Share
 
Comments
PM Modi visits Shauryanjali, a commemorative exhibition on the Golden Jubilee of the 1965 war
PM Narendra Modi meets veterans of 1965 war
PM Modi visits the exhibits and recreations of battle scene of 1965 war
The valour & sacrifice of our armed forces during 1965 war remains etched in the memory of every Indian: PM

The Prime Minister, Shri Narendra Modi, today visited Shauryanjali, a commemorative exhibition on the Golden Jubilee of the 1965 war, at the Rajpath lawns in New Delhi.

The exhibition is an ode to the valour and sacrifice of Indian Armed Forces personnel protecting the borders of the country.

The Prime Minister visited the exhibits and recreations of the battle scene in various sectors. He met some of the veterans of the 1965 war. The Chiefs of the Army, Navy and Air Force were present on the occasion. Several senior Union Ministers were also present.

"The valour and sacrifice of our armed forces during the 1965 war remains etched in the memory of every Indian. We are very proud of them," the Prime Minister later tweeted.

Explore More
It is now time to leave the 'Chalta Hai' attitude & think of 'Badal Sakta Hai': PM Modi

Popular Speeches

It is now time to leave the 'Chalta Hai' attitude & think of 'Badal Sakta Hai': PM Modi
India to enhance cooperation in energy, skill development with Africa

Media Coverage

India to enhance cooperation in energy, skill development with Africa
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
PM’s statement ahead of Monsoon Session of Parliament
July 18, 2018
Share
 
Comments

वर्षा सत्र में देशहित के कई महत्‍वपूर्ण मसले उसका निर्णय होना जरूरी है, जिसका निर्णय होना जरूरी है। देश के कई महत्‍वपूर्ण मसलों पर चर्चा होना जरूरी है और जितनी व्‍यापक चर्चा होगी सभी वरिष्‍ठ अनुभवी लोगों का सदन को मार्गदर्शन मिलेगा, उतना देश को भी लाभ होगा, सरकार को भी अपनी निर्णय प्रक्रिया में अच्‍छे सुझावों से फायदा होगा। मैं आशा करता हूं कि सभी राजनीतिक दल सदन के समय का सर्वाधिक उपयोग देश के महत्‍वपूर्ण कामों को आगे बढ़ाने में करेंगे। हर किसी का पूर्ण सहयोग रहेगा और देशभर में भारत की संसद की गतिविधि की छवि राज्‍य विधानसभाओं के लिए भी प्रेरक बने, ऐसा उत्‍तम उदाहरण सभी सांसद सदस्‍य और सभी राजनीतिक दल प्रस्‍तुत करेंगे, ऐसी मेरी पूरी आशा है । हर बार मैंने अपनी आशा प्रकट भी की है, प्रयास भी किया है। इस बार भी आशा प्रकट कर रहा हूं। इस बार भी प्रयास कर रहे हैं और हमारा प्रयास निरंतर रहेगा। कोई भी दल, कोई भी सदस्‍य किसी भी विषय में चर्चा करना चाहता है, सरकार हर चर्चा के लिए तैयार है। यह मानसून सत्र है, देश के कई भागों में वर्षा के कारण कुछ आपदाएं भी हैं और कुछ स्‍थान हैं जहां अपेक्षा से कम वर्षा है। मैं समझता हूं ऐसे विषयों की चर्चा ही बहुत उपयुक्‍त रहेगी। बहुत-बहुत धन्‍यवाद।