60 शहरों में आयोजित लगभग 200 बैठकों के साथ, भारत की G20 अध्यक्षता में, देश की वैश्विक कूटनीति बुलंदी पर पहुंची। इस फ्रेमवर्क के भीतर, पीएम मोदी ने न केवल भारत की G20 अध्यक्षता की है, बल्कि वैश्विक राजनयिक प्रयासों का नेतृत्व भी किया है।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व प्रधानमंत्री टोनी एबॉट ने इस संदर्भ में कहा कि वह उम्मीद करते हैं कि प्रधानमंत्री मोदी लंबे समय तक अपने पद पर रहेंगे। उन्होंने कहा कि भारत की G20 अध्यक्षता के माध्यम से, दुनिया उन्हें बेहतर तरीके से जान पाएगी। टोनी एबॉट ने पीएम मोदी की गुजरात के सीएम के रूप में प्रतिष्ठा की प्रशंसा करते हुए कहा कि वह सीएम के रूप में कार्यों को पूरा अंजाम देते थे तथा वह उनके साथ निकटता से जुड़ना चाहते थे। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में G20 समिट और उसके बाद की 'राजकीय यात्रा' के लिए प्रधानमंत्री मोदी की उपस्थिति की भी सराहना की, और कहा कि जहां कहीं भी वह गए, उनका रॉकस्टार की तरह स्वागत किया गया।

टोनी एबॉट ने कहा कि अगर 19वीं सदी 'ब्रिटिश सदी' है और 20वीं सदी 'अमेरिकी सदी' है, तो यह उम्मीद करने की हर वजह है कि 21वीं सदी 'भारतीय सदी' होगी। उन्होंने यह भी कहा कि 50-100 वर्षों में यदि फ्री वर्ल्ड का कोई नेतृत्व करेगा तो उस सूची में भारतीय प्रधानमंत्री का नाम अवश्य होगा।

Explore More
अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी
Make in India: Google to manufacture drones in Tamil Nadu, may export it to US, Australia, others

Media Coverage

Make in India: Google to manufacture drones in Tamil Nadu, may export it to US, Australia, others
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
भारत के खेलों में बदलाव के लिए प्रधानमंत्री मोदी का प्रयास
May 09, 2024

भारत के खेल बजट में रिकॉर्ड वृद्धि, खेलो इंडिया गेम्स और टारगेट ओलंपिक पोडियम स्कीम सहित तमाम इनिशिएटिव; भारत में खेल परिदृश्य पर मोदी सरकार के जोर को दर्शाते हैं। भारत में ‘युवा ओलंपिक’ और ‘ओलंपिक 2036’ की मेजबानी के लिए पीएम मोदी का प्रयास, पिछले दशक में भारत के खेलों के लिए अग्रणी बदलाव और विजन को दर्शाता है।

एथलीट अंजू बॉबी जॉर्ज ने खेलों के लिए प्रधानमंत्री मोदी के अभूतपूर्व समर्थन की सराहना की और बताया कि कैसे पीएम मोदी ने उनसे मुलाकात की और भारत में खेलों से जुड़े विषयों के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने इस क्षेत्र के विभिन्न मुद्दों के बारे में गहराई से जानकारी ली और भारत के खेलों में बदलाव के लिए मिशन मोड पर इन मुद्दों को हल करने पर बल दिया।

मुद्दों को सुलझाने के इरादे के साथ-साथ, पीएम मोदी हमेशा विभिन्न एथलीटों के संपर्क में रहे और भारत में खेलों को देखने के तरीके में एक व्यवस्थित बदलाव लाने की कोशिश की। इसके अलावा, भारत के खेलों में बदलाव; देश में बेहतर खेल इंफ्रास्ट्रक्चर का भी परिणाम था।

उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री मोदी खेलों में वाकई दिलचस्पी रखते हैं। वह हर एथलीट को जानते हैं...उनके प्रदर्शन को जानते हैं। किसी भी बड़ी चैंपियनशिप से पहले, वह उन्हें व्यक्तिगत रूप से बुलाते हैं और उनसे बातचीत करते हैं...शानदार विदाई समारोह का आयोजन करते हैं और वापसी पर जीत को सेलिब्रेट भी करते हैं।"

उन्होंने कहा कि प्रत्येक एथलीट खुश है क्योंकि प्रधानमंत्री खुद उनके करियर, बेहतरी और परफॉरमेंस में गहरी दिलचस्पी ले रहे हैं।