साझा करें
 
Comments
सबूतों के आधार पर कांग्रेस का नया स्कैम सामने आया है - तुगलक रोड चुनावी घोटाला: प्रधानमंत्री मोदी
कांग्रेस गरीब बच्चों के मुंह से निवाला छीनकर के अपने नेताओं का पेट भर रही है: पीएम मोदी
अगर आज सरदार पटेल होते तो वो कांग्रेस के ढकोसला पत्र को बिल्कुल भी स्वीकार नहीं करते: प्रधानमंत्री

भारत माता की जय, भारत माता की जय, भारत माता की जय।

मंच पर विराजमान राज्य के मुख्यमंत्री श्री विजय भाई और मंच पर उपस्थित सभी वरिष्ठ गण। मैं आज अपने काम-काज का हिसाब देने आपके बीच आया हूं, अगले पांच वर्ष के लिए आप सभी भाइयो-बहनो से नया आदेश लेने के लिए आया हूं। आपके बेटे ने इस चौकीदार ने जो सरकार चलाई, वो देखकर आपको गर्व होता हैं क्या? भ्रष्टाचार का कोई दाग नहीं लगा, आपको गर्व है क्या?

आप सभी का मैं बहुत-बहुत आभार व्यक्त करता हूं। ये चौकीदार चौकन्ना है। कांग्रेस के घोटाले में अब एक नया नाम जुड़ गया है, कई नामों से कांग्रेस की पहचान घोटालों से जुड़ी हुई है लेकिन अब सुबूतों के साथ, हवाबाजी नहीं, सुबूतों के साथ एक नया घोटाला कांग्रेस और कांग्रेस के लीडरों के खाते में जमा हो गया है और वो है तुगलक रोड चुनावी घोटाला। कांग्रेस गरीब बच्चों के मुंह से निवाला छीन करके, उनके मिलने वाले आहार को छीन करके अपने नेताओं का पेट भर रही है। महिलाएं सुनें, कांग्रेस गर्भवती महिलाओं के लिए भेजे गए पैसे को लूट रही है, बीते 3-4 दिन से आप मीडिया में देख रहे हैं की कैसे कांग्रेसियों के पास बोरा भर-भर के नोटों की गड्डियां मिल रही हैं। पैसा कहां से कहां जा रहा था, किसके घर से निकला-कहां पहुंचा, सब मीडिया में छन-छन कर आ रहा है। मध्य प्रदेश में सरकार बने अभी 6 महीना भी नहीं हुआ, कांग्रेस ने पहले कर्नाटक को अपना एटीएम बनाया हुआ था, अब मध्य प्रदेश भी कांग्रेस का एटीएम बन गया है। और शायद राजस्थान और छत्तीसगढ़ का हाल भी अलग नहीं हो सकता है।

कांग्रेस सिर्फ और सिर्फ पैसा लूटने के लिए सत्ता में आती है, कांग्रेस की कहानी एक परिवार में बेटे-पिता की। मेरे हिसाब से कांग्रेस को जानने के लिए ये कथा बहुत काम आ सकती है। एक परिवार में तीन बेटे थे, पिता की बहुत सेवा करते थे, मन से तो नहीं करते थे लेकिन धन की लालच में करते थे और तीनों बेटों के बीच स्पर्धा रहती थी कि अगर मैं ज्यादा सेवा करूंगा तो पिताजी की धन और विरासत मुझे मिल जाएगा। लेकिन धीरे-धीरे बच्चों को पता चलने लगा कि ये तो सब खाली-खाली है, इनके पास कुछ नहीं है, खुद ने अपनी मौज-मजा के लिए उड़ा दिया है। जो कुछ भी कमाई होती थी वो सारी कमाई उन्होंने अपने लिए ही खर्च कर दी और धीरे-धीरे तीनों बेटे पिता जी से कन्नी काटने लगे, मां-बाप की सेवा बंद कर दी। अब पिता भी कांग्रेस में रहा हुआ था तो बहुत चतुर था, वहां की सारी चालाकियां जानता था और वो बेटों की नीयत समझ गया कि अब बुढ़ापे में ये हमारी कोई सेवा नहीं करेंगे। चूंकि ऐसे बैंकग्राउंड से दुनिया में रह कर के आया था तो उस पिता ने बड़ी चालाकी की। उसने क्या किया, एक दिन एक बड़ा पत्थर लेकर घर में आया और रुपए का एक सिक्का बहुत बड़ा सिक्का पुराने जमाने में आता था, वो सिक्का निकाला और रात को अपने कमरे के दरवाजे बंद करके जोर से रुपया पत्थर पर पटकता था। आवाज आती थी, बोलता था एक, दो, तीन, पांच, हजार, पांच हजार, दस हजार, अब बेटे जाग गए वो सुन रहे थे कि पिता तो अंदर कमरे में रुपए गिन रहा है, तो तीनों बेटों को भ्रम हो गया कि पिता के पास जरूर पैसा होगा और इसलिए तीनों बेटों ने फिर से सेवा शुरू कर दी।

जब अंत काल आया तो पता चला कि एक ही रुपए को बार-बार बजा कर के ये हमें मूर्ख बना रहा था। ये कांग्रेस पार्टी भी ऐसी ही है, उसके झोले में कुछ नहीं है, ऐसे झूठे वादे करके, अंधेरे में झूठे वादे करके वो गरीबी हटाओ का नाम, एक सिक्का बार-बार पीटती रहती है। देश सुरक्षित रहेगा, देश में समृद्धि तभी और बढ़ पाएगी, जब देश सुरक्षित होगा। मोदी जब आतंकवाद हटाने की बात करता है, कांग्रेस और उसके साथी मोदी को हटाने की बात करते हैं। ऐसी कोई गाली नहीं है जो आपके इस बेटे को ना दी गई हो, आपके इस चौकीदार को नहीं दी। आप जानते हैं नेहरू-गांधी परिवार को गुजरात के प्रति कितनी नफरत है। सरदार वल्लभ भाई पटेल के साथ इस परिवार ने क्या किया, इतिहास गवाह है, सरदार वल्लभ भाई पटेल को भुला दिया गया। क्या जूनागढ़ को का कोई भी व्यक्ति सरदार साहब को भूल सकता है? सोमनाथ का कोई भक्त सरदार जी को भूल सकता है? अगर सरदार साहब ना होते तो ये जूनागढ़ कहां होता? ये सरदार साहब ना होते तो सोमनाथ की कैसी दुर्दशा होती?

भाइयो-बहनो, इतना ही नहीं जब मोरारजी भाई उभर के आए तो इस परिवार को मोरारजी भाई के प्रति नफरत हो गई। ये गुज्जू इस परिवार को ललकारता है, जेल में बंद कर दिया, आपातकाल लगा दिया। मोरार जी भाई हिम्मत करके, इस परिवार को परास्त करके निकल के आए लेकिन दो साल के भीतर-भीतर, सिद्धांतों को लेकर जीने वाले मोरारजी भाई की सरकार को पिछले दरवाजे से इस सरकार ने गिरा दिया।

अब बारी मेरी आई, अब उनको परेशानी है। ये सरदार साहब को हमने ठीक कर दिया, मोरार जी भाई को गिरा दिया और ये चायवाला, पांच साल निकाल दिए और वो भी दम-खम के। भाइयो-बहनो, ये गुजरात की मिट्टी की ताकत है। ये महात्मा गांधी और सरदार वल्लभ भाई के आदर्शों से पली-बढ़ी गुजरात की धरती है और इसलिए ये बात निश्चित है कि गुजरात देश के लिए मर-मिटने वालों की धरती है, आदर्शों के लिए जीने वाली धरती है। देश के सभी लोगों से मिल-जुल कर जीने का स्वभाव है और सिर्फ हिंदुस्तान के हर राज्य से नहीं, दुनिया के देशों से मिल-जुल कर चलना ये गुजरातियों का मूल स्वभाव है।

भाइयो-बहनो, अगर कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी दोनों की तुलना करोगे तो आपको क्या देखना होगा। एक भारतीय जनता पार्टी का ट्रैक रिकॉर्ड देखिए और कांग्रेस का टेप रिकॉर्डर देखिए, हमारा ट्रैक रिकॉर्ड है, उनका टेप रिकॉर्डर है। हमारा ट्रैक रिकॉर्ड अगर देखोगे तो उसमें दिखाई देगा, आतंकवाद के खिलाफ लड़ने वाले, देश की सुरक्षा के लिए कठोर से कठोर कदम उठाने वाले, भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग करने वाले, विकास ही एक मंत्र देश का भला करने वाले, गरीब से गरीब का कल्याण करना, मध्यम वर्ग के लिए अवसर पैदा करना, गांव का भी विकास हो, शहर का भी विकास हो ये हमारा ट्रैक रिकॉर्ड है और कांग्रेस का टेप रिकॉर्ड सुनोगे तो क्या आएगा? कांग्रेस के और उनके सभी साथियों के टेप रिकॉर्ड में एक ही गाना बजता है, मोदी हटाओ-मोदी हटाओ। मोदी हटाने के सिवाय इनके पास कोई एजेंडा नहीं है। ये वही सरकार है जिसे सरदार पटेल ने अपने पुरुषार्थ से सिंचा था। जिन सरदार पटेल ने जूनागढ़ को महान भारत का हिस्सा बनाया, एक भारत-श्रेष्ठ भारत का प्रतीक बनाया। कांग्रेस आज सरदार पटेल के सपनों के साथ हर हिंदुस्तानी की भावनाओं को चोट पहुंचाने पर तुली हुई है। कांग्रेस उन लोगों को समर्थन दे रही है जो जम्मू-कश्मीर को देश से अलग करना चाहते हैं, जम्मू-कश्मीर के लिए अलग प्रधानमंत्री चाहते हैं।

भाइयो-बहनो मेरे साथ बोलिए…

मैं भी… चौकीदार, मैं भी… चौकीदार। भारत माता की जय, भारत माता की जय। बहुत-बहुत धन्यवाद।

प्रधानमंत्री मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम के लिए भेजें अपने विचार एवं सुझाव
मोदी सरकार के #7YearsOfSeva
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
India's FDI inflow rises 62% YoY to $27.37 bn in Apr-July

Media Coverage

India's FDI inflow rises 62% YoY to $27.37 bn in Apr-July
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के वाशिंगटन डी.सी. आगमन पर प्रेस विज्ञप्ति
September 23, 2021
साझा करें
 
Comments

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी यूएसए के महामहिम राष्ट्रपति जो बाइडेन के आमंत्रण पर संयुक्त राज्य अमेरिका की अपनी यात्रा के लिए वाशिंगटन डीसी (22 सितंबर 2021, स्थानीय समय) पहुंचे।

संयुक्त राज्य अमेरिका सरकार की ओर से प्रबंधन और संसाधन राज्य उपमंत्री श्री टी. एच. ब्रायन मैककॉन ने प्रधानमंत्री की अगवानी की।

एंड्रयूज एयरबेस पर उत्साह से भरे प्रवासी भारतीय भी मौजूद थे और उन्होंने प्रसन्नता के साथ प्रधानमंत्री का स्वागत किया।