साझा करें
 
Comments

लोगों से जुडऩे का एतिहासिक तरीका अपनाते हुए, 3-डी प्रोजेक्शन टेक्नोलोजी के माध्यम से श्री मोदीने एक समय में चार अलग-अलग शहरों में जनसभाओं को संबोधित किया

श्री मोदी ने श्री बाला साहेब ठाकरे को भावभीनी श्रद्धांजलि दी शिवसेना के दिवंगत दिग्ग्ज नेता के प्रति सम्मान के रूप में दो मिनट का मौन रखा

यह एतिहासिक घटना है, जब लोग पहली बार इस तरह की टेक्नोलोजी के माध्यम से जुड़ रहे हैं : श्री मोदी

गुजरात की विकास के लिए पिछले 11 सालों से प्रशंसा हो रही है तथा इसका कारण है गुजरात के लोगों का दढ़़ संकल्प तथा दूरदर्शिता : श्री मोदी

मैं हमेशा प्रधानमंत्री से विकास के मुद्दे पर प्रतिस्पर्धा करने के लिए आग्रह करता हूँ, मगर वे आरोपों, गालियों की होड़ करना तथा गुजरात को बदनाम करना चाहते हैं: श्री मोदी

कांग्रेस ने देश को बर्बाद किया है, पहले उन्होंने धारा 356 का दुरूपयोग किया, अब वे सी.बी.आई. का दुरूपयोग कर रहे हैं : श्री मोदी

मुख्यमंत्री ने मतदाताओं को गुजरात में कमल को खिलाने की अपील की, महिला मतदाताओं से मजबूत सहभागिता की मांग की

 

रविवार 18 नवंबर, 10`12 की शाम को श्री नरेन्द्र मोदी ने 3-डी टेक्नोलोजी का प्रयोग करते हुए एक समय पर गुजरात के चार अलग-अलग शहरों में बड़ी जनसभाओं को संबोधित किया। जनसभाएं अहमदाबाद, सूरत, वड़ोदरा तथा राजकोट में आयोजित की गई थी। श्री मोदी ने इसे गुजरात में हुई एतिहासिक घटना की उपाधि दी, जिसने टेक्नोलोजी के उपयोग के एक नए अध्याय की शुरूआत की। उन्होंने नववर्ष की शुरुआत तथा लाभ पाँचम के अवसर पर लोगों को शुभकामनाएं दीं।

अपना भाषण शुरू करने से पहले, श्री मोदी ने शिवसेना के दिग्ग्ज नेता श्री बालासाहब ठाकरे को अपनी ओर से भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की, जिनका 86 वर्ष की आयु में निधन हो गया। उन्होंने दिवंगत नेता के सम्मान में दो मिनट का मौन धारण करने के लिए अनुरोध किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह पहली बार है जब टेक्नोलोजी का प्रयोग करके लोग इस तरह से जुड़ रहे हैं तथा उन्होंने आगे कहा कि टेक्नोलोजी तो केवल एक माध्यम है - लोगों के साथ जो रिश्ता वे निभाते हैं, वह तो दिल का है।

श्री मोदी ने कहा कि वे लोगों के आशीर्वाद चाहते हैं तथा पुष्टि की कि चाहे इस सीट पर से कोई भी खड़ा हो जाए, वह उम्मीदवार रहेंगे तथा लोगों के सुख और दु:ख से उनका निरंतर रिश्ता बना रहेगा। उन्होंने कमल को फिर से खिलाने के लिए लोगों से एक मजबूत अपील की तथा लोगों से अनुरोध किया कि दिल्ली के लुटेरों को गुजरात में नहीं आने दिया जाए। उन्होंने महिला मतदाताओं से भी मजबूत भागीदारी निभाने की मांग की।

पिछले 11 सालों में गुजरात के विकास पर बात करते हुए श्री मोदी ने कहा कि गुजरात की तारीफ उसके विकास के लिए पूरी दुनिया में की जा रही है तथा इसके पीछ का कारण गुजरात के लोगों का दृढ़ संकल्प तथा दूरदर्शिता रही है। उन्होंने राजनैतिक स्थिरता को गुजरात की सफलता के पीछे का मुख्य कारक बताया और जोर देकर कहा कि यदि गुजरात में राजनैतिक स्थिरता नहीं होती तो गुजरात विकास की इन ऊंचाइयों को नहीं छू पाता।

उन्होंने कहा कि चाहे वो कृषि हो, उद्योग हो, सिंचाई हो या कोई भी अन्य क्षेत्र हो, राज्य ने विकास में अपनी छाप छोड़ी है। श्री मोदी ने घोषणा की कि ‘सौनी योजना’ सौराष्ट्र के किसानों के जीवन को बदल देगी। उन्होनें कहा कि उस समय जब देश की कृषि विकास दर 2-3% को पार करने में सक्षम नहीं है, गुजरात की कृषि 11% से बढ़ रही है।

श्री मोदी ने कहा कि वे जब भी प्रधान मंत्री से विकास के मुद्दे पर प्रतिस्पर्धा करने की बात करते हैं, वे आरोपों, गलत भाषा और गुजरात की बदनामी पर प्रतिस्पर्धा करना चाहते हैं। उन्होंने एक घटना को याद किया जिसमें कांग्रेस के एक नेता ने उनकी तुलना बंदर से की थी, परन्तु उन्होंने कहा कि वे नेता रामायण और वानर शक्ति के सामर्थ्य को शायद भूल गए हैं।

कांग्रेस द्वारा फैलाए जा रहे झूठ के अन्य उदाहरण देते हुए श्री मोदी ने कहा कि वे झूठा प्रचार कर रहे हैं कि गुजरात सरकार ने गौचर भूमि दे रही है। परन्तु 1980 से 1985 तक वह कांग्रेस की सरकार थी जिन्होंने दक्षिण गुजरात की 93% बहुमूल्य गौचर भूमि बांटी थी, जबकि पिछले 11 सालों में केवल 4% गौचर भूमि दी गई है।

उन्होंने आगे कांग्रेस के गुजरात में शिक्षा मंहगी होने के एक और झूठ की बात की। उन्होंने बताया कि गुजरात में इंजीनियरिंग की फीस महाराष्ट्र तथा राजस्थान के मुकाबले कम है, जिन दोनों में कांग्रेस का शासन है। उन्होंने कांग्रेस द्वारा फैलाए जा रहे झूठ को समझने पर जोर दिया।

मुख्यमंत्री ने कांग्रेस द्वारा किए गए वादे कि यदि 2004 और 2009 के चुनावों में जीत कर आते हैं तो 100 दिनों के भीतर मंहगाई कम कर देंगे पर उनको आड़े हाथों लिया। उन्होंने दावे से कहा कि ना सिर्फ कीमतें कम नहीं हुई है, बल्कि सरकार ने तो सिलेंडर तक छीन लिए हैं, जो परिवारों को बुरी तरह से प्रभावित करेगा। श्री मोदी ने आगे कहा कि कांग्रेस के किसी भी नेता ने इस पर दु:ख जाहिर नहीं किया है। उन्होंने लोगों को पाइप लाइन के ज़रिए गैस पहुंचाने की राज्य सरकार की पहल के संबंध में केन्द्र सरकार के गुजरात विरोधी कदम के बारे में भी बताया। कांग्रेस के गुजरात विरोधी कदमों का एक और उदाहरण देते हुए श्री मोदी ने बताया कि किस तरह से वाइब्रेंट गुजरात समिट में आने वाली कंपनियों को दिल्ली से आई.टी. के नोटिस भेजे गए थे।

उन्होंने अपने भाषण में गुजरात सरकार के किसी भी युवा जो अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए लोन लेना चाहता है उसके बैंक गारंटर बनने के फैसले पर भी बात की।

श्री मोदी ने घोषणा की कि कांग्रेस ने देश को बर्बाद किया है तथा राजनैतिक पंडितों से विनती की कि वे कांग्रेस की प्रकृति का अध्ययन करें तथा लोगों के सामने पेश करें। उन्होंने उस समय को याद किया जब कांग्रेस का देश की राजनीति पर आधिपत्य समाप्त हुआ था तब उनके द्वारा विपक्षी सरकार के खिलाफ धारा 356 का दुरूपयोग किया जाता था तथा अब जब वे ऐसा नहीं कर सकते हैं तो सी.बी.आई. का दुरूपयोग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि गुजरात में कांग्रेस सिर्फ उम्मीदवार खड़े कर रही है, पर असली चुनाव तो सी.बी.आई. लड़ रही है।

मुख्यमंत्री ने याद किया कि कैसे रानी लक्ष्मी बाई ने कहा था कि “मैं अपनी झांसी नहीं दूंगी” तथा गुजरात के लोगों से अपील की कि वे भी अपना राज्य कांग्रेस के हाथों में ना सौंपे। उन्होंने कहा कि सभी लोगों को भव्य तथा दिव्य गुजरात के लिए एक साथ आना चाहिए। उन्होंने आगे कहा कि पहले से विपरीत कि जब गुजरात में कर्फ्यू आम बात थी, अब राज्य ने शांति, एकता और भाईचारे के रास्ते पर आगे बढ़ने का मार्ग दिखाया है।

भारत के ओलंपियन को प्रेरित करें!  #Cheers4India
मोदी सरकार के #7YearsOfSeva
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
Over 44 crore vaccine doses administered in India so far: Health ministry

Media Coverage

Over 44 crore vaccine doses administered in India so far: Health ministry
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री ने सीआरपीएफ कर्मियों को उनके स्थापना दिवस पर बधाई दी
July 27, 2021
साझा करें
 
Comments

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) कर्मियों को उनके स्थापना दिवस पर बधाई दी है।

अपने ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा है, “सीआरपीएफ के स्थापना दिवस पर सभी जांबाज @crpfindia कर्मियों और उनके परिवार वालों को बधाई। सीआरपीएफ को अपनी वीरता और कर्तव्यपरायणता के लिये जाना जाता है। भारत के सुरक्षा तंत्र में उसकी प्रमुख भूमिका है। राष्ट्रीय अखंडता को अक्षुण्ण बनाने में उनका योगदान अत्यंत सराहनीय है।”