गुजरात की शांति-एकता और भाईचारे के दुनिया ने किए सद्भावना दर्शन

राज्य भर में मुख्यमंत्री के 36 सद्भावना उपवास तप के संकल्प में समाजशक्ति का विराट साक्षात्कार

50 लाख से ज्यादा लोग सद्भावना उपवास कार्यक्रम में भागीदार बने

डेढ़ लाख महिलाओं सहित साढ़े चार लाख नागरिकों ने किया स्वैच्छिक उपवास

सद्भावना की खुश्बू गांव-गांव में फैली : एकता का जन आंदोलन

छह करोड़ गुजरातियों का श्री मोदी ने जताया आभार

मुख्यमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के सद्भावना मिशन अभियान के तहत किए गए उपवास को भारी जन समर्थन मिला है। राज्य भर में श्री मोदी ने 36 उपवास तप संपन्न किए। उल्लेखनीय है कि 17 सितंबर, 2011 को अहमदाबाद में तीन दिवसीय उपवास से सद्भावना मिशन का संकल्प शुरू किया था। उन्होंने द्वारिका से अम्बाजी तक राज्य के 26 जिलों और 7 महानगरों में उपवास किए। सात्विक सद्भावना मिशन के उपवास ने एकता का जन आंदोलन खड़ा किया जिसका प्रभाव समग्र समाजशक्ति पर पड़ा है।

                सद्भावना मिशन की महत्वपूर्ण झलकियां :

  • डेढ़ लाख महिलाओं सहित साढ़े चार लाख नागरिक स्वैच्छिक उपवास में शामिल हुए।
  • 50 लाख से ज्यादा भाई-बहन सद्भावना कार्यक्रम में भागीदार बने।
  • 15 लाख नागरिकों ने मुख्यमंत्री से प्रत्यक्ष मिलकर रिकार्ड स्थापित किया।
  • गुजरात के 75 प्रतिशत परिवारों का कोई न कोई सदस्य सद्भावना मिशन कार्यक्रम में उपस्थित हुआ और इस सद्भावना ने एकता का जन आंदोलन खड़ा किया।
  • इस अभियान की वजह से युवाओं-नागरिकों को सद्भावना की अनोखी प्रेरणा मिली, जिसकी वजह से राज्य भर के एक लाख से ज्यादा युवा पैदल चलकर कार्यक्रम में शामिल हुए।
  • सद्भावना फेरी (प्रभातफेरी) हजारों गांवों में आयोजित हुई, जिसमें शामिल होकर 16 लाख लोगों ने सद्भावना की खुश्बू फैलाई।
  • 40 हजार जितने तिथि भोजन स्वेच्छा से ग्रामीणों ने करवाए। 42 लाख जितने कुपोषण से पीडि़त गरीब बालकों को पौष्टिक आहार का पोषण मिला।
  • छह लाख किलो अनाज लोगों ने गरीबों को दिया। हजारों किलो फल और सूखे मेवे सहित अन्य खाद्य सामग्री आंगनवाडिय़ों में बालकों को वितरीत की गई।
  • चार करोड़ रुपये की भारी रकम के चेक कन्या केळवणी कोष में प्राप्त हुए।
  • सैकड़ों नागरिकों ने समाज की भलाई के लिए संकल्प किए।
  • सद्भावना विषयक चित्र प्रतियोगिता, वक्तृत्व प्रतियोगिता और निबंध प्रतियोगिताएं हजारों की संख्या में आयोजित हुई। 10 लाख बालकों में सद्भावना विषयक विचारों की प्रेरणा जागी।

इस उपवास तप के अभियान से गुजरात ने सद्भावना की नई दुनिया का निर्माण किया। गुजरात ने समाजशक्ति के विराट साक्षात्कार से एकता, शांति और भाईचारे की शक्ति से समग्र विश्व को अपना अनोखा परिचय दिया है।

मुख्यमंत्री ने इस सद्भावना उपवास तप अभियान में भागीदार बनकर सद्भावना की शक्ति का साक्षात्कार करवाने वाले छह करोड़ गुजरातियों का अंत:करण से आभार जताया है।

Explore More
अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी
'After June 4, action against corrupt will intensify...': PM Modi in Bengal's Purulia

Media Coverage

'After June 4, action against corrupt will intensify...': PM Modi in Bengal's Purulia
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री मोदी की 'न्यूज नेशन' के साथ बातचीत
May 20, 2024

ओडिशा के पुरी में एक रोडशो के दौरान पीएम मोदी ने 'न्यूज नेशन' के साथ ओडिशा चुनाव, परिवर्तन की राजनीति और लोकसभा चुनाव में चार सौ पार के लक्ष्य सहित अनेक विषयों पर बातचीत की। उन्होंने कहा कि ओडिशा कभी बाहरी व्यक्ति का नेतृत्व स्वीकार नहीं करेगा। ओड़िया अस्मिता के लिए, ओड़िया स्वाभिमान के लिए और ओड़िया के उज्जवल भविष्य के लिए बहुत बड़े परिवर्तन की आवश्यकता है। ये चुनाव ओडिशा में परिवर्तन का है।