Share
 
Comments

S.No Name of Agreement/MoU Indian Signatory Chinese Signatory Remarks
1 Memorandum of Understanding between the Ministry of External Affairs of the Republic of India and the Ministry of Foreign Affairs of the People`s Republic of China on Opening a New Route for Indian Pilgrimage (Kailash Mansarovar Yatra) to the Tibet Autonomous Region of the People`s Republic of China External Affairs Minister

Smt Sushma SwarajForeign Minister

Mr. Wang YiThe MoU provides for conducting the annual Kailash Manasarovar Yatra through Nathula Pass in Sikkim addition to the existing Lipulekh Pass in Uttarakhand. The route through Nathula will augment the capacity and reduce the hardship and journey time enabling many more pilgrims in particular aged pilgrims to undertake the Yatra.2Memorandum of Understanding between Ministry of Railways of the Government of Republic of India and the Government of People’s Republic of China on strengthening cooperation in RailwaysChairman, Railway Board

Shri Arunendra KumarAdministrator, National Railway Administration

Mr. Lu DongfuUnder the MoU, both sides have agreed to enhance cooperation in the Railway sector in following areas: (i)speed-raising, (ii)studying feasibility of cooperation in High-Speed Railways, (iii)Heavy-Haul transportation training of Indian Railway personnel, (iv)Redevelopment of Railway stations, (v)setting up of a Railway University in India, etc.3Action Plan between Ministry of Railways of the Government of Republic of India and the National Railway Administration of the Government of People’s Republic of China on strengthening cooperation in RailwaysChairman, Railway Board

Shri Arunendra KumarAdministrator, National Railway Administration

Mr. Lu DongfuIt provides specific projects for cooperation in railway sector.4Five year Trade and Economic Development Plan between Ministry of Commerce and Industry of the Government of the Republic of India and the Ministry of Commerce of the Government of the People’s Republic of ChinaMinister of State (I/C) for Commerce and Industry

Smt. Nirmala SitharamanMinister of Commerce

Mr. Gao HuchengIt lays down a medium term roadmap for promoting balanced and sustainable development of economic and trade relations between China and India, on the principle of equality and mutual benefit. The main objectives of the plan are : (i) reduction of bilateral trade imbalance; (ii) strengthen investment cooperation to realize US$ 20 billion investment from China in 5 years; (iii) a transparent, stable and investor friendly business environment; and (iv) enhanced cooperation between Chambers of Commerce and financial sectors.5Agreed Minutes of the Tenth Session of India-China Joint Economic GroupMinister of State (I/C) for Commerce and Industry

Smt. Nirmala SitharamanMinister of Commerce

Mr. Gao HuchengThe tenth Session of the India-China Joint Group on Economic Relations, Trade, Science and Technology (JEG) was held in Beijing on 2nd September 2014. Both sides held detailed discussions on issues to promote broad and deep bilateral trade and economic cooperation between India and China and agreed to undertake measures to achieve sustainable and balanced trade. Specific measures to enhance market access to Indian products such as agricultural, pharmaceutical and export of services will be expedited.6Agreement on Audio-Visual Co-production between The Ministry of Information and Broadcasting of the Republic of India and the State Administration of Press, Publication, Radio, Film and Television of The People`s Republic of ChinaMinister of State (I/C) for Information and Broadcasting

Shri Prakash JavadekarMinister, State General Administration of Press, Publication, Radio, Film and Television

Mr. Cai FuchaoThe Agreement would enable the producers from both countries to get an opportunity to pool their creative, artistic, technical, financial and marketing resources to co-produce films. It would held Indian audio-visual products to gain greater market access.7Agreement

between the Government of the Republic of India

and the Government of the People’s Republic of China

On mutual administrative assistance and co-operation in Customs mattersChairperson,Central Board of Excise and Customs,

Smt J.M.Shanti SundharamAmbassador of China to India,

Mr.Le YuchengThe Agreement will help in enhancing cooperation to fight trans-border economic crimes and custom offences through sharing of information. It would also facilitate trade through enhanced customs cooperation.8Memorandum of Understanding between Indian Space Research Organisation and China National Space Administration on Cooperation in the Peaceful use of SpaceChairman, Indian Space Research Organisation,

Dr. K. RadhakrishnanVice Administrator, China National Space Administration,

Ms. Zhang JianhuaThe MoU enables both sides to encourage exchange and cooperation in the exploration and use of outer space for peaceful purposes, including Research and development of scientific experiment satellites, remote sensing satellites and communications satellites.9Memorandum of Understanding between the Ministry of Culture of the Republic of India and the Ministry of Culture of the People’s Republic of China on Strengthening the Exchange and Cooperation between Cultural InstitutionsSecretary, Ministry of Culture,

Shri Ravindra SinghAmbassador of China to India,

Mr. Le YuchengThis MOU is intended to foster long-term collaboration between various cultural institutions of the two countries. These cultural institutions include museums, archaeological organizations and performing art centers.10Memorandum of Understanding on Cooperation between National Book Trust of the Republic of India and the State Administration of Press, Publication, Radio, Film and Television of The People`s Republic of ChinaDirector, National Book Trust

Dr. M. A. SikandarMinister, State General Administration of Press, Publication, Radio, Film and Television

Mr. Cai FuchaoBoth sides have agreed that China will participate in the New Delhi World Book Fair 2016 as the Guest of Honour Country. The Agreement will help provide greater access to their nationals of publications of the other side.11Work Plan on Drug Administration and Cooperation

Between China Food and Drug Administration of the People’s Republic of China

And Ministry of Health & Family Welfare of the Republic of IndiaSecretary, Ministry of Health and Family Welfare Shri Lov VermaAmbassador of China to India

Mr. Le YuchengUnder the work plan, the two sides will carry out cooperation in fields of drug standards, traditional medicine and drug testing, etc. Both sides will exchange delegations to enhance cooperation in this area.12Agreement on establishing Sister City relationship between Mumbai and ShanghaiMayor of Mumbai

Smt. Snehal AmbekarExecutive Vice Mayor of Shanghai, Mr. Tu GuangshaoEstablishes Sister-City relations between Mumbai and Shanghai. It will enhance people-to-people exchanges fostering greater mutual understanding.13Agreement on establishing Sister City relationship between Ahmedabad and Guangzhou

(Signed in Gujarat)Municipal Commissioner, Ahmedabad Municipal Corporation

Dr. Guruprasad MohapatraMayor of Guangzhou, Mr. Chen JianhuaEstablishes Sister-City relations between Ahmedabad and Guangzhou. It will enhance people-to-people exchanges fostering greater mutual understanding.14Agreement on establishing Sister Province/State relationship between Gujarat and Guangdong

(Signed in Gujarat)Chief Secretary, Government of Gujarat

Dr. Varesh SinhaExecutive Vice Governer of Guangdong Province, Mr. Xu ShaohuaEstablishes Sister-Province/State relations between Gujarat and Guangdong. It will enhance people-to-people exchanges fostering greater mutual understanding.15Memorandum of Understanding between Maharashtra Industrial Development Corporation and Beiqi Foton Motor Co.Ltd. on supporting the setting up of industrial parks in Maharashtrahief Executive Officer, Maharashtra Industrial Development Corporation

Shri Bhushan A. GagraniChief Executive Officer, Beiqi Futon Motor Co.Ltd. Mr.Wang JinyuThe MoU would lead to setting up of a 1250 acre Industrial Park near Pune, Maharashtra, providing cluster-type development and generation of employment for a large number of people.16Memorandum of Understanding between China Development Bank Corporation and iNDEXTb on supporting the setting up of industrial parks in Gujarat

(Signed in Gujarat)Chairman, Industrial Extension Bureau, Gujarat Smt. Mamta VermaVice President,China Development Bank, Mr. Zhao XiaoyuThe MoU would lead to setting up of Industrial Parks in Gujarat with the support of Chinese enterprises and provide a platform for cluster development and generate employment for a large number of people.
View in PDF

1-684

2-684

6-684

5-684

4-684

3-684

— Narendra Modi (@narendramodi) September 18, 2014

Explore More
Today's India is an aspirational society: PM Modi on Independence Day

Popular Speeches

Today's India is an aspirational society: PM Modi on Independence Day
Arming Armenia: India to export missiles, rockets and ammunition

Media Coverage

Arming Armenia: India to export missiles, rockets and ammunition
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
Success starts with action: PM Modi at inauguration of National Games
September 29, 2022
Share
 
Comments
PM inaugurates world-class ‘Swarnim Gujarat Sports University’ in Desar
“When the event is so wonderful and unique, its energy is bound to be this extraordinary”
“The victory of the players and their strong performance in the sporting field also paves the way for victory of the country in other fields”
“The soft power of sports enhances the country's identity and image manifold”
“Savaj, the Asiatic lion mascot reflects the mood of fearless participation among India’s youth”
“When infrastructure is of good standard, morale of the athletes also soars”
“We worked for sports with a sports spirit. Prepared in mission mode for years through schemes like TOPS”
“Efforts like Fit India and Khelo India that have become a mass movement”
“Sports budget of the country has increased by almost 70 per cent in the last 8 years”
“Sports have been a part of India’s legacy and growth journey for thousands of years”

भारत माता की जय,

भारत माता की जय,

इस भव्य आयोजन में हमारे साथ उपस्थित गुजरात के गवर्नर आचार्य देवव्रत जी, हमारे लोकप्रिय मुख्यमंत्री भूपेन्द्र भाई, संसद के मेरे साथी सी.आर पाटिल, भारत सरकार में मंत्री श्री अनुराग जी, राज्य के मंत्री हर्ष संघवी जी, मेयर किरीट भाई, खेल संस्थाओं के प्रतिनिधिगण और देश भर से यहाँ जुटे मेरे युवा खिलाड़ियों।

आप सभी का बहुत-बहुत स्वागत है, अभिनंदन है। ये दृश्य, ये तस्वीर, ये माहौल, शब्दों से परे है। विश्व का सबसे बड़ा स्टेडियम, विश्व का इतना युवा देश, और देश का सबसे बड़ा खेल उत्सव! जब आयोजन इतना अद्भुत और अद्वितीय हो, तो उसकी ऊर्जा ऐसी ही असाधारण होगी। देश के 36 राज्यों से 7 हजार से ज्यादा athletes, 15 हजार से ज्यादा प्रतिभागी, 35 हजार से ज्यादा कॉलेज, यूनिवर्सिटीज़, और स्कूलों की सहभागिता, और 50 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स का नेशनल गेम्स से सीधा जुड़ाव, ये अद्भुत है, ये अभूतपूर्व है। नेशनल गेम्स का anthem ‘जुड़ेगा इंडिया, जीतेगा इंडिया। मैं कहुंगा जुड़ेगा इंडिया, आप बोलियेगा जीतेगा इंडिया। ‘जुड़ेगा इंडिया, जीतेगा इंडिया, ‘जुड़ेगा इंडिया, जीतेगा इंडिया, ‘जुड़ेगा इंडिया, जीतेगा इंडिया, ये शब्द, ये भाव आज आसमान में गूंज रहा है। आपका उत्साह आज आपके चेहरों पर चमक रहा है। ये चमक आगाज है, खेल की दुनिया के आने वाले सुनहरे भविष्य के लिए। नेशनल गेम्स का ये प्लेटफ़ॉर्म आप सभी के लिए एक नए launching pad का काम करेगा। मैं इन खेलों में शामिल हो रहे सभी खिलाड़ियों को मेरी तरफ से बहुत-बहुत शुभकामनायें देता हूँ।

 

साथियों,

मैं आज गुजरात के लोगों की भी सराहना करता हूँ, जिन्होंने बहुत ही कम समय में इस भव्य आयोजन के लिए सारी व्यवस्थाएं कीं। ये गुजरात का सामर्थ्य है, यहां के लोगों का सामर्थ्य है। लेकिन साथियों अगर आपको कहीं कमी महसूस हो, कहीं कोई असुविधा महसूस हो तो उसके लिए मैं गुजराती के नाते आप सबसे एडवांस में क्षमा मांग लेता हूं। कल अहमदाबाद में जिस तरह का शानदार, भव्य ड्रोन शो हुआ, वो देखकर तो हर कोई अचंभित है, गर्व से भरा है। टेक्नोलॉजी का ऐसा सधा हुआ इस्तेमाल, ड्रोन की तरह ही गुजरात को, भारत को नई ऊंचाईयों पर ले जाएगा। यहां जो पहले नेशनल स्पोर्ट्स कॉन्क्लेव का आयोजन किया गया, उसकी सफलता की भी बहुत चर्चा हो रही है। इन सारे प्रयासों के लिए मैं मुख्यमंत्री श्रीमान भूपेन्द्र भाई पटेल और उनकी पूरी टीम की भी भूरि-भूरि प्रशंसा करता हूं। अभी कुछ दिन पहले नेशनल गेम्स का official mascot ‘सावज’ भी लॉंच हुआ है। गिर के शेरों को प्रदर्शित करता ये शुभांकर सावज भारत के युवाओं के मिजाज को दिखाता है, निडर होकर मैदान में उतरने के जुनून को दिखाता है। ये वैश्विक परिदृश्य में तेजी से उभरते भारत के सामर्थ्य का भी प्रतीक है।

 

साथियों,

आज आप यहाँ जिस स्टेडियम में, जिस स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में मौजूद हैं, इसकी विशालता और आधुनिकता भी एक अलग प्रेरणा का कारण है। ये स्टेडियम तो दुनिया का सबसे बड़ा स्टेडियम है ही, साथ ही ये सरदार पटेल स्पोर्ट्स enclave और कॉम्प्लेक्स भी कई मायनों में सबसे अनूठा है। आमतौर पर ऐसे स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स एक या दो या तीन खेलों पर ही केंद्रित होकर रह जाते हैं। लेकिन सरदार पटेल स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में फुटबाल, हॉकी, बास्केटबॉल, कबड्डी, बॉक्सिंग और लॉन टेनिस जैसे अनेकों खेलों की सुविधा एक साथ उपलब्ध है। ये एक तरह से पूरे देश के लिए एक मॉडल है। क्योंकि, जब इनफ्रास्ट्रक्चर इस स्टैंडर्ड का होता है, तो खिलाड़ियों का मनोबल भी एक नई ऊंचाई तक पहुंच जाता है। मुझे विश्वास है, हमारे सभी खिलाड़ी इस कॉम्प्लेक्स के अपने अनुभवों को जरूर enjoy करेंगे।

 

मेरे नौजवान साथियों,

सौभाग्य से इस समय नवरात्रि का पावन अवसर भी चल रहा है। गुजरात में माँ दुर्गा की उपासना से लेकर गरबा तक, यहाँ की अपनी अलग ही पहचान है। जो खिलाड़ी दूसरे राज्यों से आए हैं, उनसे मैं कहूंगा कि खेल के साथ ही यहां नवरात्रि आयोजन का भी आनंद जरूर लीजिये। गुजरात के लोग आपकी मेहमान-नवाज़ी में, आपके स्वागत में कोई कोर कसर नहीं छोड़ेंगे। वैसे मैंने देखा है कि कैसे हमारे नीरज चोपड़ा कल गरबा का आनंद ले रहे थे। उत्सव की यही खुशी, हम भारतीयों को जोड़ती है, एक दूसरे का साथ देने के लिए प्रेरित करती है। मैं इस अवसर पर, आप सभी को, सभी गुजरातवासियों और देशवासियों को एक बार फिर नवरात्रि की बधाई देता हूँ।

 

मेरे युवा मित्रों,

किसी भी देश की प्रगति और दुनिया में उसके सम्मान का, खेलों में उसकी सफलता से सीधा संबंध होता है। राष्ट्र को नेतृत्व देश का युवा देता है, और खेल-स्पोर्ट्स, उस युवा की ऊर्जा का, उसके जीवन निर्माण का प्रमुख स्रोत होता है। आज भी आप देखेंगे, दुनिया में जो देश विकास और अर्थव्यवस्था में टॉप पर हैं, उनमें से ज्यादातर मेडल लिस्ट में भी टॉप पर होते हैं। इसलिए, खेल के मैदान में खिलाड़ियों की जीत, उनका दमदार प्रदर्शन, अन्य क्षेत्रों में देश की जीत का भी रास्ता बनाता है। स्पोर्ट्स की सॉफ्ट पावर, देश की पहचान को, देश की छवि को कई गुना ज्यादा बेहतर बना देती है।

 

साथियों,

मैं स्पोर्ट्स के साथियों को अक्सर कहता हूँ- Success starts with action! यानी, आपने जिस क्षण शुरुआत कर दी, उसी क्षण सफलता की शुरुआत भी हो गई। आपको लड़ना पड़ सकता है, जूझना पड़ सकता है। आप लड़खड़ा सकते हैं, गिर सकते हैं। लेकिन, अगर आपने दौड़ने का जज़्बा नहीं छोड़ा है, आप चलते जा रहे हैं तो ये मानकर चलिए कि जीत खुद एक-एक कदम आपकी ओर बढ़ रही है। आजादी के अमृतकाल में देश ने इसी हौसले के साथ नए भारत के निर्माण की शुरुआत की है। एक समय था, जब दुनिया ओलंपिक्स जैसे वैश्विक खेल महाकुंभ के लिए दीवानी होती थी। लेकिन हमारे यहाँ वो खेल, बरसों तक सिर्फ जनरल नॉलेज के विषय के तौर पर ही समेट दिए गए थे। लेकिन अब मिजाज बदला है, मूड नया है, माहौल नया है। 2014 से ‘फ़र्स्ट एंड बेस्ट’ का जो सिलसिला देश में शुरू हुआ है, हमारे युवाओं ने वो जलवा खेलों में भी बरकरार रखा है।

आप देखिए, आठ साल पहले तक भारत के खिलाड़ी, सौ से भी कम इंटरनेशनल इवेंट्स में हिस्सा लेते थे। अब भारत के खिलाड़ी तीन सौ से भी ज्यादा इंटरनेशनल इवेंट्स में शामिल होते हैं। आठ साल पहले भारत के खिलाड़ी, 20-25 खेलों को खेलने ही जाते थे। अब भारत के खिलाड़ी करीब 40 अलग-अलग खेलों में हिस्सा लेने जाते हैं। आज भारत के मेडल की संख्या भी बढ़ रही है और भारत की धमक भी बढ़ रही है। कोरोना के कठिन समय में भी देश ने अपने खिलाड़ियों का मनोबल कम नहीं होने दिया। हमने हमारे युवाओं को हर जरूरी संसाधन दिये, ट्रेनिंग के लिए विदेश भेजा। हमने स्पोर्ट्स स्पिरिट के साथ स्पोर्ट्स के लिए काम किया। TOPS जैसी योजनाओं के जरिए वर्षों तक मिशन मोड में तैयारी की। आज बड़े-बड़े खिलाड़ियों की सफलता से लेकर नए खिलाड़ियों के भविष्य निर्माण तक, TOPS एक बड़ी भूमिका निभा रहा है। आज हमारे युवा हर खेल में नए रिकॉर्ड्स बना रहे हैं, और अपने ही रिकॉर्ड्स ब्रेक भी करते चले जा रहे हैं। टोक्यो में इस बार भारत ने ओलंपिक्स का अपना सबसे शानदार प्रदर्शन किया। टोक्यो ओलंपिक में पहली बार युवाओं ने इतने मेडल्स देश के नाम किए। उसके बाद थॉमस कप में हमने हमारी बैडमिंटन टीम की जीत का जश्न मनाया। यूगांडा में पैरा-बैडमिंटन टीम ने भी 47 मेडल्स जीतकर देश की शान बढ़ाई। इस सफलता का सबसे ताकतवर पक्ष ये है कि इसमें हमारी बेटियाँ भी बराबरी से भागीदार हैं। हमारी बेटियाँ आज सबसे आगे तिरंगे की शान बढ़ा रही हैं।

 

साथियों,

खेल की दुनिया में ये सामर्थ्य दिखाने की क्षमता देश में पहले भी थी। ये विजय अभियान पहले भी शुरू हो सकता था। लेकिन, खेलों में जो professionalism होना चाहिए था, उसकी जगह परिवारवाद और भ्रष्टाचार ने ले रखी थी। हमने सिस्टम की सफाई भी की, और युवाओं में उनके सपनों के लिए भरोसा भी जगाया। देश अब केवल योजनाएँ नहीं बनाता, बल्कि अपने युवाओं के साथ कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ता है। इसीलिए, आज फिट इंडिया और खेलो इंडिया जैसे प्रयास एक जन-आंदोलन बन गए हैं। इसीलिए, आज खिलाड़ियों को ज्यादा से ज्यादा संसाधन भी दिए जा रहे हैं और ज्यादा से ज्यादा अवसर भी मिल रहे हैं। पिछले 8 वर्षों में देश का खेल बजट करीब-करीब 70 प्रतिशत बढ़ा है। आज देश में स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटीज बन रही हैं, कोने-कोने में आधुनिक स्पोर्ट्स इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जा रहा है। इतना ही नहीं रिटायर होने के बाद भी खिलाड़ियों को कोई तकलीफ न हो, इसके लिए भी प्रयास किया जा रहा है। रिटायर होने वाले खिलाड़ियों के अनुभवों का लाभ नई पीढ़ी को मिल सके, इस दिशा में भी काम हो रहा है।

 

साथियों,

स्पोर्ट्स, खेल, हजारों वर्षों से भारत की सभ्यता और संस्कृति का हिस्सा रहा हैं। खेल हमारी विरासत और विकास यात्रा का जरिया रहे हैं। आजादी के अमृतकाल में देश अपनी विरासत पर गर्व के साथ इस परंपरा को पुनर्जीवित कर रहा है। अब देश के प्रयास और उत्साह केवल एक खेल तक सीमित नहीं है, बल्कि ‘कलारीपयट्टू’ और योगासन जैसे भारतीय खेलों को भी महत्व मिल रहा है। मुझे खुशी है कि इन खेलों को नेशनल गेम्स जैसे बड़े आयोजनों में शामिल किया गया है। जो खिलाड़ी इन खेलों का प्रतिनिधित्व यहाँ कर रहे हैं, उन्हें मैं एक बात विशेष तौर पर कहना चाहता हूं। आप एक ओर हजारों वर्ष पुरानी परंपरा को आगे बढ़ा रहे हैं, तो साथ ही खेल जगत के भविष्य को नेतृत्व भी दे रहे हैं। आने वाले समय में जब इन खेलों को वैश्विक मान्यता मिलेगी, तो इन क्षेत्रों में आपका नाम legends के रूप में लिया जाएगा।

 

साथियों,

आखिरी में, आप सभी खिलाड़ियों को मैं एक मंत्र और देना चाहता हूं। अगर आपको competition जीतना है, तो आपको commitment और continuity को जीना सीखना होगा। खेलों में हार-जीत को कभी भी हमें आखिरी नहीं मानना चाहिए। ये स्पोर्ट्स स्पिरिट आपके जीवन का हिस्सा होना चाहिए, तभी भारत जैसे युवा और भारत जैसा युवा देश, उसके सपनों को आप नेतृत्व देंगे, असीमित संभावनाओं को साकार करेंगे। और आपको याद रखना है, जहां गति होती है, वहीं पर प्रगति होती है। इसलिए, इस गति को आपको मैदान से बाहर भी बनाकर रखना है। ये गति आपके जीवन का मिशन होना चाहिए। मुझे विश्वास है, नेशनल गेम्स में आपकी जीत देश को जश्न का मौका भी देगी, और भविष्य के लिए एक नया विश्वास भी जगाएगी। इसी विश्वास के साथ, ये छत्तीसवें राष्ट्रीय खेलों के शुभारंभ का आह्वान करता हूं।