साझा करें
 
Comments
2 मई को पश्चिम बंगाल में सिर्फ डबल इंजन की सरकार ही नहीं बनेगी, बल्कि डबल बेनिफिट, डायरेक्ट बेनिफिट देने वाली सरकार बनेगी : प्रधानमंत्री मोदी
बंगाल के किसानों को केंद्र सरकार की योजनाओं के सभी लाभों से वंचित किया गया है: प्रधानमंत्री मोदी
चुनाव के मैदान में कोई कभी EVM को गाली दे, कभी चुनाव आयोग को, तो समझो उसका 'खेला' शेष है : चुनाव आयोग के खिलाफ ममता के आरोपों पर पीएम मोदी
बंगाल के लोग तय कर चुके हैं कि दीदी को अब टाका-मार-कम्पनी यानि टीएमसी सहित ‘नबन्ना’ छोड़कर जाना पड़ेगा: सोनारपुर में पीएम मोदी
टीएमसी डिजिटल इंडिया की पहल से नफरत करती है, क्योंकि यह कट मनी, बिचौलिए, करप्शन, इनको रोकने का एक बहुत सक्षम माध्यम है : प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को पश्चिम बंगाल के तारकेश्वर और सोनारपुर में जनसभाओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा, “2 मई को यहां सिर्फ डबल इंजन की सरकार नहीं बनेगी, बल्कि डबल बेनिफिट, डायरेक्ट बेनिफिट देने वाली सरकार बनेगी। बंगाल में BJP सरकार आने के बाद सबसे पहला काम किसानों के हित में फैसला लेना होगा। पहली कैबिनेट में ही बंगाल में पीएम किसान सम्मान निधि को लागू करने का निर्णय लिया जाएगा। बंगाल के हर एक किसान को पिछला बकाया जोड़कर 18 हजार रुपये मिलेंगे।”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बंगाल के गरीब किसानों के साथ दीदी ने अपनी विशेष नफरत दिखाई है। उन्होंने कहा, “पूरे देश में 10 करोड़ से ज्यादा किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ मिल चुका है। देश भर में किसानों के बैंक खाते में सीधे सवा लाख करोड़ रुपए जमा कराए गए हैं। लेकिन ये लाभ बंगाल के किसानों को नहीं मिला। दीदी ने बंगाल के लाखों कृषकों को इससे वंचित रखा। केंद्र सरकार ने शहरों में काम करने आए रिक्शा, रेहड़ी, ठेला चलाने वाले साथियों के लिए बिना गारंटी का बैंक लोन देने की योजना शुरू की है, लेकिन दीदी की सरकार ने इसे सही से लागू नहीं किया। पूरे देश में आयुष्मान भारत के तहत गरीबों को 5 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज मिल रहा है, लेकिन दीदी ने आयुष्मान भारत का लाभ किसी गरीब को मिलने नहीं दिया।”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि विकास के लिए, किसी भी क्षेत्र के उन्नयन के लिए, विजन और पॉलिसी जितनी जरूरी होती है, उतनी ही आवश्यक राजनीतिक इच्छाशक्ति भी होती है। बीते 10 साल में पश्चिम बंगाल ने इसका बहुत बड़ा अभाव देखा है। सिंगूर का राजनीतिक उपयोग करने के बाद यहां के लोगों को अधर में छोड़ दिया गया। आज सिंगूर में न उद्योग हैं, न उतनी चाकरी है और जो कृषक हैं, वो बिचौलियों से परेशान हैं। हुगली का आलू बड़ी मात्रा में सिर्फ और सिर्फ इसलिए बर्बाद होता है क्योंकि दीदी की सरकार ने यहां पर्याप्त कोल्ड स्टोरेज नहीं बनाए। जो कोल्ड स्टोरेज हैं भी, वो सिंडिकेट चला रहे हैं। आलू किसान औने-पौने दाम पर अपनी उपज बेचने के लिए मजबूर है। यह स्थिति तब है, जब केंद्र सरकार इसके लिए राज्यों को हर संभव सहायता देती है, इसके लिए विशेष इंफ्रास्ट्रक्चर फंड बनाया गया है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यही स्थिति पश्चिम बंगाल के जूट किसानों, जूट मिलों में काम करने वाले साथियों की है। केंद्र सरकार ने 6 सालों में जूट का MSP 85 प्रतिशत से ज्यादा बढ़ाया है। गेहूं की पैकेजिंग जूट में हो, देश में प्लास्टिक की जगह जूट बैग का उपयोग हो, इसके लिए कदम उठाए, जूट की डिमांड को बढ़ाया, लेकिन यहां की सरकार जूट मिलों को प्रोत्साहित ही नहीं कर रही है। इसलिए आज आलू किसान, जूट किसान, श्रमिक हर कोई डबल इंजन की भाजपा सरकार के लिए वोट कर रहा है। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार बनने के बाद यहां कोल्ड स्टोरेज के साथ ही फूड प्रोसेसिंग में निवेश को और बढ़ाया जाएगा।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “हद तो इस बात की है, अब दीदी बंगाल की जनता के अपमान पर उतर आई हैं। दीदी ने कहा है कि बीजेपी की रैली में जो भीड़ जुटती है, वो पैसे के लिए जुटती है। दीदी ने यह कहकर बीजेपी और मोदी का नहीं, बल्कि बंगाल की जनता का अपमान किया है। अपनी बौखलाहट में आप मेरा अपमान कीजिए, लेकिन बंगाल की जनता, यहां की महिलाओं, यहां के गरीबों, यहां के हमारे भाइयों-बहनों का अपमान मत कीजिए।”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “नेताजी सुभाष, ओडिशा में पैदा हुए, बंगाल ने उन्हें शिक्षा दी, उनका मार्गदर्शन किया। लेकिन उनकी पहचान, भारत मां के सपूत के तौर पर है। जब अंग्रेजों ने हमारी एकता में फूट डालने की कोशिश की थी तो नेताजी सुभाष ने कहा था- भारत एक है और हर भारतीय की आशाएं, आकांक्षाएं एक जैसी हैं। आज बहुत पीड़ा होती है, जब नेताजी की इस सोच के बजाय तृणमूल कांग्रेस और ममता दीदी बोहिरागोतो की बात करती हैं। यह नेताजी का भी अपमान है और देश के संविधान का भी अपमान है। त्रिपुरा में, असम में, मणिपुर में, भाजपा की सरकारें बनीं तो मुख्यमंत्री, मंत्री भी वहीं के बने। पश्चिम बंगाल में भी यही होगा। 2 मई को बीजेपी की ऐतिहासिक विजय के बाद, इसी धरती की संतान मुख्यमंत्री बनेगी।”

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बंगाल में असल परिवर्तन के लिए अब सिर्फ 30 दिन का समय बचा है। उन्होंने लोगों से राज्य में डबल इंजन की सरकार बनाने के लिए बढ़ चढकर मतदान करने की अपील की। 

पूरा भाषण पढ़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए

Explore More
आज का भारत एक आकांक्षी समाज है: स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

आज का भारत एक आकांक्षी समाज है: स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी
ASI sites lit up as India assumes G20 presidency

Media Coverage

ASI sites lit up as India assumes G20 presidency
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
सोशल मीडिया कॉर्नर 2 दिसंबर 2022
December 02, 2022
साझा करें
 
Comments

Citizens Show Gratitude For PM Modi’s Policies That Have Led to Exponential Growth Across Diverse Sectors