साझा करें
 
Comments
प्रधानमंत्री मोदी 23 से 29 सितम्बर तक आयरलैंड और अमेरिका की यात्रा करेंगे
नरेन्द्र मोदी लगभग 60 वर्षों के बाद आयरलैंड का दौरा करने पहले भारतीय प्रधानमंत्री
प्रधानमंत्री मोदी आयरलैंड के प्रधानमंत्री श्री एंडा केनी के साथ वार्ता करेंगे
प्रधानमंत्री आयरलैंड में भारतीय समुदाय को संबोधित करेंगे
प्रधानमंत्री मोदी न्यूयॉर्क शहर में संयुक्त राष्ट्र सतत विकास शिखर सम्मेलन को संबोधित करेंगे
प्रधानमंत्री मोदी शांति स्थापना पर राष्ट्रपति ओबामा द्वारा आयोजित एक शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे
भारत न्यूयॉर्क में जी-4 देशों के नेताओं के शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेगा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका में विश्व के कई नेताओं, औद्योगिक प्रमुखों से मिलेंगे
प्रधानमंत्री मोदी अमेरिका के दौरे के दौरान 26 और 27 सितंबर को वेस्ट कोस्ट की यात्रा करेंगे
प्रधानमंत्री मोदी फेसबुक मुख्यालय में मार्क जुकरबर्ग के साथ-साथ टाउनहॉल प्रश्नोत्तरी सत्र में भाग लेंगे
प्रधानमंत्री गूगल (अल्फाबेट) परिसर और टेस्ला मोटर्स का दौरा करेंगे
प्रधानमंत्री मोदी यूएसडीओसी और स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के साथ अक्षय ऊर्जा गोलमेज सम्मेलन को संबोधित करेंगे
प्रधानमंत्री मोदी 27 सितंबर को सैन जोस में भारतीय समुदाय को संबोधित करेंगे

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी 23 सितंबर, 2015 से 29 सितंबर, 2015 तक आयरलैंड और संयुक्‍त राज्‍य अमेरिका का दौरा करेंगे। प्रधानमंत्री ने अपने फेसबुक पोस्‍ट में कहा:-

‘23 सितंबर, 2015 को मैं आयरलैंड का दौरा करूंगा। लगभग साठ वर्षों के बाद किसी भारतीय प्रधानमंत्री का आयरलैंड का यह पहला दौरा है। आयरलैंड में मैं वहां के प्रधानमंत्री श्री एंडा केनी के साथ वार्ता करूंगा। हमें आशा है कि आने वाले वर्षों में आयरलैंड के साथ हमारे आर्थिक संबंध और मजबूत होंगे तथा दोनों देशों के लोगों के बीच आदान-प्रदान और बढ़ेगा। आयरलैंड में मैं भारतीय समुदाय के साथ भी विचार विमर्श करूंगा।

24 सितंबर, 2015 को मैं संयुक्‍त राज्‍य अमेरिका की यात्रा शुरू करूंगा। इस दौरे में उस आधार को मजबूत किया जाएगा, जिसकी बुनियाद अमेरिका की मेरी पिछली यात्रा और इस वर्ष राष्‍ट्रपति ओबामा के भारत आगमन के दौरान रखी गई थी।

मैं संयुक्‍त राज्‍य अमेरिका की यात्रा उस ऐतिहासिक अवसर पर कर रहा हूं जब संयुक्‍त राष्‍ट्र अपना 70वां स्‍थापना वर्ष मना रहा है। भारत संयुक्‍त राष्‍ट्र को बहुत अहमियत देता है। मैंने जुलाई में 193 देशों के शीर्ष नेताओं को पत्र लिखा था, जिसमें संयुक्‍त राष्‍ट्र के एजेंडा और सुधारों के बारे में भारतीय दृष्टिकोण को रेखांकित किया गया था। मुझे प्रसन्‍नता है कि कई देशों के नेताओं ने पत्र का जवाब देकर हमारे दृष्टिकोण की सराहना की थी।

न्‍यूयार्क सिटी में मैं 2015 के उपरांत नए सतत विकास एजेंडा को औपचारिक रूप से स्‍वीकार करने संबंधी संयुक्‍त राष्‍ट्र सतत विकास शीर्ष सम्‍मेलन को संबोधित करूंगा। भारत की संस्‍कृति में समरस्‍ता केंद्रीय हैसियत रखती है, इस आधार पर मुझे प्रसन्‍नता है कि मुझे इस मंच को संबोधित करने का अवसर मिल रहा है। नए लक्ष्‍य, सतत विकास और हमारे प्रमुख कार्यक्रमों से संबंधित भारत के दृष्टिकोण से एकात्‍म रखते हैं।

मैं शांति स्‍थापना पर एक शिखर सम्‍मेलन में हिस्‍सा लूंगा, जिसकी मेजबानी राष्‍ट्रपति ओबामा करेंगे। संयुक्‍त राष्‍ट्र शांति सेनाओं में ऐतिहासिक रूप से भारत का सबसे अधिक योगदान है। एक लाख 80 हजार से अधिक भारतीय सैनिकों ने संयुक्‍त राष्‍ट्र शांति मिशनों में हिस्‍सा लिया है जो किसी भी अन्‍य देश से अधिक है। हमें विश्‍वभर में तैनात अपने शांति बलों पर गर्व है जो कठिन परिस्थितियों में शांति स्‍थापना के कार्य में लगे हुए हैं। मैं शांति के लिए अपना जीवन न्‍यौछावर करने वाले बहादुर पुरूषों और महिलाओं को श्रद्धांजलि दूंगा। मैं शांति स्‍थापना को अधिक प्रभावशाली बनाने संबंधी अपने विचारों को भी प्रस्‍तुत करूंगा। इस वर्ष भारत न्‍यूयार्क में जी-4 के शीर्ष नेताओं का सम्‍मेलन आयोजित कर रहा है। इसमें संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद सुधार मुख्‍य एजेंडा है। संयुक्‍त राष्‍ट्र का 70वां स्‍थापना दिवस ऐसा उचित समय है जब सुधारों पर चर्चा तेज की जाए। अभी हाल में संयुक्‍त राष्‍ट्र आम सभा ने 20 वर्षों के बाद अंतत: दस्‍तावेज को स्‍वीकार कर लिया है, जो इस विषय पर औपचारिक चर्चा का आधार बनेगा। अपनी यात्रा के दौरान मैं विश्‍व के कई नेताओं से मुलाकता करूंगा। इसके साथ ही मैं अग्रणी निवेशकों और वित्‍तीय कंपनियों से भी बातचीत करूंगा। इस अवसर पर वार्ता-दौरान रात्रिभोज का आयोजन भी किया जाएगा, जिसमें फॉर्च्‍यून – 500 कंपनियां उपस्थित होंगी। इसमें भारत में निवेश अवसरों पर चर्चा की जाएगी।

संयुक्‍त राज्‍य अमेरिका की अपनी यात्रा के दौरान मैं 26 और 27 सितंबर को वेस्‍ट कोस्‍ट जाउंगा, जहां मैं कई कार्यक्रमों में हिस्‍सा लूंगा। लगभग 33 वर्षों के अंतराल के बाद यह किसी भारतीय प्रधानमंत्री की वेस्‍ट कोस्‍ट की यात्रा है। यह स्‍थान स्‍टार्ट-अप, नवाचार और प्रौद्योगिकी की धरती है।

मैं श्री मार्क जुकरबर्ग के साथ फेसबुक मुख्‍याल में टाउनहॉल प्रश्‍नोत्‍तरी में हिस्‍सा लूंगा। हम कुछ वैश्विक विषयों के साथ भारत से संबंधित मुद्दों पर भी बातचीत करेंगे, खासतौर से अर्थव्‍यवस्‍था और समाज के मुद्दों पर। इस टाउनहॉल वार्ता को देखने-सुनने से आप मत चूकें। मैंने आप सब को पहले ही आमंत्रित कर दिया है कि आप फेसबुक या ‘नरेंद्र मोदी मोबाइल एप्‍लीकेशन’ के जरिए अपने सवाल पूछ सकते हैं। मैं गूगल (अल्‍फाबेट) परिसर और टेस्‍ला मोटर्स में हाल में किए गए प्रौद्यौगिकीय अभिनव प्रयोगों को भी देखूंगा। मैं यूएसडीओसी और स्‍टेनफोर्ड युनिवर्सिटी सहित नवीकरणीय ऊर्जा गोलमेज वार्ता को भी संबोधित करूंगा।

‘इंडिया-यूएस स्‍टार्ट-अप कनेक्‍ट’ कार्यक्रम के प्रति मैं बहुत उत्‍साहित हूं। भारत विस्‍तृत क्षेत्रों में स्‍टार्ट-अप के केंद्र के रूप में उभर रहा है, और हम इसे आगे ले जाने की इच्‍छा रखते हैं। हम चाहते हैं कि स्‍टार्ट-अप क्षेत्र में विश्‍व हमारी नवाचार क्षमताओं का जायजा ले। इस कार्यक्रम में भारतीय स्‍टार्ट-अप का समूह अपने अभिनव प्रयोगों तथा अमेरिकी स्‍टार्ट-अप उद्योग से अपनी साझेदारियों का प्रदर्शन करेगा। 27 सितंबर को मैं सैन होसे में भारतीय समुदाय के साथ चर्चा करूंगा। भारतीय समुदाय ने भारत-अमेरिका संबंधों को मजबूत बनाने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी है। हमें भारतीय समुदाय की उपलब्धियों पर बहुत गर्व है कि उसने दोनों देशों के समाजों में महान योगदान किया है। मुझे पूरा विश्‍वास है कि मेरे अमेरिकी दौरे से विश्‍व की दो सबसे पुराने और सबसे बड़े लोकतंत्रों के बीच संबंध और गहरे तथा मजबूत होंगे।’

भारत के ओलंपियन को प्रेरित करें!  #Cheers4India
मोदी सरकार के #7YearsOfSeva
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
Digital payments up 30.2% in FY21: RBI data

Media Coverage

Digital payments up 30.2% in FY21: RBI data
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री ने ‘अंतर्राष्ट्रीय टाइगर डे’ पर वन्यजीव प्रेमियों को बधाई दी
July 29, 2021
साझा करें
 
Comments

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस पर सभी वन्यजीव प्रेमियों को बधाई दी है, खासतौर से उन लोगों को जो बाघों के संरक्षण के लिये बहुत सचेत हैं।

अपने कई ट्वीटों में प्रधानमंत्री ने कहा है :

“#InternationalTigerDay पर वन्यजीव प्रेमियों को बधाई, खासतौर से उन लोगों को जो बाघों के संरक्षण के लिये बहुत सचेत हैं। दुनिया भर में जितने बाघ हैं, उनमें से 70 प्रतिशत बाघों का घर भारत है। हम एक बार फिर यह प्रतिबद्धता व्यक्त करते हैं कि हम अपने बाघों के लिये सुरक्षित प्राकृतिक वास सुनिश्चित करेंगे और बाघों के अनुकूल इको-सिस्टम को बढ़ावा देंगे।

भारत में बाघों के 51 अभ्यारण्य हैं, जो 18 राज्यों में फैले हैं। बाघों की पिछली गणना 2018 में हुई थी, जिससे पता चला था कि बाघों की संख्या बढ़ रही है। बाघों के संरक्षण के मामले में सेंट पीटर्सबर्ग घोषणापत्र में जो समय सीमा तय की गई है, उसे मद्देनजर रखते हुये भारत ने बाघों की तादाद दुगनी करने का लक्ष्य चार साल पहले ही हासिल कर लिया है।

बाघों के संरक्षण के सिलसिले में भारत की रणनीति में स्थानीय समुदायों को सबसे ज्यादा अहमियत दी जा रही है। हम अपनी सदियों पुरानी परंपरा का भी पालन कर रहे हैं, जो हमें सिखाती है कि हमें जीव-जंतुओं, पेड़-पौधों के संग समरसता के साथ रहना चाहिये, क्योंकि ये सब भी इस धरती पर हमारे साथ ही रहते हैं।”