प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी कल 15 जनवरी, 2019 को केरल के कोल्लम और तिरूवनंतपुरम का दौरा करेंगे।

केरल के कोल्लम में प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-66 पर कोल्लम बाईपास का उद्घाटन करेंगे। 13 किलोमीटर लंबे दो लेन वाले इस बाईपास पर 352 करोड़ रुपये की लागत आई है। इसमें अष्टामुडी झील पर कुल 1540 मीटर लंबे तीन पुल भी शामिल हैं। इस परियोजना से अलप्पुजा और तिरूवनंतपुरम के बीच यात्रा का समय कम हो जाएगा और कोल्लम शहर में ट्रैफिक जाम की समस्या भी कम होगी।

प्रधानमंत्री तिरूवनंतपुरम में पद्मनाभ स्वामी मंदिर में दर्शन करेंगे। वहां वे आगंतुकों के लिए कुछ सुविधाओं के लॉन्च की निशानी के रूप में एक पट्टिका का अनावरण करेंगे।

प्रधानमंत्री की कोल्लम की यह तीसरी आधिकारिक यात्रा है। पहली बार प्रधानमंत्री दिसंबर 2015 में कोल्लम गए थे और उन्होंने आर.शंकर की मूर्ति का अनावरण किया था। दूसरी बार अप्रैल, 2016 में प्रधानमंत्री आगजनी की एक घटना के बाद कोल्लम पहुंचे थे।

Explore More
अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी
PM Modi writes to first-time voters in Varanasi, asks them to exercise franchise

Media Coverage

PM Modi writes to first-time voters in Varanasi, asks them to exercise franchise
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
पीएम मोदी ने वाराणसी के मतदाताओं को संबोधित किया
May 30, 2024
आप लोगों का एक-एक वोट मेरी शक्ति को बढ़ाएगा, मुझे नई ऊर्जा देगा: वाराणसी के मतदाताओं से पीएम मोदी
अब काशी के विकास को नई ऊंचाई देने का अवसर है, ये तभी हो पाएगा जब काशी के लोग 1 जून को अधिक से अधिक मतदान करेंगे: पीएम मोदी
काशी पिछले दस वर्ष में युवा कल्याण और विकास की राजधानी बन गई है: पीएम मोदी
काशी के लिए इस बार का चुनाव नवकाशी के साथ ही विकसित भारत के निर्माण का भी चुनाव है: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो संदेश के माध्यम से अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के मतदाताओं के साथ संवाद किया। उन्होंने कहा, इस नगरी का प्रतिनिधि होना बाबा विश्वनाथ की असीम कृपा से और काशीवासियों के आशीर्वाद से ही संभव है। प्रधानमंत्री ने इस बार के चुनाव को नवकाशी के साथ ही विकसित भारत के निर्माण का अवसर बताते हुए काशीवासियों से, विशेषकर युवा, नारी शक्ति और किसानों से 1 जून को रिकॉर्ड मतदान का आह्वान किया।