साझा करें
 
Comments
बंगाल के लोगों ने दीदी के खेला को समझ लिया है। दीदी जानती हैं कि अगर वे यहां से जाएंगी तो कभी वापस नहीं आ पाएंगी: पीएम मोदी
नंदीग्राम में दीदी क्लीन-बोल्ड हो चुकी हैं। बंगाल में दीदी की पारी समाप्त हो चुकी है। दीदी का प्लान फेल हो चुका है: बर्धमान में पीएम मोदी
दीदी ने 10 वर्षों तक ‘मा माटी मानुष’ के नाम पर बंगाल में शासन किया, लेकिन वे इन दिनों रैलियों में ‘मोदी मोदी मोदी’ कहती रहती हैं: पीएम मोदी
अपने वोट की ताकत को समझिए। बीजेपी को दिया गया आपका एक वोट गरीबों के बैंक अकाउंट में 18000 रुपये भेजने में मददगार हो सकता है: पीएम मोदी
दीदी ने कभी भी ज्यादा मतदान या शांतिपूर्ण मतदान की अपील नहीं की: पीएम मोदी
बंगाल के हर कोने से मैं सुन सकता हूं, ‘दीदी 2 मई को जाने वाली हैं’: बारासात में पीएम मोदी

‘’मेरा और बीजेपी का यह सौभाग्य है कि इस चुनाव में बंगाल की बहनें और बेटियां बीजेपी पर, मुझ पर इतना स्नेह दिखा रही हैं। वो जानती हैं कि महिलाओं के विकास के लिए देश के बाकी हिस्सों में जो हो रहा है, दीदी उन योजनाओं को यहां बंगाल में रोकती हैं। ये डिजिटल इंडिया का जमाना है। बीजेपी सरकार की वजह से आज गांव-गांव में सस्ता मोबाइल फोन, सस्ता इंटरनेट पहुंचा हुआ है। अभी बहनों को पानी के अभाव से मुक्ति दिलाने के लिए हर घर जल देने पर काम चल रहा है। बिना किसी कटमनी के, बिना किसी तोलाबाजी के बंगाल की महिलाओं को हर लाभ मिलेगा। इसलिए उनको विश्वास है कि - मोदी औनेक देबे!’’

ये बातें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सोमवार को पश्चिम बंगाल के कल्याणी में हुई अपनी विशाल जनसभा में कहीं। उन्होंने कल्याणी के अलावा बर्धमान और बारासात में भी रैलियों को संबोधित किया और हर रैली में उन्हें देखने-सुनने के लिए उत्साह से भरा जनसैलाब उमड़ा था। 

 

बर्धमान में हुई अपनी पहली चुनावी जनसभा में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि चार चरणों के चुनाव में बंगाल के लोगों ने इतने चौके-छक्के मारे हैं कि बीजेपी की सीटों की सेंचुरी हो गई है। रैली में आए लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘’दीदी की कड़वाहट, उनका क्रोध, उनकी बौखलाहट अभी और बढ़ने वाली है, क्योंकि बंगाल में हुए आधे चुनावों में आपने टीएमसी को पूरा साफ कर दिया है। यानि आधे चुनाव में ही टीएमसी पूरी साफ। जो आपके साथ ‘खेला’ करने की सोच रहे थे, उन्हीं के साथ ‘खेला’ हो गया है। बंगाल की जो जनता है, वो काफी दूरद्रष्टा है। दीदी तैयारी करके बैठी थीं कि पार्टी की कप्तानी भाइपो को सौंपेंगी, लेकिन दीदी का यह ‘खेला’ भी जनता ने समय रहते समझ लिया। इसलिए दीदी का सारा ‘खेला’ धरा का धरा रह गया।‘’

श्री मोदी ने कहा कि दीदी के लोग बंगाल की अनुसूचित जाति के लोगों को भिखारी कहने लगे हैं, जिसे सुनकर बाबासाहेब की आत्मा को कितना कष्ट हुआ होगा। उन्होंने कहा, ‘’14 अप्रैल को बाबासाहेब की जन्म-जयंती से पहले दीदी ने, टीएमसी ने उनका इतना बड़ा अपमान किया है। कोई सोच नहीं सकता था कि बंगाल की धरती पर ये कहा जाएगा। बंगाल की सीएम का कोई करीबी इस तरह की भद्दी बातें कर सकता है, इसका अंदाजा न देश को था न बंगाल को। ये कल्पना से भी परे है कि कोई व्यक्ति ऐसी भाषा बोल सकता है। लेकिन दुर्भाग्य है, दुखद है, कि यह सच है। Scheduled Caste के मेरे भाइयों और बहनों के खिलाफ ऐसा घृणित बयान बिना दीदी की मर्जी के कोई नहीं दे सकता। आपको गुस्सा करना है तो मोदी पर करिए। लेकिन बंगाल की गरिमा, बंगाल की गौरवमयी पहचान का अपमान मत करिए। आपका यह अहंकार अब बंगाल बर्दाश्त नहीं करेगा।‘’



प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि केंद्र की बीजेपी सरकार, बंगाल की बीजेपी सरकार, डबल इंजन की शक्ति के साथ राज्य के विकास के लिए डबल मेहनत करेगी। इसमें बंगाल का भला चाहने वाले हर किसी का सहयोग और मार्गदर्शन लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि बंगाल को अब दीदी का कुशासन नहीं, बल्कि ‘आशोल पोरिबोर्तन’ चाहिए। उन्होंने बंगाल में अन्नदाताओं की स्थिति का उल्लेख करते हुए कहा, ‘’ ‘धान का कटोरा’ कहा जाने वाला हमारा बर्धमान, यहां के लोग, आज मूल सुविधाओं के लिए तरस रहे हैं। धान पैदा करने वाले किसान हों या आलू कृषक, यहां सब बेहाल हैं। ना सिंचाई की सही सुविधा है, ना पर्याप्त मंडियां हैं, ना स्टोरेज की सुविधा है और ना उपज का उचित दाम मिल पा रहा है। बंगाल में बीजेपी सरकार बनने के बाद ये सभी हालात सुधारे जाएंगे।‘’

श्री मोदी ने कहा, ‘’किसानों से दीदी की दुश्मनी का सबसे बड़ा उदाहरण है- पीएम किसान सम्मान निधि पर बंगाल में रोक। बंगाल में दीदी की सरकार जाते ही किसान सम्मान योजना को लागू किया जाएगा। पहली ही कैबिनेट में बंगाल की बीजेपी सरकार इस पर फैसला लेगी। दीदी ने बंगाल के हर किसान का जो 18 हजार टका रोका है, वो डायरेक्ट आपके बैंक खाते में जमा कराया जाएगा।‘’

कल्याणी की चुनावी जनसभा में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पिछले 10 साल में जिस तरह बंगाल में सरकार चलाई गई, उससे यहां की हर गौरवशाली विरासत का अपमान हुआ है। उन्होंने कहा, ‘’कल्याणी और आसपास के क्षेत्र ने आस्था से लेकर अध्यात्म तक, शिल्प-श्रम से लेकर साहित्य तक, संस्कृति से लेकर संस्कार तक, सभी को प्रेरणा दी है। ये यहां की गौरवशाली विरासत है। लेकिन अपने राजनीतिक हितों के लिए बंगाल के लोगों की हत्या, अपने तोलाबाजों को फायदा पहुंचाने के लिए बंगाल के लोगों से लूटपाट, अपने सिंडिकेट को ताकतवर बनाने के लिए बंगाल के लोगों से विश्वासघात, दीदी के 10 साल के काम का रिपोर्ट-कार्ड यही है। दीदी, यह मत भूलिए कि लोकतंत्र में जनता जनार्दन ही भगवान है। लोकतंत्र में खेल भी जनता ही शुरू करती है और ‘खेला’ शेष भी जनता ही करती है।‘’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश आज यह देख रहा है कि पिछले 10 साल में पश्चिम बंगाल की सरकार ने दलितो-पीड़ितो-शोषितों-वंचितों से कैसे नफरत दिखाई है। उन्होंने कहा, ‘’दीदी, आपने ना ही मतुआ समाज के मेरे भाइयों और बहनों के लिए कुछ किया और ना ही नामशूद्र समाज के लोगों के लिए। आपने हमेशा उन्हें नरअंदाज किया | यहां भारत मां में आस्था रखने वाले सभी शरणार्थी साथियों को हर सुविधा सुनिश्चित की जाएगी। बीजेपी के लिए सभी शरणार्थियों, मतुआ और नामशूद्र साथियों को न्याय दिलाना एक तरह से भावनात्मक कमिटमेंट है।‘’

 

बारासात की चुनावी सभा में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि पिछले 10 साल में मौजूदा राज्य सरकार ने गरीबों से बहुत विश्वासघात किया है। इस सरकार की दुर्नीति ने उनके जीवन को और मुश्किल बना दिया है। उन्होंने कहा, ‘’अम्फान चक्रवात ने गरीब की बाड़ी, उसके सपने, उसका सबकुछ छीन लिया, तबाह किया। जितना दर्द चक्रवात ने दिया, उससे ज्यादा दर्द आपको दीदी के विश्वासघात ने दिया है। अम्फान की बर्बादी किसी का मजहब, किसी की जाति देखकर नहीं आई दीदी। लेकिन आपके कुशासन ने हर वर्ग, हर मत-मजहब के लोगों को निराश किया है।‘’ श्री मोदी ने कहा कि यहां का गरीब, यहां का मध्यमवर्ग शांति चाहता है, स्थिरता चाहता है। वो बेरोकटोक काम करना चाहता है, अपने बच्चों का जीवन बेहतर बनाना चाहता है। वो चाहता है कि सरकार उसको अवसर दे, आगे बढ़ने के लिए वातावरण दे।

प्रधानमंत्री ने रैली में मौजूद लोगों से पूछा कि क्या दीदी ने एक बार भी कहा कि सभी मत-संप्रदाय, सभी वर्ग के लोग लोकतंत्र के उत्सव में बढ़-चढ़कर हिस्सा लें? क्या दीदी ने एक बार भी अपील की कि शांतिपूर्ण मतदान हो? उन्होंने कहा कि बंगाल की जनता समझ सकती है कि दीदी के इरादे क्या हैं।

प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी रैलियों में लोगों को नवरात्रि शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मां काली, मां दुर्गा आपकी हर इच्छा पूरी करें, आप स्वस्थ रहें, प्रसन्न रहें, मेरी यही कामना है।

 

 

मोदी सरकार के #7YearsOfSeva
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
India receives $64 billion FDI in 2020, fifth largest recipient of inflows in world: UN

Media Coverage

India receives $64 billion FDI in 2020, fifth largest recipient of inflows in world: UN
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
PM pays tributes to Dr. Syama Prasad Mookerjee on his Punya Tithi
June 23, 2021
साझा करें
 
Comments

The Prime Minister, Shri Narendra Modi has paid tributes to Dr. Syama Prasad Mookerjee on his Punya Tithi.

In a tweet, the Prime Minister said, "Remembering Dr. Syama Prasad Mookerjee on his Punya Tithi. His noble ideals, rich thoughts and commitment to serve people will continue to inspire us. His efforts towards national integration will never be forgotten."