साझा करें
 
Comments
"Sabarmati Riverfront among the most innovative projects in the world according to leading international advisory firm KPMG "
"The project is an urban regeneration and environmental improvement initiative: KPMG"

केपीएमजी ने साबरमती रिवरफ्रंट का विश्व के सबसे नवीन सौ प्रोजेक्ट में समावेश किया

 विश्व की उच्च सलाहकार कंपनी केपीएमजी ने शहरी नवीनीकरण के क्षेत्र में अहमदाबाद के साबरमती रिवरफ्रंट डेवलपमेंट प्रोजेक्ट का विश्व के सौ सबसे नवीनतम प्रोजेक्ट्स की सूची में समावेश किया है। यह प्रोजेक्ट शहर को रहने लायक और सातत्यपूर्ण बनाने में सहायक रहा है।

साबरमती रिवरफ्रंट प्रोजेक्ट के संबंध में केपीएमजी द्वारा जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि, गुजरात के अहमदाबाद शहर में वर्तमान में कार्यरत साबरमती रिवरफ्रंट डेवलपमेंट प्रोजेक्ट शहरी पुन:रचना और पर्यावरण में सुधार की दिशा में एक नवीनतम पहल है। साबरमती नदी के किनारे 10.5 किमी लंबे पट्टे पर आम जनता के लिए सांस्कृतिक और नागरिक संस्थानों का निर्माण किया जा रहा है। नदी के पास मनोरंजन स्थल और बाजार बनाने के लिए जगह डेवलप की जाएगी। अहमदाबाद के मध्य से गुजर रही साबरमती नदी के आसपास आनंद-प्रमोद और मनोरंजन के लिए विशेष केंद्र खड़े किये जाएंगे

हाल ही में अप्रैल माह में अहमदाबाद म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन ने रिवरफ्रंट प्रोजेक्ट के लिए नवीनतम ढांचागत विकास कार्य शुरू करने के लिए हुडको नेशनल अवार्ड-2012 प्राप्त किया था। इससे पहले साबरमती रिवरफ्रंट प्रोजेक्ट ने आम जनता के प्रोजेक्ट के बेस्ट कॉन्सेप्ट और डिजाइन के लिए प्राइम मिनिस्टर अवार्ड हासिल किया था। वर्ष 2006 में साबरमती रिवरफ्रंट प्रोजेक्ट ने नेशनल सेफ्टी काउंसिल ऑफ इंडिया से सेफ्टी अवार्ड भी हासिल किया था।

अनंतकाल से नदी संस्कृति के उद्गम का प्रतीक रही है और शहरी क्षेत्र को भी अलग पहचान देती है। अहमदाबाद क्षेत्र पर साबरमती नदी की असीम कृपा रही है जो गुजरात और इसके लोगों की जीवन रेखा के समान है। पिछले एक दशक में साबरमती नदी सूख गई थी और इसकी पहचान क्रिकेट मैच के समतल मैदान के रूप में होने लगी थी। वर्ष 2001 में माननीय मुख्यमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने सत्ता संंभाली। उसके बाद उन्होंने साबरमती रिवरफ्रंट के पुनर्विकास को प्राथमिकता देने का संकल्प किया था। अहमदाबाद शहर को एक उत्कृष्ट सेवा देने के साथ ही यह प्रोजेक्ट भूगर्भीय जलस्तर की सुरक्षा करके शहर को पीने के लिए शुद्घ पानी देकर शहर में पर्यावरणीय सुधार लाएगा। इसके साथ ही अहमदाबाद के मध्य में हरियाली देखने को मिलेगी।

शहर के लिए साबरमती रिवरफ्रंट डेवलपमेंट प्रोजेक्ट आनंद-प्रमोद के ज्यादा अवसर उपलब्ध करवाएगा। इसमें बगीचे, उपवन और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के लिए भी स्थान उपलब्ध होगा। अहमदाबाद और आसपास के क्षेत्रों के लोगों के लिए यहां साहसिक गतिविधियों के लिए भी अवसर उपलब्ध होंगे। कुछ समय पहले ही एएमसीए ने साबरमती नदी में फ्लोटिंग बस शुरू करने के विचार संबंधी घोषणा की थी। इस वर्ष आयोजित वार्षिक पतंग महोत्सव के चलते रिवरफ्रंट पर्यटन नक्शे पर उभर आया था। इस पतंग महोत्सव में विश्व भर के पतंग प्रेमियों ने भाग लिया था।

इतना ही नहीं, साबरमती रिवरफ्रंट प्रोजेक्ट छोटे बाजारों को मजबूती और सुधार उपलब्ध करवाएगा, जो गरीबों की आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए महत्वपूर्ण साबित होगा। साबरमती रिवरफ्रंट प्रोजेक्ट गुजरात सरकार की एक नवीनतम पहल है, जो भारत भर में शहरी विकास के इतिहास में एक नया अध्याय जोड़ेगी। इस पहल के बारे में ज्यादा जानकारी प्राप्त करने के लिए आप साबरमती रिवरफ्रंट प्रोजेक्ट की वेबसाइट पर जा सकते हैं।

मोदी सरकार के #7YearsOfSeva
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
All citizens will get digital health ID: PM Modi

Media Coverage

All citizens will get digital health ID: PM Modi
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री ने श्री एस. सेल्वागणपति के राज्यसभा में चुने जाने पर प्रसन्नता व्यक्त की
September 28, 2021
साझा करें
 
Comments

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने पुदुच्चेरी से श्री एस. सेल्वागणपति के राज्यसभा में चुने जाने पर प्रसनन्नता व्यक्त की है।

एक ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा हैः

“भाजपा के हर कार्यकर्ता के लिये यह गौरव की बात है कि हमारी पार्टी को श्री एस. सेल्वागणपति जी के रूप में पुदुच्चेरी से राज्यसभा का पहला सांसद मिल गया है। पुदुच्चेरी के लोगों ने हमारे प्रति जो विश्वास जताया है, उसके लिये हम कृतज्ञ हैं। हम पुदुच्चेरी की प्रगति के लिये काम करते रहेंगे।”