Swami Vivekananda Youth Employment Week 

CM hands out appointment letters to 13380 youths of six districts of Ahmedabad zone

65000 youths will be given appointment letters in the span of a week

The State government has changed the very fabric of ITIs and employment exchanges: CM

In a programme held as a part of Swami Vivekananda Youth Employment Week the Chief Minister Narendra Modi on Thursday handed out appointment letters on behalf of private employers to 13380 youths of the six districts of Ahmedabad zone.

As a part of this historic employment campaign, the Chief Minister had earlier handed out appointment letters to 13079 youths of eight districts of Saurashtra-Kutch zone and 13229 youths of six districts of central Gujarat zone. The Chief Minister, on Friday, will hand out appointment letters to 25312 youths from six districts of south Gujarat at Surat.

Speaking on the occasion the Chief Minister said the State government desires to change the very fabric of the ITIs and employment exchanges. The government has brought about a drastic change in the kind of industrial training being provided at ITIs.

Earlier, Mr. Modi said, the youth were reluctant to take courses at ITIs and the people used to neglect this field. But the government has changed the face of ITIs and helped them gaining a new dignity.

The state government has equipped the ITI buildings with modern infrastructural facilities and latest technology. Even the Central government has recommended adopting the Gujarat ITIs as a model. Now, the training for vehicle driving is given through automatic stimulators. This will produce skilled drivers who will have knowledge of road safety. The ITIs are also enabled to impart training of high-tech construction technology, he said.

A decade back, Gujarat had only 274 ITIs, with the enrollment of about 77000 youths. But now, as many as 4.75 lakh youths are getting skill development training in around 1100 ITIs, he said.

The state government has opened up the door for higher education for those who successfully pass the ITI education. Now, an ITI passed-out can pursue diploma and then degree courses without giving exams of class 10 and 12. The contribution of an ITI passed-out in nation building is not a bit less than the one doing a white-collar job, the Chief Minister said.

“I am sure the youths will become instrumental in making India a world-leader as envisioned by Swami Vivekananda”, said Mr. Modi.

Speaking on the occasion Labour and Employment Minister Vajubhai Vala said the ITIs and skill development centres of the state are imparting training for as many as 180 different types of courses. The Chief Minister Narendra Modi desires each and every youth of Gujarat to become like Narendra Datt (Swami Vivekananda). The state government has undertaken this campaign to bring out the inner strength of the younger generation.

Minister of State for Labour and Employment Liladhar Vaghela said that Gujarat is the only state which has organized such job-fairs. This campaign is a huge effort of the government to curb poverty by creating jobs.

Principal Secretary to Labour and Employment department P.Panirvel said that Gujarat is marching with a rapid growth. With a view to meet the industries’ demand of skilled manpower the state government has raised the number of seats in ITIs. He also gave details of various courses offered by ITIs.

The members of state cabinet, MLAs and youths in large number were present on the occasion.

Explore More
77ನೇ ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ದಿನಾಚರಣೆಯ ಸಂದರ್ಭದಲ್ಲಿ ಕೆಂಪು ಕೋಟೆಯ ಕೊತ್ತಲದಿಂದ ರಾಷ್ಟ್ರವನ್ನು ಉದ್ದೇಶಿಸಿ ಪ್ರಧಾನಮಂತ್ರಿ ಶ್ರೀ ನರೇಂದ್ರ ಮೋದಿ ಅವರು ಮಾಡಿದ ಭಾಷಣದ ಕನ್ನಡ ಪಠ್ಯಾಂತರ

ಜನಪ್ರಿಯ ಭಾಷಣಗಳು

77ನೇ ಸ್ವಾತಂತ್ರ್ಯ ದಿನಾಚರಣೆಯ ಸಂದರ್ಭದಲ್ಲಿ ಕೆಂಪು ಕೋಟೆಯ ಕೊತ್ತಲದಿಂದ ರಾಷ್ಟ್ರವನ್ನು ಉದ್ದೇಶಿಸಿ ಪ್ರಧಾನಮಂತ್ರಿ ಶ್ರೀ ನರೇಂದ್ರ ಮೋದಿ ಅವರು ಮಾಡಿದ ಭಾಷಣದ ಕನ್ನಡ ಪಠ್ಯಾಂತರ
Apple’s India output: $10 billion in 10 months

Media Coverage

Apple’s India output: $10 billion in 10 months
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
The Government is supporting in every way to fulfill the development dreams of people of Telangana: PM Modi
March 04, 2024
Dedicates to nation and lays foundation stone for multiple power projects across the country
Inaugurates 7 projects and also lays foundation stone for 1 project of Power Grid Corporation of India
Dedicates to nation and lays foundation stone for multiple renewable energy projects
Dedicates to nation and lays foundation stone for various rail and road projects
“Central Government is supporting in every way to fulfill the development dreams of people of Telangana”
“We are moving with the mantra of ‘Nation’s development through development of States”
“There is a global buzz around the high growth rate of the Indian economy”
“For us development means the development of the poorest of the poor, development of dalit, tribals, backwards and deprived”

तेलंगाना की गवर्नर तमिलिसाई सौंदर्यराजन जी, मुख्यमंत्री श्रीमान रेवंत रेड्डी जी, मंत्रिमंडल में मेरे सहयोगी जी. किशन रेड्डी जी, सोयम बापू राव जी, पी. शंकर जी, अन्य महानुभाव, देवियों और सज्जनों!

आज आदिलाबाद की धरती तेलंगाना ही नहीं, पूरे देश के लिए कई विकास धाराओं की गवाह बन रही है। आज मैं आप सबके बीच 30 से ज्यादा विकास कार्यों के लोकार्पण और शिलान्यास इसका मुझे आज यहां अवसर मिला है। 56 हजार करोड़- Fifty Six Thousand Crore Rupees उससे भी ज्यादा, ये प्रोजेक्ट्स, तेलंगाना समेत देश के अनेक राज्यों में विकास का नया अध्याय लिखेंगे। इनमें ऊर्जा से जुड़े कई बड़े प्रोजेक्ट्स हैं, पर्यावरण की रक्षा के लिए किए जा रहे कार्य हैं, और तेलंगाना में आधुनिक रोड नेटवर्क विकसित करने वाले हाइवेज भी हैं। मैं तेलंगाना के मेरे भाइयों-बहनों को, और साथ ही सभी देशवासियों को इन परियोजनाओं के लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूँ।

साथियों,

केंद्र की हमारी सरकार को और तेलंगाना राज्य के निर्माण को करीब-करीब 10 साल हो रहे हैं। जिस विकास का सपना तेलंगाना के लोगों ने देखा था, उसे पूरा करने में केंद्र सरकार हर तरह से सहयोग कर रही है। आज भी तेलंगाना में 800 मेगावाट बिजली उत्पादन की क्षमता वाली NTPC की दूसरी यूनिट का लोकार्पण हुआ है। इससे तेलंगाना की बिजली उत्पादन क्षमता और ज्यादा बढ़ेगी, राज्य की जरूरतें पूरी होंगी। अंबारी-आदिलाबाद-पिंपलकुट्टी इस रेल लाइन के इलेक्ट्रिफिकेशन का काम भी पूरा हो गया है। आज आदिलाबाद-बेला और मुलुगु में दो नए नेशनल हाइवेज का भी शिलान्यास हुआ है। रेल और रोड की इन आधुनिक सुविधाओं से इस पूरे क्षेत्र के और तेलंगाना के विकास को और रफ्तार मिलेगी। इससे यात्रा का समय कम होगा, उद्योग और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा, और रोजगार के अनगिनत नए अवसर पैदा होंगे।

साथियों,

केंद्र की हमारी सरकार राज्यों के विकास से देश के विकास के मंत्र पर चलती है। इसी तरह जब देश की अर्थव्यवस्था मजबूत होती है, तो देश के प्रति विश्वास बढ़ता है, तो राज्यों को भी इसका लाभ मिलता है, राज्यों में भी निवेश बढ़ता है। आप लोगों ने देखा है कि पिछले 3-4 दिनों से पूरी दुनिया में भारत की तेज विकास दर इसकी चर्चा हो रही है। दुनिया में भारत ऐसी इकलौती, बड़ी अर्थव्यवस्था बनकर उभरा है, जिसने पिछले क्वार्टर में 8.4 की दर से विकास किया है। इसी तेजी से हमारा देश दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनेगा। और इसका मतलब होगा, तेलंगाना की अर्थव्यवस्था का भी तेजी से विकास।

साथियों,

इन 10 वर्षों में देश के काम करने का तरीका कैसे बदला है, आज ये तेलंगाना के लोग भी देख रहे हैं। पहले के दौर में सबसे ज्यादा उपेक्षा का शिकार तेलंगाना जैसे इलाकों को ही इसकी मुसीबतें झेलनी पड़ती थी। लेकिन पिछले 10 वर्षों में हमारी सरकार ने तेलंगाना के विकास के लिए कहीं ज्यादा राशि खर्च की है। हमारे लिए विकास का मतलब है- गरीब से गरीब का विकास, दलित, वंचित, आदिवासियों का विकास! हमारे इन प्रयासों का परिणाम है कि आज 25 करोड़ लोग गरीबी से बाहर आ चुके हैं। ये हमारी गरीब कल्याण योजनाओं की वजह से मुमकिन हुआ है। विकास के इस अभियान को अगले 5 वर्षों में और तेजी से आगे बढ़ाया जाएगा। इसी संकल्प के साथ मैं आप सबको बहुत-बहुत धन्यवाद देता हूं। अभी 10 मिनट के बाद मैं पब्लिक कार्यक्रम में जा रहा हूं। बहुत सारे अन्य विषय उस मंच के लिए ज्यादा उपयुक्त है। इसलिए मैं यहां इस मंच पर इतनी ही बात कहकर के मेरी वाणी को विराम दूंगा। 10 मिनट के बाद उस खुले मैदान में, खुले मन से बहुत कुछ बातें करने का अवसर मिलेगा। मैं फिर एक बार मुख्यमंत्री जी समय निकालकर यहां तक आए, मैं उनका भी आभार व्यक्त करता हूं। और हम मिलकर के विकास की यात्रा को आगे बढ़ाए, इस संकल्प को लेकर के चले।

बहुत-बहुत धन्यवाद।