साझा करें
 
Comments
"Shri Narendra Modi addressed the fourth round of the 3D rally"
"Do look back at the promises made by Congress. They said Jhuggi Jhopdis will be wiped out. But what has happened: Shri Modi "
"Your gramophone is stuck on the same thing. Your ideology is a threat to the nation: Shri Modi to Congress"
"From Congress’ actions it seems India is not Matrubhumi but Matra Bhoomi (only a piece of land): Shri Modi"
"For us India is Motherland but for you it is Mother's Land...you need to think beyond only Elections: Shri Modi to Congress"
"Not Rajneeti but Rashtraneeti is important for us: Shri Modi"
"I am not one of those who says your daughter must be home before sun set. The government has to protect women, it is a duty: Shri Modi"
"There is no place for betrayers in a democracy: Shri Modi on Congress"
"India does not want leaders whose sole aim is to save their chairs. We now need a strong government: Shri Modi"
"Smriti Irani & BJP workers must be congratulated. Congress is scared now wondering if the Mother-Son will be in Parliament or not: Shri Modi"
""

आम चुनाव 2014 देश के साथ धोखेबाजी करने वालों को सबक सिखाने और जनकल्याण के लिए समर्पित सरकार को समर्थन देने वाला चुनाव है। यह बात श्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार 20 अप्रैल की शाम थ्री डी रैली के चौथे दौर में कही। श्री मोदी ने इस दौरान सुशासन और समेकित विकास यानी जिसमें सभी वर्गों के विकास पर जोर हो को लेकर भी अपने विचार रखे। इस रैली में देशभर के करीब एक हजार स्थानों पर लाखों लोगों ने श्री मोदी को सुना।

कांग्रेस के देश को गुमराह करने वाले दावों और वादों की पोल खोलते हुए श्री मोदी ने कहा कि उनके गरीबी खत्म करने के दावे ढेर हो चुके हैं। ‘‘कांग्रेस के किए गए वादों को पीछे मुड़कर देखिए, उन्होंने कहा था देश से झुग्गियां गायब हो जाएंगी लेकिन क्या हुआ? आधा चुनाव निकल चुका है लेकिन वह अब झुग्गियां हटाने के मामले में कुछ बोलते ही नही हैं। उन्हें कोई चिंता नहीं है।’’

राष्ट्रहित की अनदेखी करने और परिवार हित को सबसे ऊपर समझने के कांग्रेस के नजरिये की भी श्री मोदी ने निंदा की। उन्होंने बताया कि कैसे देश को मातृभूमि समझने की बजाय महज जमीन का टुकड़ा समझने की प्रवृत्ति से देश और देशवासियों को खतरा है। ‘‘कांग्रेस की हरकतों से लगता है कि भारत उनके लिए मातृभूमि नहीं मात्र भूमि भर है। हमारे लिए भारत मातृभूमि है लेकिन कांग्रेस के लिए ‘मां’ की भूमि है। उन्हें चुनाव से परे भी कुछ सोचने की जरूरत है।’’

बीजेपी के लक्ष्य का जिक्र करते हुए श्री मोदी ने बताया कि वर्ष 2022 में देश अपनी आजादी के 75 वर्ष पूरा कर रहा होगा तब तक हर व्यक्ति को घर और मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराने पर हमारा जोर होगा। श्री मोदी ने समझाया कि कैसे बीजेपी का जोर राष्ट्रनीति में है राजनीति में नहीं। लोगों को भयमुक्त वातावरण और युवाओं को रोजगार देने की पार्टी की प्राथमिकताओं के बारे में भी बताया। श्री मोदी ने कहा ‘‘महिला सशक्तिकरण और युवाओं को रोजगार हमारी प्राथमिकता होगी।’’ उन्होंने लोगों को विकास के नए अवसर खासकर कृषि क्षेत्र में उपलब्ध कराने की जरूरत भी बताई।

अमेठी में पार्टी की ओर से चुनाव लड़ रहीं स्मृति ईरानी का जिक्र करते हुए श्री मोदी ने कहा कि उनकी उम्मीदवारी ने कांग्रेस की चिंता बढ़ा दी है। घोषणा के महज दस दिनों के भीतर मां (कांग्रेस अध्यक्ष) को अपने बेटे को बचाने के लिए मोर्चा संभालना पड़ा। ‘‘स्मृति ईरानी और बीजेपी कार्यकर्ताओं को बधाई देता हूं। कांग्रेस डरी हुई है और सोच रही है मां-बेटे संसद में पहुंचेंगे या नहीं।’’

उन्होंने लोगों से बीजेपी को समर्थन देने और दिल्ली में एक स्थिर सरकार बनवाने के लिए मदद की अपील की। श्री मोदी ने कहा ‘‘भारत को ऐसे नेता नहीं चाहिए जिनका लक्ष्य कुर्सी बचाना हो। हमें मजबूत सरकार की जरूरत है।’’

गुजरात में रविवार शाम आए तूफान का जिक्र करते हुए श्री मोदी ने बताया कि उन्होंने अधिकारियों से इस मामले में जानकारी भी ली है।

20 Pictures Defining 20 Years of Seva Aur Samarpan
मन की बात क्विज
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
52.5 lakh houses delivered, over 83 lakh grounded for construction under PMAY-U: Govt

Media Coverage

52.5 lakh houses delivered, over 83 lakh grounded for construction under PMAY-U: Govt
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री तीन दिसंबर को ‘इनफिनिटी-फोरम’ का उद्घाटन करेंगे
November 30, 2021
साझा करें
 
Comments
फोरम ‘बियॉन्ड’ विषय पर ध्यान केंद्रित करेगा; ‘फिन-टेक बियॉन्ड बाऊंड्रीज’, ‘फिन-टेक बियॉन्ड फाइनेन्स’ और ‘फिन-टेक बियॉन्ड नेक्सट’ जैसे उप-विषय शामिल होंगे

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी तीन दिसंबर, 2021 को सुबह 10 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से इनफिनिटी फोरम का उद्घाटन करेंगे। इनफिनिटी फोरम, फिन-टेक पर एक विचारशील नेतृत्वकारी मंच है।

इस कार्यक्रम का आयोजन भारत सरकार के तत्वावधान में अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण (आईएफएससीए) द्वारा किया जा रहा है। आयोजन में गिफ्ट-सिटी (गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंस टेक-सिटी) और ब्लूमबर्ग कर रहे हैं। कार्यक्रम तीन और चार दिसंबर, 2021 को होगा। फोरम के पहले आयोजन में इंडोनीशिया, दक्षिण अफ्रीका और यूके साझीदार देश हैं।

इनफिनिटी-फोरम के जरिये नीति, व्यापार और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में विश्व की जानी-मानी प्रतिभायें एक साथ आयेंगी तथा इस बात पर गहन विमर्श करेंगी कि कैसे प्रौद्योगिकी और नवाचार को फिन-टेक उद्योग में इस्तेमाल किया जा सकता है, ताकि समावेशी विकास हो तथा बड़े पैमाने पर सबकी सेवा हो।

फोरम का एजेंडा ‘बियॉन्ड’ (सर्वोच्च) विषय पर केंद्रित है। इसमें विभिन्न उप-विषय शामिल हैं, जैसे ‘फिन-टेक बियॉन्ड बाऊंड्रीज,’(वित्त-प्रौद्योगिकी सर्वोच्च सीमा तक), जिसके तहत सरकारें और व्यापार संस्थायें वित्तीय समावेश को प्रोत्साहित करने के लिये भौगोलिक सरहदों के परे ध्यान देंगी, ताकि वैश्विकसमूह का विकास हो सके;‘फिन-टेक बियॉन्ड फाइनेन्स’(वित्त-प्रौद्योगिकी सर्वोच्च वित्त तक), जिसके तहत स्पेस-टेक, ग्रीन-टेक तथा एग्री-टेक जैसे उभरते क्षेत्रों में एकरूपता लाई जा सके और सतत विकास हो सके; और‘फिन-टेक बियॉन्ड नेक्सट’(वित्त-प्रौद्योगिकी सर्वोच्च अग्रिम तक), जिसके तहत इस बात पर ध्यान दिया जायेगा कि कैसे क्वॉन्टम कंप्यूटिंग, भावी फिन-टेक उद्योग तथा नये अवसरों को प्रोत्साहित करने के लिये प्रभावी हो सकता है।

फोरम में 70 से अधिक देश हिस्सा लेंगे। मुख्य वक्ताओं में मलेशिया के वित्तमंत्री श्री तेंगकू ज़फरुल-अज़ीज़, इंडोनेशिया की वित्तमंत्री सुश्री मुल्यानी इंद्रावती, इंडोनेशिया के संरचनात्मक अर्थव्यवस्था के मंत्री श्री सैनडियागा एस. ऊनो, रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक श्री मुकेश अंबानी, सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉर्प के अध्यक्ष एवं सीईओ श्री मासायोशी सून, आईबीएम कॉरपोरेशन के अध्यक्ष एवं सीईओ श्री अरविन्द कृष्ण, कोटक महिंद्रा बैंक लिमिटेड के प्रबंध निदेशक एवं सीईओ श्री उदय कोटक और अन्य गणमान्य शामिल हैं। इस वर्ष के फोरम में नीति आयोग, इनवेस्ट इंडिया, फिक्की और नैसकॉम मुख्य साझीदारों में से हैं।

आईएफएससीए के बारे में –

अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण (इंटरनेशनल फाइनेंशियल सर्विसेज सेंटर्स अथॉरिटी) का मुख्यालय गिफ्ट-सिटी, गांधीनगर, गुजरात में स्थित है। इसकी स्थापना अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण अधिनियम, 2019 के तहत की गई थी। यह संस्था भारत में वित्तीय उत्पादों, वित्तीय सेवाओं और वित्तीय संस्थानों के नियमन तथा विकास के लिये एक एकीकृत प्राधिकार के रूप में काम करती है। इस समय गिफ्ट-आईएफएससी भारत में पहला अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र है।