साझा करें
 
Comments
"Shri Modi opposes proposed IOC decision to abolish wrestling from forthcoming Olympics"
"To oppose a sport like wrestling in the name of modernity is an insult. There cannot be ‘games’ in sports: Shri Modi"
"News (on abolishing wrestling in the Olympics) is not good news for any sports lover. A very old skill will decline: Shri Modi"
"CM urges PM and Centre to form a group of nations and express the voice strongly before the final decision is taken in September 2013."

मुख्यमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आगामी ओलम्पिक खेलों में से कुश्ती जैसे अतिप्राचीन खेल को बाहर करना भारत के लिए अपमानजनक कहा है

मुख्यमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज खेल महाकुम्भ के समापन अवसर पर कहा कि आगामी ओलम्पिक खेलों में से कुश्ती जैसे अतिप्राचीन खेल को बाहर करना भारत के लिए अपमानजनक है। इस पर आक्रोश जताते हुए श्री मोदी ने कहा कि इतने पुराने खेल में भारत सहित एशियन देशों के खिलाड़ियों ने अपना कौशल्य दिखाया है ऐसे में भारत सरकार और प्रधानमंत्री को पहल करके हजारों वर्ष के कुश्ती खेल को ओलम्पिक खेलों से बाहर करने के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए।

समग्र खेल जगत के लोगों को हिम्मत से कुश्ती के खेल की महिमा को आधुनिकता के नाम पर नष्ट करने के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए। सिर्फ कुश्तीबाजों ही नहीं बल्कि एशिया और भारत की कुश्ती के खेल को आधुनिकता के नाम पर खत्म करने का यह षड्यंत्र है।

20 Pictures Defining 20 Years of Seva Aur Samarpan
मन की बात क्विज
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
Business optimism in India at near 8-year high: Report

Media Coverage

Business optimism in India at near 8-year high: Report
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
सोशल मीडिया कॉर्नर 29 नवंबर 2021
November 29, 2021
साझा करें
 
Comments

As the Indian economy recovers at a fast pace, Citizens appreciate the economic decisions taken by the Govt.

India is achieving greater heights under the leadership of Modi Govt.