ସେୟାର
 
Comments
There will be better infrastructure in Punjab, if there is a transparent government, says PM Narendra Modi in Punjab
Under the PM Kisan Samman Nidhi, the central government has directly deposited Rs 3,700 crore in the bank accounts of farmers of Punjab: PM Modi
Congress CM gave a statement yesterday that received claps from a member of the family in Delhi. Who are they insulting with such statements? - PM Modi slams CM Channi for controversial remark

वाहेगुरु जी दा खालसा, जय श्रीराम, जय-जय श्रीराम, वीर बजरंग बली की।   

ये पराक्रम की धरती है, परिश्रम की धरती है, ये पवित्र धरती है मैं इस धरती को प्रणाम करता हूं। इस मंच से मैं गुरुद्वारा दमदमा साहिब, तख्त आनंदपुर साहिब और गुरुद्वारा तीरथ साहिब को हृदय से प्रणाम करता हूँ। मैं गुरु जम्भेश्वर भगवान के चरणों में प्रणाम करता हूँ। भगवान जम्भेश्वर की प्रेरणा से हमारा बिश्नोई समाज आज भी पूरी दुनिया में जीव-प्रेम और पर्यावरण का सबसे जागरूक सिपाही माना जाता है।

साथियों

इस चुनाव में ये पंजाब में इस बार को जो चुनाव है एक प्रकार से मेरी आखिरी सभा है। और कल शाम को चुनाव प्रचार भी समाप्त हो रहा है। मैं बीते कुछ दिनों में पंजाब के अलग-अलग क्षेत्रों में गया हूं। पूरे पंजाब में आज एक सुर से एक ही आवाज उठ रही है। भाजपा को जिताना है, पंजाब में डबल इंजन की सरकार बनाना है।

डबल इंजन की सरकार मतलब क्या? पंजाब का इस दशक में सबसे तेज विकास। डबल इंजन की सरकार मतलब पंजाब से रेत माफिया, ड्रग माफिया इनकी विदाई। डबल इंजन की सरकार का मतलब है पंजाब की औद्योगिक इकाइयों में नई ऊर्जा भरना। डबल इंजन की सरकार मतलब है पंजाब के युवाओं को रोजगार, स्वरोजगार के नए मौके देना।

साथियों,

पंजाब को आज एक ऐसी सरकार चाहिए जिसकी प्रेरणा राष्ट्रभक्ति हो, जिसकी प्रेरणा पंजाब का विकास हो। बीजेपी पूरे समर्पित भाव से पंजाब के लोगों के सामने पंजाब की सुरक्षा का संकल्प लेकर, पंजाब के विकास का संकल्प लेकर के आई है। एक बार भाजपा को आपकी सेवा करने का मौका दीजिए, एक बार पांच साल मुझे दीजिए और फिर देखिएगा, डबल इंजन की सरकार कैसे पंजाब को तेज गति से आगे बढ़ाती है। आप देखिए देश के इतने सारे राज्य हैं जहां काँग्रेस एक बार गई, फिर कभी लौटकर आई ही नहीं। और जहां भाजपा को आशीर्वाद मिल गया, वहाँ तो काँग्रेस जड़-मूल से साफ हो गई।

साथियों,

पंजाब के इस क्षेत्र ने देश को ये दिखाया था कि खेती भी खुशहाली का जरिया बन सकती है। लेकिन, आज स्थितियां बदल रही हैं। यहाँ की मिट्टी की उपजाऊ क्षमता घट रही है, मिट्टी में केमिकल्स बढ़ गए हैं। ये खिलवाड़ किया है कांग्रेस की नीतियों ने पंजाब के साथ! भाइयों बहनों, इतिहास गवाह है, काँग्रेस पार्टी ने किसानों को हमेशा धोखा दिया है। स्वामीनाथन कमीशन की सिफ़ारिशों को लागू करने की मांग सालों से देश में थी। ये फाइल पर बैठ गए थे लेकिन कांग्रेस सरकारें झूठ पर झूठ बोलती रहीं। केंद्र में हमारी सरकार बनी तो हमने उन सिफ़ारिशों को लागू करने का काम कर के दिखाया भाइयों-बहनों। ये हमारी किसानों के प्रति भारतीय जनता पार्टी का लगाव है। हमने, आप देखिए पुराने रिकॉर्ड और मैं चुनौती देता हूं किसी भी दल को, हमारे समय में अनाज की रिकॉर्ड खरीद की और किसानों के बैंक खातों में सीधे पैसा भेजा हमने उनके खाते में सीधा पैसा है।

भाइयों और बहनों,

पंजाब के किसानों को आज नई सोच, और नए विज़न वाली सरकार चाहिए। आज किसान को बेहतर फसल, कम लागत और बेहतर कीमत की जरूरत है। इसके लिए हमारी सरकार बीज से बाजार तक नई व्यवस्थाएं बना रही है। ये भाजपा की सरकार है जिसने जल-जीवन मिशन शुरू किया है। आज हम पंजाब के घर घर में साफ पानी का कनेक्शन देने के लिए, नल से जल पहुंचाने के लिए हम बहुत तेज गति से काम कर रहे हैं। साथियों, आज पंजाब में हर व्यापार माफियाओं के कब्जे में है। व्यापारियों को माफियाओं की कृपा पर जीने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। इसकी सबसे बड़ी तकलीफ हमारे छोटे व्यापारियों को हो रही है। राज्य में असुरक्षा बढ़ती है, गलत नीतियां होती है तो हमारा व्यापारी इसका नुकसान उठाता है। आज आप देखिए कितनी संभावनाओं से भरा पूरा पंजाब लेकिन इंडस्ट्री यहां से छोड़ कर के भाग रही है। हमारे नौजवानों के भविष्य में एक सवालिया निशान खड़ा हो रहा है। कांग्रेस सरकार की नीतियों के कारण यहां जल्दी कोई आने को तैयार भी नहीं है। वह सात बार सोचता है कि वहां जाऊंगा और माफियाओं के चरण में जाना पड़ेगा तो क्या होगा। इन स्थितियों को भी डबल इंजन की सरकार ही बदल सकती है। आप मुझे बताइये और कोई इसको बदल सकता है क्या? और कोई बदल सकता है क्या? एक भी, सारे चेहरे याद कर लो, किसी में दम है क्या? भाइयों बहनों, ये कोई करेगा तो मोदी ही करेगा। हमने अपने घोषणापत्र में अनेक संकल्प लिए हैं, पंजाब में बेहतर इन्फ्रास्ट्रक्चर होगा, पारदर्शी सरकार होगी तो न उद्योगों को पलायन करना होगा, न नौजवानों को अपना गांव अपने लोग, अपने बूढ़े मां-बाप, अपने खेत-खलिहान ये सब छोड़ के मेरे नौजवानों को पंजाब से बाहर नहीं जाना पड़ेगा।           

                  

साथियों,

गरीब की तकलीफ दूर हो, उसका जीवन आसान बने, ये हमारे लिए सर्वोच्च प्राथमिकता का काम है। कोरोना काल में भाजपा सरकार गरीबों को मुफ्त राशन दे रही है और मुफ्त वैक्सीन भी दे रही है। आपको सब को वैक्सीन लगी है, आपको कोई पैसा देना पड़ा क्या। ये आपकी जिंदगी को बचाने में एक रक्षा कवच के रूप में काम आ रहा है कि नहीं आ रहा है, आपके जीवन को बचाने के लिए भारत सरकार पूरे रात-दिन काम कर रही है कि नहीं कर रही है। आयुष्मान भारत योजना की वजह से पंजाब के 11 लाख गरीबों ने अच्छे अस्पतालों में अपना मुफ्त इलाज कराया है। ये हमारी योजना ऐसी है, अगर आय़ुष्मान भारत योजना का आपके पास कार्ड है तो इस देश के 50 करोड़ लोगों को इसका लाभ मिल रहा है। दुनिया के कई देशों की आबादी से भी ज्यादा लोगों को और इसकी विशेषता ये है कि आप अगर मुंबई गए है बीमार हो गए, अहमदाबाद गए है बीमार हो गए, लखनऊ गए बीमार हो गए तो वहां भी अस्पताल में इसी कार्ड से मुफ्त में तत्काल आपको डॉक्टरों से सेवा मिलेगी। आपके ऑपरेशन की जरूरत पड़ गई तो वो भी कर दिया जाएगा, यानि पंजाब का नागरिक हिंदुस्तान में कहीं पर भी जाएगा तो उसको ये सुविधा है लेकिन मैं एक और दुख की बात बताता हूं, कि आपके पास कार्ड है आप अहमदाबाद जाएंगे तो ऑपरेशन हो जाएगा, भोपाल जाएंगे तो ऑपरेशन हो जाएगा, लखनऊ जाएंगे तो ऑपरेशन हो जाएगा लेकिन दिल्ली जाएंगे जहां मुख्यमंत्री जो बैठे हैं, दिल्ली में जहां दिल्ली सरकार की अस्पतालें हैं वहां पर आपको मना कर देंगे क्यों, क्योंकि वो इस योजना के साथ जुड़ने के लिए तैयार नहीं है। 

आप मुझे बताइए भैय्या, आपको भारत सरकार 5 लाख रूपया तक बीमारी के लिए खर्च दे रही है तो पंजाब के लोगों को दिल्ली में अगर मदद की जरूरत पड़ जाए तो तुम्हारे पेट में चूहे क्यों दौड़ रहे है बे - मुझे समझ नहीं आ रहा है औऱ जो लोग दिल्ली में आपको घुसने नहीं देना चाहते वो आपसे वोट मांग रहे है क्या ऐसे लोगों को पंजाब में कुछ भी करने का हक है क्या, है क्या? भाइयों-बहनों हमने जो आयुष्मान भारत योजना की बात लगाई है। इससे पंजाब के गरीबों के करीब-करीब 2 हजार करोड़ रुपए बचे हैं। आप कल्पना कीजिए गरीब के लिए 2000 करोड़ रूपये उसकी बीमारी में काम करने का काम दिल्ली में मोदी बैठकर के कर रहा है। भाइयों बहनों ये हमारे दिल में आपके प्रति चिंता है।

पंजाब में 300 से ज्यादा जनऔषधि केंद्र चल रहे हैं और वहां पर जो बाजार में महंगी दवाई मिलती है वैसी ही दवाई, दवाई में कोई समझौता नहीं, कोई कंप्रोमाइज नहीं, उसकी क्वालिटी में कोई कंप्रोमाइज नहीं, लेकिन हमने जो जनऔषधि केंद्र खोले है जो बाजार में दवाई 100 रुपये में मिलती है वहीं दवाई यहां 10 रुपये 20 रुपये में मिल जाती है। ये काम हमने किया है। हम कैसे मदद कर रहे हैं देखिये आप। अगर किसी के परिवार में बुजुर्ग मां-बाप है, डायबिटीज हो गया रोज उनको गोलियां लेनी पड़ रही है, इंजेक्शन लेना पड़ रहा है अगर ये दवाईयां घर में लाई जाए तो महीने का दो ढाई हजार खर्चा तो होता ही होता है। मध्यम वर्ग के परिवार पर दो ढाई हजार रुपये का बोझ लग जाता है लेकिन अगर जन औषधी से ल आएंगे दवाई तो केवल 100-150 रूपये में आपका काम चल जाएगा। हर गरीब परिवार का, मध्यम वर्ग के परिवार का 1000-1500 रूपया बचेगा कि नहीं बचेगा लेकिन इसके लिए हम अरबों-खरबों की जाहिरायत नहीं करते भाई हम तो गरीब के लिए जीते है, गरीब के लिए काम करत है, मध्यम वर्ग के लिए जीते है, मध्यम वर्ग के लिए काम करते हैं। अगर  हाई ब्लड प्रेशर है, उन्हें ऐसे स्टोर्स में गए बहुत सस्तें में दवाई मिल जाएगी। इन केंद्रों से भी हर साल पंजाब के लोगों को करीब-करीब 300 करोड़ रुपये का फायदा हो रहा है, यहां के लोगों को दवाई के खर्चें में 300 करोड़ की बचत, भाइयों-बहनों ये मदद है कि नहीं है, ये मदद है कि नहीं है, ये आपका भला करने के लिए है कि नहीं है क्या कभी हमने किसी अखबार में इश्तिहार दिया है क्या, एडवर्टाइजमेंट दिया है क्या? इसी तरह हमारी सरकार ने जो स्टेंट के पैसे कम कराए हैं,ह्रदय की बीमारी हो हार्ट का स्टेंट लगवाना है, आजकल KNEE की बीमारी हो जाती है 50-60 साल के बाद शुरू हो जाता है। Knee ट्रांसप्लांट कराते है इसमें भी हमने उसके दाम बहुत कम करवा दिए, कानून का उपयोग किया और इसके कारण जिन-जिन लोगों ह्रदय में अगर स्टेंट लगवाया है, हार्ट में ऑपरेशन करवाया है यानि KNEE ऑपरेशन करवाया है उसके भी करोड़ो रूपयों की बचत हुई है। भाइयों-बहनों, हेल्थ सेक्टर में काम कैसा होता है इसके लिए उदाहरण मैं बताता हूं। 

पीएम किसान सम्मान निधि के तहत केंद्र सरकार ने पंजाब के किसानों के बैंक खातों में 3700 करोड़ रुपया सीधा-सीधा किसान के बैंक के खातों में जमा हुआ है अकेले पंजाब में, बीच में कोई कट की कंपनी नहीं, कोई बिचौलिया नहीं, कोई माफिया नहीं सीधा। भाइयों-बहनों मुझे बताइए किसान मुझे आशीर्वाद देगा कि नहीं देगा। इसका लाभ पंजाब के 23 लाख से अधिक किसानों को हुआ है। केंद्र सरकार की आवास योजनाओं के तहत पंजाब में 75 हजार से अधिक घर बनाए जा रहे हैं। औऱ एक-एक घर बनाने के लिए लाख सवा लाख रुपया उनके खाते में भारत सरकार जमा करवाती है ताकि वो पक्के घर में जिंदगी गुजारना शुरू करें। गरीबों को पक्के घर के लिए अकेले पंजाब को 2 हजार करोड़ रुपए से भी अधिक की राशि दी गई है ये आंकड़े जोड़ दीजिए, मैं तो कुछ भी बता रहा हूं ये सारा दिल्ली से पैसा पंजाब की धरती पर उतारने का हमने काम किया है। 

साथियों, 

उजाला स्कीम के तहत हमनें बिजली बिल कम हो, हमेशा-हमेशा के लिए बिजली का खर्चा कम हो। आपकी जेब से ज्यादा पैसा ना जाएं एक स्थाई व्यवस्था बनाई औऱ टेक्नोलॉजिकल सॉल्यूशन निकाला इसके तहत एलईडी बल्व हमनें पंजाब में वितरित किए। इस वजह से गरीबों के बिजली के बिल में 900 करोड़ रुपये से भी अधिक बिजली का बिल बचा है। अगर मध्यम वर्ग के घर में चार लट्टू बल्व है तो उसका 1500-2000 रुपया बच जाता है बिजली का भैया। ये लोग आज जो वादे कर रहे हैं वो एक प्रकार से आपके घर में रोशनी लाने का वादा नहीं है, आपके जेब के पैसे बचाने का वादा नहीं है ये एक ऐसा रास्ता है जो पूरे पंजाब को कुछ ही वर्षों में अंधकार में डुबो देगा। बिजली के कारखाने चलाने की ताकत नहीं होगी, पूरा पंजाब अंधेरे में फंस जाएगा। ये रास्ता इन्होंने चुना है। आप मुझे बताइए क्या पंजाब में अंधेरा आने देना है, अंधेरा आने देना है, अंधेरा आने देना है तो इन लोगों को दिल्ली में ही रोक लो भैय्या, आने मत दो यहां। हम इस बात की भी व्यवस्था कर रहे हैं कि ना सिर्फ बिजली का बिल कम हो बल्कि बिजली कारखाने भी अच्छे ढंग से चले और जरूरत के हिसाब से नए कारखाने भी लगे।

साथियों,

84 के दंगों के समय जब कांग्रेस के नेता नरसंहार चल रहा था और कांग्रेस के नेता क्या कर रहे थे। हुक्म कहां आ रहे थे ये आपसे ज्यादा और कौन जानता है भाइयों। ये बीजेपी के नेता हमारे कार्यकर्ता हमारे सिख भाई परिवारों को बचाने के लिए, मैं उस समय गुजरात में था एक भी परिवार को तकलीफ नहीं होने दी, एक भी परिवार को, सब शान से जीते है भाइयों-बहनों। हर सुख-दुख में हम पंजाब के लोगों के साथ डटकर के खड़े रहे हैं। 

साथियों 

कांग्रेस हमेशा से एक क्षेत्र के लोगों को दूसरे से लड़ाती आई है, ताकि उनकी गाड़ी चल जाए। यहां कांग्रेस के मुख्यमंत्री ने जो बयान दिया, और जिस पर दिल्ली का परिवार है उनका, मालिक, वो बगल में खड़ा होकर के तालियां बजा रहा था। और ये पूरे देश ने देखा है। अपने इन बयानों से ये लोग किसका अपमान कर रहे हैं? यहां का कोई ऐसा गांव ऐसा नहीं होगा जहां हमारे उत्तर प्रदेश के भाई-बहन या बिहार के भाई-बहन यहां पर मेहनत न करते हों। ऐसा कोई गांव नहीं होगा भाइयों-बहनों। कल ही हमने संत रविदास जी की जयंती मनाई है। मैं जरा इन नेताओं से पूछना चाहता हूं, आप मुझे बताइये संत रविदास जी कहां पैदा हुए थे, पंजाब में पैदा हुए थे क्या ? संत रविदास जी उत्तर प्रदेश के बनारस में पैदा हुए थे, काशी में पैदा हुए थे। और आप कहते हो उत्तर प्रदेश के भैइयों को घुसने नहीं देंगे, तो क्या आप संत रविदास जी को भी निकाल दोगे? क्या संत रविदास जी के नाम को मिटा दोगे? क्या भाषा बोलते हो तुम लोग। इतना ही नहीं मैं जरा पूछना चाहता हूं गुरू गोविंद सिंह जी का जन्म कहां हुआ था? पटना साहिब में, हमारे गुरु महाराज गुरु गोविंद सिंह का जन्म हुआ था… पटना में हुआ, बिहार में हुआ और तुम कहते हो कि बिहार के लोगों को घुसने नहीं देंगे। तो क्या तुम गुरु गोविंद सिंह जी का अपमान करोगे। आप गुरु गोविंद सिंह जी का अपमान सहन करोगे क्या, जिस मिट्टी में गुरु गोविंद सिंह जी ने जन्म लिया उस मिट्टी का अपमान करोगे क्या? जिस मिट्टी में जन्म लेकर गुरु गोविंद सिंह जी ने हमारी रक्षा की उस मिट्टी के संतानों को पंजाब में घुसने नहीं देंगे इस भाषा का प्रयोग करोगे क्या। संत रविदास जी जिन्होंने समाज का इतना बड़ा कल्याण किया, काशी में पैदा हुए आज पंजाब के हर घऱ में संत रविदास जी के प्रति श्रद्धा है उनको भी निकाल दोगे। यूपी और बिहार के लोगों को घुसने नहीं देंगे। भाइयों-बहनों, इस तरह की विभाजनकारी सोच को एक पल के लिए पंजाब में राज करने का अधिकार नहीं है। 

भाइयों-बहनों 

हमारा पंजाब सीमावर्ती राज्य है इस पर सीमा पार से हमेशा नजरें बनी रहती हैं, गड़ी रहती है, इसलिए यहां जो सरकार बनेगी वो राष्ट्र प्रथम नेशन फर्स्ट इसके लिए प्रतिबद्ध सरकार होनी चाहिए, ढुलमुल रवैये वाले लोग नहीं होने चाहिए। जो लोग भारत को एक राष्ट्र ही नहीं मानते, देश की अखंडता, पंजाब की सुरक्षा ऐसे लोगों के हाथ में हम सुपुर्द नहीं कर सकते हैं। पंजाब वैसे भी आज अनेक चुनौतियों का मुकाबला कर रहा है, इन चुनौतियों में एक और समस्या अस्थिरता वाली हमें किसी भी हालत में जोड़नी नहीं है। लेकिन आज पंजाब को कांग्रेस फिर से अस्थिरता की तरफ ले जाने का प्रयास कर रही है।          

साथियों, 

कांग्रेस की जो ‘पार्टनर इन क्राइम’ है. एक नई पार्टी आई है, वो भी एक के बाद एक झूठ, रोज नई मनगढ़ंत बातें पंजाब में आकर बोल रहे हैं। ये वो लोग हैं जिनकी दिल्ली में सरकार है। आप अगर इनकी सरकार को देखेंगे तो पता चल जाएगा कि ये लोग सिखों को, पंजाबियों को डगर-डगर पर कितना अपमानित करते हैं, दिल्ली जाओगे तो पता चलेगा। आज पंजाब में आकर सिखों को झूठ बोलने वाले इन लोगों ने दिल्ली में एक भी सिख को न मंत्री बनाया है। इतना ही नहीं ये पंजाब को को नशामुक्त करने की बात करते हैं, लेकिन दिल्ली में हर स्कूल-कॉलेज के बगल में शराब के ठेके खोलकर बैठ गए हैं। ये कैसे झूठ बोलने में महारथी हैं, आराम से झूठ बोलना और आराम से पलट जाना. कोई परवाह ही नहीं। दिल्ली में प्रदूषण बढ़ता है तो ये पंजाब के किसानों को गाली देते हैं। दिल्ली की हवा खराब हो गई, आप ने देखा होगा, ये सब हमें नहीं मालूम मैं कह नहीं रहा हूं, आप दिल्ली में जाओ तो पंजाब के किसानों को गाली दो, और यहां आकर किसानों को गले लगाने की बात करो किसी के गले उतरेगा क्या, उतरेगा क्या? ये चलेगा क्या? जब कोरोना की वेव आई तो इन लोगों ने यूपी-पंजाब-हरियाणा के लोगों को झूठ बोलकर के दिल्ली से बाहर भगा दिया। ये बहुत भयंकर होने वाला है महीनों तक खाना नहीं मिलेगा भागो। जो लोग दिल्ली में पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश के लोगों को भगा देते हैं वो आज आपके पास आए हैं, आप क्या करोगे मेहमान के रूप में स्वीकार करोगे क्या? 

भाइयों-बहनों, 

बात इतनी नहीं है साथियों, इनके इरादे कहीं ज्यादा खतरनाक हैं! आपने सुना होगा, कल इनके एक पुराने विश्वस्त साथी जो पिछले बार पंजाब उनकी तरफ से चुनाव के इंचार्ज थे, और उनके खासम-खास दोस्त थे, अन्ना हजारे के साथ ये आंदोलन में झंडा लेकर के खड़े रहते थे। और कवि होने के नाते, चिंतक होने के नाते देश भर में उनके कवि सम्मेलनों को सुनने के लिए   देश की युवा पीढ़ी घंटों तक इंतजार करती है, ऐसा मां सरस्वती की पूजा में लगा हुआ इंसान, कल उसने कह दिया, जब दर्द काफी हुआ होगा तब उसने मुंह खोला होगा, और कल जब उसने कहा है, उन्हीं के साथी ने जो आरोप लगाया है वो बहुत खतरनाक है। कल उन्हीं के एक साथी ने उनके चरित्र का जो वर्णन किया है, इसको हर मतदाता ने हर देशवासी ने बड़ी गंभीरता से लेने की जरूरत है।    

पंजाब के मेरे भाइयों और बहनों,

ये लोग पंजाब को तोड़ने का सपना पाले हुए हैं। ये लोग सत्ता के लिए अलगाववादियों से भी हाथ मिलाने को तैयार हैं। सत्ता पाने के लिए इन लोगों को अगर देश भी तोड़ना पड़े, तो ये उसके लिए भी तैयार हैं। इनका एजेंडा और देश के दुश्मनों का एजेंडा, पाकिस्तान का एजेंडा अलग नहीं है। इसलिए ही ये सर्जिकल स्ट्राइक पर पाकिस्तान के सुर में सुर मिलाते हैं। इसलिए ही ये पंजाब में ड्रग्स के नेटवर्क को बढ़ाना चाहते हैं। इसलिए ही ये बॉर्डर पर BSF के बढ़ते अधिकारों के खिलाफ आवाज उठाते हैं। यही इन लोगों का मंसूबा है, यही इनकी सोच है। लेकिन साथियों, अराजकता और अलगाव के नशे में डूबे इन लोगों को पता नहीं है कि मेरा पंजाब है क्या! ये मेरे पंजाब ने कितने घाव झेले हैं लेकिन देश के लिए मरने-मिटने में आगे रहा है ये मेरा पंजाब रहा है भाइयों-बहनों। पंजाब उन गुरुओं, उन शहीदों की भूमि है जिन्होंने देश के लिए अपने प्राण न्योछावर कर दिये थे। ये पंजाब और ये भारत किसी की साजिशों से टूटने वाला नहीं है। हर भारतीय ऐसी ताकतों के सामने पूरी ताकत से खड़ा है।

भाइयों और बहनों,

ये सामान्य चुनाव नहीं है। ये पंजाब के वर्तमान के लिए, पंजाब के भविष्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण चुनाव है। अब बीच में दो-तीन दिन ही बचे हैं, 20 तारीख को पंजाब के लोगों को इनके अपराधों का हिसाब करना है। करोगे? चुन-चुन के हिसाब करोगे? पल-पल का हिसाब करोगे? 20 तारीख को पंजाब के लोगों को भाजपा के लिए, एनडीए के लिए, नवा-पंजाब के लिए पूरे जोश से भारी मात्रा में, ज्यादा से ज्यादा संख्या में वोट करना है। वोट करोगे ना? वोट करोगे ना? ऐसा तो नहीं होगा न कि इस सभा के बाद अरे भाई सभा बड़ी जबर्दस्त हो गई रैली बड़ी जबर्दस्त हो गई, चलो आज सो जाते हैं, ऐसा नहीं करोगे ना? ऐसा नहीं करोगे ना? घर-घर जाओगे? एक-एक मतदाता को मिलोगे? देश की बात बताओगे? पंजाब के उज्ज्वल भविष्य की बात बताओगे? यहां के नौजवानों के कल्याण की बात बताओगे? कमल पर वोट डलबाओगे? एनडीए के साथियों को वोट डलबाओगे?  यहां की माताओ-बहनों की भलाई की बात बताओगे? लोगों को मतदान के लिए तैयार करोगे? 

भाइयों-बहनों,

मैं विशेषकर के उन नवजवानों से आग्रह करना चाहता हूं जो जीवन में पहली बार वोट देने के लिए जाने वाले हैं जो फर्स्ट टाइम वोटर्स हैं, ये फर्स्ट टाइम वोटर आपकी जिंदगी का एक महत्वपूर्ण अवसर है, जब आप वोट डालने जा रहे हैं, मतलब आप अब पंजाब का भविष्य तय करने के एक निर्णय के भागीदार बन रहे हैं। यह बहुत महत्वपूर्ण अवसर आपको मिला है। मैं फर्स्ट टाइम वोटर से कहना चाहता हूं। आप गर्व के साथ वोट करने जाइए और याद रखिए आज का दिन जीवन में कि आपने अपने पहले वोट से ही पंजाब की शक्ल-सूरत बदलने का काम किया था और आपने पंजाब को बनाने में भागीदारी निभाई। आज मैं हमारे अबोहर के लोगों से भी एक विशेष आग्रह करूंगा। मैं जब यहां मंच पर बैठा था तो जब मैं यहां काम कर रहा था वो सारे पुराने परिवार सब को मैं देख रहा हूं, और हाथ उठाकर के नमस्ते कर रहा हूं। आप सब के बीच में मुझे लंबे अरसे तक काम करने का मौका मिला है, लेकिन आपसे अबोहर के मेरे साथियों को मैं एक विशेष जिम्मेदारी देना चाहता हूं। मुझे बताया गया कि हमारे उम्मीदवार को कोरोना के कारण बाहर निकलना मुश्किल हो गया है, तो अभी दो-तीन दिन आप ही को हर यहां का नागरिक ही उम्मीदवार है। अब हमारे उम्मीदवार कोरोना के कारण न आ पाए, हर व्यक्ति हमारा उम्मीदवार है, हर कार्यकर्ता हमारा उम्मीदवार है। हमें मिलकर के अबोहर में, दो-चार दिन थोड़ा  उनको रेस्ट करना पड़ेगा, आइसोलेसन में रहना पड़ेगा, उस काम को हम निभाएंगे, निभाएंगे क्या? एक-एक कार्यकर्ता इस बात को निभाएगा? हम मिलकर के चलेंगे  एनडीए के हमारे साथी श्रीमान ढींढसा साहब, कैप्टन साहब हम सब मिलकर के पंजाब के सपनों को पूरा करने में कोई कमी नहीं रखेंगे। इसी आशा के साथ आप सभी का बहुत-बहुत धन्यवाद। दोनों मुट्ठी बंद कर के पूरी ताकत से बोलिए भारत माता की… भारत माता की… भारत माता की… हमारे जो उम्मीदवार है इस चुनाव में उनसे मेरी प्रार्थना है कि आगे आ जाएं। ताकि मैं भी आपके साथ खड़ा हो जाऊं, हरदीप जी भी आ जाएं, भारत माता की… भारत माता की…

बहुत-बहुत धन्यवाद।

 

 

Explore More
୭୬ତମ ସ୍ୱାଧୀନତା ଦିବସ ଉପଲକ୍ଷେ ଲାଲକିଲ୍ଲାର ପ୍ରାଚୀରରୁ ରାଷ୍ଟ୍ର ଉଦ୍ଦେଶ୍ୟରେ ପ୍ରଧାନମନ୍ତ୍ରୀଙ୍କ ଅଭିଭାଷଣ

ଲୋକପ୍ରିୟ ଅଭିଭାଷଣ

୭୬ତମ ସ୍ୱାଧୀନତା ଦିବସ ଉପଲକ୍ଷେ ଲାଲକିଲ୍ଲାର ପ୍ରାଚୀରରୁ ରାଷ୍ଟ୍ର ଉଦ୍ଦେଶ୍ୟରେ ପ୍ରଧାନମନ୍ତ୍ରୀଙ୍କ ଅଭିଭାଷଣ
5 charts show why the world is cheering India's economy

Media Coverage

5 charts show why the world is cheering India's economy
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
ପ୍ରଧାନମନ୍ତ୍ରୀ ମୋଦୀଙ୍କ 'ମନ କି ବାତ' ପାଇଁ ଆପଣଙ୍କ ବିଚାର ଏବଂ ଅନ୍ତର୍ଦୃଷ୍ଟି ପଠାନ୍ତୁ !
December 05, 2022
ସେୟାର
 
Comments
ପ୍ରଧାନମନ୍ତ୍ରୀ ନରେନ୍ଦ୍ର ମୋଦୀ ଡିସେମ୍ବର 25 ରବିବାର ଦିନ ନିଜର ମାସିକ ରେଡିଓ କାର୍ଯ୍ୟକ୍ରମ 'ମନ କି ବାତ' ମାଧ୍ୟମରେ ଦେଶବାସୀକୁ ସମ୍ବୋଧିତ କରିବେ । ଯଦି ଆପଣଙ୍କ ପାଖରେ କିଛି ଅଭିନବ ପରାମର୍ଶ ଏବଂ ଅନ୍ତର୍ଦୃଷ୍ଟି ଅଛି ,ତ ଏହାକୁ ସିଧା ପ୍ରଧାନମନ୍ତ୍ରୀଙ୍କ ସହ ସେୟାର କରିବାର ଏକ ସୁଯୋଗ ଅଛି । ପ୍ରଧାନମନ୍ତ୍ରୀ ସେଥିରୁ କିଛି ଉତ୍ତମ ବିଚାର ଏବଂ ଅନ୍ତର୍ଦୃଷ୍ଟିକୁ ନିଜ ସମ୍ବୋଧନରେ ସାମିଲ କରିପାରନ୍ତି ।
 

ଆପଣଙ୍କ ବିଚାର ଏବଂ ପରାମର୍ଶକୁ ତଳେ ଦିଆଯାଇଥିବା ଟିପ୍ପଣୀ ବକ୍ସରେ ସେୟାର କରନ୍ତୁ ।