असम सिर्फ एक भू-भाग नहीं है बल्कि आपार संसाधनों से भरा और समृद्ध संस्कृति का जीवंत समाज है: प्रधानमंत्री मोदी
हाईवे हो, रेलवे हो, एयरवे हो, वॉटरवे हो या फिर आईवे, हर स्तर पर कनेक्टिविटी को मज़बूत किया जा रहा है: पीएम मोदी
हम देश के बेहतर वर्तमान और शानदार भविष्य के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर की विरासत तैयार करना चाहते हैं, हमारा प्रयास है कि देश के लोगों का जीवन आसान हो, बिजनेस-कारोबार करना सरल हो, कोई भी क्षेत्र हो या व्यक्ति सबका संतुलित विकास हो, बेहतर रोज़गार का निर्माण हो: प्रधानमंत्री

“आपके प्रेम का कर्ज मेरे ऊपर है। मैं विकास के लिए कोई कसर नहीं छोड़ूंगा। एनडीए की सरकार बनने के बाद प्रधानमंत्री के रूप में मैं यहां 16 बार आ चुका हूं। हमारी सरकार बड़े फैसले भी लेती है और कड़े फैसले भी  लेती है।  मैं आपको भरोसा दिलाने आया हूं कि एनआरसी से कोई भी भारतीय नागरिक नहीं छूटेगा।”

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शुक्रवार को असम के सिलचर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं। उन्होंने कहा, ‘’National Register of Citizens of India (NRC) की प्रक्रिया के दौरान आप लोगों को काफी परेशानी हुई है, जिसका मुझे एहसास है। सोनोवाल सरकार तमाम चुनौतियों के बावजूद एनआरसी को पूरा करने में जुटी हुई है। हमने एनआरसी की प्रक्रिया को आसान करने के लिए सुप्रीम कोर्ट से भी आग्रह किया था।‘’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यहां के लोगों के हित के लिए सरकार ने Assam accord के क्लॉज नंबर 6 में संशोधन किया और इसको लागू किया है। यह 30-35 साल से लटका हुआ था।  उन्होंने कहा, “हमारी सरकार सिटीजन अमेंडमेंट बिल पर भी आगे बढ़ रही है। ये बिल भावनाओं और लोगों की जिंदगियों से जुड़ा हुआ है। पूरे विश्व में यदि कहीं भी मां भारती में आस्था रखने वाले किसी बेटे-बेटी को प्रताड़ित किया जाएगा, तो वो कहां जाएगा? क्या उसके पासपोर्ट का रंग ही देखा जाएगा? क्या खून का कोई रिश्ता नहीं होता है? इस बिल को लाकर कोई उपकार नहीं किया जा रहा है, बल्कि अतीत में हुए अन्याय का प्रायश्चित किया जा रहा है। उम्मीद है कि यह बिल जल्द से जल्द संसद में पारित होगा। वोट के लिए देश की सुरक्षा, सांस्कृतिक विरासत से समझौता हमारे रहते कभी नहीं होगा।” 

 

श्री मोदी ने कहा कि उनके लिए सत्ता से ऊपर देश है और यहां के नागरिक हैं, इसलिए मौजूदा सरकार की कोशिश है कि देशवासियों का जीवन आसान हो। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार न्यू इंडिया का इन्फ्रास्ट्रक्चर बनाने में जुटी है जिसमें पूर्वोत्तर देश की अगुआई करने वाला है। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार हाइवे, रेलवे, एयरवे, वाटरवे और आइवे के क्षेत्र में तेजी से विकास कार्य कर रही है। हर स्तर पर कनेक्टिविटी को मजबूत किया जा रहा है। बीते साढ़े चार वर्षों के दौरान असम में 3,000 करोड़ रुपये की लागत से 700 किलोमीटर सड़कों का निर्माण किया जा चुका है।  इसके अलावा, लगभग साढ़े पांच हजार करोड़ की लागत से 400 किलोमीटर की सड़कों पर तेजी से काम चल रहा है। बराक वैली में भी नेशनल हाइवे, पुलों के साथ कनेक्टिविटी के अनेक प्रोजेक्ट पूरे हो चुके हैं या पूरे होने वाले हैं।

श्री मोदी ने कहा कि सड़क निर्माण योजना के तहत बराक वैली में सवा सौ से ज्यादा पुलों के साथ ही 1000 किलोमीटर की ग्रामीण सड़कों के निर्माण को स्वीकृति दे दी गई है। सड़क के अलावा रेलवे की कनेक्टिविटी पर तेज गति से काम हो रहा है। पूर्वोत्तर की सभी रेल लाइनों का चौड़ीकरण पूरा हो चुका है। एयर कनेक्टिविटी को बढ़ावा देने के लिए गुवाहाटी एयरपोर्ट पर 1,200 करोड़ रुपये की लागत से नई इंटीग्रेटेड ट्रर्मिनल बिल्डिंग का निर्माण कार्य प्रगति पर है।

पीएम मोदी ने कहा कि असम में नदी मार्ग पर भी तेजी से काम चल रहा है। बिजली की बेहतर व्यवस्था के लिए 1,500 करोड़ की लागत से काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि मौजूदा सरकार की नीति ‘एक्ट ईस्ट और एक्ट फास्ट ऑन ईस्ट’ की है। पूर्वी और दक्षिण एशिया से जनसंपर्क के नए रास्ते खुलें, इस पर काम किए जा रहे हैं। असम में टूरिज्म की भरपूर संभावनाएं हैं। केंद्र सरकार ‘स्वदेश दर्शन’ स्कीम के तहत सुविधाएं देने के लिए सवा दो सौ करोड़ रुपये खर्च कर रही है। उन्होंने कहा कि असम में डेढ़ करोड़ लोगों के खाते बैंकों में पहली बार खुले। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत असम में 50 लाख लोन दिए गए हैं। राज्य के 25 लाख लोग प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना से जुड़ चुके हैं। 24 लाख परिवारों को मुफ्त गैस कनेक्शन दिया जा चुका है। 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, '’असम से पूर्वी और दक्षिण एशिया तक हमारे व्यापार और कारोबार को शक्ति मिले, जन-संपर्क के नए रास्ते खुलें- इस दिशा में हम तेजी के साथ काम कर रहे हैं। यहां के हर नागरिक को रोजगार मिले और सबका विकास हो, इसके लिए हम पूरी कोशिश कर रहे हैं।'’   

श्री मोदी की रैली में भारी संख्या में लोग शामिल हुए। अपने संबोधन के प्रारंभ में प्रधानमंत्री ने देश के लिए बड़े योगदान करने वाली असम की महान विभूतियों को याद किया।

पूरा भाषण पढ़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए

Explore More
अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी
Indian banks are strong enough to support growth

Media Coverage

Indian banks are strong enough to support growth
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
Prime Minister pays tributes to Dr. Syama Prasad Mookerjee on the day of his martyrdom
June 23, 2024

The Prime Minister, Shri Narendra Modi has paid tributes to Dr. Syama Prasad Mookerjee on the day of his martyrdom.

The Prime Minister said that Dr. Syama Prasad Mookerjee's glowing personality will continue to guide future generations.

The Prime Minister said in a X post;

“देश के महान सपूत, प्रख्यात विचारक और शिक्षाविद् डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी को उनके बलिदान दिवस पर सादर नमन। मां भारती की सेवा में उन्होंने अपना जीवन समर्पित कर दिया। उनका ओजस्वी व्यक्तित्व देश की हर पीढ़ी को प्रेरित करता रहेगा।”