साझा करें
 
Comments

“स्किल, कौशल, सामर्थ्य ये सिर्फ जेब में रुपया लाता है, ऐसा नहीं है। वो जीवन में आत्मविश्वास भर देता है। जीवन में एक नई ताकत भर देता है। उसे भरोसा होता है कि दुनिया में कहीं पर भी जाऊंगा, मेरे पास ये ताकत है। मैं अपना पेट भर लूंगा। मैं कभी भीख नहीं मांगूगा। ये सामर्थ्य उसके भीतर आता है और इसलिए ये स्किल डेवलपमेंट सिर्फ पेट भरने के लिए जेब भरने का कार्यक्रम नहीं है। ये हमारे गरीब परिवारों में एक नया आत्मविश्वास भरने और देश में एक नई ऊर्जा लाने का प्रयास है।” - नरेंद्र मोदी

किसी भी देश के विकास में सबसे ज्यादा योगदान युवाओं का होता है। अगर युवाओं को सही प्रशिक्षण और रोजगार मिले तो विकास का मार्ग खुद तय हो जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रेरणा से स्किल इंडिया इसी दिशा में एक बड़ा प्रयास है। वाराणसी में युवाओं को प्रशिक्षण और रोजगार के अवसर मुहैया कराने के लिए कई काम किए गए हैं। आने वाले दिनों में काशी कौशल और कुशल विकास की नजीर पेश करेगा।

लघु उद्योग और कौशल विकास के साथ यहां खादी संस्थाओं और कारीगरों को बढ़ावा देने के लिए विक्रेता विकास कार्यक्रम, उद्यमिता विकास कार्यक्रम, क्रेडिट लिंक व कैपिटल सब्सिडी योजना, निर्यात के लिए पैकेजिंग प्रबंधन कार्यक्रम, इंक्यूबेटर कार्यक्रम का सघन क्रियान्वयन किया गया है।

कालीन की बुनाई के विकास के लिए स्फूर्ति योजना के तहत 13 लाख रुपए में एक कलस्टर का निर्माण किया गया है। इसके साथ कॉयर बोर्ड की ओर से वाराणसी में एक अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेले का आयोजन किया गया। एक नया शोरूम सहित बिक्री केंद्र भी खोलने का फैसला किया गया है।

दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना के तहत प्रशिक्षण के लिए वाराणसी जिले के 3105 लोगों का चयन और उनमें से 1864 का प्रशिक्षण पूरा हो चुका है। इसके साथ ही सैमसंग एमएसएमई इंस्टीट्यूट की स्थापना भी की गई है।

युवाओं के सर्वांगीण विकास के लिए नेहरू युवा केंद्र, वाराणसी की ओर से कई उल्लेखनीय कार्य किए हैं। इसमें कौशल विकास, खेलकूद, क्षमता संवर्धन, नेतृत्व क्षमता विकास जैसी गतिविधियां शामिल हैं। इसके साथ ही स्वच्छता पखवाड़ा, वाद-विवाद प्रतियोगिता, युवा संसद कार्यक्रम का सफल आयोजन किया गया।

वाराणसी में संगीत, नृत्य, नाट्य, हस्तशिल्प आदि को प्रदर्शित करने और सम्मेलन, बैठक, संगोष्ठी, कार्यशाला आदि के आयोजन के लिए 140 करोड़ की लागत से एक विश्वस्तरीय कनवेंशन सेंटर का निर्माण कराया जा रहा है।

Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
PM Narendra Modi in Singapore: 'India is your best destination', PM tells Singapore Fintech Fest

Media Coverage

PM Narendra Modi in Singapore: 'India is your best destination', PM tells Singapore Fintech Fest
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री मोदी ने वाराणसी में स्कूल के बच्चों के साथ बातचीत की, विकास कार्यों की समीक्षा की
September 18, 2018
साझा करें
 
Comments
प्रधानमंत्री मोदी ने वाराणसी के नरउर में स्कूल के बच्चों के साथ बातचीत की और स्कूल में करीब 9 मिनट बिताए।
नरउर गांव के एक प्राथमिक विद्यालय में पीएम मोदी का स्कूल के बच्चों ने उत्साहपूर्वक स्वागत किया। उन्होंने भी विश्वकर्मा जयंती पर बच्चों को बधाई दी और कहा कि विभिन्न कौशल सीखना महत्वपूर्ण है।

प्रधानमंत्री ने छात्रों से कहा कि वो प्रश्न पूछने में कभी संकोच ना करें। यह सीखने का एक प्रमुख पहलू है। प्रधानमंत्री मोदी ने ‘रूम टू रीड’ एनजीओ द्वारा सहायता प्राप्त स्कूल के बच्चों के साथ समय बिताया।

बाद में वाराणसी के डीएलडब्ल्यू में पीएम मोदी ने गरीब और वंचित वर्गों के बच्चों से बातचीत की, जिन्हें काशी विद्यापीठ के छात्रों द्वारा सहायता दी जा रही है। प्रधानमंत्री ने बच्चों से कड़ी मेहनत करने और खेल में भी गहरी रूचि विकसित करने के लिए उन्हें प्रोत्साहित किया।

 

देर शाम प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी की सड़कों पर घूमें और शहर के विकास की समीक्षा की। पीएम मोदी ने काशी विश्वनाथ मंदिर में विशेष पूजा-अर्चना की। यहां से गेस्ट हाउस लौटते वक्त प्रधानमंत्री मंडुआडीह रेलवे स्टेशन पहुंच गए जहां रेलवे स्टेशन में उन्होंने प्लेटफॉर्म का निरीक्षण किया। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कई लोगों से मुलाकात की।