Share
 
Comments
The entire nation witnessed the lawlessness and violence that were unleashed by the TMC hooligans in Kolkata last night: PM Modi
The more violence and brutality Mamata Didi thrusts upon BJP karyakartas, the stronger their resolve becomes to defeat her with their votes: PM Modi in Bengal
Our top priority after these elections will be to strengthen border security in Bengal with the help of modern fencing technologies: Prime Minister Modi 

 

भारत माता की जय, भारत माता की जय, भारत माता की जय

सबसे पहले मैं भाजपा के और पश्चिम बंगाल के उन साथियों के परिवारों को और उनके प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं जिनकी पिछले कुछ कार्यकाल में टीएमसी के गुंडों ने हत्या की है, और जो घायल हैं मैं उनके जल्द ही स्वास्थ्य होने की कामना करता हूं। साथियो, मैं आपको ये भी विश्वास दिलाता हूं कि लोकतंत्र के लिए आपका ये बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा।

भाइयो-बहनो, प. बंगाल में गणतंत्र को फिर से स्थापित करने के लिए आपका हौसला आपकी इच्छा शक्ति पूरा देश बड़े आदर के साथ देख रहा है। दीदी के गुंडे, गोलियां और बम लेकर के विनाश करने पर उतर गए हैं। लेकिन लोकतंत्र के प्रति आपकी श्रद्धा को लेकर के बंगाल के मेरे भाई बहन डटकर के खड़े हैं। आपका यही हौसला यही जोश ममता दीदी की इस अत्याचारी सत्ता को एक न एक दिन जड़ से उखाड़ देगा। साथियो, कल कोलकाता की तस्वीरें पूरे देश ने देखी है। आज पूरे देश में इसकी चर्चा हो रही है। भाइयो-बहनो, प. बंगाल में बीजेपी की लहर से ये दीदी घबरा गई है, और घबराई हुई दीदी किस स्तर पर उतर आई है ये भी देश और दुनिया देख रही है। ममता दीदी ने दो दिन पहले ही ऐलान किया था और उन्होंने कहा था कि वो इंच इंच का बदला लेगी। ये उन्होंने सार्वजनिक रुप से घोषित किया था, और उन्होंने अपना दो एजेंडा घोषित किया था उसको देखिए 24 घंटे के भीतर ही भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष भाई अमित शाह जी पर हमला करवा दिया। उनके रोड शो पर हमला कर के हिंसा फैला कर डराने की भरसक कोशिश की गई। हिंसा के बाद दीदी आप और आपके दरबारी जिस तरह की राजनीति कर रहे हैं उसकी पोल यूनिवर्सिटी के छात्रों ने ही खोलनी शुरू कर दी है। दीदी जिस लोकतंत्र ने आपको इतने मान से इतने सम्मान से इतने भरोसे से मुख्यमंत्री का पद दिया था।

आज सत्ता के नशे में दीदी आप उसी लोकतंत्र का गला घोंटने पर उतारु है। दीदी अरे सत्ता तो सेवा का माध्यम होती है। आप सत्ता और  जनता को अपना गुलाम समझने की भूल कर रही हो। दीदी जनता को धोखा आप दो, चिटफंड के नाम पर गरीब के पैसे लूटो आप ही लूटो। भ्रष्टाचारियों को बचाने के लिए धरने पर बैठे, आप खुद जाकर बैठो, और जब प. बंगाल की जनता आपसे हिसाब मांगे तो आप गालियां देने पर उतर आई, धमकियां देने लगी। हिंसा, आगजनी कराने लगी। लेकिन क्या लगता है आपको आपकी गाली और धमकियों से मोदी डर जाएगा। ममता दीदी आसानी से डिगने वालों में ये मोदी नहीं है। आपको ये पता नहीं है कि मोदी का रक्षा कवच 130 करोड़ देशवासी है। मेरे लिए तो देश के ये करोड़ों साथी ही अपने हैं। मैं उनके लिए ही मैदान में हूं, और इसलिए दीदी आपकी गालियां और धमकियों का असर मुझ पर नहीं होता है। साथियो, आज दीदी अपनी ही परछाई से डर रही है कांप रही है बौखलाई हुई हैं। क्योंकि इस बार उनकी जमीन खिसक गई है। आज बंगाल के चप्पे-चप्पे से एक ही आवाज आ रही है। 2019 में ही दीदी का पत्ता साफ होने जा रहा है।

और भाइयो-बहनो, प. बंगाल में दीदी जिस तरह भड़की हुई है। हिंसा कर रही है। उसने एक और बात स्पष्ट कर दी है। प. बंगाल के लोगों के आशीर्वाद से इस बार देश में भाजपा अकले अपने दम पर और दीदी ये मेरे शब्द लिखकर के रखो। पांचवे-छठे चरण के मतदान में ही जितने सर्वे आए हैं जितने ओपिनियन आए हैं। भाजपा को अकेली भाजपा को पूर्ण बहुमत देने की देश भर से आवाज उठी है। लेकिन दीदी आपकी बौखलाहट देखकर के और बंगाल का जन समर्थन देखकर के आज मैं बंगाल की धरती पर से कह रहा हूं कि अब बंगाल हमें पूर्ण बहुमत से आगे 300 सीटों से पार करवा के रहेगा।

यानी बीजेपी 300 सीट पार कर जाएगी और बंगाल इसमें बहुत बड़ी भूमिका रहने वाली है। और आप ये भी अंदाजा लगा सकते हैं कि जब अकेली बीजेपी 300 पार कर लिए तो फिर एनडीए को तो और भी ज्यादा सीट मिलने जा रही है। साथियो, दीदी को लगता था कि वो यहां के लोगों को धोखा देकर डराकर धमका कर इसी तरह राज करती रहेगी। लेकिन जिस धरती में राम कृष्ण परमहंस, स्वामी विवेकानंद, रबीन्द्रनाथ टैगोर, श्री अरविंदो, नेता जी सुभाष चंद्र बोस जैसे महान लोगों के संस्कार हो वहां के लोग दीदी का ये बर्ताव आगे बर्दाश्त करने वाले नहीं है। इसलिए बंगाल ने बंगाल के लोगों ने मन बना लिया है कि अब दीदी से मुक्ति पानी है। दीदी को सत्ता में नहीं रहने देना है। भाइयो-बहनो, राजपाठ छीनने के डर से दीदी अगर भड़केगी नहीं तो और क्या करेगी। साथियो, बीते चार पांच दिन में दीदी ने अपना वो स्वरुप दिखा दिया है। जिसके गवाह दिल्ली में बैठे उनके दरबारी भी रहे हैं।

साथियो, चार पांच साल पहले टीवी पर एक कार्यक्रम में जब कोलकाता में बंगाल की बिटिया ममता दीदी से कुछ सवाल पूछ बैठी और दीदी ऐसे भड़क गईं। वो टीवी पर वायरल हुआ था, सोशल मीडिया पर अभी भी चल रहा है। ये उनका अहंकार आज नहीं तीन चार साल पहले भी भड़क गया था। उनको इतना ज्यादा गुस्सा आया था उस टीवी इंटरव्यू में कि ममता दीदी माइक पटककर उन कॉलेज की दो बेटियों को अनाप-शनाप गालियां देकर के वो वहां से भाग गई थी। अब फिर दीदी ने बंगाल की एक बेटी के साथ ऐसा ही गुस्सा दिखाया, गुस्सा भी ऐसा उस बेटी को ही ममता दीदी ने जेल में डाल दिया। दीदी अपने अहंकार में आप क्या क्या कर रही हैं। जिसने भगवान का नाम लिया उसको भी जेल में डाल दिया। यहां भाजपा नेताओं को रैली नहीं करने दी जा रही। वोटरों को वोट नहीं डालने दिया जा रहा। उम्मीदवारों पर हमले किए जा रहे हैं। यहां तक की नेताजी सुभाष चंद्र बोस के प्रपौत्र को भी आपके गुंडों ने नहीं छोड़ा। दीदी आप बंगाल को किस युग में ले जाने पर तुली हुई हैं। मुझे याद आ रहा है कि ऐसा ही कुछ इमरजेंसी के बाद जब चुनाव हुआ था तब हुआ था। लोगों को वोट देने से ऐसे ही रोका गया था। ममता दीदी आप बंगाल को इमरजेंसी के उस दौर में ले आई हो। और दीदी मेरे शब्द लिखकर के रखिए, ये आपका दमन बीजेपी के कार्यकर्ताओं तक सीमित नहीं है, ये तुम्हारी लड़ाई ये बंगाल की जनता के खिलाफ तुमने छेड़ी है। और बंगाल की जनता चुपचाप कमल छाप दबाकर तुम्हें सीख देने वाली है।

लेकिन मत भूलिए ये 21वीं सदी का भारत है अगर प. बंगाल की जनता आपको सातवें आसमान पर बैठा सकती है तो यही जनता वापस जमीन पर ला भी सकती है। ये लोकतंत्र है याद रखिएगा दीदी ये मेरे शब्द याद रखिएगा। जिन बेटियों को आप जेल में डालने का कम कर रही है, वहीं बेटियां अब आपको सजा देने वाली है, आपको सबक सिखाने वाली है। ममता दीदी ये भूमि मां दुर्गा की है, मां सरस्वती की है।आपने बेटियों का अपमान करके मां का भी अपमान किया है। सिर्फ एक तस्वीर के लिए इतना गुस्सा, दीदी आप तो खुद आर्टिस्ट हो पेंटिग करती हो। कहते हैं आप तो चित्रकार भी हैं। और सुना है नारदा, शारदा का नाम जपते हुए आपकी पेंटिग्स करोडों रुपये में बिका करती हैं। आज इस मंच से बंगाल की धरती से दीदी मैं आपसे आग्रह करूंगा आपका गुस्सा ठंडा करने के लिए, आप तो आर्टिस्ट है, पेंटर हैं, आप भद्दे से भद्दा गंदे से गंदा आप मेरा एक चित्र बनाइए। आप जरूर बनाइए, और 23 मई के बाद मेरा फिर से प्रधानमंत्री का शपथ होने के बाद आप मेरे निवास स्थान पर आइए और मुझे वो भद्दे से भद्दी तस्वीर जो आपने मेरी बनाई है वो मुझे भेंट कीजिए, मैं प्यार से स्वीकार करुंगा और जिंदगी भर मेरे पास रखूंगा। मैं आप पर एफआईआर नहीं करुंगा। क्या कर रही हो दीदी।

भाइयो-बहनो, दीदी प.बंगाल के विकास की नहीं बल्कि सिर्फ अपने बोट बैंक के बारे में सोच रही है। अपनी कुर्सी की चिंता कर रही है। उनको लगता है कि उनका टोलाबाजी गैंग, उन का घुसपैठिया गैंग ऐसे ही फलता फूलता रहेगा। उनको लगता है कि तस्करी और तस्करों से उनकी पार्टी का खजाना बढ़ता रहेगा। लेकिन दीदी का ये सपना टूटने वाला है। 23 मई को जब फिर एक बार मोदी सरकार। फिर एक बार मोदी सराकर। फिर एक बार मोदी सरकार। फिर एक बार मोदी सरकार आएगी तब हम घुसपैठियों की पहचान का कम तेज करेंगे। जो अवैध तरीके से प. बंगाल के लोगों के हक का खा रहे हैं उनकी पहचान की जाएगी। लेकिन भाइयो-बहनो, हमारे वो साथी जो भारत माता की जय बोलते हैं, जिनके लिए भारत ही एक मात्र उम्मीद है, उनके लिए नागरिकता का प्रबंध भी साथ साथ हम ही करने वाले हैं। उनको भारत सरकार की हर योजना का समय पर और सही लाभ मिल पाए ये इंतजाम किया जाएगा। ऐसे व्यवस्था की जाएगी कि टीएमसी के टोलाबाजों और सिंडिकेट के सामने उनको मजबूर रहना न पड़े। साथियो, देश की सुरक्षा को लेकर दीदी का क्या रवैया है, ये आपने भी देखा है। सर्जिकल स्ट्राइक हो, एयर स्ट्राइक के बाद अपने ही सपूतों पर सवाल उठाने वाले दीदी को सबक सिखाना जरूरी है। देश के हितों के खिलाफ जाकर पाकिस्तान के सुर में सुर मिलाने वाली दीदी को सबक सिखाना जरूरी है।

और भाइयो-बहनो, दीदी ने तो इतनी हद कर दी है, इतना मानसिक संतुलन खो दिया है वो कहती है मैं भारत के प्रधानमंत्री को प्रधानमंत्री मानने के लिए ही तैयार नहीं है। वो पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को प्रधानमंत्री मानने को तैयार है, हिंदुस्तान के प्रधानमंत्री को प्रधानमंत्री मानने को तैयार नहीं हैं। दीदी क्या हाल हो गया है आपका? क्या ऐसी दीदी को माफ करते सकते हैं क्या? माफ कर सकते हैं? सजा दोगे? जमकर के सजा दोगे ? भाइयो-बहनो, आपको निडर होकर वोट देने के लिए घर से निकलना होगा। कमल छाप पर आपका वोट घुसपैठियों से मुक्ति सुनिश्चित करेगा। कमल छाप आपका एक वोट गाय के तस्करों पर प्रभावी कार्रवाई सुनिश्चित करेगा। आपका कमल को मिला एक वोट चिट फंड के गोरखधंधों में शामिल हर अपराधी को कड़ी से कड़ी सजा सुनिश्चित करेगा।

आपका एक वोट 2022 तक प. बंगाल के हर गरीब को अपना पक्का घर सुनिश्चित करेगा। आपका एक वोट हर किसान के बैंक खाते में वर्ष में तीन बार सीधी मदद सुनिश्चित करेगा। आपका कमल को मिला एक वोट दिल्ली में एक मजबूत सरकार सुनिश्चित करेगा। जो आपके हित में कड़े और बड़े फैसले ले पाएगी। साथियो, 19 मई को हर बूथ पर आपको भारी संख्या में पहुंचाना है। और एक ही काम करना है चुपचाप कमल छाप, चुपचाप कमल छाप, चुपचाप कमल छाप, चुपचाप कलम छाप, चुपचाप कमल छाप, दूसरा नारा बोलवाता हूं। बूथ-बूथ से टीएमसी साफ, बूथ बूथ से टीएमसी साफ, बूथ बूथ से टीएमसी साफ, बूथ-बूथ से टीएमसी साफ, बूथ बूथ से टीएमसी साफ, चुपचाप कमल छाप, चुपचाप कमल छाप, बूथ बूथ से टीएसपी साफ, बूथ बूथ से टीएमसी साफ। आपका हर वोट सीधा मोदी के खाते में जाएगा। आप इतनी बड़ी तादाद में हमें आशीर्वाद देने आए, मैं आपका आभारी हूं। मेरे साथ बोलिए

भारत माता की जय, भारत माता की जय

बहुत बहुत धन्यवाद      

 

Donation
Explore More
It is now time to leave the 'Chalta Hai' attitude & think of 'Badal Sakta Hai': PM Modi

Popular Speeches

It is now time to leave the 'Chalta Hai' attitude & think of 'Badal Sakta Hai': PM Modi
‘Modi Should Retain Power, Or Things Would Nosedive’: L&T Chairman Describes 2019 Election As Modi Vs All

Media Coverage

‘Modi Should Retain Power, Or Things Would Nosedive’: L&T Chairman Describes 2019 Election As Modi Vs All
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
Share
 
Comments
An active Opposition is important in a Parliamentary democracy: PM Modi
I am happy that this new house has a high number of women MPs: PM Modi
When we come to Parliament, we should forget Paksh and Vipaksh. We should think about issues with a ‘Nishpaksh spirit’ and work in the larger interest of the nation: PM

The Prime Minister, Shri Narendra Modi, today, welcomed all the new MPs ahead of the first session of 17th Lok Sabha.

In the media statement before the start of session, Prime Minister said ,“Today marks the start of the first session after the 2019 Lok Sabha polls. I welcome all new MPs. With them comes new hopes, new aspirations and new determination to serve”.

The Prime Minister expressed happiness in the increased number of women Parliamentarians in the 17th Lok Sabha. He said that the Parliament is able to fulfil the aspirations of people when it functions smoothly.

The Prime Minister also underlined the importance of opposition in parliamentary democracy. He expressed hope that the opposition will play an active role and participate in House proceedings. The opposition need not worry about their numbers in the Lok Sabha, PM said.

“When we come to Parliament, we should forget Paksh and Vipaksh. We should think about issues with a ‘Nishpaksh spirit’ and work in the larger interest of the nation”, PM added.