The person in the Railway Station was Narendra Modi. The person in the Royal Palace in London is the Sevak of 125 crore Indians

My life at the Railway Station taught me so much. It was about my personal struggles. When you said Royal Palace, it is not about me but about the 125 crore people of India

'Besabri' is not a bad thing. If a person has a cycle, a person aspires a scooter. If a person has a scooter, a person aspires a car. It is nature to aspire. India is getting increasingly aspirational

जिस पल संतोष का भाव पैदा हो जाता है, जीवन फिर आगे नहीं बढ़ता। हर आयु, हर युग में कुछ न कुछ नया पाने को गति देता है|

जज्बा होना सबसे ज़रूरी है... मुझे ख़ुशी है कि आज सवा सौ करोड़ लोगों के मन में एक उमंग, आशा और संकल्प का भाव है और लोग मुझसे अपेक्षा कर रहे हैं|

I was not born with an aim to be in history books. I request you all- remember our country and not Modi. I am just like you all, a common citizen of India

Yes, people have more expectations from us because they know that we can deliver. People know that when they say something, the Government will listen and do it.

लोगों की मुझसे अपेक्षा इसलिए है कि उन्हें विश्वास है कि हम करके जरूर दिखाएंगे|

बेसब्री मेरे लिए ऊर्जा है और जब आप ‘सर्वजन हिताय, सर्वजन सुखाय’ के संकल्प को लेकर चलते हैं तो निराशा की बात ही नहीं उठती|

‘तब और अब’ में जमीन आसमान का अंतर क्योंकि जब नीति स्पष्ट हो, नीयत साफ़ हो, और इरादे नेक हों तो उसी व्यवस्था के साथ आप इच्छित परिणाम ले सकते हैं|

During the freedom struggle Mahatma Gandhi did something very different. He turned the freedom struggle into a mass movement. He told every person that whatever you are doing will contribute to India's freedom

Today the need of the hour is to make development a mass movement

Participative democracy makes good governance possible

लोकतंत्र कोई कॉन्ट्रैक्ट एग्रीमेंट नहीं, ये भागीदारी का काम; जनता-जनार्दन की ताकत बहुत होती है और उन पर जितना भरोसा होगा, उसके परिणाम देखने को मिलेंगे|

Look back at India's history. India has never desired anyone else's territory. During World War 1 and 2 we had no stake but our soldiers took part in the Wars. These were big sacrifices. Look at our role in UN Peacekeeping Forces

We believe in peace. But we will not tolerate those who like to export terror. We will give back strong answers and in the language they understand. Terrorism will never be accepted

Those who like exporting terror, I want to tell them that India has changed and their antics will not be tolerated

I do not need to read books to understand poverty. I have lived in poverty, I know what it is to be poor and belong to the backward sections of society. I want to work for the poor, the marginalised and the downtrodden.

18,000 villages did not have electricity. So many women do not have access to toilets. These realities of our nation did not let me sleep. I was determined to bring about a positive change in the lives of India's poor

I am like any common citizen. And, I also have drawbacks like normal people do

मेरी पूँजी है – कठोर परिश्रम, प्रमाणिकता और सवा सौ करोड़ लोगों का प्यार|

मैंने देशवासियों को भरोसा दिलाया था कि मैं गलतियाँ कर सकता हूँ लेकिन गलत इरादे से कोई काम नहीं करूँगा|

We have a million problems but we have a billion people who can solve them

देश में वेलनेस सेंटर हो या प्रिवेंटिव हेल्थकेयर हो, हम हर भारतीय के स्वास्थ्य के लिए काम कर रहे हैं|

One of the things I wanted to do in London was to pay homage to Bhagwan Basaveshwara

भगवान बसवेश्वर ने लोकतंत्र के लिए अपना पूरा जीवन खपा दिया और समाज को जोड़ने का अभूतपूर्व काम किया|

लोकतंत्र, सामाजिक चेतना और नारी सशक्तिकरण के लिए किया गया भगवान बसवेश्वर का प्रयास हम सभी के लिए प्रेरणास्त्रोत|

हम एक ऐसा इको-सिस्टम बना रहे हैं जहाँ सभी के लिए अवसर हो|

आज हम किसान कल्याण के लिए काम कर रहे हैं चाहे वो 2022 तक कृषि से होने वाली आय को दोगुनी करनी हो, यूरिया की आसान उपलब्धता हो या यूरिया की नीम-कोटिंग हो, हम एक निश्चित लक्ष्य के साथ आगे बढ़ रहे हैं|

चाहे कोई पैरामीटर हो, देश के लिए अच्छा करने में हमने कोई कमी नहीं रखी है|

The 125 crore people of India are my family

आज हम आर्टिफिसियल इंटेलिजेंस के युग में जी रहे हैं और हम टेक्नोलॉजी से अलग नहीं रह सकते|

What prevented Indian Prime Ministers from going to Israel. Yes, I will go to Israel and I will even go to Palestine. I will further cooperation with Saudi Arabia and for the energy needs of India I will also engage with Iran

भारत आँख झुकाकर या आँख उठाकर नहीं बल्कि आँख मिला कर बात करने में विश्वास करता है|

Democracy cannot succeed without constructive criticism.

I want this Government to be criticised. Criticism makes democracy strong.

My problem is not against criticism. To criticise, one has to research and find proper facts. Sadly, it does not happen now. What happens instead is allegations

इतिहास में नाम अंकित करना मेरा लक्ष्य नहीं, मैं उसी तरह जैसे मेरे सवा सौ करोड़ देशवासी|

I was not born with an aim to be in history books. I request you all- remember our country and not Modi. I am just like you all, a common citizen of India.

 

 

Click here to read full text speech

दान
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
Riding on success of PM Narendra Modi-President Xi Jinping meet, plans on to open doors of Tamil Nadu homes to tourists

Media Coverage

Riding on success of PM Narendra Modi-President Xi Jinping meet, plans on to open doors of Tamil Nadu homes to tourists
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
PM Narendra Modi meets members of JP Morgan International Council
October 22, 2019
साझा करें
 
Comments
PM Modi meets the JP Morgan International Council in New Delhi
Development of world class infrastructure, althcare and providing quality education are policy priorities for the Govt: PM

PM met with the JP Morgan International Council in New Delhi today. After 2007, this was the first time that the International Council met in India. 

The International Council comprises of global statesmen like former British Prime Minister Tony Blair, former Australian PM John Howard, former US Secretaries of State Henry Kissinger and Condoleezza Rice, former Secretary of Defence Robert Gates as well as leading figures from the world of business and finance like Jamie Dimon (JP Morgan Chase), Ratan Tata (Tata Group) and leading representatives from global companies like Nestle, Alibaba, Alfa, Iberdola, Kraft Heinz etc.

While welcoming the group to India, Prime Minister discussed his vision for making India a USD 5 trillion economy by 2024. Prime Minister said that the development of world class physical infrastructure and improvements in affordable health-care and providing quality education were some other policy priorities for the Government.

People’s Participation remained a guiding tenet of policy making for the Government. On foreign policy front, India continued to work together with its strategic partners and close neighbors to build a fair and equitable multipolar world order.