एनटीपीसी प्लांट से तेलंगाना राज्य के औद्योगिकीकरण को गति मिलेगी: पीएम मोदी
तेलंगाना की महिलाओं के सामूहिक प्रयासों से नारी शक्ति वंदन अधिनियम संसद में भारी बहुमत से पारित हो गया है: पीएम मोदी
तेलंगाना प्रचुर प्रतिभा वाला राज्य है, जो हमेशा भारत के विकास की संभावनाओं में योगदान देता है: पीएम मोदी
भारत जैसे लोकतंत्र में, प्रजा का महत्त्व होना चाहिए परिवारवादियों का नहीं: पीएम मोदी
तेलंगाना में एक परिवार ने लाखों परिवारों के सपनों पर कब्जा कर लिया है: पीएम मोदी
तेलंगाना में सत्ता में आने पर बीजेपी, केसीआर सरकार के हर कुकर्म का पर्दाफाश करेगी: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को तेलंगाना के निजामाबाद में एक जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि यह वो राज्य है, जिसने देश के विकास में हमेशा अहम योगदान दिया है। यहां चारों तरफ टैलेंट ही टैलेंट है और तेलंगाना के लोग भारत की प्रगति के आधार हैं। जब दुनिया में इतनी बड़ी कोरोना महामारी आई, तो यह राज्य भी वैक्सीन बनाने में मददगार बना। उन्होंने कहा कि भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में जनता का महत्व होना चाहिए, परिवारवादियों का नहीं। लेकिन तेलंगाना में बस एक ही परिवार ने यहां के लाखों लोगों के सपनों पर कब्जा कर रखा है। कांग्रेस और BRS दोनों ही दलों का रवैया बिल्कुल एक समान है। चुनाव से पहले आसमानी वादे करो और चुनाव के बाद सारे वादे भूलकर अपनी तिजोरी भरो। इन्होंने तो लोकतंत्र को लूटतंत्र और परिवारतंत्र बना दिया है। इसलिए यहां डबल इंजन सरकार की जरूरत है।

तेलंगाना में निजामाबाद की नारीशक्ति को धन्यवाद देते हुए पीएम ने कहा कि यहां की मेरी बहनें एक बड़ी क्रांति का हिस्सा बनी हैं, उन्होंने इतिहास बनाया है। कुछ ही दिन पहले संसद में नारीशक्ति वंदन अधिनियम पास हुआ। कांग्रेस और उसके इंडी अलायंस को बहुत मजबूरी में इसका समर्थन करना पड़ा। ये इसलिए हो पाया, क्योंकि तेलंगाना की महिलाओं ने, देश की महिलाओं के साथ मिलकर, वोट की शक्ति से मुझे मजबूत किया है। पीएम ने कहा कि आज मुझे तेलंगाना के लोगों को 8 हजार करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं का उपहार देने का सौभाग्य मिला है। NTPC के आधुनिक पावर प्लांट से औद्योगिक विकास को तेज गति मिलने वाली है। इस प्लांट में जो बिजली पैदा होगी, उसका ज्यादा हिस्सा तेलंगाना के लोगों को ही मिलेगा। इससे Ease of Living बढ़ेगी। आज रेलवे और हेल्थ से जुड़े कई प्रोजेक्ट राज्य को मिले हैं। इनसे लोगों को Critical Care की सुविधा मिलेगी और कनेक्टिविटी भी बढ़ेगी।

तेलंगाना में केंद्र सरकार द्वारा कराए गए विकास कार्यों का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि यहां के लोगों में विकास की Aspiration अद्भुत है। केंद्र सरकार में रहते हुए हम तेलंगाना के लिए जितना कर सकते हैं, वो लगातार कर रहे हैं। हमने तेलंगाना में कई नेशनल हाईवे, नई रेल लाइन और अस्पतालों का निर्माण किया है। भाजपा सरकार ने यहां BRS सरकार को तेलंगाना के विकास के लिए भारी धनराशि भी दी है। लेकिन दुर्भाग्य से, BRS ने उन पैसों को बीच में ही लूट लिया। क्योंकि, लूट सको तो लूट यही इनका मंत्र है। पीएम मोदी ने कहा कि तेलंगाना में या तो केसीआर खुद हैं या फिर उनके बेटे-बेटी और भतीजे हैं। क्या आपने कभी सोचा है कि वो कैसे आपके वोट का उपयोग अपने परिवार को अमीर बनाने में कर रहे हैं। इन लोगों ने तेलंगाना में भाई-भतीजावाद और भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया है। राजनीति में परिवारवाद पर प्रहार करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि इसका सबसे बड़ा नुकसान, देश के युवाओं को उठाना पड़ता है। जब पूरा सिस्टम एक परिवार की सेवा में लग जाता है, तब वो परिवार Top से लेकर Bottom तक उन्हीं लोगों की भर्ती करता है, जो उनके करीबी हों।

पीएम मोदी ने हैदराबाद म्युनिसिपल कारपोरेशन इलेक्शन का जिक्र करते हुए कहा कि मैं आज पहली बार एक रहस्य का खुलासा कर रहा हूं। जब इस चुनाव में भाजपा 48 सीटें जीतीं और किसी को बहुमत नहीं मिला। उस समय केसीआर को सपोर्ट की जरूरत थी। चुनाव के बाद वो बहुत आदर और प्यार के साथ दिल्ली में मुझसे मिलने आए। कहने लगे, “आपके नेतृत्व में देश प्रगति कर रहा है। हम भी एनडीए का हिस्सा बनना चाहते हैं। आप हैदराबाद म्युनिसिपालिटी में हमारी मदद कर दीजिए।” मैंने केसीआर से कहा, आपके कारनामे ऐसे हैं कि मोदी आपके साथ जुड़ नहीं सकता। हैदराबाद में हमें विपक्ष में बैठना पड़ेगा तो बैठेंगे, केसीआर सरकार अगर हमारे कार्यकर्ताओं पर जुल्म करेगी तो जुल्म सहेंगे, लेकिन हम तेलंगाना की जनता से दगा नहीं कर सकते हैं। भले ही तेलंगाना की जनता ने हैदराबाद में हमें पूर्ण बहुमत नहीं दिया, लेकिन 48 सीटें भी कम नहीं है, यह तेलंगाना का भाग्य बदलने की शुरुआत तो जरूर है। मैंने उनको एनडीए में एंट्री देने से इंकार कर दिया। फिर कहने लगे कि उन्होंने तो बहुत काम कर लिया। अब वो सारा कारोबार केटीआर को देना चाहते हैं। आप उसको जरा आशीर्वाद दे दीजिए। तब मैंने कहा, “केसीआर, ये लोकतंत्र है, तुम कौन होते हो बेटे को राजगद्दी देने वाले! तुम राजा-महाराजा हो क्या? ये तो तेलंगाना की जनता तय करेगी किसको बैठाना है।” वही आखिरी दिन था, जबसे एक बार भी वो मुझसे आंखें नहीं मिला पा रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि तेलंगाना के लोगों को कांग्रेस से भी बहुत सावधान रहना है। इस पार्टी को तो देश नकार चुका है। जिस राज्य से एक बार उसकी सरकार जाती है, वहां फिर वापस आना मुश्किल होता है। इसलिए कांग्रेस ने वोटों का बंटवारा करने का कांट्रेक्ट लिया है। आज जब तेलंगाना में BRS की हार तय है, तो कांग्रेस ने पर्दे के पीछे BRS से गठबंधन कर लिया है। कर्नाटक चुनाव में BRS ने कांग्रेस की जमकर मदद की थी और अब इस चुनाव में कांग्रेस अपना कर्ज उतार रही है।कांग्रेस और BRS तेलंगाना के लोगों से विश्वासघात कर रही हैं। यहां BRS ने बेरोजगार युवाओं को भत्ता देने का झूठा वायदा किया। जबकि बीजेपी का Track Record अपने वायदे पूरे करने का है। केंद्र सरकार लाखों युवाओं को नौकरी देने के लिए लगातार रोजगार मेले का आयोजन कर रही है। 6 लाख युवाओं को सरकारी नौकरी के नियुक्ति पत्र दिए जा चुके हैं। यहां भी युवाओं को निराश होने की जरूरत नहीं है। भाजपा सरकार आते ही, BRS सरकार की गलतियों को ठीक करने का अभियान शुरू होगा। प्रदेश के युवाओं के लिए केंद्र सरकार ने एक Central Tribal University का शिलान्यास किया है। इसका नाम आदिवासी देवियों के नाम पर रखा जाएगा। इस पर करीब 900 करोड़ रुपये खर्च होंगे।

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन के अंत में कहा कि हर जिले के किसी एक उत्पाद को बढ़ावा देने के उद्देश्य से उसका उत्पादन और एक्सपोर्ट बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार One District One Product योजना चला रही है। इस योजना के तहत निजामाबाद में हल्दी को प्रमोट किया जा रहा है। हल्दी उगाने वाले किसान भाइयों के विकास के लिए अब देश में ‘National Turmeric Board’ का गठन किया जाएगा। ये बोर्ड हल्दी की उपज को देश-दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में विस्तार देने में मदद करेगा। उन्होंने जनता से कहा कि आप बीजेपी को एक मौका दीजिए। हम दिखाएंगे कि तेलंगाना कितनी ऊंचाई पर जा सकता है। बीजेपी तेलंगाना के विकास के लिए पूरी ईमानदारी से काम करेगी। तेलंगाना में डबल इंजन की सरकार बन गई तो यहां विकास की गति तेज होगी।

पूरा भाषण पढ़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए

Explore More
अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

अमृतकाल में त्याग और तपस्या से आने वाले 1000 साल का हमारा स्वर्णिम इतिहास अंकुरित होने वाला है : लाल किले से पीएम मोदी
Boosting ‘Make in India’! How India is working with Asean to review trade pact to spur domestic manufacturing

Media Coverage

Boosting ‘Make in India’! How India is working with Asean to review trade pact to spur domestic manufacturing
NM on the go

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
गेमिंग वर्ल्ड के सितारों की प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात
April 13, 2024
पीएम मोदी ने अपनी गेमिंग स्किल का प्रदर्शन किया; मोबाइल, PC और VR गेम्स में अपनी दक्षता से भारत के टॉप गेमर्स को किया प्रभावित!
पीएम मोदी ने गेमिंग के फील्ड में इनोवेशन और डिजिटल सशक्तिकरण पर चर्चा की शुरुआत की।
युवा गेमर्स ने पीएम मोदी की कुशलता और अनुकूलता की सराहना की तथा उन्हें ‘NaMo OP' बैज दिया।

PC और VR गेमिंग की दुनिया के साथ गहराई से रूबरू होते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारत के टॉप गेमर्स के साथ एक अनूठी बातचीत में भाग लिया। इस दौरान, प्रधानमंत्री ने तेजी से विकसित हो रही गेमिंग इंडस्ट्री के प्रति अपना उत्साह दिखाते हुए, गेमिंग सेशंस में भी सक्रिय भागीदारी प्रदर्शित की।

इस इवेंट में गेमिंग कम्युनिटी के नामचीन चेहरे @gcttirth (तीर्थ मेहता), @PAYALGAMING (पायल धारे), @8bitthug (अनिमेष अग्रवाल), @GamerFleet (अंशु बिष्ट), @MortaLyt (नमन माथुर), @Mythpat (मिथलेश पाटणकर) और @SkRossi (गणेश गंगाधर) ने अपनी उपस्थिति दर्ज की।

प्रधानमंत्री मोदी ने मोबाइल, PC और VR गेमिंग में अपनी कुशलता का प्रदर्शन करते हुए युवा गेमर्स को आश्चर्य से भर दिया। पीएम मोदी की असाधारण गेमिंग स्किल के सम्मान में, गेमिंग कम्युनिटी ने उन्हें ‘NaMo OP’ बैज प्रदान किया।

ट्रेंडिंग गेमिंग शब्दावली जैसे "grind", "AFK" इत्यादि को सीखने के प्रति पीएम मोदी की उत्सुकता ने इस बातचीत को और भी अधिक रोचक बना दिया। उन्होंने अपना खुद का एक शब्द "P2G2" भी शेयर किया, जिसका अर्थ है "Pro People Good Governance."

इस इवेंट ने आइडियाज के वाइब्रेंट एक्सचेंज के लिए एक प्लेटफॉर्म के रूप में कार्य किया, जिसमें यंग जेनरेशन की यूनिक पर्सनल जर्नीज से लेकर, गेमिंग के इस बढ़ते क्षेत्र में उन्हें प्रसिद्धि दिलाने तथा गेमिंग सेक्टर में लेटेस्ट डेवलपमेंट्स तक पर चर्चा हुई।

चर्चा के प्रमुख विषयों में गैंबलिंग और गेमिंग के बीच के फर्क, रेस्पॉन्सिबल गेमिंग प्रैक्टिसेज को बढ़ावा देने और गेमिंग कम्युनिटी के लिए सकारात्मक माहौल बनाने पर भी जोर दिया गया। साथ ही, प्रतिभागियों ने गेमिंग इंडस्ट्री को आगे बढ़ाने के लिए इंक्लूजिविटी और डायवर्सिटी को रेखांकित करते हुए, इस क्षेत्र में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के अहम मुद्दे पर भी गहन चर्चा की।

पीएम मोदी ने न केवल esports और कंटेंट क्रिएशन की क्षमता के बारे में बात की, बल्कि गेम डेवलपमेंट की भी बात की, जो भारत और उसकी वैल्यूज पर केंद्रित है। उन्होंने प्राचीन भारतीय खेलों को डिजिटल फॉर्मेट में जीवंत करने की क्षमता पर चर्चा की, वह भी ओपन-सोर्स स्क्रिप्ट के साथ ताकि देश भर के युवा इसमें अपना योगदान दे सकें।