Panchatirth: A tribute to Dr. Babasaheb Ambedkar

Published By : Admin | April 13, 2017 | 12:04 IST

Prime Minister Narendra Modi believes it is a blessing to the BJP that after its continuous efforts, it is being successful in developing pilgrimage sites related to Babasaheb as Panchatirth. Prime Minister Modi has also got the opportunity to visit several such sites. Be it a visit to Ambedkar's birthplace or to purchase the land of Indu Mill in Maharashtra to develop a memorial at Chaitanya Bhoomi; developing the Diksha Sthal in Nagpur according to international standards or constructing a memorial at 15 Janpath in Delhi at his Mahaparinirvan Sthal – the Government is sparing no efforts to develop these centres as Panchatirth.

Memorial in Mhow - On April 14, 2016, the Prime Minister paid tribute to Dr. Ambedkar at his birthplace Mhow. The Shivraj Government in Madhya Pradesh has given this monument a new life. The foundation stone for this memorial was laid by the then Chief Minister Sunder Lal Patwa.

Today, this monument has become a pilgrimage for people who respect Babasaheb. From here, the Prime Minister gave the clarion call for ‘Gram Uday Se Bharat Uday’. Referring to Babasaheb's thinking and his contribution to the poor, Prime Minister Modi says that there should be a sense of reverence for understanding the principle of Babasaheb.

Memorial at Diksha Sthal - Following the formation of BJP government in Maharashtra, Diksha Sthal has been accorded the status of A-class tourist destination. This long awaited demand was met with PM Modi’s initiative of marking 125th Jayanti of Babasaheb Ambedkar. Rapid development of the land is being done to make the site for monument world class.

Memorial at Chaitanya Bhoomi – The task of developing Babasaheb Ambedkar Memorial at Chaitanya Bhoomi in Mumbai is progressing. There were many obstacles in this especially the case of 12.5 acres of land was stuck for years from Indu Mill. The process of transferring the land was not complete. When Devendra Fadnavis became Chief Minister in Maharashtra, with the inspiration of Prime Minister Narendra Modi, he facilitated this process in collaboration with Union Textile Minister Smriti Irani. A few days ago, this work was done on March 25th. Maharashtra Government has taken initiative to purchase land of Indu Mill and make a memorial site here. In 2015, Prime Minister Narendra Modi performed Bhoomi Pujan for the site.

The Prime Minister said that the memorial site would not only be built by lime, stone and bricks, but through public participation. PM Modi urged to plant trees, each belonging to 40,000 villages of Maharashtra and one tree from all the states of the country.

Ambedkar International Center at Janpath - Ambedkar International Center is being built at Janpath Marg in New Delhi. The place would attract people from the point of view of tourism, while followers of Babasaheb Ambedkar can come here and connect with his ideals and principles.

Ambedkar Memorial at Alipur Road - Ambedkar's Mahaparinirvana took place in a Bungalow at 26, Alipur Road, Delhi. Prime Minister Narendra Modi laid the foundation of a unique building here. Remembering the social, political and economic contributions of Babasaheb, PM Modi says that he will be injustice to limit Babasaheb to a particular class. He recalled former Prime Minister Atal Bihari Vajpayee and said that he had decided for the memorial to come up. The memorial will be inaugurated on 14 April 2018.

Apart from Panchatirth, Prime Minister Narendra Modi inaugurated the Ambedkar Memorial in London on November 14, 2015. Maharashtra Government led by Devendra Fadnavis bought the three-storey house, where Dr. Ambedkar used to stay. 800 crore rupees have been spent to convert the building into a museum. Prime Minister Narendra Modi, stating that the people of this world would be drawn to this place to understand India's economic thinking.

Prime Minister Narendra Modi says that Babasaheb has taught us to work in national and societal interest and when done so, our direction will always be right. That is why he continues to be an inspiration even today.

Explore More
No ifs and buts in anybody's mind about India’s capabilities: PM Modi on 77th Independence Day at Red Fort

Popular Speeches

No ifs and buts in anybody's mind about India’s capabilities: PM Modi on 77th Independence Day at Red Fort
India to complete largest defence export deal; BrahMos missiles set to reach Philippines

Media Coverage

India to complete largest defence export deal; BrahMos missiles set to reach Philippines
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
Our government enforced the ban of 'Triple Talaq' truly empowering our Muslim Sisters: PM in Amroha
April 19, 2024
Amroha is a witness to Shri Krishna's Shricharan
Amroha has given us Mohammed Shami
Despite being close to Delhi NCR, Amroha and it's garment industry couldn't derive the benefits for several decades
In the last decade we have fulfilled the vision of Babasaheb Ambedkar, Jyotiba Phule & Chaudhary Charan Singh in enabling developmental benefits to all
Our government enforced the ban of 'Triple Talaq' truly empowering our Muslim Sisters
People will not forget the 'Gunda Raj' before the advent of the BJP government in UP

आप सभी को राम-राम।
आज पहले चरण का मतदान हो रहा है। ये लोकतंत्र के सबसे बड़ा उत्सव का एक बहुत बड़ा दिन है। मेरा सभी मतदाताओं से अनुरोध है, संविधान से मिले इस अधिकार का उपयोग जरूर करें। मैं युवाओं से आग्रह करूंगा, जो पहली बार वोट डालने जा रहे हैं, उनसे आग्रह करूंगा कि ऐसा मौका जाने ना दें। वो आवश्य वोट करें।

साथियो,
हमारा अमरोहा कोई साधारण जगह नहीं है। मां गंगा के तट पर स्थित, ये धरती भगवान श्रीकृष्ण के श्रीचरणों की साक्षी रही है। ये धरती राजा गजसिंह और ठाकुर जयराम सिंह जैसे वीरों की भूमि है। मुझे अमरोहा की एक और पहचान ढोलक दिया गया है और यहां के ढोलक की थाप दूर-दूर तक गूंजती है। हमारे योगी जी के प्रयासों से अमरोहा की ढोलक को भाजपा की सरकार ने GI टैग देकर पूरी दुनिया में पहचान दिलवाई है। और, इस समय मैं ये जो जनसमूह देख रहा हूँ, आपका ये उत्साह दिखाता है...आज अमरोहा की एक ही थाप है- कमल छाप! और अमरोहा का एक ही स्वर है- फिर एक बार, मोदी सरकार! फिर एक बार, मोदी सरकार! फिर एक बार, मोदी सरकार!

साथियो,
अमरोहा केवल ढोलक ही नहीं, देश का डंका भी बजाता है। क्रिकेट वर्ल्ड कप में मोहम्मद शामी ने जो कमाल किया, वो पूरी दुनिया ने देखा है। खेलों में शानदार प्रदर्शन के लिए केंद्र सरकार ने भाई मोहम्मद शामी को अर्जुन अवार्ड दिया है। और योगी जी की सरकार तो यहां के युवाओं के लिए स्टेडियम भी बनवा रही है। मैं अमरोहा के लोगों को इसकी बहुत-बहुत बधाई देता हूं।

साथियो,
2024 का लोकसभा चुनाव, देश के भविष्य का चुनाव है। इस चुनाव में आपका एक-एक वोट भारत के भाग्य को सुनिश्चित करने वाला है। भाजपा गाँव-गरीब के लिए बड़े विज़न और बड़े लक्ष्यों के साथ आगे बढ़ रही है। लेकिन इंडी गठबंधन के लोगों की सारी शक्ति, गांव-देहात को पिछड़ा बनाए रखने में लगती है। इस मानसिकता का सबसे बड़ा नुकसान अमरोहा और पश्चिमी यूपी जैसे क्षेत्रों को उठाना पड़ा है। ये इलाका दिल्ली और NCR के इतने करीब है। लेकिन, दिल्ली एनसीआर का जो फ़ायदा अमरोहा को मिलना चाहिए था वो पहले मिला क्या? भाजपा के आने से पहले मिला क्या। इंडी गठबंधन वालों के दौर में यूपी की पहचान पिछड़ेपन के कारण होती थी। लेकिन, आज वही यूपी देश में एक्स्प्रेसवे वाले प्रदेश के तौर पर हिंदुस्तान जानने लगा है। आज यूपी में सबसे ज्यादा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे हैं। अमरोहा और गजरौला के रेलवे स्टेशनों को आधुनिक बनाया जा रहा है। हर रूट पर वंदेभारत जैसी ट्रेनों का विस्तार हो रहा है। हमारे अमरोहा में, यहीं पास में गंगा एक्सप्रेसवे बन रहा है।

साथियों,
कनेक्टिविटी के इन सारे कार्यों का लाभ अमरोहा के उद्योगों और कामगारों को हो रहा है। भाजपा सरकार देश में टेक्सटाइल इंडस्ट्री को बढ़ावा देने के लिए टेक्सटाइल पार्क बना रही है। इसका लाभ भी अमरोहा के गारमेंट उद्योग को मिलेगा। उससे ज्यादा से ज्यादा रोजगार युवाओं को मिलेंगे। अमरोहा में हमारी सरकार प्लेज पार्क भी बना रही है, औद्योगिक पार्क बना रही है। इसमें यहाँ अनेकों लघु उद्योगों को बहुत बड़ी मदद मिलेगी। इससे यहां का कुटीर उद्योग बढ़ेगा, इस क्षेत्र के युवाओं को रोजगार मिलेगा। भाजपा सरकार की पीएम विश्वकर्मा योजना और मुद्रा योजना का लाभ भी यहां के साथियों को हो रहा है।

साथियो,
मोदी सरकार के पिछले 10 वर्षों में जो हुआ है, वो तो अभी केवल एक ट्रेलर है। अभी तो हमें यूपी को, देश को बहुत आगे लेकर जाना है।

साथियो,
हमारे देश में पहले की सरकारें, सामाजिक न्याय के नाम पर SC-ST-OBC को सिर्फ धोखा ही देती रहीं। जो सपना ज्योतिबा फुले जी का था, जो सपना बाबासाहेब अम्बेडकर का था, जो सपना चौधरी चरण सिंह जी का था, सामाजिक न्याय का वो सपना जब से मोदी को आपने काम करने का मौका दिया है , वो सपना पूरा करने के लिए दिन रात काम कर रहे है। जब मोदी तीन तलाक के खिलाफ कानून बनाकर अपनी मुस्लिम बहनों को बचाता है, तो ये सामाजिक न्याय में मदद करता है। जब मोदी हर घर जल पहुंचाता है, गैस और बिजली पहुंचाता है, तो महिलाओं की जिंदगी आसान होती है, सामाजिक न्याय होता है। हमारे यहां गरीबों की, SC-ST-OBC समुदाय की कितनी ही पीढ़ियां, बिजली-पानी-घर के बिना ही गुजर गईं। ये गरीब का बेटा मोदी है, जो आपको इस मुश्किल से निकालने के लिए दिन रात मेहनत कर रहा है, खुद को खपा रहा है। भाजपा सरकार ने 10 साल में जो 4 करोड़ पक्के घर गरीबों के लिए बनवाए हैं, उसके बहुत बड़े लाभार्थी SC-ST-OBC हैं। अब तो भाजपा ने अपने मेनिफेस्टो में देश में 3 करोड़ और नए घर बनाने की घोषणा की है। यहां भी हर बेघर को पक्का घर मिलेगा-ये मोदी की गारंटी है। आप लोग मेरा एक काम करोगे, जब आप चुनाव प्रचार में गांव में जाएंगे-मोहल्लों में जाएंगे। तो उस गांव में दो-चार लोगों से मिल जाएंगे , जिनको अभी घर ना पहुंचा हो, नल से जल ना पहुंचा हो, गैस कनेक्शन न पहुंचा हो, इतना सारा किया है, लेकिन अगर कोई छूट गया है, तो आप मेरी तरफ से पूरे विश्वास के साथ, आप ही मेरे लिए मोदी हैं। पूरे विश्वास के साथ उनको कह देना जैसे गांव में और लोगों को घर मिला है। नल से जल मिला है, गैस का कनेक्शन मिला है। तीसरी बार मोदी आने के बाद, जो बाकी काम रह गया ना, वह भी पूरा हो जाएंगे। आपको अपना हक मिल जाएगा। यह बताओगे। घर-घर जाकर बताओगे।

साथियो,
अमरोहा और पश्चिमी यूपी का ये क्षेत्र, अपने मेहनती किसानों की वजह से भी जाना जाता है। कांग्रेस-सपा-बसपा सरकारों में यहां किसान की समस्याओं को ना सुना जाता था, ना देखा जाता था और परवाह की जाती थी। लेकिन भाजपा सरकार किसानों की समस्याओं को कम करने के लिए दिन-रात काम कर रही है। अमरोहा के किसानों को PM किसान सम्मान निधि के करीब 600 करोड़ रुपए मिले हैं। यूरिया की जो बोरी अमेरिका में 3 हजार रुपए की मिलती है, वो हम 300 रुपए से भी कम में किसानों को उपलब्ध करा रहे हैं। जिन्होंने बसपा, सपा और कांग्रेस की सरकारें देखी हैं, वो जरा योगी जी की सरकार को देख लें। योगी जी ने गन्ना किसानों की सबसे ज्यादा चिंता की। अभी हाल ही में योगी जी ने गन्ना मूल्य में भी बढ़ोत्तरी की है। अमरोहा के गन्ना किसान कभी नहीं भूल सकते कि पहले उन्हें भुगतान के लिए कितना परेशान किया जाता था। लेकिन, आज प्रदेश में गन्ने की रिकॉर्ड खरीद के साथ रिकॉर्ड भुगतान हो रहा है। जब सपा की सरकार थी तो अमरोहा के गन्ना किसानों को साल में औसतन सिर्फ 500 करोड़ रुपए का भुगतान होता था। जबकि योगी जी की सरकार में यहां हर साल करीब डेढ़ हजार करोड़ रुपए का भुगतान गन्ना किसानों को हुआ है। एक समय था जब यूपी में धड़ा-धड़ चीनी मिलें बंद हो रहीं थीं। जबकि हम हसनपुर शुगर मिल की क्षमता दोगुनी करने पर काम कर रहे हैं। यहां अमरोहा में इथेनॉल का प्लांट भी लगाया गया है। अमरोहा के आम का स्वाद भी किसानों के लिए समृद्धि लाये, हमारी सरकार इसके लिए भी काम कर रही है। आम की प्रोसेसिंग के लिए यहां मैंगो पैक हाउस का निर्माण कराया गया है।

भाइयों-बहनों,
भाजपा सरकार के इन प्रयासों के बीच यूपी में एक बार फिर दो शहजादों की जोड़ी, उनके फिल्म की शूटिंग चल रहा है आजकल। और ये दो शहजादों की फिल्म का पहले ही रिजेक्शन हो चुका है। हर बार ये लोग परिवारवाद, भ्रष्टाचार और तुष्टिकरण की टोकरी उठाकर यूपी की जनता से वोट मांगने निकल पड़ते हैं। अपने इस अभियान में ये लोग हमारी आस्था पर हमला करने का कोई मौका नहीं छोड़ते। आप याद करिए, इनकी सरकार को यहां के पवित्र तिगरी मेले से कितनी दिक्कत थी। तिगरी मेले में भी रूकावट डालते थे। यहां जो काँग्रेस के प्रत्याशी हैं, उन्हें तो भारत माता की जय बोलने तक से आपत्ति होती है। जिसको भारत माता की जय मंजूर नहीं, वो भारत की संसद में शोभा देता है क्या, ऐसे लोगों को भारत की संसद में प्रवेश मिलना चाहिए क्या। अयोध्या में राममंदिर बना, तो सपा-कांग्रेस दोनों ही पार्टियों ने प्राण प्रतिष्ठा का निमंत्रण ठुकरा दिया। आप कल्पना कर सकते हैं. वोट बैंक के भूखे लोग प्रभु श्री राम की प्राण प्रतिष्ठा का निणंत्रण का अवसर ठुकरा गए। उनके बजाए उनकी ओर देखिए जो जीवन भर बाबरी मस्जिद का केस लड़ते थे, सुप्रीम कोर्ट में हार गए, तो फिर भी प्राण प्रतिष्ठा में आ कर शामिल हो गए। लेकिन इनको तो उसमें भी शर्म रही है। ये तो उनसे भी गए बीते हैं। लेकिन, इतने पर ही ये संतुष्ट नहीं हुये। इनको लगा कि शायद वोट बैंक कच्ची रह जाएगी। इसलिए आए दिन राम मंदिर और सनातन आस्था को गालियां दे रहे हैं। अभी रामनवमी पर अयोध्या में रामलला का इतना भव्य सूर्यतिलक हुआ...आपने देखा ना? आज जब पूरा देश राममय है तो समाजवादी पार्टी वाले, जो राम की भक्ति रहते हैं उनको पाखंडी बोलते हैं। क्या ये लोग पाखंडी हैं क्या। क्या राम की पूजा करने वाले पाखंडी हैं क्या।

साथियो,
इंडी गठबंधन वाले सनातन से घृणा करते हैं। आपको ध्यान होगा, मैं कुछ दिनों पहले द्वारका नगरी गया था, अमरोहा तो सीधा सीधा श्री कृष्ण से नाता रखने वाली जगह है। भगवान श्रीकृष्ण यहां से निकलकर गुजरात गए थे। और मजा देखिए मैं गुजरात में पैदा हुआ और उत्तर प्रदेश की चरणों में आकर बैठ गया। काशी ने मुझे सांसद बना दिया। मैं द्वारका गया सारे आर्किलॉजी वालों ने खोज कर निकाला है कि समंदर के नीचे मूल द्वारका है। और वहां मैं गया,समंदर के नीचे बहुत गहरा चला गया। जहां श्रीकृष्ण जी की पुरानी द्वारका नगरी है वहां मैं पहुंचा और बहुत श्रद्धा और आस्था के साथ पूजा कि। मैं अपने साथ भगवान श्रीकृष्ण को पसंद मोर पंख भी ले गया था। वो भी वहां रखा। लेकिन कांग्रेस के शहजादे कहते हैं कि समंदर के नीचे पूजा करने योग्य कुछ है ही नहीं। हमारी हजारों वर्षों की मान्यता को, भक्ति को, जिसके साक्षात सबूत हैं, इस तरह खारिज कर रहे हैं ये लोग। सिर्फ और सिर्फ वोट वैंक के खातिर। और जो अपने आप को यदुवंशी कह कर ढोल पीटते हैं, मैं जरा उनको पूछना चाहता हूं, बिहार में जो कहते हैं न कि यदुवंशी हैं, उत्तर प्रदेश में जो नेता यदुवंशी का माल-मलाई खाने निकलते हैं, मैं उनको पूछना चाहता हूं, अगर आप सच्चे यदुवंशी है तो भगवान द्वारका का पूजा करने वाले की अपमान करने वाली पार्टी के साथ कैसे बैठ सकते हो। कैसे उनके साथ समझौता कर सकते हो।

साथियो,
आप याद करिए, तुष्टीकरण के इसी खेल ने यूपी को, और खासकर हमारे पश्चिमी यूपी को दंगों की आग में जलाया था। यूपी के लोग गुंडाराज का वो दौर भूले नहीं हैं। आए दिन यूपी में दंगे होते थे। लोगों को अपना घर छोड़कर जाना पड़ता था। पश्चिमी यूपी के कितने मोहल्लों में सामूहिक तौर पर मकान बिकाऊ है, के पोस्टर लगाने पड़ते थे। हमारी बहन बेटियाँ तक सुरक्षित नहीं थीं। हमारे योगी जी ने आपकी सुरक्षा के लिए यूपी को ऐसे अपराधियों से मुक्ति दिलाई है। हमें दोबारा किसी भी कीमत पर उन ताकतों को मजबूत नहीं होने देना है।

साथियो,
26 अप्रैल को चुनाव में एक बड़ा अवसर आने वाला है। आपको भाई कंवर सिंह तंवर को रिकॉर्ड मतों से जिताकर संसद भेजना है। आपको यहां से निकलकर एक और काम करना है। कुछ दिन पहले मैं एक प्रेस इंटरव्यू दे रहा था। मुझे पूछ रहे थे कि आप 400 पार, 400 पार कह रहे हैं। बहुत से राज्यों में आप इतने आगे बढ़ चुके हैं, उससे आगे और कहां बढ़ोगे। मैंने कहा लिख लो मैं उत्तर प्रदेश का सांसद हूं तो उसकी बात करता हूं। मैंने कहा, 7 साल से योगी जी की सरकार है और 2019 में तो उन्हें 2 साल ही काम करने का मौका मिला था। 7 साल में उन्होंने दिखा दिया है कि गवर्नंस क्या होता है, कानून व्यवस्था क्या होती है। इसलिए मैंने कहा योगी जी के नेतृत्व में 2014 का रिकॉर्ड टूटेगा, 2019 का रिकॉर्ड टूटेगा और ये दोनों रिकॉर्ड तोड़कर यूपी नया इतिहास बनने वाला है। इसके लिए हमें अपना पोलिंग बूथ जीतना है, इसके लिए घर-घर जाओगे, मतदान करवाओगे, ज्यादा से ज्यादा मतदान करवाओगे। आपको यहां से निकल एक काम और करना है आपको घर-घर जाना और कहना मोदी जी आए थे, उन्होंने आपको प्रणाम भेजा है। मेरा प्रणाम पहुंचा दोगे। मेरा प्रणाम पहुंचा दोगे।

भारत माता की जय
भारत माता की जय
भारत माता की जय
बहुत बहुत धन्यवाद