साझा करें
 
Comments

इजरायल के राजदूत ने की मुख्यमंत्री से मुलाकात

2014 में वाइब्रेंट गुजरात एग्रोटेक ग्लोबल फेयर में इजरायल को पार्टनर कंट्री बनने का आमंत्रण

इजरायल और गुजरात के बीच परस्पर सहभागिता के अनेक नये क्षेत्र विकसित किए जाएंगे

कृषि विकास, जल व्यवस्थापन, ऊर्जा, बिजली व्यवस्थापन और औद्योगिक विकास में सहभागिता पर परामर्श

मुख्यमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी से आज भारत में इजरायल के राजदूत एलोन युशपिज और उनके सहयोगियों ने मुलाकात कर गुजरात और इजरायल के बीच परस्पर सहभागिता और मैत्रिपूर्ण सम्बन्धों के विभिन्न नये क्षेत्र विकसित करने की तत्परता जतायी।

गुजरात के विकास और कुशल प्रशासन के नेतृत्व के लिए श्री मोदी को शुभकामनाएं देते हुए इजरायल के राजदूत ने गुजरात के कृषि, जल व्यवस्थापन, औद्योगिक सहयोग, बिजली और मानव संसाधन के क्षेत्रों में नई सहभागीदारी से विभिन्न सम्भावनाओं के सन्दर्भ में गुजरात के साथ इजरायल सरकार और इजरायल की कम्पनियों की भागीदारी पर परामर्श किया। इजरायल की कौंसिल जनरल सुश्री ओरना सागिव भी इस बैठक में मौजूद थी।

मुख्यमंत्री ने गुजरात और इजरायल के लगातार बढ़ रहे सहभागिता के सम्बन्धों को व्यापक पैमाने पर ले जाने के लिए वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट की सफलता के चलते 2014 से हर दो वर्ष में वाइब्रेंट गुजरात एग्रोटेक फेयर समिट के महत्वाकांक्षी आयोजन में इजरायल को कंट्री पार्टनर बनने का आमंत्रण दिया।

इजरायल न्युनतम जल के उपयोग से कृषि क्रांति कर रहा है, ऐसे में कृषि टेक्नॉलोजी के अभ्यास के लिए विभिन्न बेच में गुजरात के विधायकों को इजरायल के कृषि और जल व्यवस्थापन के लिए अभ्यास दौरे पर ले जाने का श्री मोदी ने संकल्प जताया।

एलोन युशपिज ने इंडस्ट्रियल डवलपमेंट और रिसर्च एंड डवलपमेंट सेक्टर में दोनों के बीच भागीदारी के क्षेत्र विकसित करने के लिए कॉपर्स फंड के गठन का सुझाव दिया। गुजरात अब इंडस्ट्रियल इनवेस्टमेंट का मेग्नेट सेंटर बना है और इजरायल सरकार तथा उसकी कम्पनियां गुजरात के विकास में योगदान दे रही हैं, ऐसे में गुजरात की कृषि युनिवर्सिटियों के साथ सेंटर ऑफ एक्सेलंस- एग्रो रिसर्च एंड ह्युमन रिसोर्स डवलपमेंट में नये फलक पर सहभागिता की सम्भावनाएं विकसित करने, वाटर मैनेजमेंट के क्षेत्र और बन्दरगाह विकास, ऊर्जा विकास के क्षेत्र में प्रस्तावों पर श्री युशपिज ने परामर्श किया।

श्री मोदी ने कहा कि गुजरात सरकार ने राज्य में 50 जितने शहरों में वाटर मैनेजमेंट और वाटर रिसाइकलिंग का इकॉनोमिक मॉडल विकसित करने का आयोजन किया है, इसमें भी इजरायल सरकार और कम्पनियों की सहभागिता स्वीकार्य है। इसके साथ ही गुजरात इक्वीपमेंट मेन्युफेक्चरिंग विकसित करना चाहता है तथा फिक्की द्वारा वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट में इससे सम्बन्धित सेमिनार में महत्वपूर्ण सहभागिता की फलश्रुति तैयार हुई है, इसमें भी इजरायल की भागीदारी हो सकती है।

इजरायल के राजदूत ने श्री मोदी के साथ इस बैठक को परस्पर सहभागिता के सम्बन्ध मजबूत बनाने वाली बतलाया।

बैठक में उद्योग के अग्र सचिव महेश्वर शाहु और मुख्यमंत्री के सचिव एके. शर्मा भी मौजूद थे।

मोदी सरकार के #7YearsOfSeva
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
PM Modi at UN: India working towards restoring 2.6 crore hectares of degraded land by 2030

Media Coverage

PM Modi at UN: India working towards restoring 2.6 crore hectares of degraded land by 2030
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
सोशल मीडिया कॉर्नर 15 जून 2021
June 15, 2021
साझा करें
 
Comments

PM Modi at UN: India working towards restoring 2.6 crore hectares of degraded land by 2030

Modi Govt pursuing reforms to steer India Towards Atmanirbhar Bharat