Share
 
Comments

CM in Kutch CM inaugurates Rs.1100-cr steel plant at Bhimsar  A joint venture between India's Ruchi group and Japan's Mitsui group  Kutch has emerged as a steel hub of India: CM

Gandhinagar, Thursday: Chief Minister Narendra Modi today inaugurated second phase of steel plant of Indian Steel Corporation (ISC) which has been expanded at the cost of Rs.884 crore at Bhimsar of Kutch. The plant is a joint venture between India's Ruchi Group of Industry and Japan's Mitsui group. With the expanded plant, the company's production capacity has reached to six metric ton.

Speaking on the occasion Chief Minister said that Kutch has emerged as a steel hub of India. Kutch provides as a model of development for others to follow. Kutch has achieved an all-round and all-inclusive growth by adopting a strategy for balanced development.

ISC had commissioned its first steel plant with the investment of Rs. 241 crore at Bhimasar in 2005. During Mr. Modi's Japan visit in March-2007, Mitsui and Ruchi Group had shown interest to setting up second phase steel plant with the investment of Rs. 884 crore. Subsequently, the ISC had signed MOU for this during Vibrant Gujarat Summit- 2009, which has resulted into commissioning of second phase plant in Kutch.

Investment in the Industrial sector of the state is highest in the country. Apart from Industrial development, Gujarat has achieved significant growth rate in agriculture sector, Mr. Modi said. This shows that agriculture, industry and service sectors are equal contributor in the development of the State and the state is leading in the manufacturing sector also.

Gujarat has become automobile hub of the country and all the leading auto company has set up plants in the state, he said.

Indore MP Sumitra Mahajan credited the growth of Gujarat to the leadership of Chief Minister Narenedra Modi. After the devastating earthquake in 2001, Gujarat has turned all the odds into opportunities, she said.

Kailash Sahara, Chairman of Indian Steel Corporation said that Chief Minister Narendra Modi's farsighted policy of attracting developing countries to invest in the State has resulted in to significant industrial progress.

Officials of the company, Minister of State Vasanbhai Ahir and MLA Dr. Nimaben Acharya was also present on the occasion.

Pariksha Pe Charcha with PM Modi
Explore More
It is now time to leave the 'Chalta Hai' attitude & think of 'Badal Sakta Hai': PM Modi

Popular Speeches

It is now time to leave the 'Chalta Hai' attitude & think of 'Badal Sakta Hai': PM Modi
Govt releases Rs 4,000 crore for Post Matric Scholarship Scheme for Scheduled Castes

Media Coverage

Govt releases Rs 4,000 crore for Post Matric Scholarship Scheme for Scheduled Castes
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
टीका उत्सव पर देशवासियों से आग्रह
April 11, 2021
Share
 
Comments

मेरे प्यारे देशवासियों,

आज 11 अप्रैल यानि ज्योतिबा फुले जयंती से हम देशवासी ‘टीका उत्सव’ की शुरुआत कर रहे हैं। ये ‘टीका उत्सव’ 14 अप्रैल यानि बाबा साहेब आंबेडकर जयंती तक चलेगा।

ये उत्सव, एक प्रकार से कोरोना के खिलाफ दूसरी बड़ी जंग की शुरुआत है। इसमें हमें Personal Hygiene के साथ ही Social Hygiene पर विशेष बल देना है।

हमें ये चार बातें, जरूर याद रखनी है।

Each One- Vaccinate One, यानि जो लोग कम पढ़े-लिखे हैं, बुजुर्ग हैं, जो स्वयं जाकर टीका नहीं लगवा सकते, उनकी मदद करें।

Each One- Treat One, यानि जिन लोगों के पास उतने साधन नहीं हैं, जिन्हें जानकारी भी कम है, उनकी कोरोना के इलाज में सहायता करें।

Each One- Save One, यानि मैं स्वयं भी मास्क पहनूं और इस तरह स्वयं को भी Save करूं और दूसरों को भी Save करूं, इस पर बल देना है।

और चौथी अहम बात, किसी को कोरोना होने की स्थिति में, ‘माइक्रो कन्टेनमेंट जोन’ बनाने का नेतृत्व समाज के लोग करें। जहां पर एक भी कोरोना का पॉजिटिव केस आया है, वहां परिवार के लोग, समाज के लोग ‘माइक्रो कन्टेनमेंट जोन’ बनाएं।

भारत जैसे सघन जनसंख्या वाले हमारे देश में कोरोना के खिलाफ लड़ाई का एक महत्वपूर्ण तरीका ‘माइक्रो कन्टेनमेंट जोन’ भी है।

एक भी पॉजिटिव केस आने पर हम सभी का जागरूक रहना, बाकी लोगों की भी टेस्टिंग कराना बहुत आवश्यक है।

इसके साथ ही जो टीका लगवाने का अधिकारी है, उसे टीका लगे, इसका पूरा प्रयास समाज को भी करना है और प्रशासन को भी।

एक भी वैक्सीन का नुकसान ना हो, हमें ये सुनिश्चित करना है। हमें जीरो वैक्सीन वेस्ट की तरफ बढ़ना है।

इस दौरान हमें देश की वैक्सीनेशन क्षमता के ऑप्टिमम यूटिलाइजेशन की तरफ बढ़ना है। ये भी हमारी कपैसिटी बढ़ाने का ही एक तरीका है।

हमारी सफलता इस बात से तय होगी कि ‘माइक्रो कन्टेनमेंट जोन’ के प्रति कितनी जागरूकता हम लोगों में है।

हमारी सफलता इस बात से तय होगी कि जब जरूरत न हो, तब हम घर से बाहर न निकलें।

हमारी सफलता इस बात पर तय होगी कि जो टीका लगवाने का अधिकारी है, उसे टीका लगे।

हमारी सफलता इस बात पर तय होगी कि हम मास्क पहनने और अन्य नियमों का किस तरह पालन करते हैं।

साथियों,

इन चार दिनो में व्यक्तिगत स्तर पर, समाज के स्तर पर और प्रशासन के स्तर पर हमें अपने-अपने लक्ष्य बनाने हैं, उन्हें प्राप्त करने के लिए पूरा प्रयास करना है।
मुझे पूरा विश्वास है, इसी तरह जनभागीदारी से, जागरूक रहते हुए, अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए, हम एक बार फिर कोरोना को नियंत्रित करने में सफल होंगे।
याद रखिए- दवाई भी, कड़ाई भी।

धन्यवाद !

आपका,

नरेन्द्र मोदी।