साझा करें
 
Comments
प्रधानमंत्री मोदी कल चक्रवर्ती तूफान ओखी से प्रभावित लक्षद्वीप, तमिलनाडु और केरल के इलाकों का दौरा करेंगे

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी कल लक्षद्वीप, तमिलनाडु और केरल का दौरा करेंगे। प्रधानमंत्री चक्रवाती तूफान ‘ओखी’ द्वारा मचाई गई तबाही के बाद वहां उत्‍पन्‍न स्‍थिति का जायजा लेंगे और इसके साथ ही वह कावारत्‍ती, कन्‍याकुमारी और तिरुअनंतपुरम में राहत कार्यों की ताजा स्‍थिति की समीक्षा करेंगे। प्रधानमंत्री इस दौरान अधिकारियों और जन प्रतिनिधियों के साथ बैठक करेंगे। प्रधानमंत्री इसके साथ ही मछुआरों एवं किसानों के प्रतिनिधिमंडलों सहित तूफान से प्रभावित लोगों से भी मुलाकात करेंगे।

नवम्‍बर के आखिर और दिसम्‍बर, 2017 के आरंभ में चक्रवाती तूफान ‘ओखी’ द्वारा मचाई गई भारी तबाही से केरल, तमिलनाडु और लक्षद्वीप के कई हिस्‍से बुरी तरह प्रभावित हुए थे।

प्रधानमंत्री ने इस दौरान चक्रवाती तूफान से उत्‍पन्‍न स्‍थिति पर निरंतर करीबी नजर रखी। इसके साथ ही उन्‍होंने सभी संबंधित प्राधिकरणों और अधिकारियों से गहन बातचीत की।

रक्षा मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने 3 एवं 4 दिसम्‍बर को तमिलनाडु के कन्‍याकुमारी जिले और तिरुअनंतपुरम में चक्रवाती तूफान से प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया। कैबिनेट सचिव श्री पी.के. सिन्‍हा की अध्‍यक्षता में राष्‍ट्रीय संकट प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) की बैठक 4 दिसम्‍बर को आयोजित की गई और इस दौरान चक्रवाती तूफान से प्रभावित राज्‍यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में चलाए जा रहे राहत एवं बचाव कार्यों की समीक्षा की गई।

केंद्र के साथ-साथ तूफान से प्रभावित राज्‍यों की सरकारी एजेंसियां इस दौरान राहत एवं बचाव कार्यों में निरंतर जुटी रहीं। इनमें तटरक्षक, वायु सेना, नौसेना और एनडीआरएफ भी शामिल हैं। चक्रवाती तूफान ‘ओखी’ से प्रभावित क्षेत्रों में राहत शिविर लगाए गए। केंद्र सरकार ने इस प्राकृतिक आपदा से निपटने के लिए राज्‍य सरकारों द्वारा किए जा रहे प्रयासों में पूरक सहयोग के तौर पर चालू वित्‍त वर्ष 2017-18 के दौरान केरल एवं तमिलनाडु सरकारों को राज्‍य आपदा राहत कोष (एसडीआरएफ) की दूसरी किस्‍त जारी कर दी है। वित्‍त वर्ष 2017-18 के दौरान केरल और तमिलनाडु की राज्‍य सरकारों के लिए एसडीआरएफ का केंद्रीय हिस्‍सा क्रमश: 153 करोड़ एवं 561 करोड़ रुपये है।

जब चक्रवाती तूफान ‘ओखी’ 5 दिसम्‍बर के बाद निरंतर कमजोर पड़ने लगा, तो प्रधानमंत्री ने ट्विटर पर ट्वीट कर इस प्रतिकूल हालात से निपटने के लिए प्रभावकारी तैयारियां करने और आम जनता की भरसक सहायता करने के लिए केंद्र सरकार की एजेंसियों, विभिन्‍न राज्‍य सरकारों, स्‍थानीय प्रशासनों और सतर्क नागरिकों की भूरि-भूरि प्रशंसा की। 

इससे पहले प्रधानमंत्री समय-समय पर ट्वीट कर चक्रवाती तूफान से प्रभावित लोगों को हर संभव सहायता मुहैया कराने के बारे में देश की आम जनता को जानकारी देते रहे थे। यही नहीं, प्रधानमंत्री ने इस चक्रवाती तूफान से प्रभावित लोगों की सहायता के लिए देशवासियों को प्रेरित भी किया।

20 Pictures Defining 20 Years of Seva Aur Samarpan
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
Reading the letter from PM Modi para-swimmer and author of “Swimming Against the Tide” Madhavi Latha Prathigudupu, gets emotional

Media Coverage

Reading the letter from PM Modi para-swimmer and author of “Swimming Against the Tide” Madhavi Latha Prathigudupu, gets emotional
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री ने हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में हुए अग्निकांड के कारण हुई त्रासदी पर गहरा दु:ख व्यक्त किया
October 27, 2021
साझा करें
 
Comments

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में अग्निकांड की त्रासदी के कारण प्रभावित हुए परिवारों के प्रति गहरा दु:ख व्यक्त किया है। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा है कि राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन राहत और बचाव के काम में पूरी तत्परता से जुटे हुए हैं।

प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा;

"हिमाचल प्रदेश के कुल्लू में हुआ अग्निकांड अत्यंत दुखद है। ऐतिहासिक मलाणा गांव में हुई इस त्रासदी के सभी पीड़ित परिवारों के प्रति मैं अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं। राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन राहत और बचाव के काम में पूरी तत्परता से जुटे हैं।"