बिहार की सभी 40 सीटें एनडीए की झोली में डालने के संकल्प के साथ जमुई क्षेत्र का मूड 'अब की बार 400 पार' की ओर इशारा कर रहा है।
इंडी अलायंस के कुशासन से बिहार की कई पीढ़ियों को घोर अभाव और पिछड़ेपन का सामना करना पड़ा है।
आजादी के बाद बिहार सहित समूचे देश में पिछड़ापन और व्यापक गरीबी कांग्रेस सरकार के पापों के कारण रही।
राजद-कांग्रेस का गवर्नेंस मॉडल बिहार में 'जंगलराज और नक्सलवाद' के लिए जिम्मेदार है, जिससे दशकों तक राज्य का विकास रुका रहा।
हमारा फोकस बिहार के विकास पर है, जबकि घमंडिया गठबंधन का उद्देश्य बिहार के युवाओं के भविष्य को अस्थिर करना है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को बिहार की पहली चुनावी सभा को संबोधित किया। जमुई में आयोजित इस जनसभा में उन्होंने कहा कि आज देश के सारे भ्रष्टाचारी जो हमेशा एक-दूसरे से लड़ते थे, अब मिलकर मोदी के खिलाफ हो गए हैं। मैं कहता हूं- भ्रष्टाचार हटाओ, वो कहते हैं-भ्रष्टाचारियों को बचाओ। घमंडिया गठबंधन में शामिल आरजेडी-कांग्रेस जब भी सत्ता में होते हैं आपके हक के सारे पैसे लूट लेते हैं और आपसे ही पैसे मिलने के बारे में साइन भी करा लेते हैं। उन्होंने कहा कि एक ओर एनडीए सरकार है, जो नए उद्योग लगाने की बात करती है, वहीं दूसरी ओर ये लोग हैं, जिनकी पहचान अपहरण उद्योग चलाने की रही है। NDA सरकार जहां सोलर पावर और LED लाइट की बात करती है, वही दूसरी ओर ये घमंडिया गठबंधन वाले लोग आज भी बिहार को लालटेन युग में रखने पर आमादा हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज जमुई की इस खूबसूरत धरती पर उमड़ा जनसैलाब बता रहा है कि जनता का मूड क्या है। यहां से बीजेपी और एनडीए के पक्ष में ये हुंकार बिहार के साथ-साथ पूरे देश में गुंजायमान है। बिहार की सभी 40 सीटें NDA के खाते में जा रही हैं। इसलिए पूरा बिहार कह रहा है- फिर एक बार, मोदी सरकार!

दलित नेता रामविलास पासवान को याद करते हुए पीएम ने कहा कि आज इस मंच से एक कमी हम सबको महसूस हो रही है। हमारे लिए ये पहला ऐसा चुनाव है जब बिहार के बेटे, दलितों-वंचितों के प्रिय रामविलास पासवान जी हमारे बीच नहीं हैं। मुझे संतोष है कि उनकी विचारधारा को अब चिराग पासवान पूरी गंभीरता से आगे बढ़ा रहे हैं। NDA को दिया आपका एक-एक वोट रामविलास पासवान के संकल्पों को और मजबूत करेगा।

आजादी की लड़ाई में बिहार की भूमिका का जिक्र करते हुए पीएम ने कहा कि यहां की धरती पूरे देश को दिशा दिखाने वाली रही है। स्वतंत्र भारत की नींव मजबूत करने में भी बड़ी भूमिका निभाई है। लेकिन दुर्भाग्य से आजादी के बाद 5-6 पीढ़ियों के साथ कभी न्याय नहीं किया गया। NDA गठबंधन ने बहुत परिश्रम से बिहार को दलदल से बाहर निकाला है। हमारे नीतीश बाबू की भी इसमें बहुत बड़ी भूमिका रही है। अब समय आ गया है कि बिहार और तेज गति से विकास करे। इसलिए 2024 का चुनाव बिहार और भारत के भविष्य के लिए निर्णायक है। ये चुनाव विकसित बिहार के सपनों को पूरा करने का चुनाव है। उन्होंने कहा कि आज एक ओर कांग्रेस और आरजेडी जैसी पार्टियां हैं, जिन्होंने अपनी सरकार के समय पूरी दुनिया में देश का नाम खराब किया, वहीं दूसरी ओर बीजेपी और एनडीए है, जिसका एक ही लक्ष्य है- विकसित भारत का निर्माण, खुशहाल बिहार का निर्माण!

कांग्रेस के शासनकाल का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि तब भारत को कमजोर और गरीब देश माना जाता था। छोटे-छोटे देश, आज जो आटे के लिए तरस रहे हैं, उनके आतंकी हम पर हमला करके चले जाते थे। तबकी कांग्रेस सरकार दूसरे देशों के पास शिकायत लेकर जाती थी। हमने कहा कि अब तो ऐसे नहीं चलेगा! भारत वही महान पाटलीपुत्र, मगध और चन्द्रगुप्त मौर्य वाला देश है। इसलिए आज का भारत घर में घुस कर मारता भी है और दुनिया को दिशा भी दिखाता है। अब दुनिया देख रही है कि केवल 10 वर्षों में भारत की साख और हैसियत कैसे बढ़ी है। चंद्रमा के जिस कोने पर आज तक कोई नहीं पहुंच पाया, वहां हमारा चंद्रयान पहुंचा। भारत जब G20 की मीटिंग करता है, तो उसकी चर्चा पूरे विश्व में होती है। ये कमाल आपके एक वोट ने किया है।

देश और बिहार में आए बदलाव की चर्चा करते हुए पीएम ने कहा कि आज देश कैसे बदल रहा है, बिहार खुद इसका साक्षी है। और बिहार कैसे बदल रहा है, इसका उदाहरण आप जमुई में देख सकते हैं। आरजेडी-कांग्रेस के काले दौर में इस जमुई के क्या हालात थे? इसकी पहचान नक्सलवाद से होती थी। सरकार की योजनाओं को यहां तक पहुंचने नहीं दिया जाता था। नक्सली यहां सड़कें नहीं बनने देते थे। इसका नुकसान यहां के गरीब, मजदूर और किसानों को होता था। लेकिन आज वही जमुई विकास के हाइवे पर तेज रफ्तार पकड़ रहा है। नक्सलवाद दम तोड़ चुका है। जो लोग नक्सलवाद के रास्ते पर भटक गए थे, उन्हें हमारी सरकार ने मुख्यधारा से जोड़ा है, उनके परिवारों को पूरा सहयोग दिया है। अब इस इलाके से एक्सप्रेस-वे निकलेगा। पूरे बिहार में रोड इनफ्रास्ट्रक्चर के लिए हमारी सरकार करीब 1 लाख करोड़ रुपये खर्च कर रही है। इससे यहां रोजगार और स्वरोजगार के नए अवसर भी बन रहे हैं। आपको एक और बात याद रखनी है। रेलवे में भर्ती के नाम पर जो लोग गरीब युवाओं से जमीन लिखवा लें, वो बिहार के युवाओं का कभी भला नहीं कर सकते।

बीते एक दशक में हुए विकास कार्यों पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि 10 साल में जो हुआ, वो तो सिर्फ ट्रेलर है। अभी तो बहुत कुछ करना है। अभी तो हमें देश और बिहार को बहुत आगे लेकर जाना है। आपका सपना ही मेरा संकल्प है। मोदी, गरीबी की ताप सहकर यहां पहुंचा है इसलिए हर गरीब के सपने का महत्व जानता है। केंद्र सरकार ने गरीब कल्याण को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है। केंद्र सरकार के प्रयास से यहां गरीबों को 37 लाख पक्के घर मिले हैं। आज बिहार के करीब 9 करोड़ जरूरतमंदों को मुफ्त राशन मिल रहा है। बिहार में 84 लाख से ज्यादा आयुष्मान कार्ड भी बने हैं। इसलिए ही मैं कहता हूं- जब नीयत सही, तो नतीजे भी सही।


प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन के अंत में कहा कि NDA सरकार गरीबों की उनकी जमीन का प्रॉपर्टी कार्ड दे रही है। जबकि आरजेडी के लोग गरीबों की जमीनों पर कब्जा करते रहे हैं। हम महिलाओं को सुरक्षा की गारंटी देते हैं, जबकि आरजेडी के जंगलराज में बेटियों को सड़कों से उठा लिया जाता था। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार में राममंदिर निर्माण का 500 वर्ष पुराना सपना पूरा हुआ है। जबकि यही आरजेडी-कांग्रेस ने राम मंदिर ना बने, इसके लिए पूरी ताकत लगा दी थी। आज भी ये लोग राममंदिर का उपहास उड़ाते हैं। कांग्रेस हो या आरजेडी, इन्होंने हर मौके पर बिहार और बिहारी गौरव का अपमान किया है। यही कांग्रेस-आरजेडी थी, जिसने कर्पूरी ठाकुर का अपमान किया था। अभी कुछ ही समय पहले हमारी सरकार ने बिहार के गौरव कर्पूरी ठाकुर को भारत रत्न दिया, इसका भी इन लोगों ने विरोध किया। इन्हीं लोगों ने रामनाथ कोविन्द और द्रोपदी मुर्मू जी को राष्ट्रपति चुनाव हराने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा दी थी। आपको इन गरीब विरोधियों को अपने वोट की ताकत से हराना है।

पूरा भाषण पढ़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए

Explore More
अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी
India digital public infrastructure is charting the journey towards becoming $1-tn digital economy by 2027-28

Media Coverage

India digital public infrastructure is charting the journey towards becoming $1-tn digital economy by 2027-28
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
सोशल मीडिया कॉर्नर 20 जुलाई 2024
July 20, 2024

India Appreciates the Nation’s Remarkable Rise as Global Economic Powerhouse